समुद्री जीवन पर प्लास्टिक बैगों द्वारा होने वाले दुष्प्रभाव (How Plastic Bags Are Harmful To Marine Life)

समुद्री किनारो पर लोगो द्वारा फेंके गये ज्यादेतर कचरे में सबसे ज्यादे प्लास्टिक बैग की मात्रा होती है। एक बार इस्तेमाल के बाद ज्यादेतर प्लास्टिक बैग बेकार हो जाते है, और फेके जाने पर पानी के कई स्त्रोतो जैसे नालियो, नदियो आदि से होते हुए अंत में महासागरो में पहुंच जाते है। महासागरो में पहुंच जाने पर ये समुद्री धाराओ के द्वारा कई सारे जगहो पर फैल जाती है। जिससे कई सारे समुद्री जीव इन प्लास्टिक बैगों को अपने खाने के रुप में भ्रमित होकर खा लेते है और मर जाते है।

करोड़ो समुद्री जीवो के लिये एक गंभीर संकट (Threat to Millions of Marine Animals)

प्लास्टिक बैग जोकि सबसे सामान्य रुप से कचरे के रुप में समुद्री किनारो पर मिलते है वह बड़े ही आसानी से समुद्र में फैल जाते है। हालही में हुए एक रिर्सच से पता चला है कि प्रति वर्ष 12 मिलियन टन से ज्यादे प्लास्टिक समुद्र में मिल जाता है, जोकि समुद्री जीवो के जीवन के लिये एक गंभीर संकट बन जाता है। सिर्फ मेडिटेरेनियन सागर में ही समुद्री किनारो पे प्रति हजार किलोमीटर पर 25 मिलीयन टन कचरा फैला होता है, जोकि समुद्री जीवो के लिये एक बहुत बड़ा  खतरा है।

समुद्र में तैरता हुआ प्लास्टिक समुद्री जीवो को जेलिफ़िश की तरह दिखाई देता है, विशेष रुप से यह उन समुद्री कछुओ के लिए खतरा होता है जो अपने भोजन के रुप में जेलिफ़िश को खाते है, क्योकि भ्रमवश यह उन्हे अपना भोजन समझकर खा लेते है और यह उनके पेट के अंदर फंस जाता है, जिससे अंततः उनकी मृत्यु हो जाती है। इसी प्रकार से अन्य समुद्री जीव भी दुनियाँ भर के समुद्रो में फैले प्लास्टिक के कचरे को खाकर मर जाते है जोकि एक बहुत ही चिंता का विषय है।

प्लास्टिक बैग एक नॉन-बायोडिग्रेडेबल पदार्थ (Plastic Bags are Non-Biodegradable)

प्लास्टिक बैगों का समुद्री जीवन के लिये खतरा होने का दुसरा कारण यह है, कि यह नॉन बायोडिग्रेडेबल होता है, जिससे की यह नष्ट नही होता है। इस तरह से जब यह समुद्र में पहुच जाता है तो यह समुद्री कछुओ, सीलो और व्हेलो जैसे समुद्री जीवो द्वारी खा लिया जाता है। पिछले कुछ वर्षो से समुद्री पक्षियो के द्वारा प्लास्टिक का खा लिया जाना एक प्रमुख समस्या बन गया है, जोकि समुद्री जीवन पर एक बहुत बड़े संकट के रुप में उभरकर सामने आया है। वह समुद्री पक्षी जो सामान्य तौर पर समुद्र के सतह पर शिकार करते है, समुद्र के ऊपरी सतह पर तैरते प्लास्टिक को अपना भोजन समझकर तुरंत निगल लेते है, जिससे उनकी मृत्यु हो जाती है।

समुद्र में तैरते हुए प्लास्टिक के वजह से लाखो की संख्या में जीव-जन्तु मारे जाते है, जिससे समुद्री जीवन के ऊपर संकट उत्पन्न होता है। इस तरह के प्लास्टिक बैग जब समुद्री जीवो द्वारा खा लिया जाता है, तो वह उसे पचा नही पाते है। जिससे धीरे-धीरे बहुत ही दर्दनाक तरीके से उनकी मृत्यु हो जाती है। सिर्फ इतना ही नही उनकी मृत्यु के पश्चात यह प्लास्टिक बैग एक बार पुनः समुद्र में मिल जाता है, जिससे यह एक बार फिर से दुसरे समुद्री जीवो के लिये खतरा बन जाता है। क्योंकि यह नॉन बायोडिग्रेडेबल होते है, इसलिये इनके नष्ट होने में 1000 वर्ष से भी अधिक का समय लगता है। इसी वजह से इन्हे समुद्री जीवन के लिये सबसे बड़ा संकट माना जाता है।

समुद्री जीवन के संरक्षण के लिये क्या किया जा सकता है? (What can be done to Conserve Marine Life)

समुद्र में फैले हुए प्लास्टिक बैग्स एक बहुत बड़े स्तर की समस्या बन चुका है, जिसपे मानव जाति को गंभीरता से विचार करने की आवश्यकता है। इसके लिये सर्वप्रथम हमे समुद्र के किनारे और जलीय स्थानो के समीप प्लास्टिक को फेकने पर प्रतिबंधित लगाने की आवश्यकता है। नीचे दिए गये तरीको से इस तरह के समस्याओ से निजात पाया जा सकता है।

  • हमें खुले में इधर-उधर प्लास्टिक बैग्स को फेकने से बचना चाहिये, क्योंकि अंत में यह कई जलीय मार्गो से होते हुए समुद्र में पहुंच जाते है।
  • हमें अच्छे रीसाइक्लिंग प्रणाली की व्यवस्था करके प्लास्टिक के रीसाइक्लिंग और पुनरुपयोग को बढ़ाना चाहिये।
  • वर्तमान में वितरण और पैकिंग प्रणाली ज्यादेतर प्लास्टिक पर निर्भर करती है, जिसमे बदलाव की आवश्यकता है। इसके लिये हमे ज्यादे से ज्यादे पर्यावरण के अनुकूल उपायो पर ध्यान देने की आवश्यकता है, जिससे समुद्री जीवन की रक्षा की जा सके।
  • हमे पूर्ण रुप से बायोडिग्रेडेबल प्लास्टिक बैग्स को अपनाना चाहिये, जोकि पेड़-पौधो से बनते है और वातावरण के अनुकूल होते है।
  • हमे प्लास्टिक बैग्स को पूर्ण रुप से रिसायकल करने की प्रणाली की स्थापना करनी चाहिए।

 

  • हमें इस मुद्दे को लेकर आम जनता में जागरुकता लाने की आवश्यकता है और प्लास्टिक उपयोग को लेकर लोगो को शिक्षित करने की आवश्यकता है।
  • हमे हमेशा अपने समीप के समुद्री किनारो की साफ-सफाई करनी चाहिए और प्लास्टिक बैगों के निस्तारण की व्यवस्था सुनिश्चित करनी चाहिए, जिससे की प्लास्टिक बहकर समुद्र में ना मिले।
  • इसके साथ ही हमे प्लास्टिक के घातक परिणामो से समुद्री जीवन की सुरक्षा हेतु अनुसंधान को प्रोत्साहन देने क आवश्यकता है।
  • प्लास्टिक के उत्पादन को नियंत्रित करके भी काफी हद तक समुद्री जीवन के सुरक्षा को सुनिश्चित किया जा सकता है।
  • उन क्षेत्रो को चिन्हित करके जहा ज्यादे मात्रा में प्लास्टिक का निस्तारण किया जाता हो, उन स्थानो और क्षेत्रो में प्लास्टिक के उपयोग को पूर्ण रुप से प्रतिबंधित कर देना चाहिये।

रोकथाम ही है सबसे बेहतर उपाय (Prevention is the Best Action)

हमे प्लास्टिक बैग के उपयोग पर पूर्ण रुप से प्रतिबंध लगा देना चाहिये, क्योकि यही इस समस्या का सर्वोतम उपाय है। इस तरह के प्रतिबंधो को बढावा देने के लिए पुरे विश्व में सरकारो को प्लास्टिक बैगों के उपर भारी कर लगाना चाहिये। इस मामले में पहले से ही स्पेन, क्रोएशिया, ग्रीस और इज़राइल  जैसे कुछ जाने-माने देशो ने पहले से ही प्लास्टिक बैगों उपयोग पर भारी कर लगा रखा है, जिससे इन देशो में प्लास्टिक बैगों के उपयोग में भारी कमी आयी है। इन देशो से सबक लेते हुए हमें भी प्लास्टिक बैगों के उपयोग पर कर लगाने के साथ ही इनके उत्पादन में कमी करने की आवश्यकता है।

समुद्री जीवन के सरंक्षण के लिये जन जागरूकता है सबसे जरुरी (Public Awareness is Must for Conserving Marine Life)

हम पहले ही इस समस्या का पता लगा चुके है कि आखिर कैसे प्लास्टिक बैग्स समुद्र में पहुच रहे है और अब इस समस्या को लेकर सार्थक पहल करने की आवश्यकता है। हमे समुद्री वातावरण को स्वच्छ रखने को लिये प्लास्टिक उत्पादन को रोकने को लेकर कड़े कानून बनाने की आवश्यकता है। इसी के साथ हमे इस तरह के नियमो का कड़ाई के साथ पालन करने की भी आवश्यकता है। इसके अलावा हमे ज्यादे से ज्यादे लोगो को इस समस्या के प्रति जागरुक करने और इससे जुड़े सभी नियमो की जानकारी देने की आवश्यकता है।

इस विषय को लेकर लोगो में प्लास्टिक बैग्स के निस्तारण के जन जागरुकता को बढ़ाना सबसे आवश्यक है। इस सब के अलावा हमे ऐसे प्रणाली के विकास की भी आवश्यकता है, जिसमे कम से कम प्लास्टिक बैगों का उपयोग हो। दुसरे शब्दो में कहे तो हमे सिर्फ रीसायकल किये जा सकने वाले प्लास्टिक बैगों के उपयोग को प्रोत्साहन देना चाहिए या फिर हर तरह के प्लास्टिक बैगों पर पुरे तरह से प्रतिबंध ही इस समस्या का सबसे अच्छा समाधान है।

निष्कर्ष

खुले क्षेत्रों में प्लास्टिक बैग फेकना एक बड़ी समस्या है क्योंकि अंत में यह नालियों, बहते हुए पानी के स्थानों से होते हुए समुद्र में मिल जाता है। प्लास्टिक बैग समुद्री जीवन के लिये एक गंभीर समस्या है, जिसके अंतर्गत कई प्रकार के जीव-जन्तु आते है। यह वह समय है जब हमे अपने जिम्मेदारियो और प्लास्टिक बैगों द्वारा समुद्री जीवन पर होने वाले गंभीर परिणाम को समझने की आवश्यकता है। इस लिये मानव जाति को समुद्री जीव-जन्तुओ के प्रति अपनी जिम्मेदारी समझते हुए, प्लास्टिक बैगों का इस तरीके से उपयोग करना चाहिए, जिससे यह नदियो, समुद्रो और दुसरे पानी के स्त्रोतो तक ना पहुंचे।