अग्निपथ योजना पर निबंध (Essay on Agneepath Yojana 2022 in Hindi)

अक्सर लोगों का भारतीय सशस्त्र बलों में शामिल होने का सपना होता है। लेकिन भारतीय सेना के लिए चयनित होना इतना आसान नहीं है। उम्मीदवारों को विभिन्न प्रवेश परीक्षाओं के लिए योग्यता प्राप्त करनी होती है और फिर चयनित होने के लिए एक कठिन प्रशिक्षण प्रक्रिया से गुजरना पड़ता है। हाल ही में भारतीय सेना में शामिल होने वाले लाखों युवाओं के लक्ष्य को पूरा करने के लिए भारत में एक नई योजना प्रस्तावित हुई है। आज हम “अग्निपथ” योजना की पात्रता मानदंड, लाभ और हानि पर प्रकाश डालते हुए विस्तार से चर्चा करेंगे।

अग्निपथ योजना पर 10 वाक्य

अग्निपथ स्कीम पर लघु और दीर्घ निबंध (Short and Long Essays on Agneepath Scheme in Hindi, Agneepath Yojana par Nibandh Hindi mein)

यहां नीचे मैं अग्निपथ योजना पर विभिन्न शब्द सीमाओं के अंतर्गत लघु और दीर्घ निबंध प्रस्तुत कर रही हूँ। भाषा को सरल रखा गया है ताकि हर विद्यार्थी इस योजना को आसानी से समझ सके। इस योजना के विभिन्न पहलुओं को जानने के लिए आप नीचे दिए गए सभी निबंधों को जरूर पढ़ें है।

अग्निपथ योजना पर छोटा निबंध 1 (150 शब्द)

अग्निपथ स्कीम 14 जून 2022 को श्री राजनाथ सिंह (रक्षा मंत्री) द्वारा घोषित एक भर्ती कार्यक्रम है। इस योजना को पहले केंद्रीय मंत्रिमंडल ने 14 मई 2022 को पारित किया था। इस योजना के तहत हर साल लगभग 46,000 सैनिकों की भर्ती होने की उम्मीद है। उम्मीदवारों का चयन भारतीय सशस्त्र बलों में अधिकारी रैंक से नीचे के पद के लिए किया जाएगा। पूरे सेवा कार्यकाल में 6 महीने का प्रशिक्षण और 3.5 साल की नौकरी शामिल होगी।

इस योजना का उद्देश्य देश में बेरोजगारी को कम करना है। 4 साल बाद केवल 25% सैनिकों को ही आगे काम करने की अनुमति दी जाएगी। शेष सैनिकों को सेवा निधि पैकेज (11.71 लाख) के साथ वापस भेजा जाएगा। शुरुआत में अग्निवीरों का वेतन 30,000 (इन-हैंड) होगा। अग्निवीरों को सेवा अवधि के दौरान सभी सैन्य भत्ते दिए जाएंगे।


अग्निपथ योजना पर लघु निबंध 2 (200 - 250 शब्द)

14 जून 2022 को लंबे दिनों के इंतजार के बाद, भारत सरकार ने “अग्निपथ योजना” नाम से एक नई भर्ती योजना की घोषणा की। हालांकि, इस योजना को सबसे पहले केंद्रीय मंत्रिमंडल द्वारा 14 मई 2022 को पारित किया गया था। भारत के रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह ने भारतीय सशस्त्र बलों में शामिल होने के इच्छुक युवाओं के लिए अग्निपथ योजना के प्रस्ताव की घोषणा की थी।

इस योजना के अंतर्गत, उम्मीदवारों का चयन भारतीय सेना, वायु सेना और नौसेना में छह महीने के प्रशिक्षण सहित चार साल की सेवा अवधि के लिए किया जाएगा। उम्मीदवारों की भर्ती अधिकारी के पद से नीचे के पद के लिए की जाएगी और उन्हें जम्मू और कश्मीर की सीमाओं के भीतर तैनात किया जाएगा।

यह योजना चयनित उम्मीदवारों या अग्निवीरों को बहुत सारे लाभ प्रदान करने का वादा करती है। उम्मीदवारों को 30,000 का प्रारंभिक वेतन दिया जाएगा। अग्निवीरों को सैन्य नियमानुसार सभी भत्ते प्रदान किए जाएंगे। सेवा निधि के रूप में चार वर्ष की सेवा पूरी करने पर 11.71 लाख का पैकेज भी प्रदान किया जाएगा।

लगभग 25% अग्निवीरों को 15 वर्षों के लिए आगे काम करने की अनुमति दी जाएगी और शेष को सेवा निधि के साथ घर भेज दिया जाएगा। सरकार के मुताबिक, चार साल बाद अन्य सिविलियन नौकरियों में अग्निवीरों को प्राथमिकता दी जाएगी। इस योजना के तहत पेंशन या उपहार स्वरुप कोई योजना नहीं दी जाएगी। हाल ही में शुरू की गई यह योजना "अग्निपथ" युवाओं की अपेक्षा के स्तर को पूरा नहीं करती है और इसके खिलाफ युवाओं द्वारा विरोध भारत के सभी राज्यों में फैल गया है।


अग्निपथ योजना पर दीर्घ निबंध 3 (600 शब्द)

परिचय

ये हम भलीभाँति जानते हैं कि युवा देश के भविष्य हैं लेकिन उनके भविष्य का क्या? जब देश के युवाओं का भविष्य ही सुरक्षित नहीं है तो देश का भविष्य बनाने का क्या मतलब है? एक अच्छा भविष्य अच्छे रोजगार के साथ ही आता है।

हर किसी को अपने सपनों और जीवन की सुख-सुविधाओं को पूरा करने के लिए एक अच्छ नौकरी की आवश्यकता होती है। समय के साथ नौकरी के अवसर कम होते जा रहे हैं और बेरोजगारी का स्तर अपने चरम पर है। आज भारत में लाखों उम्मीदवार हैं जो बेरोजगार हैं और नौकरी की तलाश में हैं। इस दौरान सामूहिक भर्ती की घोषणा भारत के बेरोजगार युवाओं के लिए निश्चय ही एक अच्छी खबर है।

अग्निपथ योजना क्या है?

अग्निपथ योजना मई 2022 को केंद्रीय मंत्रिमंडल द्वारा पारित की गई थी जिसे बाद में 14 जून 2022 को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह द्वारा घोषित किया गया था। अग्निपथ योजना के तहत, युवाओं को भारतीय सशस्त्र बलों के लिए भर्ती किया जाएगा। उन्हें उनकी योग्यता के अनुसार भारतीय सेना, नौसेना या वायु सेना के लिए चुना जा सकता है।

इस योजना का उद्देश्य भारतीय सेना को अधिक से अधिक युवा चेहरे देना है। इस योजना के अंतर्गत हर साल करीब 46,000 उम्मीदवारों की भर्ती की जाएगी। हालांकि, केवल 17.5 से 21 आयु वर्ग के युवा ही इस योजना के अंतर्गत आवेदन कर पायेंगे।

इस योजना के लिए चुने गए सैनिकों को एक विशेष नाम दिया जाएगा जिसे "अग्निवीर" के नाम से जाना जाएगा। अग्निवीरों की सेवा अवधि 6 माह के प्रशिक्षण के साथ केवल 4 वर्ष की होगी। 4 साल बाद, केवल 25% सैनिकों को उनके प्रदर्शन के आधार पर स्थायी रखा जाएगा जबकि अन्य को उनके सेवा निधि के साथ घर भेज दिया जाएगा।

इस योजना द्वारा क्या लाभ प्रदान किए जाते हैं?

इस योजना के तहत अग्निवीरों को कई लाभ मिलेंगे। सेवा के पहले वर्ष में, उम्मीदवारों को उनके वेतन के रूप में 30,000 प्रति माह दिया जाएगा जिसे बाद में सेवा के अंत तक बढ़ाकर 40,000 कर दिया जाएगा। हालांकि, वेतन का केवल 70% ही हाथ में दिया जाएगा, शेष 30% "सेवा निधि" पैकेज के लिए काटा जाएगा। यह पैकेज टैक्स फ्री रहेगा।

चार साल की सेवा के बाद, अग्निवीरों को 11.71 लाख का "सेवा निधि" पैकेज दिया जाएगा। यह उनके काटे गए वेतन के साथ-साथ सरकार द्वारा दिए गए ब्याज सहित समान योगदान का योग है। चार साल की सेवा के दौरान, अग्निवीरों को 48 लाख का जीवन बीमा प्रदान किया जाएगा और मृत्यु हो जाने पर परिवार को 1 करोड़ दिया जाएगा।

वित्तीय लाभों के अलावा, उम्मीदवार अनुशासन, शारीरिक फिटनेस, टीम वर्क आदि जैसे कौशल उत्पन्न कर सकते हैं। उन्हें उनके प्रशिक्षण के प्रमाणीकरण से सम्मानित किया जाएगा जो भविष्य के अन्य पहलुओं में सहायक होगा।

अग्निपथ योजना पर जनता की प्रतिक्रिया

देश के लोग इस योजना को खुशी-खुशी स्वीकार नहीं कर रहे हैं और इसका विरोध भी कर रहे हैं। बिहार, उत्तर प्रदेश, हरियाणा, राजस्थान आदि कई राज्यों में छात्र इस योजना के खिलाफ हिंसक विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। इस योजना की आयु सीमा एवं अल्प सेवा अवधि से युवा असंतुष्ट हैं। हालांकि सरकार ने उम्र सीमा बढ़ाकर 23 साल करने का फैसला किया है, लेकिन मौजूदा विरोध में कोई फर्क नहीं आया है। कई इलाकों में छात्र ट्रेन जला रहे हैं और सरकारी संपत्तियों को नुकसान पहुंचा रहे हैं। अब युवा, सरकार से इस योजना को वापस लेने की मांग कर रहे हैं।

निष्कर्ष

इस नई प्रस्तावित योजना की घोषणा के बाद, भारत में लोगों ने अपने विचार और राय प्रस्तुत करना शुरू कर दिए थे। कई लोग इस योजना की सराहना कर रहे हैं जबकि अन्य लोग बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। पूरे भारत में कई हिंसक विरोध प्रदर्शनों की खबरें सामने आ रही हैं। देखते हैं कि क्या सरकार युवाओं की मांगों को पूरा करने के लिए बदलाव करेगी या फिर उन्हें अपने करियर से फिर से समझौता करना पड़ेगा।

मुझे आशा है कि अग्निपथ योजना पर उपरोक्त निबंध इस योजना का विवरण जानने में आपके लिए सहायक होगा।

अग्निपथ स्कीम पर अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न (Frequently Asked Questions on Agneepath Scheme)

Q.1 क्या अग्निपथ योजना के तहत लड़कियों के लिए कोई आरक्षण होगा?

उत्तर: इस भर्ती के लिए लड़कियां आवेदन कर सकती हैं लेकिन किसी को विशेष आरक्षण नहीं दिया जाएगा।

Q.2 अग्निपथ योजना के लिए कौन पात्र है?

उत्तर: मान्यता प्राप्त बोर्ड से 10वीं और 12वीं डिग्री के साथ 17.5 से 21 वर्ष की आयु के बीच कोई भी व्यक्ति अग्निपथ योजना के लिए आवेदन कर सकता है।

Q.3 अग्निपथ योजना किस पद के लिए उम्मीदवारों की भर्ती करेगी?

उत्तर: अग्निपथ योजना अधिकारी रैंक से नीचे फिटर, अग्रिम पंक्ति में युवा सैनिकों आदि जैसे पदों के लिए भर्ती करेगी।

Q.4 अग्निवीर कौन हैं?

उत्तर: अग्निपथ योजना के तहत चुने गए उम्मीदवारों को "अग्निवीर" माना जाएगा।