सोशल मीडिया - वरदान या अभिशाप पर 10 वाक्य

यदि हम आधुनिक युग को इंटरनेट युग कहे तो यह गलत नहीं होगा। इंटरनेट ने हमें प्रगति का मार्ग दिखाया है और साथ ही सोचने समझने की छमता का भी विकास किया है। इंटरनेट पर शॉपिंग, सर्फिंग, चैटिंग, ब्लॉगिंग व लेखन आदि कार्यों के साथ साथ कमाई करने के लिए कई प्रकार के प्लेटफार्म उपलब्ध हैं। इन्हीं में एक है “सोशल मीडिया” जिसका उपयोग विश्व में सबसे ज्यादा किया जाता है।

सोशल मीडिया - वरदान या अभिशाप पर 10 लाइन (10 Lines on Social Media – Boon or Bane in Hindi)

आईए आज हम इस लेख के माध्यम से लोगों के बीच फैले सोशल मीडिया प्लेटफार्म के महत्वपूर्ण जानकारियों से अवगत होते हैं।

Set 1

1) सोशल मीडिया एक ऐसा प्लेटफार्म है जिससे दूर रहने वाले लोग भी एक दुसरे से बात कर सकते हैं।

2) सोशल मीडिया अलग भाषा व संस्कृति वालों को एक साथ जोड़ने का कार्य करती है।

3) दुनिया में सोशल मीडिया का आगमन 1997 में SixDegrees नामक वेबसाइट से हुआ।

4) वर्तमान समय में फेसबुक, व्हाट्सएप, इन्स्टाग्राम आदि कई सोशल मीडिया प्लेटफार्म प्रचलित हैं।

5) 2004 में लांच हुए फेसबुक के 2.85 बिलियन मासिक उपयोगकर्ता हैं यह विश्व का सबसे लोकप्रिय सोशल मीडिया प्लेटफार्म है।

6) लॉकडाउन के बाद से सोशल मीडिया ने शिक्षा, रोजगार व अन्य क्षेत्रों में क्रांति लाने का कार्य किया है।

7) सोशल मीडिया ने उद्यमिता (entrepreneurship) को भी बढ़ावा दिया है।

8) सोशल मीडिया वर्तमान में डिजिटल मार्केटिंग (Digital Marketing) का एक बहुत बड़ा मंच बन गया है।

9) सोशल मीडिया के माध्यम से लोग अपनी प्रतिभा के दम पर पैसे भी कमा रहे हैं।

10) दंगे, अश्लीलता और झूठी जानकारी फैलाना सोशल मीडिया के दुरुपयोग के कारण हैं।

Set 2

1) सोशल मीडिया पर हम कोई जानकारी प्राप्त व साझा कर सकते हैं और लोगों से जुड़ सकते हैं।

2) सोशल मीडिया का इस्तेमाल अच्छे कार्यों के अलावा गलत कार्यों के लिए भी किया जा रहा है।

3) विद्यार्थी सोशल मीडिया में इतने व्यस्त हो गए हैं कि शारीरिक खेल व कार्यों से कटते जा रहे हैं।

4) एक तरफ सोशल मीडिया के माध्यम से लोगों को शिक्षित व जागरूक किया जा रहा है।

5) दूसरी तरफ इसके इस्तेमाल से भड़काऊ भाषण, कट्टरता फैलाना और युवाओं को बरगलाने का भी काम किया जा रहा है।

6) सोशल मीडिया के बहुत से फायदों के साथ कुछ गंभीर नुकसान भी है।

7) आतंकी संगठन सोशल मीडिया का गलत इस्तेमाल करके कमजोर छात्रों को अपना शिकार बनाकर गैर-कानूनी कार्य कराते हैं।

8) सोशल मीडिया पर गलत जानकारियों के प्रचार के परिणाम दंगे, मॉब लिंचिंग (Mob Lynching) व अन्य घटनाएं हैं।

9) सोशल मीडिया के दुरुपयोग से लोगों के साथ ब्लैकमेलिंग (Blackmailing) और ठगी के मामले बढ़ते जा रहे हैं।

10) वर्तमान समय में सोशल मीडिया एक वरदान तो है पर इसके अभिशाप होने से भी इंकार नहीं किया जा सकता है।


लोग अपने खाली समय में सोशल मीडिया का प्रयोग समय व्यतीत करने के लिए अधिकतर करते हैं। सोशल मीडिया पर हमें मनोरंजन के कई साधन मिल जाते हैं जिनमें इन्स्टाग्राम, यूट्यूब, फेसबुक, ट्विटर और व्हाट्सएप जैसी कई चैटिंग और सोशल नेटवर्किंग ऐप्स शामिल है। सोशल मीडिया का ज्यादा प्रयोग हमें वास्तविक दुनिया से धीरे-धीरे दूर कर देता है। छात्रों के अधिक समय सोशल मीडिया पर समय बिताने से उनका पढ़ने व अन्य जरूरी कार्यों में मन नहीं लगता। आवश्यक है कि हमें इनके प्रयोग करते वक़्त सावधानी बरतनी चाहिए और इसके गलत इस्तेमाल से बचना चाहिए।