क्या फेस मास्क पहनना वास्तव में आपको संक्रमण से सुरक्षित रखता है? (Does Wearing a Face Mask Really Keep you Safe from Infection)

संक्रमण एक ऐसी स्थिति को कहते है जिसमे आपके शरीर में कुछ अनियमितता आजाती है। इस अनियमितता का कारण परजीवी, वायरस, धुल के कण, विषैले गैस, आदि हो सकते हैं। ये हवा, पानी या किसी भी अन्य स्त्रोत से फैल सकते हैं। लेकिन हवा इसका सबसे आम माध्यम है। कोई भी संक्रमण हवा के माध्यम से एक व्यक्ति से दूसरे में पहुंच जाता है और किसी को भी आसानी से बीमार कर सकता है। यह भी संभव है की कोई संक्रमण किसी बैक्टीरिया या वायरस के रूप में हवा में मौजूद हों। बैक्टीरिया व वायरस कई प्रकार के होते हैं और सबकी अलग अलग जीवन काल होती है, इसलिये इनमे से कुछ लंबे समय तक हवा में मौजूद रहते हैं तो कुछ बहुत कम समय के लिये।

इस लिये किसी भी रोग से संक्रामक व्यक्ति को मास्क अवश्य पहनना चाहिए, इससे उनके बीमारी के जीवाणु हवा में नहीं जा पाएंगे। इसके साथ ही आप भी मास्क पहन के खुद को आसानी से सुरक्षित रख सकते हैं।

मास्क आपको न केवल किसी भी प्रकार के संक्रमण से अपितु हवा में मौजूद कार्बन मोनो ऑक्साइड, CFC जैसे हानिकारक गैसों, धूल के कणों से भी बचाता है। जो आपके फेफोड़ों को क्षति पहुंचा सकते हैं। मैंने आप लोगों के लिये कुछ बेहतरीन मास्क और उसके उपयोग को नीचे बताया है और आशा करती हूं की यह आपके लिये उपयोगी सिद्ध होगा।

Does wearing a face mask really keep you safe from infection

विभिन्न प्रकार के मास्क और उनके लाभ (Different Types of Masks and Their Benefits)

  • सर्जिकल मास्क (Surgical Masks - Disposable)

पेरिस के पॉल बर्जर (Paul Berger) ने सर्जिकल मास्क की खोज 1897 में की थी। ये कई प्रकार के होते हैं जो उनके विनिर्माण पर निर्भर करता है। इनमे कई परत होते हैं और इन्हें करीब 90% सुरक्षित माना गया।

आमतौर पर सर्जिकल मास्क में तीन परतें होती हैं। जिसमे पहला और आखिरी परत एक मशीनीकृत निर्मित कपड़े से बना होता है। दूसरी परत मेल्ट ब्लोन कपड़े का होता है। दूसरी परत में मौजूदा मेल्ट ब्लोन कपड़ा हवा में मौजूद सभी प्रकार के परजीवों, धूल के कणों को आपके नाक एवं मुंह में जाने से रोकता है। दुनिया के ज्यादातर भागों में लोग इस मास्क को पहनना सबसे अधिक पसंद करते हैं और हमारे डॉक्टर भी इसी मास्क को पहनते हैं।

  • FFP1 मास्क (FFP1 Masks)

यह सामान्यतः तीन प्रकार के होते हैं FFP1, FFP2, और FFP3, इनकी कीमत भी इसी प्रकार बढ़ते क्रम में है। इनकी विशेषता यह है की ये आपको धूल, ऐसोरोल तथा अन्य हानिकारक गैसों से बचाता है। इनमे क्रमतः FFP1 80% तक हवा को फ़िल्टर करता है, तो वहीं FFP2 94% तक वायु को शुद्ध करता है।

इन तीनों में FFP3 को सबसे सुरक्षित माना जाता है यह किसी भी प्रकार के प्रदूषण पर बहुत ही पभावी ढंग से काम करता है। यह सभी प्रकार के वायरस एवं बैक्टीरिया को भी रोकता है, इनमें रेडियोधर्मी अशुद्धियों को भी रोकने की क्षमता होती है। इस लिये इनका सुझाव सबसे अधिक दिया जाता है। इसे रसायन उद्योग में काम करने वाले लोग ज्यादातर पहनते हैं क्यों की यह विभिन्न प्रकार से जहरीले गैसों को भी फ़िल्टर करता है।

  • N95 रेस्पिरेटर (N95 Respirators)

इस मास्क को भारत के विभिन्न रास्ट्रीय अनुसंधानों में प्रमाणित किया जा चुका है। यह अशुद्ध हवा को रोकता है और केवल शुद्ध हवा को अंदर जाने देता है। यह हवा को सीधे तौर पर अंदर प्रवेश नहीं करने देता इस लिये कई लोगों को सांस लेने में दिक्कत हो सकती है। यदि आपको अस्थमा, या कोई अन्य श्वास संबंधित रोग हो तो एक बार अपने डॉक्टर से विमर्श ले के ही इस मास्क को खरीदें।

यह आपको हवा में मौजूद विभिन्न प्रकार के हानिकारक गैसों व अन्य प्रकार की अशुद्धियों से बचाता है। ये किसी प्रकार के वायरस व बैक्टीरिया को भी आपसे दूर रखता है। इसे 95% तक सुरक्षित माना गया है। इसकी ख़राब बात बस यह है की इसके फ़िल्टर के गंदे हो जाने पर किसी भी हवा को बाधित कर देता है और साँस लेना और कठिन हो जाता है।

  • P100 रेस्पिरेटर (P100 Respirators)

इन्हें सबसे प्रभावी मास्कों में से एक माना गया है जो हवा के छोटे से छोटे कणों को भी अन्दर जाने नहीं देता है। वे आमतौर पर देखने में थोड़े भड़कीले और भारी लगते हैं, परंतु होते नहीं हैं। हवा में मौजूद किसी भी प्रकार के अशुद्धियों को करीब 98% कम कर देता है। इन सबके साथ यह वायरस और बैक्टीरिया पर भी काफी असरकारी होता है।

आप इसका प्रयोग कई बार कर सकते हैं आपको केवल इसके फ़िल्टर को बदलते रहना पड़ता है।

  • फुल फेस रेस्पिरेटर (Full Face Respirators)

यह एक विशेष प्रकार का मास्क है जो आपके पूरे चेहरे को ढक लेता है। यह खास कर उन लोगों के लिये बहुत अच्छा है जो हानिकारक गैसों में कम करते हैं। इसे कुछ विशेष तरीके से डिजाइन किया गया है और सामने एक स्क्रीन बनाया गया है। इसका स्क्रीन विशेष रूप से तैयार किया गया है जिसपर कोहरा नहीं टिकता और आपको एक दम स्पष्ट सब कुछ दखाई देता है।

यह देखने में बहुत भारी जान पड़ता है और वाकई आप इसे पूरे दिन नहीं पहन सकते। इसका उपयोग करते लोगों को आपने शायद ही कभी देखा हो। क्यों की एक तो ये बहुत महंगे आते हैं और दूसरा इसका ज्यादातर प्रयोग वैज्ञानिक व रासायनिक कारखानों में काम करने वाले लोग करते हैं।

  • एक्टिवेटेड कार्बन मास्क (Activated Carbon Masks)

आमतौर पर किसी भी मास्क में कई परतें होती हैं और अलग-अलग मास्क में अलग-अलग पदाथों के फ़िल्टर लगे होते हैं। इसी तरह इस प्रकार के मास्क में एक्टिवेटेडकार्बन की परत होती है जो फ़िल्टर का काम करती है।

एक्टिवेटेड कार्बन की खासियत यह होती है की यह जहरीले गैसों को फ़िल्टर करता है और उनमें मौजूद कार्बनिक यौगिक को भी कम करता है। वे आपको प्रदूषण, धुल के कणों से बचाते हैं परंतु वे वायरस और बैक्टीरिया पर उतने प्रभावी नहीं हैं। ये उनके प्रभाव को कम अवश्य कर सकते हैं और दुबारा प्रयोग करने योग्य होने के कारण लोग इसे ज्यदा पसंद करते हैं। इनको सर्फ़ से धोने से इनका जीवन काल घट सकता है। इस लिये जरुरी होने पर ही इन्हें धोएं।

  • कपड़ा मास्क (Cloth Masks)

यह सबसे सस्ते और आमतौर पर देखे जाने वाले मास्क हैं जिसमें साधारण कपड़े के 3 लेयर लगे होते हैं। ये धूल व कुछ अन्य प्रकार के हानिकारक तत्वों को आपके अंदर जाने से रोकता है। हालांकि इसके उपयोग से आप तुरंत किसी रोग से ग्रसित तो नहीं होते परंतु वे अन्य मास्क की अपेक्षा कम प्रभावी होते हैं। ये वायु जनित रोगों से आपको बचा तो सकते हैं परंतु कई बार वायरस एवं बैक्टीरिया को रोक नहीं पाते। कुछ न होने की स्थिति से अच्छा है की आप कम से कम कपड़े का मास्क अवश्य पहननें।

  • स्पंज मास्क (Sponge Masks)

आम तौर पर स्पंज और कपड़े के मास्क कई रंगों मे मिल जाते हैं जो अत्यंत आकर्षक भी लगते हैं। इस लिये महिलाएं इन पर खास तौर से मेहरबान रहती हैं। लेकिन वास्तविकता यह है की फैशन मात्र से अधिक कुछ नहीं है। इनका उपयोग तभी करें जब आपके पास दूसरा कोई मास्क न हो क्यों की ये ज्यादा तो नहीं परंतु कुछ हद तक आपकी रक्षा अवश्य कर सकते हैं।

विभिन्न मास्क एवं उनके एक उपयोग (Benefits of Various Face Masks):

मास्क के प्रकार फेकने योग्य/ पुनः उपयोग करने योग्य बैक्टीरिया से सुरक्षा वायरस से सुरक्षा अन्य उपयोग
सर्जिकल फेकने योग्य 85% 95% इसका उपयोग ज्यादातर डॉक्टर और अस्पताल में मौजूद अन्य कार्यकर्ता करते हैं।
FFP1 फेकने योग्य 80% 95% इसे अब तक का सबसे प्रभावशाली मास्क माना गया है जो हर प्रकार के अशुद्धियों को दूर करता है।
N95 रेस्पिरेटर फेकने योग्य 100% 95% यह उनके लिये बेहतरीन है जो किसी रासायनिक उद्योग में काम करते हैं। यह भी हर प्रकार से हवा से अशुद्धियों को साफ़ करता है।
P100 रेस्पिरेटर पुनः उपयोग करने योग्य 90% 98% इसमें मौजूद दो फ़िल्टर करने योग्य पैड को आसानी से बदला जा सकता है और ये वायु में मौजूद छोटे से छोटे कणों का बखूबी साफ़ करता है।
फुल फेस रेस्पिरेटर पुनः उपयोग करने योग्य 99% 95% ये आपके पूरे चेहरे को ढक लेते हैं और आपके फेफड़ों में किसी भी तरह से अशुद्ध वायु को जाने से रोकते हैं।
एक्टिवेटेड कार्बन पुनः उपयोग करने योग्य 50% 15% कारबन को हर प्रकार के प्रदूषण को साफ़ करने के लिये जाना जाता है, चाहे वो हवा हो या पानी। ये किसी भी क्षेत्र से प्रदूषण को साफ़ करने के लिये बेहतरीन हैं।
कपड़ा पुनः उपयोग करने योग्य 50% 25% ये आपको किसी भी संक्रमण से तुरंत ग्रसित होने से बचाते हैं।
स्पंज पुनः उपयोग करने योग्य 5% 2% इन्हें फैशन से अधिक कुछ नहीं समझा जाता है।

हमें मास्क की आवश्यकता क्यों पड़ती है? (Why do We Need a Face Mask?)

आजकल की बढ़ती हुई जनसंख्या, प्रदूषण बढ़ने के सबसे प्रमुख कारणों में से एक है। प्रदूषण ने हमारा जीवन कठिन बना दिया है। अब कुछ भी शुद्ध नहीं रह गया है चाहे वो हवा हो, मिट्टी या पानी ही क्यों न हो। जिस भी वस्तु का हम उपयोग करते हैं उसे निस्पंदन प्रक्रिया से गुजरना पड़ता है। तो वहीँ एक समय ऐसा था जब लोग बेझिझक नदियों और झरनों का पानी पी लिया करते थे। पर अब समय यह आगया है की हम शुद्ध जल खरीद कर पीते हैं।

ठीक इसी प्रकार वह दिन दूर नहीं जब हमे साँस लेने के लिये ऑक्सीजन (हवा) भी खरीदनी पड़ेगी। प्रदूषण का बढ़ता स्तर हमारे हवा को जहरीला बनाते जा रहा है। भारत के गाज़ियाबाद (Ghaziabad) को दुनिया के सबसे प्रदूषित शहरों की सूची में सर्वप्रथम स्थान प्राप्त है। तो वहीँ चीन का खोतान (Hotan) इस सूची में दूसरे स्थान पर है।

दूषित हवा में धूल के छोटे कण, CFC गैस, कार्बन मोनोऑक्साइड, औद्योगिक अपशिष्ट, अलग-अलग प्रकार के बैक्टीरिया, वायरस, आदि जैसे लाखों अशुद्धियां होती हैं और इनकी वजह से कई हानिकारक बीमारियां भी होती हैं। इसका सबसे जीवांत उदाहरण कोरोना है, जिसे WHO द्वारा महामारी घोषित किया जा चुका है और इस बीमारी ने कई हजारों लोगों की जान ली है। किसी भी रोग से बचने का सबसे अच्छा तरीका है रोकथाम और आज कल आप ज्यादातर बीमारियों से मास्क पहन कर बच सकते हैं।

कोरोना के मामले में डॉक्टर केवल उन लोगों को मास्क पहनने का सुझाव देते हैं जो इससे पीड़ित रहते हैं, परंतु सोचने वाली बात यह है की एक कोरोना ग्रसित व्यक्ति में भी इसके लक्षण दिखने में कई बार 14 दिन का समय लग जाता है। इस अवधि में रोगी को खुद नहीं पता होता की उसे कोरोना है और अनजाने में ही सही, वे कई दूसरों को भी प्रभावित कर सकते हैं। इन सब से बचने का सर्वोत्तम तरीका है की आप स्वयं मास्क पहने और स्वास्थ्य रहें।

जब आप किसी संक्रमण का शिकार कम होते हैं तो आपका शारीरिक स्वास्थ्य भी ठीक रहता है। इस लिये सदैव मास्क पहनें। मैंने नीचे कुछ बीमारियों का वर्णन किया है जिन्हें आप मास्क पहन कर बच सकते हैं।

ऐसे संक्रमण/ वायु जनित रोग जो एक मास्क रोक सकता है (Infections/ Airborne Diseases That a Mask Can Prevent)

  • सर्दी और खांसी (Cough and Cold)

आपने देखा होगा की घर में किसी एक व्यक्ति को अगर सर्दी या खांसी हो जाए तो धीरे-धीरे सबको हो जाता है। क्यों की यह वायु के जरिये आसानी से फ़ैल जाता है। संक्रामक व्यक्ति के खांसने और छींकने से उसके थूक के माध्यम से उसका संक्रमण एक व्यक्ति से दूसरे में पहुंच जाता है। इस लिये इससे बचने का सबसे अच्छा उपाय है की मास्क पहनने और सुरक्षित रहें।

  • कोरोना (Corona)

कोरोना को इस सदी के सबसे खतरनाक रोगों में से एक माना गया है, जिसे खुद WHO एक महामारी घोषित कर चुका है। इस घातक रोग का मुख्य कारण एक वायरस है, जिसके चलते हजारों की तादात में लोगों को अपनी जान गवानी पड़ी। यह छींकने और खांसने मात्र से फ़ैल जाता है और कई बार तो संक्रमित व्यक्ति से बात कर लेने मात्र से हवा के माध्यम से ये वायरस दूसरे व्यक्ति को संक्रमित कर देता है। कोरोना से बचने का सबसे सरलतम उपाय है मास्क पहनना, समय-समय पर हाथ धुलते रहना और लोगों से उचित दूरी बनाए रखना।

  • गलगंड रोग (गलसुआ) (Mumps)

एक ऐसा रोग जो फैलता तो वायरस के माध्यम से है परंतु संक्रमित व्यक्ति के सपर्क में आने वाले भी कई बार इसके शिकार हो जाते हैं। क्यों की यह वायु के माध्यम से आसानी से यात्रा करता है। संक्रमित व्यक्ति के खांसने और छींकने से वहां उपस्थित लोग संक्रमित हो जाते हैं। इस रोग में मरीज को उनके पैरोटिड नमक लार ग्रंथी (Parotid Salivary Glands) में दर्दनाक सूजन हो जाता है। इस लिये इससे बचने के लिये मास्क अवश्य पहने।

  • क्षय रोग (Tuberculosis)

यह एक वायु जनित जीवाणु रोग है जो आसानी से हवा के माध्यम से फ़ैल जाता है। इसमें खास कर आपके फेफड़े प्रभावित होते हैं और एक कमज़ोर रोग प्रतिरोधक क्षमता वाला व्यक्ति इससे बहुत जल्दी प्रभावित हो जाता है। ठीक तरीके से इलाज न करने पर यह जान लेवा भी हो जाता है। यदि आपके घर में एक TB संक्रमित व्यक्ति है तो संभल के रहें तथा मास्क को वरीयता दें। मास्क की सहायता से TB के संक्रमण को रोका जा सकता है।

इन सब के अलावा डिप्थीरिया, चिकनपॉक्स जैसी कई अन्य बीमारियां हैं जिन्हें मास्क पहन कर रोका जा सकता है।

क्या केवल मास्क पहनना काफी है? (Is Just Wearing a Mask Sufficient?)

मास्क पहनने के साथ-साथ हमे कुछ अन्य बातों का भी ध्यान रखना चाहिए जैसे की -

  • मास्क पहनने के बाद यह देख लेना की वह सही से ठीक जगह बैठा है की नहीं।
  • अपने हाथों से बार-बार मास्क को न छुएं क्यों की इससे संक्रमण फ़ैल सकता है।
  • सामान्यतः ऐसा देखा गया है की लोग बाकी कपड़ो के साथ मास्क को भी धुल देते हैं, ऐसा कभी न करें क्यों की इससे संक्रमण आसानी से बाकी कपड़ों में भी फ़ैल सकता है। कई संक्रमण केवल धुलने से नहीं जाते इस लिये मास्क को अलग से गरम पानी से साफ करना चाहिए।
  • मास्क पहनने के साथ ही यह आवश्यक है की आप अपने रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी बढ़ाएं। जिससे आपको कोई भी संक्रमण आसानी से परेशान कर पायेगा और आप कई बीमारियों से सुरक्षित भी रह सकते हैं।
  • यदि आप किसी दूषित इलाके में रहते है या आप अस्पताल के कोई कर्मचारी हैं, तो अपने सेहत का विशेष ध्यान दें। क्यों की कई बार हम बीमार नहीं पड़ते परंतु किसी रोग के वाहक के रूप में काम कर देते हैं। इस लिये बहार से आने के बाद खुद को साफ करने के बाद ही घर में आएं।

निष्कर्ष

ज्यादातर हवा से फैलने वाली बीमारियों को मास्क पहन कर आसानी से रोका जा सकता है। मास्क पहनने के स्वास्थ्य आदत को विकसित करें और दूसरों को भी ऐसा करने के लिये प्रेरित करें। मैंने आपके लिये विभिन्न प्रकार के मास्क उनसे संबंधित जानकारी उपर साझा की है और आशा करती हूं की वे आपके अवश्य काम आएंगे। अपनी आवश्यकता अनुसार मास्क चुने और बीमारियों को दूर भगाएं।