चुनाव का महत्व पर 10 वाक्य

लोकतंत्र की पहचान चुनाव है। किसी लोकतांत्रिक देश के आर्थिक, राजनीतिक और सामाजिक विकास के पहलू देश की सत्ताधारी सरकार पर निर्भर करते हैं, चुनाव ही हैं जो इन विकास के मार्गों को सुनिश्चित करते हैं। चुनाव लोगों को स्वतंत्र रूप से मत देने और अपना प्रतिनिधि चुनने की आजादी देते हैं।

चुनाव पर 10 वाक्य

आज इस लेख के माध्यम से हम चुनाव के महत्व के बारे मे पढ़ेंगे।

चुनाव के महत्व पर 10 लाइन (10 Lines on Importance of Election in Hindi)

Set 1

1) चुनाव किसी देश के सर्वांगीण विकास के लिए एक महत्वपूर्ण प्रक्रिया है।

2) चुनाव में सर्वोच्च शक्ति अपना मत देने वाले जनता में निहित होती है।

3) चुनाव मुख्य रूप से किसी भी लोकतांत्रिक देश की रीढ़ होते हैं।

4) चुनाव से जनता अपने प्रतिनिधि को समाज की प्रगति के लिए मंच प्रदान करते हैं।

5) चुनाव राजनीतिक स्पर्धा पैदा करता है जिससे हम योग्य उम्मीदवार चुन सकते हैं।

6) चुनाव राष्ट्रनिर्माण में जनभागीदारी को सुनिश्चित करते हैं।

7) यह देश की राजनीतिक पार्टियों को देश की जनता के प्रति जवाबदेह बनाता है।

8) किसी देश में लोकतंत्र को सुचारु रूप से बनाए रखने के लिए चुनाव आवश्यक प्रक्रिया है।

9) चुनाव प्रक्रिया में कोई नागरिक स्वतंत्र रूप से प्रतिनिधित्व के लिए हिस्सा ले सकता हैं।

10) चुनाव किसी पार्टी के प्रति साकारत्मक या नकारात्मक विचारों को दिखाने का अवसर है।

Set 2

1) चुनाव किसी राजनीतिक व्यक्ति या पार्टी के प्रति जनता के विश्वास का सूचक है।

2) चुनाव हमें अच्छी और योग्य सरकार चुनने का मौका देते हैं।

3) चुनाव एक ऐसी प्रक्रिया है जिसमे सभी नागरिकों को समान रूप से मत देने का अधिकार होता है।

4) जनता किसी उम्मीदवार की उपलब्धियों के आधार पर उसे चुनती है जो प्रगति का मार्ग सुनिश्चित करता है।

5) चुनाव सत्तारूढ़ पार्टी के सही काम न कर पाने की स्थिति में सरकार बदलने की शक्ति देता है।

6) यह चुनी गई सरकार को जनता के लिए कार्य करने के लिए बाध्य रखता है।

7) चुनाव सत्ताधारी सरकार के कार्यों के प्रति जनता द्वारा फीडबैक का एक तरीका है।

8) हर 5 साल पर चुनाव की प्रक्रिया किसी एक पार्टी के तानाशाह को रोकती है।

9) चुनाव जनता की आवाज के रूप में काम करता है।

10) प्रत्येक व्यक्ति को अवश्य वोट करना चाहिए क्योंकि हमारा 1 वोट भी परिणाम बदल सकता है।


एक स्वच्छ और स्वस्थ लोकतंत्र के लिए चुनाव कराया जाना आवश्यक होता है। समय-समय पर चुनाव होने से जनता को देश मे अपनी भागीदारी का एहसास होता है और राजनीतिक दलों में भी जनता के फैसले को लेकर भय बना रहता है। चुनाव के द्वारा जनता शक्ति को सही हाथों मे देने का प्रयास करती है।