संगीत पर निबंध

संगीत सभी के जीवन में महान भूमिका निभाता है। यह हमें खाली समय में व्यस्त रखता है और हमारे जीवन को शान्तिपूर्ण बनाता है। आमतौर पर, विद्यार्थियों को स्कूल में संगीत पर कुछ निबंध लिखने के लिए दिए जा सकते हैं। हम यहाँ विद्यार्थियों के लिए सरल और आसान भाषा में संगीत पर निबंध उपलब्ध करा रहे हैं। यहाँ विभिन्न शब्द सीमाओं मेंसंगीत पर कुछ बड़े और छोटे निबंधों के पैराग्राफ दिए गए हैं; जिनमें से आप अपनी आवश्यकता और जरुरत के अनुसार चुन सकते हैं:

संगीत पर निबंध (म्यूजिक एस्से)

Find essay on music in Hindi language in different words limit like 100, 200, 250, 300, 350, and 450 words.

संगीत पर निबंध 1 (100 शब्द)

संगीत हमारे जीवन में आन्तरिक और आवश्यक भूमिका निभाता है। संगीत विभिन्न प्रकार का होता है, जिनका हम अपनी आवश्यकता और जरुरत के अनुसार आनंद ले सकते हैं। हम में से कुछ लोग पढ़ाई करते हुए, कुछ इनडोर या आउट डोर खेल खेलते हुए और अन्य पलों पर संगीत सुनना पसंद करते हैं। फिर भी, सभी अपने खाली समयमें आनंद और मस्तिष्क के आराम के लिएसंगीत सुनना पसंद करते हैं। धीमी आवाज में संगीत सुनना हमें आराम और शान्ति देता है और हमें मानसिक और आत्मिक स्वास्थ्य प्रदान करता है। यह जीवनभर हमारी मानसिक और भावनात्मक समस्याओं से लड़ने में मदद करता है। मैं हमेशा संगीत सुनना बहुत पसंद करती हूँ।

संगीत

 

संगीत पर निबंध 2 (200 शब्द)

मैं अपने बचपन से ही संगीत सुनना बहुत पसंद करती हूँ। मुझे आज भी याद है कि, मेरे लिए रविवार की छुट्टी का अर्थ परिवार के सभी सदस्यों के साथ संगीत सुनने के लिए निश्चित होता था। पूरे दिन, घर के बिल्कुल बीच में धीमी आवाज में संगीत चलता रहता था और घर का प्रत्येक सदस्य अपने-अपने कामों को करता रहता था। मेरे पिताजी, घर में सभी सदस्यों को संगीत सुनने के लिए प्रेरित करते रहते थे। यह हमारे मस्तिष्क को मजबूत और व्यस्त रखने में मदद करता है। संगीत ध्यान (मेडिटेशन) की तरह है और यदि हम प्रतिदिन संगीत सुने तो यह हमें बहुत लाभान्वित करता है। कुछ विद्यार्थी अपनी पढ़ाई के दौरान संगीत सुनने की आदत रखते हैं। वो बिना संगीत के पढ़ाई नहीं कर पाते हैं।

संगीत योग की तरह होता है। यह हमें खुश रखता है और हमारे शरीर में हार्मोन्स को सन्तुलित रखने, शरीर व मस्तिष्क को राहत देने में मदद करता है, और इस तरह से शारीरिक और मानसिक रुप से स्वस्थ रखता है। यह हमें मोटे और बेढ़ंगे होने से बचाने के साथ ही हमें मानसिक समस्याओं से भी दूर रखता है। मैं संगीत बहुत पसंद करती हूँ और हर सुबह संगीत सुनती हूँ।

 

संगीत पर निबंध 3 (250 शब्द)

जीवन में खुश और व्यस्त रहने के लिए संगीत सबसे अच्छा तरीका है। इस व्यस्त, भीड़-भाड़ और भ्रष्ट संसार में, जहाँ हर कोई हरेक समय एक दूसरे को हानि पहुँचाना चाहता है, ऐसे कठिन समय में संगीत हमें खुश रखता है और हमारे मस्तिष्क को राहत प्रदान करने में मदद करता है। मैंने अपने वास्तविक जीवन में स्वंय यह महसूस किया है कि, संगीत वास्तव में, हमेशा खुश रहने का एक उपकरण है। संगीत ध्यान और योग से अधिक है, क्योंकि यह हमारे शरीर और दिमाग दोनों को लाभ पहुँचाता है। हम पूरे दिन में कभी भी संगीत सुन सकते हैं। संगीत सुनना बहुत अच्छी आदत है। मैं हमेशा अपनी पढ़ाई के समय पर संगीत सुनना पसंद करता हूँ और विशेषरुप से, अपनी परीक्षा के समय पर। यह पढ़ाई के दौरान मेरे एकाग्र होने में बहुत मदद करता है और यह वास्तव में, मुझे अच्छा परिणाम भी देता है और मैं अपने विषयों में अच्छे अंक प्राप्त करता हूँ।

मैं हर सुबह आध्यात्मिक संगीत सुनता हूँ क्योंकि मेरे पिता मेरे कमरे में सुबह 5 बजे संगीत शुरु कर देते हैं। वह मेरी बहुत देखभाल करते है और जब मैं संगीत सुनकर मदद प्राप्त करता हूँ, तो वह बहुत खुश होते है। वह मुझे हमेशा यही बताते है कि, संगीत वो शक्ति जो हमें स्वंय भगवान ने हमें दी है। इसे कभी भी बंद नहीं करना चाहिए। यह वो शक्तिशाली यंत्र है, जो हमारी ध्यान की शक्ति को बढ़ाता है और हमेशा आपकी आगे बढ़ने में मदद करता है और आप अपने जीवन में सफलता प्राप्त करते हो।

 

संगीत पर निबंध 4 (300 शब्द)

पूरी मानव प्रजाति के लिए संगीत भगवान द्वारा दिया गया उपहार है। यह आत्मा की चाबी है जो हमें मानसिक और शारीरिक स्वस्थ बनाने में मदद करताहै। संगीत वो लय है, जो बीते समय, पसंदीदा स्थानों, व्यक्तियों या उत्सवों आदि की सभी अच्छी यादों और सकारात्मक विचारों को लाता है। संगीत बहुत ही मधुर और वैश्विक भाषा है, जो सबकुछ शान्ति से बताता है और हमारी सभी समस्याओं को हमसे बिना पूछे खत्म करता है। मैं संगीत के प्रति बहुत प्रतिबद्ध हूँ और इसे अधिकतर सुनता हूँ। यह बहुत बड़े स्तर पर राहत प्रदान करते हुए मुझे खुश रखता है। संगीत सुनना मेरा शौक है और यह मेरे स्वस्थ और सुखी जीवन का रहस्य है। यह मेरे लिए भगवान का तौहफा है, जिसे मैं अपने भले के लिए प्रयोग करता हूँ और हमेशा दूसरों को संगीत सुन कर इससे लाभ लेने की सलाह देता हूँ।

मैं बचपन से ही अपने पिता के कारण संगीत सुनने का शौकीन होने के साथही अपने मित्रों के साथ संगीत प्रतियोगिता, चर्च, जन्मदिन समारोह, आदि अन्य स्थानों पर गायन में भाग भी लेता हूँ। संगीत मेरे जीवन का बहुत महत्वपूर्ण भाग है; मैं संगीत के बिना अपने जीवन की कल्पना भी नहीं कर सकता। मेरे माता-पिता, विशेषरुप से मेरे पिता ने मुझे संगीत सीखने में बहुत प्रोत्साहित किया और मेरी इस आदत को एक अद्भुत पहचान दी। संगीत बहुत ही आसान है; जिसे कोई भी किसी भी समय सीख सकता है हालांकि, इसे सीखने के लिए शौक, नियमित अभ्यास और अनुशासन की आवश्यकता है। मैं बंसी बजाना बहुत अच्छे से जानता हूँ, जिसके कारण मेरे मित्रों और साथियों के बीच में मेरी प्रशंसा होती है। यह मेरे मस्तिष्क को शान्त करता है और मुझे सकारात्मक विचारों से भरता है जो मेरे व्यक्तिगत जीवन में मदद करती है। इस तरह कहा जा सकता है कि, संगीत आध्यात्मिक, मानसिक और शारीरिक शक्ति प्रदान करने के साथ ही मनुष्य में आत्मविश्वास को विकसित करता है।

 

संगीत पर निबंध 5 (350 शब्द)

संगीत मेरे लिए आशीर्वाद है, क्योंकि इसने मेरे जीवन में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभायी है। यह हमेशा बिना किसी बाधा और निर्देशिका के बिना कुछ भी वापस लिएसिर्फ देता है। संगीत मेरे लिए प्राण वायु ऑक्सीजन की तरह है, जिसमें मैं सांस लेता हूँ। यह मुझे खुश करता है और स्वस्थ रखता है। यह सत्य ही कहा गया है कि, बिना संगीत के जीवन की कल्पना नहीं की जा सकती। बिना संगीत के जीवन बिल्कुल, बिना सूर्य और चन्द्रमा की तरह हो जाएगा। मेरे बचपन से लेकर मेरे बड़े होने तक, मैं बिना किसी आनंद और खुशियों केबहुत ही शान्त व्यक्ति था। मेरे स्वभाव के कारण मुझसे कोई भी बात नहीं करता था। एक दिन मैं बहुत परेशान था और मेरे पिता ने मुझे देखा और मेरी समस्या केबारे में मुझसे पूछा। उन्होंने मुझे संगीत स्कूल में प्रवेश लेने के लिए प्रोत्साहित किया और कम से कम एक घंटे संगीत सीखने की सलाह दी। मैंने उनकी सलाह मानी और उनकी सलाह के अनुसार कार्य किया, इसने एक महीने में ही मेरे जीवन में पूरी तरह से बड़ा बदलाव किया। मैं पहले की तरह नहीं रहा जैसा कि मैं संगीत सीखने से पहले था।

संगीत ने मुझे मानसिक शान्ति, सन्तुष्टि, स्वास्थ्य प्रदान करते हुए मेरे ध्यान स्तर को बढ़ाया, मेरे मस्तिष्क को सकारात्मक विचारों से भर दिया और सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण, संगीत के कारण मेरे दोस्त मेरी तरफ आकर्षित होना शुरु हो गए। मेरे पिताजी ने मुझे बताया कि, जब कभी भी तुम जीवन में परेशान हो तो हमेशा संगीत की मदद लेना, यह तुम्हें इस दुविधा से निकालेगा और तुम्हें सफलता की ओर ले जाएगा। तब से ही, जब कभी भी मैं अकेला होता हूँ या अपने दोस्तों के साथ होता हूँ, तोमैं संगीत को सुनता हूँ। संगीत ध्यान की तरह है, यदि पूरी लगन और श्रद्धा के साथइसका अभ्यास किया जाए, तो यह मानसिक स्वास्थ्य और एकाग्रता को सुधारता है। हम संगीत से जुड़े सत्य को नजरअंदाज नहीं कर सकते। यह बहुत ही शक्तिशाली और क्षमतावान है,जो सभी की भावनाओं को उजागर करता है। यह आत्मा का स्पर्श करता है और संसार से कभी भी खत्म नहीं किया जा सकता।

संगीत पर निबंध 6 (450 शब्द)

किसी के भी जीवन में संगीत बहुत ही महत्वपूर्ण और शक्तिशाली वस्तु है, जो संगीत को सुनना और गाना पसंद करते हैं, वो अपने जीवन में संगीत के महत्व को भी जानते हैं। एक व्यक्ति जो संगीत सुनना और गाना पसंद करते हैं, वो जीवन में किसी भी समस्या से कभी भी परेशान नहीं होते हैं। यह तनाव मुक्त होने और मस्तिष्क को आराम प्रदान करने में मदद करने के साथ ही जीवन में कुछ बेहतर करने के लिए प्रेरित करता है। बहुत से लोग विभिन्न उत्सवों और कार्यक्रमों पर संगीत सुनना और गाना बहुत पसंद करते हैं। कुछ लोग हरेक समय संगीत सुनते हैं जैसे: ऑफिस में, घर में, रास्ते में आदि। यह जीवन की सभी समस्याओं से दूर रखने में मदद करता है और समस्याओं के समाधान भी देता है। आजकल, बड़ी कम्पनियों में ऑफिसों में कर्मचारियों के काम करने के समय पर उनके मस्तिष्क को तरोताजा, शान्तिपूर्ण, एकाग्र, सकारात्मक विचारों वाला बनाने के साथ ही कर्मचारियों की कार्य क्षमता को बढ़ाने के लिए धीमी आवाज में गाना चलाने का दौर चलन में है।

मुझे संगीत से प्रेम अपने आनुवांशिक गुणों के कारण है क्योंकि मेरे पिताजी और दादाजी को संगीत का बहुत शौक था। मेरे घर में सुबह से शाम तक धीमी आवाज में संगीत चलता रहता है। मैं संगीत की धुनों के बारे में ज्यादा नहीं जानता, लेकिन मैं अक्सर यात्रा या पढ़ाई के दौरान संगीत सुनना पसंद करता हूँ। साप्ताहिक अवकाश के दौरान, अपने परिवार के साथ घर या पिकनिक पर या अन्य किसी भी पसंदीदा जगह पर, हम नृत्य करते हैं, संगीत सुनते हैं और गाने गाकर छुट्टी का आनंद लेते हैं।संगीत मेरी आत्मा को छूता है और मुझे यह अहसास कराता है कि, मुझे इस संसार में कोई समस्या नहीं है।

संगीत बहुत ही शक्तिशाली है और सभी भावनात्मक समस्याओं के लिए सकारात्मक संदेश पहुँचाता है और किसी से भी कुछ भी नहीं पूछता। यह आवाज रहित है हालांकि, हमें सबकुछ बताता है और मनुष्यों से ज्यादा समस्याओं को साझा करता है। संगीत की प्रकृति प्रोत्साहन और बढ़ावा देने की है, जो सभी नकारात्मक विचारों को हटाकर मनुष्य की एकाग्रता की शक्ति को बढ़ता है। संगीत वो वस्तु है जो हमारे सबसे प्रिय व्यक्ति के साथ की, सभी अच्छी यादों को पुनः याद करने में मदद करता है। इसकी कोई सीमा, बाधा और नियम निर्देशिका नहीं है; इसे तो केवल लगन और श्रद्धा के साथ सुनने की आवश्यकता है। जब भी हम संगीत सुनते हैं, यह हृदय और मस्तिष्क में बहुत अच्छी भावना लाता है, जो हमें हमारी आत्मा से जोड़ती है। यहीं जुड़ाव भगवान की सर्वशक्ति होता है। संगीत के बारे में किसी ने सही कहा है कि;“संगीत की कोई सीमा नहीं है, यह तो सभी सीमाओं से परे है।” और “संगीत जीवन में और जीवन संगीत में निहित है।” इससे प्रभावित होकर, मैंने भी संगीत और गिटार बजाना सीखना शुरु कर दिया है और यही आशा है कि, एक दिन बहुत अच्छा संगीतज्ञ बनूँगा।