mahatma-gandhi-movements

कभी दांडी की यात्रा तो, कभी असहयोग आंदोलन का नारा, जिसके मन में थी अहिंसा की अलख, और कोई नही वो था बापू हमारा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.