गणतंत्र दिवस पर 10 वाक्य (10 Lines on Republic Day 2023 in Hindi)

भारत देश 15 अगस्त 1947 को आजाद तो हो गया था मगर सिर्फ वो आजादी हम भारतीयों के लिए काफी नहीं थी क्योंकि हम भारतीय उस दिनअंग्रेजों से तो आजाद हो गए थे मगर हम अंग्रेजी सोच से आजाद नहीं हुए थे क्योंकि अभी भी हमारे देश का संचालन अंग्रेजों द्वारा बनाए गए कानून ‘भारत शासन अधिनियम 1935’ पर ही हो रहा था। इसलिए अंग्रेजी शासन को पूरी तरह से समाप्त करने तथा भारत में एक गणतंत्र स्थापित करने के लिए एक संविधान सभा की स्थापना की गई। संविधान सभा द्वारा 2 साल 11 माह तथा 18 दिन में संविधान बनाकर तैयार कर दिया एवं इस संविधान को भारत में 26 जनवरी 1950 को लागू किया गया। जिसके उपलक्ष्य में हम प्रतिवर्ष 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के रूप में मनाते हैं।

गणतंत्र दिवस 2023 पर 10 लाइन (Ten Lines on Republic Day 2023 in Hindi)

साथियों आज मैं गणतंत्र दिवस पर 10 लाइन के द्वारा आप लोगों से गणतंत्र दिवस के बारे में चर्चा करूंगा, दोस्तों मुझे उम्मीद है कि ये लाइन आपको जरूर पसंद आएंगी तथा आप इसे अपने स्कूल तथा अन्य स्थानों पर इस्तेमाल भी कर सकेंगे।

Gantantra Diwas 2023 par 10 Vakya - Set 1

1) भारत में 26 जनवरी 1950 को अपना खुद का हस्तलिखित संविधान लागू हुआ, तब से हम प्रत्येक वर्ष 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के रूप में मनाते हैं।

2) 26 जनवरी 1950 को जब हमारे देश में संविधान लागू हुआ तब से हमारा देश एक गणतांत्रिक देश माना जाता है।

3) गणतांत्रिक का मतलब है गण यानि की जनता का तंत्र अर्थात जनता के लिए, जनता के बीच से, जनता द्वारा चुने गए प्रतिनिधियों का तंत्र, गणतंत्र कहलाता है।

4) संविधान लागू होने से पहले हमारे देश का शासन अंग्रेजों द्वारा बनाए गए ‘भारत शासन अधिनियम 1935’ के आधार पर चलता था।

5) बाबासाहेब अम्बेडकर संविधान सभा के मसौदा समिति के अध्यक्ष थे।

6) बाबासाहेब को आजादी के बाद “संविधान के मुख्य वास्तुकार” के रूप में सम्मानित किया गया था।

7) देश की राजधानी दिल्ली में राजपथ से विजय चौक होते हुए राष्ट्रीय संग्रहालय तक एक विशाल परेड के साथ गणतंत्र दिवस का आयोजन किया जाता है।

8) इस विशाल परेड में भारत की तीनों सेनाएं (जलसेना, थलसेना तथा वायुसेवा) भाग लेती है।

9) इस दिन देश के सभी विद्यालयों में जश्न का माहौल होता हैं तथा उनमें अनेक प्रकार के सांस्कृतिक कार्यक्रमों का भी आयोजन भी होता है।

10) 26 जनवरी के दिन सभी देशवासी मिलकर हमारे स्वतंत्रता सेनानियों को याद करते हैं तथा उन्हें श्रद्धांजली भी अर्पित करते हैं।

Gantantra Diwas 2023 par 10 Vakya - Set 2

1) 26 जनवरी के दिन राष्ट्रपति लाल किला से देश के नागरिकों को संबोधित करते हैं।

2) इस पावन अवसर पर राष्ट्रपति महोदय द्वारा झंडा फहराने के बाद राष्ट्रगान गाया जाता है।

3) इस दिन सेना के वीर सिपाहियों को वीर चक्र, परमवीर चक्र तथा शौर्य चक्र जैसे कई राष्ट्रीय सम्मान भी वितरित किए जाते हैं।

4) इस दिन देश के सभी राज्यों के सरकारी तथा गैर सरकारी संस्थानों में अवकाश रहता है।

5) इस पर्व को मनाने का हमारा उद्देश्य देश की एकता तथा गौरव को बनाए रखना है।

6) गणतंत्र दिवस भारत का एक राष्ट्रीय पर्व है जिसे भारत के सभी राज्यों में तथा सभी जाति एवं धर्म के लोगों द्वारा मनाया जाता है।

7) गणतंत्र दिवस पर सभी राज्य अपनी-अपनी झांकियों को राजपथ पर निकालकर भाईचारे एवं सहयोग का संदेश देते हैं।

8) संविधान लागू होने के तौर पर मनाया जाने वाला यह पर्व हमें संविधान का सम्मान तथा पालन करने का आदेश भी देता है।

9) भारतीय संविधान पूरे विश्व में सबसे बड़ा हस्तलिखित संविधान है।

10) भारतीय संविधान में लिखित मौलिक अधिकार हर नागरिक को जीवन सही तरीके से जीने के अधिकार देते हैं तथा नीति निदेशक तत्व हमारे लिए एक कल्याणकारी राज्य का निर्माण करते हैं।


गणतंत्र दिवस भारत देश का एक राष्ट्रीय पर्व है जिसे सभी देश वासी हर्षोल्लास के साथ मनाते हैं। स्कूलों तथा कॉलेजों में इस दिन अनेक प्रकार के सांस्कृतिक कार्यक्रमों का भी आयोजन किया जाता है तथा सभी लोगों द्वारा इस दिन भारत के वीर शहीदों तथा स्वतंत्रता सेनानियों को विनम्रता पूर्ण याद किया जाता है तथा उन्हें श्रद्धांजली भी अर्पित की जाती है। इस दिन देश के उच्च स्तर के नेताओं के द्वारा राष्ट्र के सैन्य बलों का उत्साह वर्धन किया जाता है तथा उनकी गौरव गाथा को भी सामान्य लोगों के सामने रखा जाता है।

दोस्तों मैं आशा करता हूँ कि गणतंत्र दिवस पर 10 लाइन (Ten Lines on Republic Day ) आपको पसंद आए होंगे तथा आप इसे भलीभांति समझ गए होंगे।

यह भी पढ़ें:

गणतंत्र दिवस पर अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न (Frequently Asked Questions on Republic day in Hindi)

प्रश्न 1 1950  में गणतंत्र दिवस समारोह के मुख्य अतिथि कौन थे?

उत्तर- 1950 में गणतंत्र दिवस समारोह के मुख्य अतिथि इंडोनेशिया के राष्ट्रपति ‘सुकर्णो’ थे।

प्रश्न.2 साल 2022  में गणतंत्र दिवस समारोह के मुख्य अतिथि कौन होंगे?

उत्तर- साल 2022  में गणतंत्र दिवस समारोह पर कजाकिस्तान, किर्गिस्तान, ताजिकिस्तान, तुर्कमेनिस्तान तथा उज्वेकिस्तान देशों के शीर्ष नेता अतिथि के रूप में उपस्थित रहेंगे।

Leave a Comment

Your email address will not be published.