विश्व बचत दिवस पर 10 वाक्य (10 Lines on World Saving Day in Hindi)

एक व्यक्ति अपनी आय से ही अपना जीविकोपार्जन करता है और सभी खर्चों के बाद बचे धन को वह भविष्य के लिए संचय करता है। यह बचत हर किसी के लिए अत्यंत लाभकारी साबित होता है। बचत व्यक्ति के लिए अतिरिक्त आय के साधन के रूप में भी कार्य करता है। विश्व बचत दिवस इसी बात के प्रति लोगों को जागरुक करता है कि वर्तमान समय में व्यक्ति द्वारा किया गया बचत ही उसका पहला साथी होता है। बचत एक व्यक्ति ही नहीं समूह, समाज और देश के लिए भी लाभकारी होता है।

विश्व बचत दिवस पर 10 लाइन (Ten Lines on World Saving Day in Hindi)

आज विश्व बचत दिवस पर आधारित इन 10 वाक्यों के सेट के माध्यम से हम बचत की खूबियों और फायदों के बारे में जानेंगे।

Vishwa Bachat Divas par 10 Vakya - Set 1

1) प्रतिवर्ष वैश्विक स्तर पर दुनियाभर में 31 अक्टूबर को विश्व बचत दिवस का दिन मनाया जाता है।

2) इस दिन की शुरूआत वैश्विक रूप में 1924 में अंतर्राष्ट्रीय बचत बैंक कांग्रेस के द्वारा किया गया था।

3) इस दिन को बचत बैंको द्वारा बचत और आर्थिक वृद्धि के उद्देश्य से मनाया जाना तय किया गया था।

4) सबसे पहली बार बचत दिवस अमेरिका और स्पेन में सन् 1921 में मनाया गया था।

5) विश्व बचत दिवस की शुरूआत मुख्य रूप से विश्व बचत बैंक संस्थान (WSBI) की स्थापना के उपलक्ष्य में किया गया था।

6) शुरूआत में विश्व बचत दिवस का महत्व केवल स्कूल स्तर पर बच्चों को शिक्षित करने तक ही सीमित था।

7) जगह-जगह पोस्टर, पैम्पलेट और अन्य साधनों के माध्यम से बचत दिवस के महत्व का प्रसार किया जाता है।

8) विश्व बचत दिवस के दिन कई देशों में आयोजनों के द्वारा लोगों के मुफ्त बचत खाते भी खोले जाते हैं।

9) बचत दिवस के लिए 1928 में गिनी वैलोरी और ग्यूसेप पिटर्री (Giuseppe Pitrè) ने मिलकर एक गाना भी तैयार किया था।

10) बचत दिवस का मुख्य उद्देश्य बचत को बढ़ावा देते हुए लोगों के जीवन में समृद्धि और विकास को बढ़ाना है।


Vishwa Bachat Divas par 10 Vakya - Set 2

1) किसी भी व्यक्ति के आर्थिक विकास और प्रगति के लिए बचत एक महत्वपूर्ण आधार होता है।

2) वर्तमान में दुनियाभर में 80 से अधिक देशों में प्रतिवर्ष 31 अक्टूबर को विश्व बचत दिवस मनाया जाता है।

3) भारत में विश्व बचत दिवस 31 अक्टूबर को न मनाकर 30 अक्टूबर को मनाया जाता है।

4) पूर्व प्रधानमंत्री इन्दिरा गाँधी के 31 अक्टूबर 1984 को देहान्त हो जाने के बाद से भारत में 30 अक्टूबर को बचत दिवस मनाया जाने लगा।

5) स्कूलों में बचत दिवस पर कार्यक्रम आयोजित करके बच्चों को बचत के फायदों से अवगत कराया जाता है।

6) बचत को बढ़ावा देने के क्षेत्र में 1970 में युवाओं के लिए ‘स्प्रेयरफ्रोह-जर्नल’ नामक शैक्षिक पत्रिका की शुरूआत की गई।

7) स्कूल स्तर पर बच्चों के मुफ्त बचत खाते खोलकर कई देशों में बचत कार्यक्रमों को बढ़ावा दिया जा रहा है।

8) यह दिन लोगों को जुआ, लाटरी जैसी आदतों से दूर रहने और बचत धन को संरक्षित रखने के लिए प्रेरित करता है।

9) छोटे निवेशकों और व्यापारियों के लिए बचत एक सहारे व सहायता की तरह काम करता है।

10) किसी भी व्यक्ति, व्यापार या देश की सुदृढ़ता के लिए बचत एक आवश्यक विषय-वस्तु है।


धन संचय हमारे भविष्य की जमापूँजी है जो किसी आकस्मिक समय में हमारी आवश्यकता को पूरा करता है। धन संचय किसी देश की गरीबी स्तर को भी कम करता है। विश्व बचत दिवस एक मिशन है जो व्यक्ति और देश के आर्थिक विकास में योगदान देने के लिए लोगों को प्रोत्साहित करता है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.