राष्ट्रीय पर्यटन दिवस पर 10 वाक्य

भारत देश का विशाल इतिहास तथा यहां की भौगोलिक एवं सांस्कृतिक विविधता इस देश को लोकप्रिय पर्यटन स्थलों में से एक बनाती है, यह देश क्रूज, सांस्कृतिक विरासत, ग्रामीण, खेल, पर्यावरण तथा अन्य तमाम पर्यटन के प्रारूपों को पेश करता है। पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए राष्ट्रीय स्तर की नीतियां पर्यटन मंत्रालय द्वारा निर्मित एवं संचालित की जाती है।

राष्ट्रीय पर्यटन दिवस पर 10 लाइन (10 Lines on National Tourism Day in Hindi)

साथियों आज मैं राष्ट्रीय पर्यटन दिवस पर 10 लाइन के द्वारा आप लोगों से राष्ट्रीय पर्यटन दिवस के बारे में चर्चा करूंगा, दोस्तों मुझे उम्मीद है कि ये लाइन आपको जरूर पसंद आएंगी तथा आप इसे अपने स्कूल तथा अन्य स्थानों पर इस्तेमाल भी कर सकेंगे।

National Tourism Day par 10 Vakya - Set 1

1)  25 जनवरी को राष्ट्रीय पर्यटन दिवस भारत में प्रतिवर्ष मनाया जाता है।

2) पर्यटन किसी भी देश के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है, क्योंकि ये सामाजिक, राजनीतिक तथा आर्थिक गतिविधियों को प्रभावित करता है।

3) राष्ट्रीय पर्यटन दिवस का मुख्य उद्देश्य होता है लोगों को पर्यटन के बारे में जागरूक करना।

4) आजकल पर्यटन रोजगार सृजन करने तथा राष्ट्र की आमदनी बढ़ाने के अच्छा साधन बन गया है।

5) देश के संसाधनों तथा सांस्कृतिक विरासतों के संरक्षण में भी राष्ट्रीय पर्यटन दिवस एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

6) इस दिन देश में कई प्रकार के कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं, उन तमाम आयोजनों का उद्देश्य बस एक ही होता है लोगों को पर्यटन के बारे में जानकारी देना तथा देश में पर्यटन उद्योग का विस्तार करना।

7) इस दिन विद्यालयों तथा अन्य शैक्षणिक संस्थानों में निबंध लेखन तथा फोटोग्राफी जैसे अन्य कई कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है।

8) इस दिन सरकारी तथा गैर-सरकारी संस्थाएं मिलकर पर्यटन के प्रचार तथा प्रसार के लिए शपत बद्ध होती है।

9) इस दिन की शुरुआत साल 1948 में पर्यटन यातायात समिति के गठन के साथ ही हो गया था।

10) साल 1998 में संचार मंत्रालय के अंतर्गत एक पर्यटन विभाग जोड़ा गया।

National Tourism Day par 10 Vakya - Set 2

1) पर्यटन एक आर्थिक गतिविधि है पिछले कुछ सालों में इसका तीव्र विकास हुआ है।

2) एक स्थान से दूसरे स्थान पर जाना तथा वहां स्थित तमाम प्रकार के दृश्यों को देखकर अपने दुखों तथा चिंताओं को भूलकर आनंद में खो जाना ही पर्यटन कहलाता है।

3) एक आंकड़े के अनुसार लगभग 7.7% भारतीय कर्मचारी पर्यटन उद्योग से अपना घर बार चलाते हैं।

4) राष्ट्रीय पर्यटन दिवस को मनाने का मुख्य उद्देश्य पर्यटन उद्योग को बढ़ावा देना तथा स्थानीय समुदायों एवं पर्यटन स्थलों के विकास को प्रेरित करना है।

5) पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए वैश्विक स्तर पर भी संयुक्त राष्ट्र द्वारा विश्व पर्यटन दिवस मनाया जाता है।

6) यात्रा करना एक बहुत ही मुश्किल कार्य है परंतु इसके पीछे एक मजेदार बात यह है कि यह आपके मानसिक थकान को दूर कर देती है तथा आपको पुलकित कर आनंद की अनुभूति देती है।

7) पर्यटन दिवस में लोगों को बताया जाता है कि इससे न केवल सरकार की आमदनी बढ़ती है बल्कि आस पास रहने वाले लोगों को भी इससे फायदा होता है, उन्हें व्यापार मिलता है जिससे उनका परिवार चलता है।

8) पर्यटन दुनिया के बढ़ते तमाम उद्योगों में से एक है जो किसी भी राष्ट्र की छवि बदलने की क्षमता रखता है।

9) पर्यटन स्थल धार्मिक, सांस्कृतिक, ऐतिहासिक, प्राकृतिक तथा अन्य कई प्रकार के होते हैं।

10) राष्ट्रीय पर्यटन दिवस का आयोजन लोगों को पर्यटन का महत्व समझाने तथा अर्थव्यवस्था पर इसका प्रभाव बताने के लिए किया जाता है।


निष्कर्ष

पर्यटन देश की आमदनी का एक मुख्य साधन, यह लोगों को आनंद तथा खुशी देने के साथ साथ स्थानीय लोगों को रोजगार भी देता है। ऐसे में आजीविका के लिए पर्यटन पर निर्भर रहने वाले लोगों तथा उनके परिवार जनों के लिए राष्ट्रीय पर्यटन दिवस एक वरदान साबित होता है। इसके द्वारा उनकी आय में वृद्धि होती है तथा वो आर्थिक रूप से सुदृढ़ बनते हैं।

दोस्तों मैं आशा करता हूँ कि राष्ट्रीय पर्यटन दिवस पर 10 लाइन (Ten Lines on National Tourism day) आपको पसंद आए होंगे तथा आप इसे भली-भांति समझ गए होंगे।

धन्यवाद

राष्ट्रीय पर्यटन दिवस पर अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न (Frequently Asked Questions on National Tourism Day in Hindi)

प्रश्न.1 विश्व पर्यटन दिवस कब मनाया जाता है?

उत्तर- विश्व पर्यटन दिवस पूरी दुनिया में 27 सितम्बर को मनाया जाता है।

प्रश्न.2 राष्ट्रीय पर्यटन दिवस 2022 की थीम क्या है?

उत्तर- राष्ट्रीय पर्यटन दिवस 2022 की थीम “आजादी का अमृत महोत्सव” है।