विश्व खाद्य दिवस पर 10 वाक्य (10 Lines on World Food Day in Hindi)

जीवन के लिए भोजन सबसे जरूरी माना जाता है फिर चाहे वो कोई इन्सान, पशु या वनस्पति हो। ऐसा सभी देशों में देखने को मिलता है कि बहुत से लोग एक वक्त का खाना जुटा पाने में भी असमर्थ होते हैं और बहुत से लोग समर्थ होने के बावजुद भी पौष्टिक आहार की तरफ ध्यान नहीं देते हैं। विश्व खाद्य दिवस एक ऐसा अवसर है जो लोगों को स्वयं और जरूरतमंद लोगों के लिए पौष्टिक और पर्याप्त भोजन की महत्वता के प्रति जागरूक करता है। 1981 से लगातार प्रतिवर्ष विश्व खाद्य दिवस मनाया जा रहा है।

विश्व खाद्य दिवस (वर्ल्ड फ़ूड डे)

विश्व खाद्य दिवस पर 10 लाइन (Ten Lines on World Food Day in Hindi)

आज हम 10 वाक्यों के सेट से विश्व खाद्य दिवस जैसे विशाल कार्यक्रम के बारे में जानकारी प्राप्त करेंगे।

Vishwa Khadya Divas par 10 Vakya – Set 1

1) 1945 में संयुक्त राष्ट्रीय खाद्य व कृषि संगठन के स्थापना दिवस के रूप में 16 अक्टूबर 1979 में विश्व खाद्य दिवस मनाया जाना तय किया गया।

2) दुनियाभर में हर साल 16 अक्टूबर को बड़े स्तर पर विश्व खाद्य दिवस का कार्यक्रम मनाया जाता है।

3) सभी के लिए पौष्टिक भोजन की महत्वता के प्रति जागरूक करने के लिए इस दिन को चुना गया है।

4) 1979 के 20वें सम्मेलन में खाद्य और कृषि संगठन के सदस्य देशों द्वारा विश्व खाद्य दिवस की नींव रखी गई थी।

5) संयुक्त राष्ट्र संगठन (UNO) तथा खाद्य और कृषि संगठन (FAO) के सहमति के बाद, 1981 से हर साल 16 अक्टूबर को विश्व खाद्य दिवस मनाया जाता है।

6) दुनियाभर के लगभग 150 देशों में खाद्य और कृषि संगठन के इस कार्यक्रम का आयोजन किया जाता है।

7) हर साल एक नए तथा विशेष थीम के साथ विश्व खाद्य दिवस का कार्यक्रम आयोजित किया जाता है।

8) विश्व खाद्य कार्यक्रम और अंतर्राष्ट्रीय कृषि विकास कोष जैसे कई अंतर्राष्ट्रीय संगठन एक साथ वैश्विक स्तर पर कार्यक्रमों का आयोजन करते हैं।

9) ये संगठन विश्वभर में गरीब और जरूरतमंदो को भोजन उपलब्ध कराने का भी कार्य करते हैं।

10) वर्ष 2020 में विश्व खाद्य कार्यक्रम और अंतर्राष्ट्रीय कृषि विकास कोष को उनके कार्यों के लिए शान्ति का नोबेल पुरस्कार दिया गया।

Vishwa Khadya Divas par 10 Vakya – Set 2

1) मुख्य रूप से विश्व में फैली भुखमरी को खत्म करने के उद्देश्य से हर साल विश्व खाद्य दिवस कार्यक्रम का आयोजन किया जाता है।

2) लोगों को बताया जाता है कि पौष्टिक भोजन व्यक्ति के शारीरिक और मानसिक विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

3) इस दिन सरकारी और गैर-सरकारी संगठनों द्वारा गरीबों को भोजन वितरण किया जाता है।

4) समाजसेवी लोग आश्रमों और अनाथालयों में लोगों को पौष्टिक भोजन बाटते हैं।

5) विश्व खाद्य दिवस के इस मुख्य दिन पर दुनियाभर के कई देशों में विभिन्न समारोह कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं।

6) इन कार्यक्रमों से बचे हुए भोजन को व्यर्थ ना कर के जरूरतमंदो में वितरण करने जैसे मुद्दों पर जागरूकता फैलाते हैं।

7) यह दिन भारत में सुरक्षित भोजन और स्वास्थ्य के साथ कृषि के महत्व को दर्शाता है।

8) यूनाइटेड किंगडम देश की फेयरशेयर नाम की एक चैरिटी संगठन है जो अन्य संगठनों के साथ मिलकर जरूरतमंदो के लिए भोजन की व्यवस्था करता है।

9) ब्रिटेन में ये संस्थाएं होटल व अन्य जगहों से बचे खाने को व्यर्थ न करके गरीब, बेघर और पिछड़े लोग आदि के लिए उपलब्ध कराते हैं।

10) सभी को पर्याप्त और पौष्टिक भोजन उपलब्ध हो तथा कोई भूखे ना रहे इसी मुख्य उद्देश्य से इस दिन दुनियाभर में कई प्रकार के कार्यक्रम किए जाते हैं।


विश्व खाद्य दिवस के कार्यक्रम हमें जरूरतमंदों की सहायता के लिए प्रोत्साहित करते हैं। शादी-विवाह या अन्य किसी आयोजनों में बचे हुए भोजन को फेकने के बजाय गरीबों, असहाय और जरूरतमंदों को बाटना चाहिए। एक समर्थ व्यक्ति द्वारा ऐसे छोटे-छोटे कार्य भूखे लोगों का पेट भर के उनके लिए बड़ी सहायता कर सकते हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published.