साकी तेरे शराब ने मुझे क्या सिला दिया
बर्बाद करके खाक में, हमको मिला दिया।

मैखाने चले आये मिटाने के लिए गम
हम बे पिये न जायेंगे साकी तेरी कसम।

आये गम कितने भूल जाता हूँ
चोट खा कर भी मुस्कुराता हूँ।