क्या चीजे मुझे खुश करती है पर निबंध

खुशी या मुस्कुराना शब्द आते ही हमारे सामने हंसते और मुस्कुराते हुए चेहरों की छवि सामने आ जाती है। ऐसे मुस्कुराते हुए चेहरों को देखकर दिल को सुकून मिलता है। क्या यह सच बात नहीं है? यह बात सच है कि दुनिया में कोई भी व्यक्ति दुखी नहीं होना चाहता है। हम सभी हमेशा अपनी खुशी की तलाश में रहते हैं। इस ब्रम्हांड में सभी अपने तरीके से खुशी प्राप्त करते हैं और खुश रहने की कोशिश करते हैं। इस निबंध के माध्यम से मैंने अपने जीवन की कुछ महत्वपूर्ण बातों को साझा किया है, जो कि मुझे खुशी प्रदान करते हैं।

मुझे पूर्ण उम्मीद है कि आप सभी के भी जीवन में ऐसे अनुभव अवश्य ही होंगे जो आपको खुशी प्रदान करते हैं। इस प्रकार के सवाल छात्रों से अक्सर पूछे जाते है कि उन्हें किस बात से खुशी मिलती है। मेरे द्वारा प्रस्तुत यह निबंध ऐसे छात्रों के लिए उनकी कक्षा, और परीक्षाओं में सहायक सिद्ध होंगी।

मैं कैसे खुश रहता हूँ पर दीर्घ निबंध (Long Essay on What makes me Happy in Hindi)

1500 Words Essay

परिचय

हम सभी के जीवन में सुख और दुःख दोनों ही शामिल होते हैं। कोई भी व्यक्ति अपने जीवन में हमेशा के लिए खुश या दुखी नहीं रह सकता है। खुशी और दुःख दोनों ही एक सिक्के के दो पहलू है। खुशी के बाद दुःख तो दुःख के बाद खुश होना आम बात है। खुश रहना बहुत मुश्किल नहीं है, पर ये सब हमारी अपनी रोजमर्रा की गतिविधियों और हमारे विचारों पर निर्भर करता है। हम हर रोज कई गतिविधियां जैसे - यात्रा, पढ़ना, खाना बनाना इत्यादि गतिविधियों के माध्यम से भी खुश हो सकते हैं। जब हम खुश होते हैं तो हमारा मन उत्साह और संतुष्टि से भरा होता है और यह वास्तविक रूप से हमारे चेहरे पर भी दिखाई देता है।

खुशी क्या है?

खुशी हमारे अंदर निहित एक आंतरिक संतुष्टि और हमारे शरीर और मन की सच्ची खुशी के बारे में होती है। खुशी निश्चित रूप से एक दिल-दिमाग और मन को सुख और संतुष्टि देने वाला एक एहसास है। हम अपनी खुशी को उत्साह, गर्व, कृतज्ञता इत्यादि के रूप में प्रकट करते है। हम सभी अपने जीवन में कुछ न कुछ कार्य अवश्य करते हैं और हम अपने जीवन में जो कुछ भी करते है वो केवल अपनी खुशी और सुख प्राप्त करने के लिए करते है। कोई भी अपने जीवन में कभी भी दुखी होने के लिए कोई काम नहीं करता है। जब हमारा मन और हम खुश होते हैं तो ऐसा लगता है कि हमारे आस-पास की सभी चीजें हमसे खुश है। इस दुनिया में सब कुछ वास्तव में इतना सुन्दर नहीं होता हैं जितना सुन्दर हम इनको खुश होने पर महसूस करते हैं। यह खुशी हम अपने जीवन में कई चीजों से प्राप्त कर सकते है।

हमारे अंदर की खुशी हमें जीवन में आशावादी बनाती है। क्योंकि हमारे दिमाग में नकारात्मक और सकारात्मक विचारों का आदान-प्रदान होता है। हमारी सकारात्मक दृश्टिकोण हमें जीवन में अपने लक्ष्यों के प्रति अधिक उत्साही और दृढ़ बनाती है। खुशी हमारे जीवन में अच्छे स्वास्थ्य, सफलता, अच्छे विचारों इत्यादि सकारात्मक गुणों से भरा होता है और यही हमारी सफलता की कुंजी के रूप में हमारे अंदर होती है।

मुझे खुश करने वाली चीजें

मैं "सादा जीवन और उच्च विचार" वाले जीवन जीने के तरीके में दृढ़ विश्वास रखता हूं। जब यह सवाल आता है कि किस चीज से मुझे खुशी मिलती है, तो वास्तविक रूप में मैं बहुत उलझन में होता हूं। ऐसा इसलिए है क्योंकि मैं जीवन में बहुत छोटी-छोटी चीजों में अपनी खुशी ढूंढने की कोशिश करता हूं। उन सभी चीजों को एक क्रम में सूचीबद्ध करना मेरे लिए बहुत मुश्किल होगा जिन चीजों से मुझे खुशी मिलती हैं। लेकिन मैं यहां कुछ महत्वपूर्ण चीजों को सूचीबद्ध कर रहा हूं जो मुझे अधिक खुशी प्रदान करती हैं।

  • मेरा परिवार

हमारे लिए हमारे माता-पिता भगवान द्वारा इस पृथ्वी पर दिया गया सबसे कीमती उपहार हैं। हमने कभी भी भगवान को नहीं देखा है और इसलिए इस धरती पर मेरे माता-पिता ही मेरे लिए भगवान का रूप हैं। मैं अपने परिवार के सदस्यों और अपने माता-पिता के साथ जो भी महत्वपूर्ण समय बिताता हूं वह मुझे सबसे ज्यादा खुशी देता हैं। वो हमारी अच्छी देखभाल और हमें जो प्यार देते हैं, उसकी तुलना इस दुनिया में किसी भी चीज से नहीं की जा सकती है। कई बार मेरे माता-पिता कुछ परेशानियों का सामना भी कर रहे होते हैं या जब वे तनाव में होते हैं तो ये चीजे मेरे ऊपर भी साफ तौर पर दिखती है। मेरे माता-पिता के मुस्कुराते हुए चेहरे मुझे बहुत ही खुशी देते हैं।

  • कुछ स्वैच्छिक कार्य

जब मैं पांच साल का था तो मैं छोटे कुत्तों के बच्चों को खाना खिलाया करता था। तभी से मेरी आदत हो गयी है कि मैं सड़कों पर घूम रहे कुत्तों और गायों को खाना खिलता हूं। जिस दिन मैं उन्हें भोजन नहीं करा पाता हूं, मैं उस दिन दुखी और चिंतित रहता हूं। उन्हें खिलाने में मुझे बहुत आनंद की अनुभूति होती है। मैं पक्षियों की प्यास बुझाने और उन्हें खाना खिलाने के लिए रोजाना अपनी छत पर एक छोटे से कटोरे में कुछ अनाज के दाने और पानी भी रखता हूं। यह सब कार्य मुझे बहुत आनंद देता है और मुझे इस प्रकार का कार्य प्रतिदिन करना बहुत अच्छा लगता है।

मैं पड़ोस के अपने कुछ दोस्तों के साथ हमारी कॉलोनी के आस पास रहने वाले गरीब छात्रों को मुफ्त में पढ़ाते हैं। मैंने इस तरह की बाते अपने स्कूल से सीखी है। मेरे स्कूल में शिक्षकों के द्वारा यह कहते सुना था कि वो स्कूल के बाद शाम के समय अपने आस-पास के गरीब बच्चों को मुफ्त शिक्षा देते हैं। उनसे प्रेरित होकर मैंने भी अपने घर के पास शाम के समय ऐसा करने का निश्चय किया। इस काम से मुझे आतंरिक संतुष्टि मिलती है कि मैं समाज के लिए कुछ अच्छा काम कर रहा हूं। इस काम से मुझे जो खुशी मिलती है उसे शब्दों में बयां करना बहुत मुश्किल है।

  • संगीत के साथ प्राकृतिक सुंदरता

मुझे संगीत के साथ-साथ प्रकृति का आनंद लेना बहुत अच्छा लगता है। पेड़-पक्षी, छोटे-छोटे जानवर और प्राकृतिक गतिविधियां मुझे बहुत आनंदित करती हैं। संगीत एक ऐसी चीज है जो मुझे बहुत ही सुख और आनंद प्रदान कराती है। संगीत एक ऐसी चीज है जो मेरे हर दर्द पर मरहम की तरह काम करती है। सुबह और शाम की सैर के दौरान मुझे बहुत खुशी होती है कि मैं संगीत के साथ-साथ अपनी प्रकृति के साथ रहता हूं।

संगीत के साथ प्रकृति की सुंदरता और उसकी गतिविधियां देखना बहुत ही आनंददायी होता है। क्योंकि मुझे गाने का भी शौक है, इसलिए मैं अपने बगीचे में टहलने के साथ-साथ संगीत की धुन पर गाने भी लगता हूं। मैं झरनों, वन्य-जीव पार्कों, अभयारण्यों और मुझे अपने गांव जैसी जगहों पर जाना और वहां के खुले वातावरण में घूमना बहुत पसंद है जिससे मुझे आतंरिक खुशी मिलती है। ऐसे स्थान प्रकृति के बिल्कुल नजदीक और उनसे जुड़े होते हैं, और ऐसी जगहों पर घुमने में मुझे बहुत ही आनंद का अनुभूति होता हैं।

क्या जीवन में खुश रहने के लिए धन और सफलता प्राप्त करना आवश्यक है?

हमारे जीवन में खुशी, मन की भावना से जुड़ी हुई होती है। हम अपने जीवन में विभिन्न चीजों से खुश रह सकते हैं। इस प्रकार की धारणा पूरी तरह से गलत है कि खुश रहने के लिए धन और सफलता जरूरी है। अगर यह सच होता तो दुनिया में अमीर लोग ही सबसे ज्यादा खुश होते। हम अपने दैनिक जीवन में बहुत छोटी-छोटी चीजों से खुशियां प्राप्त कर सकते हैं। यह पूरी तरह से हमपर निर्भर करता है कि हम अपने जीवन में खुश रहने के लिए उन कारणों की खोज करें जिससे हम खुश हो सकते है।

खुशी उन चीजों से पैदा होती है जिन्हें हम अपने जीवन में करना चाहते हैं। इसे पैसों से कभी खरीदा नहीं जा सकता है। क्योंकि कई बार हम सबने देखा होगा कि जीवन में सब कुछ रहने के बावजूद भी लोग खुश नहीं होते हैं। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि उनके पास जीवन में वो चीजें नहीं होती हैं, जो चीजें वो पसंद करते हैं, या यूं कहें कि वो सब चीजें उनसे दूर हैं जो चीजें करके उन्हें खुशी प्रदान हो सकती हैं।

हम अपने जीवन के हर पल में खुशी पा सकते हैं। हम यह कह सकते हैं कि जब हम खुश होते हैं, तो हमारे लिए अपने लक्ष्य के प्रति निर्देशित होना और उसमें सफलता प्राप्त करना आसान हो जाता है। जैसा कि एक सकारात्मक विचार आपको अपने लक्ष्य के प्रति और अधिक उत्साही और दृढ़ बनाने में मदद करता है। एक सकारात्मक विचार आपके दिमाग से हर तरह के नकारात्मक विचारों को नष्ट करने में सहायक होता है। सफलता और दौलत केवल इस बात से है कि हमने अपने जीवन में क्या हासिल किया है। लेकिन हमारे जीवन में खुशी एक ऐसी चीज है जिसे हम अंदर से दिल और मन से महसूस करते है।

निष्कर्ष

खुशी हमारे जीवन की हर सच्चाई को स्वीकार करने और जीवन के हर पल का आनंद लेते हुए अपने जीवन को सुंदर तरीके से जीने में सहायता करती है। जीवन में कुछ ऐसे पल होते है, जो हमें सच्ची खुशी दे जाते है। हमें भी उन्ही चीजों को करने की आवश्यकता हैं, जिन चीजों से हम प्यार करते हैं और अपना जीवन जीना पसंद करते हैं, जो हमें खुशी प्रदान कराती हैं। खुशी भी उन लोगों के साथ होती हैं, जो जीवन को खुशहाल बनाते हैं। इस प्रकार हमें एक स्वस्थ मस्तिष्क और एक स्वस्थ शरीर की भी प्राप्ति होती है। जब हम खुश होते हैं, तो हम सकारात्मक विचारों से भरे होते हैं। खुश रहना या खुशी इस ब्रम्हांड की सबसे खूबसूरत अनुभूति होती है।