सर्दियों में प्राकृतिक रूप से तैलीय त्वचा की देखभाल कैसे करें (How to Take Care of Your Oily Skin in Winter Naturally)

सर्दियों में आपको अपने शरीर के साथ-साथ अपनी त्वचा का भी खास ख्याल रखना चाहिए। हमें प्रकृति के रूप में अपनी दूसरी माँ का आभारी होना चाहिए, जो हम सभी के लिए हर तरह की स्वास्थ्य समस्याओं का समाधान अपने पास रखी हुई है। आपकी त्वचा चाहे जैसी भी हो, यहाँ हमेशा कोई न कोई उपाय मौजूद होते ही हैं जो हमारी त्वचा को सुरक्षित बनाये रखते हैं जिससे वो चमकदार और स्वस्थ्य दिखती है।

सर्दियों के मौसम में वातावरण में मौजूद नमी हमारी त्वचा को प्रभावित कर सकती है और ये हमारी त्वचा ही है जो हमारे शब्दों से ज्यादा कुछ बोल देती है। इसीतरह, अगर आप सोचते हैं कि आपकी तैलीय त्वचा इस शुष्क मौसम में आपकी मदद करेगी, तब आप गलत हैं क्योंकि यह कर्कश मौसम आपकी समस्याओं में वृद्धि करता है और आपके चेहरे को और भी अधिक तैलीय महसूस कराता है, जो आपको चिकना दिखाता है।

मैंने अपने इस लेख में तैलीय त्वचा के बारे में लिखा है, जहां मैंने तैलीय त्वचा के फायदे और नुकसान पर चर्चा की है और साथ ही आपकी त्वचा की देखभाल के लिए विभिन्न तरीके भी बताये हैं। कभी-कभी तैलीय त्वचा वाले व्यक्तिओं को काफी ज्यादा झेलना पड़ता है, इसलिए मैंने विशेष रूप से इस विषय को अतिरिक्त देखभाल और जिम्मेदारी के साथ आपके लिए लिखा है।

सर्दियों में तैलीय त्वचा के लिए केयर टिप्स (Winter Care Tips for Oily Skin)

हम आपकी तैलीय त्वचा से निपटने के लिए कुछ अद्भुत सामग्री लाए हैं। सर्दी आपकी त्वचा के रंग में सुधार करती है लेकिन तैलीय त्वचा वाले लोग काफी पीड़ित रहते हैं क्योंकि उनके चेहरे पर अतिरिक्त तेल की उपस्थिति उन्हें चिकना और काला दिखाती है। काला होना बुरा नहीं है लेकिन जिस त्वचा में कोई कमी ही न हो उसके लिए यह एक चुनौती है।

यहाँ कई प्राकृतिक चीजें हैं जिसे आप अपनी तैलीय त्वचा पर लागू कर सकते हैं जैसे, शहद, दूध, सेब, अंडा, आदि। हमने तैलीय त्वचा के लिए कुछ प्राकृतिक घरेलू उपचारों पर चर्चा की है जिसका आपको निश्चित रूप से प्रयोग करना चाहिए।

1. नींबू

विटामिन सी का एक बेहद ही समृद्ध स्रोत जो आपकी त्वचा को मजबूत रखने के लिए बहुत ही अच्छा है, एंटी-एजिंग गुणों से भरपूर निम्बू के प्रयोग से महीन रेखाओं, झुर्रियों आदि से बचा जा सकता है। नीम्बू में एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं और यह बहुत ही बेहतर तरीके से मुँहासे के निशान और पिंपल्स से निपटता है। यह तैलीय त्वचा वाले व्यक्ति और दूसरों के लिए भी एक वरदान है अगर यह आपको सूट करता है तो। यह आपकी त्वचा की रंगत में भी सुधार लाता है और मुँहासे के निशान पर अद्भुत रूप से काम करता है।

अ) नींबू और अंडे के सफेद हिस्से का फेस मास्क

आवश्यक सामग्री

  • 1 अंडा
  • 1 चम्मच नींबू का रस

कैसे बनायें और लगायें

अंडे को तोड़कर उसका सफेद भाग ले लीजिये और उसमें एक बड़ा चम्मच नींबू का रस मिलाएं और अब उन्हें एक साथ मिला लें। मिश्रण को चेहरे पर लगा लें और इसे सूखने दें, फिर अपने चेहरे को गुनगुने पानी से धो लें।

लाभ

  • नींबू और अंडे का सफ़ेद हिस्सा दोनों में त्वचा के रोमछिद्रों में कसाव लाने का गुण होता है।
  • नींबू तैलीय बनावट में सुधार करता है और आपकी त्वचा की रंगत को सुधारता है।

ब) नींबू और एलोवेरा फेस मास्क

आवश्यक सामग्री

  • 1 नींबू
  • 1 चम्मच एलोवेरा जेल

कैसे बनायें और लगायें

एक कंटेनर में एक चम्मच नींबू का रस और एलोवेरा जेल ले लीजिये और इन्हें एक साथ मिलाकर 20 मिनट के लिए लगाएं और सूखने दें। फिर अपने चेहरे को गर्म पानी से धुल लें।

लाभ

  • नींबू तैलीय त्वचा पर अद्भुत रूप से कार्य करता है जबकि एलोवेरा में भी तेल को सोखने की क्षमता होती है और यह आपके रोम छिद्रों से सभी प्रकार की गंदगी को निकालता है।
  • सूजनरोधी गुण आपकी त्वचा में प्राकृतिक चिकनाई लाते हैं और आपके चेहरे को चमकदार और आकर्षक बनाते हैं।

2. टमाटर

टमाटर में विटामिन सी और ए होता है, जो आपके चेहरे पर मौजूद अत्यधिक तेल से लड़ने में मदद करता है। यह त्वचा के पीएच को भी बनाए रखता है और आपकी त्वचा की रंगत को भी बढ़ाता है। यह तैलीय त्वचा के लिए काफी अच्छा है। टमाटर में प्राकृतिक ब्लीचिंग गुण भी होते हैं जो मुँहासे के धब्बों पर काम करते हैं और आपको खूबसूरत त्वचा प्रदान करते हैं।

हम आपके लिए कुछ टमाटर फेस मास्क लाए हैं जो निश्चित रूप से आपकी तैलीय त्वचा से निपटने में आपकी मदद करेंगे।

अ) टमाटर और नींबू का फेस मास्क

आवश्यक सामग्री

  • 1 चम्मच नींबू का रस
  • 1 चम्मच टमाटर का रस

कैसे बनायें और लगायें

एक कंटेनर में एक चम्मच टमाटर का रस और नींबू का रस ले लीजिये और उन्हें एक साथ मिलाएं। 20 मिनट के लिए इस मिश्रण को लगा लीजिये और फिर इसे गुनगुने पानी से धो लें।

लाभ

  • टमाटर और नींबू दोनों ही तैलीय त्वचा के लिए अद्भुत हैं और वे अद्भुत तरह से सूजनरोधी तथा एंटी-एजिंग गुण का भी सहन करते हैं।
  • यह दोनों ही रोम छिद्रों पर काम करते हैं और गंदगी को हटाते हैं और एंटी-एजिंग गुणों को बढ़ावा देते हैं।

ब) टमाटर और एवोकैडो फेस मास्क

आवश्यक सामग्री

  • 1 टमाटर
  • 1 एवोकैडो

कैसे बनायें और लगायें

एवोकैडो को छीलकर, टमाटर को पतले-पतले टुकड़ों में काट लें और उसका मिश्रण बनाएं, या तो मिश्रण को ब्लेंडर में पीस लें या चम्मच की मदद से इसे अच्छे से मैश करें। मिश्रण तैयार होने के बाद इसे 30 मिनट के लिए लगाकर छोड़ दें और फिर इसे ठंडे पानी से धुल लें।

लाभ

  • एवोकाडो में प्राकृतिक असंतृप्त अम्ल होता है, जो मुंहासों को ख़त्म करने में सहायक होता है और आपकी त्वचा से अतिरिक्त तेल को निकालता है।
  • यह आपकी त्वचा को मुलायम और चिकना बनाता है।

तैलीय त्वचा के क्या हैं नुकसान? (What are the Drawbacks of Oily Skin?)

जब हम अपनी नाकामियों पर काम करते हैं, ये स्वतः ही सफलता के रास्ते खोल देता है। इसीतरह से, एक अच्छी और स्वस्थ्य त्वचा पाने के लिए, आपको इसके नुकसान के बारे में भी पता होना चाहिए और बेहतर परिणाम के लिए उन चीजों को नजरंदाज करना चाहिए। यहाँ पर हमने तैलीय त्वचा की कमियों को अंकित किया है और उसके बाद कुछ घरेलू उपाय भी सुझाये हैं जिन्हें आप इन सर्दियों में आजमा सकते हैं।

  • चेहरे पर अत्यधिक चमक कभी-कभी आपको चिकना वाला अनुभव देता है।
  • त्वचा पर मौजूद तेल रोम छिद्रों को बंद कर देता है और फिर पिम्पल आने लगते हैं।
  • जीवन के किसी भी चरण पर आपकी त्वचा तैलीय हो सकती है और इसका कारण आपका स्वास्थ्य या फिर वातावरण भी हो सकता है।

तैलीय त्वचा को सर्दियों में स्वस्थ्य रखने के लिए इन चीजों को करें नजरअंदाज (Things to Avoid to Keep Oily Skin Healthy in Winter)

यह बेहतर होगा कि अपनी त्वचा के स्वास्थ्य को बेहतर बनाये रखने के लिए कुछ आदतों को नजरअंदाज करना चाहिए क्योंकि रोगग्रस्त त्वचा आपको वाकई में चिड़चिड़ा बना देता है। एक बेहतर त्वचा के लिए कोशिश करें:

  • अच्छे उत्पादों का इस्तेमाल करें, क्योंकि रूखे या ख़राब उत्पाद हमारी त्वचा से और भी ज्यादा तेल सक्रीय करने की वजह बन सकते हैं।
  • उन उत्पादों से दूर रहें जिनमे अल्कोहल होते हैं क्योंकि वे आपकी त्वचा को नुकसान पहुंचा सकते हैं।
  • त्वचा को बार-बार धुलना या उसकी सफाई नहीं करनी चाहिए, इसकी वजह से त्वचा और ज्यादा तेल छोड़ती है।

तैलीय त्वचा के बारे में कुछ रोचक तथ्य जो हर किसी को जानना चाहिए (Some Interesting Facts About Oily Skin That Everyone Should Know)

त्वचा का एक प्रकार जहाँ आपकी त्वचा प्राकृतिक तरह से तेल छोड़ती हो और अत्यधिक तेल निकलने की वजह से आपका चेहरा ज्यादा चिकना दिखने लगता है। जो आपके लिए किसी भी मौसम में मुश्किल खड़ी करता है। ये आपकी दमक को छिपा देता है और आपको हमेशा पसीने से तर-बतर दिखाता है।

हमारे शरीर में कई तरह की ग्रंथियां होती हैं, वसामय उन ग्रंथियों में से एक है जो सीबम का उत्पादन करता है, जो हमारे चेहरे और बालों की चमक के लिए जिम्मेदार होता है। ये प्राकृतिक रूप से हमारी त्वचा में नमी को बनाये रखता है। लेकिन जब हमारी वसामय ग्रंथि प्रचुर मात्रा में सीबम का उत्पादन करने लगता है, तो परिणामस्वरूप हमारी त्वचा तैलीय होने लगती है।

कभी कभी तनाव, हारमोंस में बदलाव भी हमारी त्वचा की प्रकृति में बदलाव ला देते हैं। घंटों तक आपके चेहरे पर मौजूद तेल एक्ने और अन्य त्वचा सम्बन्धी समस्याओं को जन्म देती है क्योंकि ये रोम छिद्रों को बंद कर देती है। हमने यहाँ पर तैलीय त्वचा के बारे में कुछ तथ्यों पर चर्चा की है जिसे आपको भी जानना चाहिए:

  • सीबम का उत्पादन तैलीय त्वचा के लिए जिम्मेदार होता है, मगर बढ़ती उम्र के साथ ये ग्रंथियां कमजोर होने लगती है और धीरे-धीरे इनका उत्पादन स्वतः ही बंद हो जाता है। इसलिए तैलीय त्वचा की समस्या अक्सर युवावस्था में ही देखी जाती है।
  • लोग अपने किशोरावस्था और या शुरुवाती युवावस्था में दूसरों की अपेक्षा अपनी त्वचा को ज्यादा तैलीय महसूस करते हैं और बार-बार त्वचा को धुलते रहते हैं, जिससे रोम छिद्र खुलते हैं और इससे त्वचा में तेल का उत्पादन और भी ज्यादा बढ़ता है।
  • नम मौसम वाले जगहों में रहने वाले लोग अपनी त्वचा पर तेल की ज्यादा मात्रा महसूस करते हैं और बार-बार चेहरे को साफ़ करते हैं जो आपके रोम छिद्रों को खोलता है और आपकी त्वचा पर मौजूद तेल को उभारते हैं।
  • जिस व्यक्ति की त्वचा तैलीय होती है वो अक्सर ही मॉइस्चराइजर का इस्तेमाल करते हैं क्योंकि ये नमी को रोक कर रखता है और परिणामस्वरूप कम तेल का उत्पादन होता है, लेकिन हममे से ज्यादातर लोग इस तथ्य के बारे में नहीं जानते हैं तैलीय त्वचा वाले लोग नमी देने वाले उत्पाद का इस्तेमाल करते हैं।
  • त्वचा में तेल की मौजूदगी आपकी उम्र को कम कर के दिखाती है क्योंकि इसकी वजह से पतली लकीरें, झुर्रियां, आदि नहीं दिखती और इससे आप जवान दिखते हैं।
  • यौवन, रजोनिवृत्ति, गर्भावस्था भी आपकी त्वचा के प्रकार को बदल देती है और कभी-कभी इसे तैलीय बना देती है।
  • ज्यादा मात्रा में कार्बोहाइड्रेट, चीनी या डेयरी उत्पाद सीबम के स्राव को बढ़ावा देता है।
  • काले शहतूत, अंगूर, संतरे, स्ट्रॉबेरी, चेरी, अमरूद, अनानास, आदि सैलिसिलिक एसिड का एक बहुत अच्छा स्रोत हैं और तैलीय त्वचा वाले लोगों को अपनी त्वचा से निपटने के लिए इन फलों का सेवन करना चाहिए।
  • ग्लाइकोलिक एसिड भी तैलीय त्वचा से निपटने में भी बहुत सहायक होता है और आप इसे टमाटर, अनानास और पपीते जैसे फलों तथा सब्जियों में आसानी से पा सकते हैं।
  • तैलीय त्वचा वाले व्यक्ति को हमेशा एक सप्ताह के भीतर अपने तकिया का कवर बदल लेना चाहिए क्योंकि हमारी तकिया ढेर सारे कीटाणुओं को साथ लिए रहती है जो सीधे तौर पर हमारे चेहरे के संपर्क में आता है और मुँहासे को बढ़ावा दे सकता है।

निष्कर्ष

मैंने यहाँ अपनी तरफ से सर्वश्रेष्ठ प्रयास किया है ताकि आपको तैलीय त्वचा से सम्बंधित सभी जरूरी बातें बता सकूँ और साथ ही आपको कुछ प्राकृतिक उपाय भी बताया है। निश्चित रूप से आप उन्हें आजमाएगा क्योंकि ये वाकई में काफी प्रभावी हैं, यहाँ तक कि मेरे खुद के कई दोस्त जो तैलीय त्वचा की समस्या से परेशान अब उनकी त्वचा एकदम खुशनुमा है। विशेष रूप से, लड़कियां अपने राज नहीं बताती हैं मगर मैं हर लड़की और लड़के सभी को इसके बारे में हर एक जानकारी दे रहा हूँ ताकि आप सभी इसका इस्तेमाल कर अपनी त्वचा को नयी जिंदगी दे सकें।