सर्दियों में प्राकृतिक रूप से अपनी त्वचा की देखभाल कैसे करें (How to Take Care of Your Skin in Winter Naturally)

सर्दियों में ताजगी का अहसास होता है और हम इस मौसम में अधिक ऊर्जावान और तरोताजा महसूस करते हैं। हालांकि हमें ठन्डे तापमान से लड़ना पड़ता है, फिर भी हम इस मौसम का आनंद लेते हैं। इस मौसम से निपटने के लिए हम खुद को तैयार करते हैं। सर्दियों में आपको प्राकृतिक रूप से गर्म रखने के लिए हमने तमाम लेख उपलब्ध कराये हैं साथ ही साथ सर्दियों के कुछ स्वस्थ भोजन पर भी लेख प्रदान किए हैं। आप इन लेखों को पढ़कर सर्दियों के लिए अपनी योजना बना सकते हैं।

इस लेख में, हम आपकी त्वचा के स्वास्थ्य के बारे में बात करेंगे, जो ठंड और कठोर मौसम की वजह से सर्दियों के लिए बेहद ही आवश्यक है। आमतौर पर, हम इस मौसम में अपनी त्वचा और बालों में नमी और चमक की कमी महसूस करते हैं। इस मौसम में खुद को बचाना थोड़ा चुनौतीपूर्ण हो जाता है क्योंकि एक स्वस्थ व्यक्ति वह होता है जो बाहर से दिखने में तो स्वस्थ्य दिखे ही साथ ही साथ उसकी आंतरिक फिटनेस भी बेहतर हो। हमारी वेबसाइट आपको दोनों तरीकों से मदद करेगी। अपने विषय पर ध्यान केंद्रित करते हुए आज हम आपकी त्वचा को किसी नवजात शिशु की तरह नर्म और चमकदार बनाने के कुछ दिलचस्प स्किन केयर रूटीन के बारे में बताने जा रहे हैं।

सर्दियों के लिए 'स्वस्थ त्वचा देखभाल दिनचर्या' क्या हैं (What are Healthy Skin Care Routine for Winter for All Skin Types)

त्वचा के स्वास्थ्य के लिए कुछ स्वस्थ आदतें हैं जिनका सर्दियों में हर किसी को पालन करना चाहिए। जिस तरह से हम पौष्टिक भोजन खाते हैं, उसी तरह यह बेहद आवश्यक है कि हमारी त्वचा के स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए हमें कुछ स्वस्थ सुझावों का पालन करना बहुत आवश्यक है। हमने उन्हें नीचे सूचीबद्ध किया है-

1. गर्म पानी से दूर रहें

आमतौर पर, हम सर्दियों में गर्म पानी का उपयोग करते हैं, लेकिन मौसम चाहे जो भी हो हमेशा गर्म पानी से दूर रहने की हिदायत दी जाती है। ऐसा इसलिए क्योंकि यह त्वचा पर मौजूद तेल को धुल देता है और आपकी त्वचा को शुष्क बनाता है और फिर नमी की कमी से त्वचा सम्बंधित विभिन्न समस्याएं होने लगती हैं जैसे खुजली, महीन रेखाएं, झुर्रियां, लालिमा आदि। हमारी त्वचा की सबसे बाहरी परत में केराटिन कोशिकाएं होती हैं और गर्म पानी के इस्तेमाल से वे निष्क्रिय हो जाती हैं जिसकी वजह से त्वचा में नमी की कमी होती है।

2. हर दिन चेहरे की परत न उतारें

एक्सफोलिएशन यानी की चेहरे पर से धुल मिटटी या मृत कोशिकाओं की परत उतारने की वो प्रक्रिया जिसके जरिए हम अपनी त्वचा से मृत कोशिकाओं को हटाते हैं। आमतौर पर, हम सर्दियों में मृत कोशिकाओं से छुटकारा पाने के लिए इस पद्धति का ज्यादातर इस्तेमाल करते हैं, लेकिन बहुत अधिक बार इस प्रक्रिया को दोहराने से आपके लिए परेशानी हो सकती है। एक्सफोलिएशन त्वचा की ऊपरी परत को हटाता है और हमारी त्वचा को शुष्क बनाता है और सर्दियों के दौरान शुष्कता स्वतः ही बढ़ जाती है और ऐसे में यदि हम इस तरीके का इस्तेमाल करते हैं, तो निश्चित रूप से यह हमारी त्वचा के लिए परेशानी का कारण बन सकती है। इसलिए, आपकी स्किन जिस भी प्रकार की है, उसे हफ्ते में एक बार से ज्यादा एक्सफोलिएट न करें।

3. गीले कपड़ों से दूर रहें

गीले कपड़े पहनना वास्तव में आपको परेशान कर सकता है और इसे पहनने की वजह से आपकी त्वचा में चकत्ते भी आ सकता है और यह कई तरह के फंगल संक्रमणों को भी बढ़ावा देता है। इसलिए, हमेशा इस बात का ध्यान रखें कि कपड़ों को शाम होने से पहले बालकनी से इकट्ठा कर लेना चाहिए, क्योंकि सर्दियों की रात में वातावरण में नमी आपके कपड़े को गीला कर सकती है और हम में से ज्यादातर लोग नतीजे की परवाह किए बिना वही कपड़े पहन लेते हैं।

कभी-कभी खेलते वक़्त या अचानक हुई बारिश आपको गीला कर सकती है। इसलिए, इस बात का विशेष ध्यान रखें कि लम्बे समय तक एक ही कपड़े में नहीं रहना चाहिए। यह आपको बीमार कर सकता है, साथ ही त्वचा के गंभीर संक्रमण की वजह भी बन सकता है।

4. व्यायाम करना न भूलें

इसमें कोई दो राय नहीं है कि सर्दी हमें आलसी बना देती है और हम अपने कंबल में ही घुसे रहना चाहते हैं, मगर स्वस्थ त्वचा के लिए आपको जागना होगा और कुछ शारीरिक गतिविधियां भी करनी होंगी। आपको व्यायाम करना चाहिए क्योंकि चर्बी हमारे रक्त वाहिकाओं में आसानी से जमा हो जाती है। इसलिए, कुछ शारीरिक गतिविधियां करना बेहद ही आवश्यक हो जाता है, क्योंकि वे न सिर्फ चर्बी को पिघलाएंगे, बल्कि आपकी त्वचा को सांस लेने की भी छूट देंगे।

जब हमारी त्वचा सांस लेती है तो इससे हमारे चेहरे पर एक प्राकृतिक चमक आती है और यह प्रक्रिया त्वचा के स्वास्थ्य को बढ़ावा देती है। तो, चमक और बेहतर त्वचा के लिए, आपको अपनी दिनचर्या में व्यायाम को जरुर शामिल करना चाहिए।

5. अपने होंठ मत चाटिये

सर्दियों में, हम अक्सर ही सूखी त्वचा के साथ-साथ होंठों के सूखने की भी शिकायत करते हैं। आमतौर पर हम लिप बाम लगाते हैं लेकिन हममें से ज्यादातर लोगों को अपने होंठ चाटने की आदत होती है और यह सूखे होंठ की वजह बनता है।

लार की प्रकृति अम्लीय होती है और इसके अन्दर मौजूद एंजाइम भोजन को पचाने में मदद करते हैं और जब यह हमारे होठों के संपर्क में आता है, तो यह होंठों की पतली परत को जला देता है जिस वजह से होंठ सूख जाते हैं। इसलिए, अपने होंठ को सर्दियों में न चाटें।

6. पानी बहुत आवश्यक है

सर्दी का मौसम शरीर से सारी नमी को सोख लेती है और हमें डीहाइड्रेट कर देता है, इसलिए हमें सर्दियों में हाइड्रेट रहना चाहिए यानी कि पानी पीते रहना चाहिए। चाहे यह आपकी त्वचा हो या फिर आपका शरीर, दोनों को ही देखभाल की आवश्यकता है। यहाँ पर हमने कुछ स्वस्थ आदतों पर चर्चा की है जिनका आपको भी सर्दियों के मौसम में पालन करना चाहिए।

  • सर्दियों में खुद को हाइड्रेट कैसे रखें

संतरे, टमाटर, अनानास, गाजर, स्ट्रॉबेरी आदि फलों का सेवन करें, ये हमें हाइड्रेट रखते हैं तथा मौसमी फल और सब्जियां भी हमारे शरीर की तरलता को बनाए रखने में हमारी मदद करते हैं।

चाय, कॉफ़ी आदि जैसे कैफीन से भरपूर पेय पदार्थ या फिर शराब जैसे पेय से बचें क्योंकि कैफीन डीहाइड्रेशन को बढ़ावा देता है। तो, आप इनकी जगह पर तमाम अन्य हर्बल पेय जैसे अदरक-तुलसी चाय, थाइम हर्बल चाय, रोज़मेरी चाय, आदि का सेवन कर सकते हैं।

सूप का सेवन ज्यादा करें, ये शरीर के जल स्तर को बनाए रखने में काफी ज्यादा सहायक होता हैं और आपकी त्वचा को हाइड्रेट रखता हैं जिसकी वजह से त्वचा स्वस्थ दिखती है।

गर्म पानी पिएं, क्योंकि ठंडा पानी बार-बार पेशाब करने के लिए उत्तेजित करता है, इसलिए सर्दियों में हमेशा गर्म पानी पिएं।

7. इनर फैब्रिक सिल्क या कॉटन के ही पहनें

कभी-कभी यह हमारे कपड़े होते हैं जो खुजली और तमाम तरह की त्वचा एलर्जी को बढ़ावा देते हैं जिसकी वजह से पैच, लालिमा, और कई अन्य प्रकार की त्वचा सम्बन्धी अनियमितताओं को झेलना पड़ता है। इसलिए, हमेशा यह सुझाव दिया जाता है कि अपने स्वेटर के नीचे रेशम या सूती कपड़े पहनना चाहिए। कभी-कभी बहुत से लोग ऊन के वजह से एलर्जी की शिकायत करते हैं। इस तरह के कपड़ों को पहनना सबसे बेहतर होता है या फिर कुछ ऐसा जो आपको सूट करे।

यह भी सलाह दी जाती है कि रेशम के स्कार्फ और तकिया कवर का उपयोग करना चाहिए, क्योंकि ये आपकी त्वचा के लिए एक ही तरह की बनावट वाले होते हैं और ये आपकी त्वचा को मुलायम और बालों को चमकदार बनाये रखने में मदद भी करते हैं। इसलिए, सौंदर्य विशेषज्ञ रेशम के कपड़ों का उपयोग करने का सुझाव देते हैं।

8. अपनी त्वचा को धूप से बचाएं

हमेशा इस बात का सुझाव दिया जाता है कि सनस्क्रीन का उपयोग करें, भले ही दिन में बादल छाए रहें या फिर बेहद ठंढ वाला दिन हो। मौसम चाहे जो भी हो सूरज हमेशा हमारे ऊपर होता है और सूरज की रोशनी में अल्ट्रा वायलेट किरणें होती हैं, हालांकि सर्दियों में इसकी तीव्रता कम होती हैं मगर फिर भी यह नुकसान पहुंचा सकता है। इसलिए इस मौसम में भी आप अपनी स्किन गार्ड को ले जाना न भूलें। त्वचा विशेषज्ञ हमेशा आपकी त्वचा को यूवी किरणों से सुरक्षित रखने के लिए 30 से अधिक एसपीएफ वाले सनस्क्रीन को साथ रखने की सलाह देते हैं।

9. अपने भोजन को मत टालिये

सर्दियों में दिन छोटे होते हैं और रात जल्दी ही हो जाया करती है और इसकी वजह से हम में से अधिकांश लोग अपना भोजन छोड़ देते हैं लेकिन हमें अपना भोजन नहीं छोड़ना चाहिए, क्योंकि हमारे शरीर को कम तापमान से निपटने के लिए अधिक पोषक तत्वों की आवश्यकता होती है और हम इस मौसम में भूख भी ज्यादा ही महसूस करते हैं। भोजन को टालना आपको परेशानी में डाल सकता है, क्योंकि इससे आपके आहार में असंतुलन पैदा हो सकता हैं और एक स्वस्थ शरीर ही स्वस्थ त्वचा दे सकता है है। इसलिए, सर्दियों के मौसम में स्वस्थ आहार लेना बेहद आवश्यक है। कोशिश करें कि मौसमी फल तथा सब्जियां खाएं और सर्दियों में जंक फूड खाने से बचें।

सर्दियों में स्वस्थ त्वचा पाने के लिए सर्वश्रेष्ठ घरेलू उपचार (Best Home Remedies to Get Healthy Skin in Winters)

कुछ स्वस्थ आदतों का पालन करने के बाद, हम यहाँ पर आपके लिए कुछ सामान्य घरेलू उपचार लेकर आये हैं जिनका पालन सभी को करना चाहिए और ये सभी उपाय हर तरह की त्वचा के लिए उपयुक्त हैं।

1. अपनी त्वचा को एक्सफोलिएट करें

एक्सफोलिएशन, स्किनकेयर रूटीन की एक बहुत ही आवश्यक प्रक्रिया है और हमें सूखी और मृत कोशिकाओं को हटाने के लिए कुछ समय के अंतराल पर अपनी त्वचा को रगड़ना चाहिए और हमारी त्वचा को उचित तरीके से सांस लेने देना चाहिए। आपकी त्वचा के प्रकार के अनुसार आप एक्सफोलिएट करने के अंतराल को तय करें। हमने यहाँ पर आपके लिए कुछ घरेलु स्क्रब के बारे में भी जानकारी दी है, आइये इनपर भी एक नजर देखें।

अ) ओटमील स्क्रब: यह सभी प्रकार की त्वचा के लिए सर्वोत्तम है। आप दलिया को विभिन्न सामग्रियों के साथ मिलाकर एक शानदार स्क्रब बना सकते हैं, यहाँ पर हम आपके लिए कुछ लेकर आये हैं-

  • ओटमील और हनी का स्क्रब: ओटमील और ब्राउन शुगर को अच्छे से पीस लें और फिर इसमें एक चम्मच शहद और एक चम्मच जोजोबा का तेल मिला लें और फिर इसका एक अच्छा सा मिश्रण तैयार कर लीजिये। इस मिश्रण को अपने चेहरे पर लगाएं और कुछ मिनट तक मसाज करने के बाद इसे धुल लें।
  • ओटमील और अंडे का स्क्रब: एक कप ओटमील को अच्छे से पीस लें और फिर इसमें एक चम्मच ब्राउन शुगर मिला लीजिये, फिर इसमें एक चम्मच बादाम का तेल और एक चम्मच कच्चा दूध और एक अंडे का सफेद भाग मिलाएं। अब इसका मिश्रण तैयार करने के बाद इसे अपने चेहरे पर लगाएं और कुछ मिनट के लिए गोलाकार दिशा में मसाज करें और फिर इसे धुल लें।

ब) कॉफी स्क्रब: एक कॉफी स्क्रब सभी प्रकार की त्वचा के लिए अच्छा होता है और कॉफी रक्त संचार में भी सुधार करती है और मृत कोशिकाओं को हटाकर चमकदार त्वचा प्रदान करती है। यह आपकी त्वचा की बनावट को सुधारता है और अद्भूत तरह से हर प्रकार की त्वचा पर काम करता है।

  • कॉफी और नारियल तेल का स्क्रब: एक कटोरी में आधा कप पीसा हुआ कॉफी और उतनी ही मात्रा में ब्राउन शुगर ले लीजिये और इसमें एक चम्मच नारियल का तेल और एक छोटा चम्मच वेनिला का रस मिलाकर इसका एक मिश्रण तैयार कीजिये। मिश्रण को अपने चेहरे पर लगाएं और कुछ देर मसाज करने के बाद इसे धुल लें।
  • कॉफ़ी और ग्रीन टी का स्क्रब: एक कटोरी में आधा कप कॉफ़ी और एक चम्मच बेकिंग सोडा लें और फिर एक टीबैग से ग्रीन टी और 3 चम्मच जोजोबा का तेल लेकर इसका एक अच्छा सा मिश्रण तैयार करें। इसे इसी तरह लगा लें, आप चाहें तो चीनी, नमक, कीवी, अखरोट, टमाटर, पपीता, लाल मसूर, आदि विभिन्न सामग्रियों का भी स्क्रब के रूप में इस्तेमाल कर सकते हैं। आप इन्हें बॉडी स्क्रब के रूप में अपने शरीर पर भी लगा सकते हैं।

2. टोनर लगाएं

अपनी त्वचा को साफ करने के बाद, आपको टोनर लगाना चाहिए। आप आवश्यकतानुसार सामान्य सफाई तकनीक या एक्सफ़ोलीएट का पालन कर सकते हैं। हम टोनर का इस्तेमाल अपनी त्वचा के पीएच को बनाए रखने के लिए करते हैं जो आमतौर पर सफाई के बाद भंग हो जाता है। टोनर रोम छिद्रों में कसाव लाने में सहायक होता है और त्वचा से अशुद्धियों को हटाता है, खासकर उन लोगों के लिए जो तैलीय त्वचा से परेशान हैं।

अल्कोहल-आधारित टोनर का इस्तेमाल करने से बचने का प्रयास करें क्योंकि अल्कोहल-आधारित उत्पाद सर्दियों के मौसम में आपकी त्वचा को शुष्क बनाते हैं। अलग अलग प्रकार की त्वचा के लिए अलग-अलग तरह के टोनर का इस्तेमाल किया जाना चाहिए।

  • रोजवॉटर: आप बस अपने साफ चेहरे पर रुई की मदद से गुलाब जल और फिर उसके बाद मॉइस्चराइजर लगा सकते हैं।
  • एलो वेरा जेल: यह एक बेहद ही अच्छा प्राकृतिक टोनर है, अपने चेहरे को धुलने के बाद एलो वेरा जेल को लगाये और फिर मॉइस्चराइज़र लगा सकते हैं।
  • नींबू, ककड़ी, पुदीना आदि भी कुछ अन्य टोनर हैं, आप बस इनका उपयोग कर सकते हैं और सर्दियों में स्वस्थ त्वचा पा सकते हैं।

3. मॉइश्चराइजर लगाएं

टोनर लगाने के बाद हमें मॉइस्चराइजर लगाना चाहिए। सर्दियों में शुष्क त्वचा एक आम समस्या है और मॉइस्चराइज़र इसका सबसे बेहतर उपचार है। हमेशा उचित मॉइस्चराइज़र का ही इस्तेमाल करें क्योंकि वे आपको हाइड्रेटेड रखेंगे और त्वचा को स्वस्थ बनाए रखेंगे। चूँकि हम घरेलू उपचारों पर चर्चा कर रहे हैं, इसलिए हम आपके लिए कुछ प्राकृतिक मॉइस्चराइज़र लेकर आये हैं।

  • जोजोबा का तेल: यह हर प्रकार की त्वचा के लिए बेहद ही अच्छा मॉइस्चराइज़र है। जोजोबा का तेल आपकी त्वचा, बालों और होंठों के लिए बहुत अच्छा होता है और हर किसी को इसे अपने सर्दियों में रोजाना के स्किनकेयर रूटीन में शामिल करना चाहिए।

जोजोबा तेल लगाने से आपकी त्वचा हाइड्रेट होती है और जोजोबा तेल की एक अच्छी बात ये है कि, तैलीय त्वचा वाले व्यक्ति भी इसका उपयोग कर सकते हैं। ये त्वचा पर होने वाली एलर्जी या किसी तरह की खुजली पर भी बेहतर काम करता हैं। यह एंटीऑक्सिडेंट और विटामिन ई का एक समृद्ध स्रोत है जो हमारी त्वचा के लिए बहुत अच्छा माना जाता है और एंटी-एजिंग गुणों को बढ़ावा देता है।

  • एलो वेरा: इसे सबसे बेहतर प्राकृतिक मॉइस्चराइज़र में से एक माना गया है और यह सभी प्रकार की त्वचा के लिए उपयुक्त है। यह आपको सनबर्न से बचाता है, आपकी त्वचा को बिना किसी चिकनाई वाले प्रभाव के हाइड्रेट रखता है। यह सभी प्रकार की त्वचा के लिए उपयुक्त है और रूसी की समस्या में भी बेहद प्रभावी है।
  • जैतून का तेल: सर्दियों में आपकी त्वचा को मॉइस्चराइज करने के लिए जैतून का तेल सबसे बेहतर तरीकों में से एक माना गया है। जैतून के तेल के जीवाणुरोधी और जलनरोधी गुण त्वचा के स्वास्थ्य को बढ़ावा देते हैं और आपके शरीर की नमी को बनाए रखते हैं। यहां तक ​​कि तैलीय और अतिरिक्त संवेदनशील त्वचा वाले व्यक्ति को भी इसके इस्तेमाल से काफी शानदार परिणाम मिलते हैं।

4. सनस्क्रीन लगाएं

मॉइस्चराइज़र लगाने के बाद, हमें सनस्क्रीन लगाना चाहिए। ऐसा इसलिए है क्योंकि हमें अपनी त्वचा को हानिकारक यूवी किरणों से बचाना होता है। यूवी किरणें हमारी त्वचा के लिए बहुत ही ज्यादा हानिकारक होती हैं क्योंकि ये तरह-तरह की त्वचा सम्बन्धी परेशानियों को बढ़ावा देती हैं जिसकी वजह से हमारी त्वचा में मेलेनिन का बनना बढ़ जाता है, परिणामस्वरूप त्वचा सूखने लगती है और रंग भी काला पड़ने लगता है। वे उम्र बढ़ने के संकेतों को भी बढ़ावा देते हैं और एक व्यक्ति झुर्रियों और अन्य त्वचा संबंधी समस्याओं से पीड़ित हो सकता है।

इसलिए, बेहतर परिणाम के लिए 30 एसपीएफ या उससे अधिक वाले सनस्क्रीन को ही लगाने का सुझाव दिया जाता है। ये बाजार में आसानी से उपलब्ध भी होते हैं।

निष्कर्ष

हम सभी के त्वचा की प्रकृति अलग-अलग होती है, लेकिन यहाँ पर एक निश्चित स्किनकेयर रूटीन है, जिसका सभी को पालन करना चाहिए। मौसम के हिसाब से हम अपने कपड़े, खाना आदि बदलते हैं, तो कुछ अच्छी आदतों के लिए इतना आलस क्यों महसूस करना हैं। कुछ अच्छी आदतों को प्राप्त करना बेहद ही आवश्यक है क्योंकि वे न केवल आपको अच्छी त्वचा प्रदान करेंगे बल्कि आपके स्वास्थ्य को भी बढ़ावा देंगे। यहाँ ऊपर हमने कुछ बेहतरीन और स्वास्थ्यप्रद आदतों का उल्लेख किया है। इन सभी के अलावा, आपको सर्दियों के कुछ स्वस्थ आहार का भी पालन करना चाहिए जिसे आप हमारे अन्य ‘सर्दियों के लिए भोजन’ वाले लेखों में पढ़ सकते हैं। आपको स्वस्थ बने रहने के लिए हम पूरी कोशिश करते हैं, आप हमें पढ़ते रहें और हमारे लेखों को अन्य लोगों के साथ साझा करना न भूलें।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल (FAQs)

त्वचा की देखभाल के संबंध में कुछ अक्सर पूछे जाने वाले सवाल:

हमने कुछ सवालों को इक्कठा किया है जो आम तौर पर लोग पूछते हैं। आप भी किसी तरह की स्वास्थ्य सलाह से संबंधित अपनी शंका यहाँ रख सकते हैं।

Q. कभी-कभी मेरा चेहरा बुरी तरह से क्यों सूख जाता है?

आपकी शुष्क त्वचा के लिए कई कारक जिम्मेदार हो सकते हैं। हम उन सभी पर चर्चा करेंगे। सबसे पहले, अपनी त्वचा के प्रकार को जानिए और तब उपचार शुरू करें। यदि आपकी त्वचा सामान्य है और कुछ दिनों से आप इस समस्या का सामना कर रहे हैं तो निम्नलिखित कारण हो सकते हैं-

  • अपर्याप्त मात्रा में पानी पीना।
  • अनुचित आहार भी आपकी त्वचा की बनावट को बदल सकता है।
  • जब हम तनाव में होते हैं तो हमारे शरीर में एक प्रकार का हार्मोनल असंतुलन होता है और इस असंतुलन के वजह से व्यक्ति एक्जिमा और अन्य तरह की त्वचा संबंधी समस्याओं से पीड़ित हो सकता है।
  • कभी-कभी कुछ बीमारियां भी आपकी त्वचा को शुष्क बना सकती हैं और उनमे सबसे आम बीमारी थायराइड है। इसलिए, स्वास्थ्य परीक्षण करवाएं।
  • ऊपर बताये गए और हमारे अन्य लेखों में उल्लिखित कुछ स्वस्थ स्किन केयर दिनचर्या का पालन करें।

मुझे उम्मीद है कि ऊपर बताये गए सभी बिंदु आपको शुष्क त्वचा के कारण का पता लगाने में मदद करेंगे।

Q. त्वचा पर बड़े छिद्रों से कैसे निपटें?

जिन लोगों की त्वचा तैलीय होती है उनमे बड़े छिद्र बेहद आम हैं। इन छिद्रों को कम करने और छिपाने के लिए नीचे बताये गए तरीकों का पालन कीजिये। आप उन छिद्रों से छुटकारा तो नहीं पा सकते हैं लेकिन बेशक आप उन्हें कम कर सकते हैं।

  • पानी आधारित उत्पादों का उपयोग करने की कोशिश करें - उत्पाद आमतौर पर दो प्रकार के होते हैं एक पानी आधारित और दूसरा तेल आधारित। यह दोनों ही एक मॉइस्चराइज़र के रूप में काम करते हैं लेकिन हम अपनी त्वचा के प्रकार के आधार पर उत्पादों को पसंद करते हैं। शुष्क त्वचा के लिए तेल आधारित उत्पाद सबसे बेहतर है और तैलीय त्वचा वाले लोगों के लिए पानी आधारित उत्पाद सर्वश्रेष्ठ होते हैं। पानी आधारित उत्पाद आपकी त्वचा को हाइड्रेट करते हैं और अतिरिक्त तेल के स्राव से बचाते हैं।
  • फेस वाश का एक नियम बनाएं - अपने चेहरे को दिन में कम से कम दो बार साफ करने की कोशिश करें। सफाई तेल को रोकती है और आपके छिद्रों को सामान्य बनाती है। यह तय करें की आप हर बार मॉइस्चराइज़र लगा रहे हैं और चेहरे को धुलने के लिए गर्म पानी का उपयोग न के बराबर करें।
  • हमेशा अपना मेकअप हटाएं - कभी भी अपने मेकअप के साथ न सोएं, क्योंकि यह आपके रोम छिद्रों को अवरुद्ध कर सकता है और बैक्टीरिया के विकास को बढ़ावा देता है।
  • अच्छा आहार लें - पौष्टिक आहार लें जिसमे प्रोटीन, वसा और विटामिन की भरपूर मात्रा हो। दिन भर में खूब सारा पानी पिएं।
  • क्ले मास्क - क्ले मास्क बड़े छिद्रों के लिए बेहद ही सहायक है। वे छिद्रों से तेल निकालते हैं और उनके आकार को कम करते हैं।

यहाँ बताये गए इन सभी उपायों को आजमाएं और आपको निश्चित रूप से इसके सकारात्मक परिणाम मिलेंगे।

प्र। क्या किसी उत्पाद की खुशबू आपकी त्वचा को प्रभावित कर सकती है?

संवेदनशील त्वचा वाले लोगों को सुगंध की वजह से जलन या लालिमा जैसी समस्या हो सकती हैं। कभी-कभी बच्चे भी इससे पीड़ित हो सकते हैं। इसलिए, हमेशा किसी भी उत्पाद का उपयोग करने से पहले अपनी त्वचा के प्रकार को जान लीजिये और डॉक्टरों द्वारा निर्धारित उत्पादों का ही हमेशा उपयोग करें, खासकर बच्चों के लिए।

प्र। क्या हमें प्राकृतिक उत्पादों का उपयोग करना चाहिए या बेहतर परिणामों के लिए बाजार के उत्पादों का उपयोग करना चाहिए?

यह आप पर निर्भर करता है, कि कौन से उत्पाद आपको सूट करते हैं क्योंकि वो लोग वास्तव में काफी खुशनसीब होते हैं जो किसी भी उत्पाद का उपयोग बेहिचक कर सकते हैं। आमतौर पर, प्राकृतिक उत्पादों का उपयोग करना सबसे अच्छा माना जाता है लेकिन कभी-कभी सनस्क्रीन जैसे रसायनों का उपयोग करना आवश्यक हो जाता है, जो बाजार के उत्पाद को लागू करने के लिए सबसे अच्छा है। संवेदनशील त्वचा वाला व्यक्ति आमतौर पर काफी परेशान होता है, वे घर के बने सामान का ज्यादा इस्तेमाल करे तो बेहतर हैं। तो, दोनों ही अच्छे हैं और आपको उन्हें अपनी त्वचा के प्रकार के अनुसार उपयोग करना चाहिए।

प्र। हमें कितनी बार मॉइस्चराइजर लगाना चाहिए?

आपकी त्वचा चाहे जैसी भी हो, हमेशा यह सुझाव दिया जाता है कि दिन में दो बार मॉइस्चराइज़र लगाना चाहिए। मॉइस्चराइज़र के अत्यधिक प्रयोग से कुछ नकारात्मक प्रभाव भी पड़ सकते हैं। वे रोम छिद्रों को अवरुद्ध कर सकते हैं और मुँहासे तथा तमाम तरह के त्वचा संबंधी समस्याओं का कारण बन सकते हैं। इसलिए, हमेशा दिन में दो बार मॉइस्चराइज़र का उपयोग करने का सुझाव दिया जाता है। एक बार सुबह जो आपका पूरे दिन बचाव करता है और दूसरी बार रात में।