मैंने अपनी सर्दियों की छुट्टियां कैसे बिताई पर निबंध

हर साल नवंबर का महीना भारत के उत्तरी भाग में सर्दियों के शुरुआत के प्रतिक के रूप में आता है। हममें से कई लोगों को सर्दियों का मौसम बहुत ही पसंद होता हैं और हम सब इस मौसम के आने का इंतजार करते हैं। अगर हम सर्दियों के मौसम के दौरान छुट्टियों की बात करें तो सर्दियों के मौसम में छुट्टियां बच्चों के लिए बहुत ही आनंद भरा होता हैं। ये छुट्टियां उनके लिए इस मौसम को खाश बनाती है। परीक्षाओं और बच्चों के असाइनमेंट में अक्सर इस विषय के बारे में प्रश्न पूछा जाता है कि आपने सर्दियों की छुट्टियां कैसे बिताई। यह विषय छात्रों के लिए बहुत रोचक भरा होता है। मैं अपने शीतकालीन अवकास को कैसे बिताया इस बारे में मैंने एक दीर्घ निबंध प्रस्तुत किया है, जो आप सभी छात्रों के लिए उपयोगी सिद्ध होगा।

मैंने अपनी सर्दियों की छुट्टियां कैसे बिताई पर दीर्घ निबंध (Long Essay on How I Spent My Winter Vacation in Hindi)

Long Essay - 1400 Words

परिचय

गर्मियों के दिनों की चिलचिलाती गर्मी के विपरीत सर्दियों का मौसम ठंडा और बहुत ही सुखदायी अनुभव देता है। सर्दियों के मौसम की कई विशेषताएं होती हैं, इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता है। इस मौसम के दौरान बच्चों और बड़ों की छुट्टियां सबके लिए बहुत ही आनंददायी होता है। इस दौरान थोड़ी ही छुट्टी मिलती है, लेकिन सभी इन छुट्टियों को बेहतर बनाने के लिए पहले से ही प्लान तैयार करते हैं।

छुट्टियां क्या है?

वो छुट्टियां जो स्कूली बच्चों को स्कूल से और कामकाजी लोगों को उनके दफ्तरों से दी जाती हैं, इस तरह की छुट्टियां परिवारों, रिस्तेदारों, दोस्तों, और करीबी लोगों के साथ खुशी मनाने का एक अच्छा समय होता है। बच्चे इन छुट्टियों का बेसब्री से इंतजार करते हैं। गर्मि की छुट्टियां भले ही लम्बी होती है, लेकिन उस समय मौसम अधिक गर्म होने के कारण बच्चे उन छुट्टियों का आनंद सही ढंग से नहीं ले पाते हैं। सर्दियों की छुट्टियां केवल 15 से 20 दिनों के लिए ही होती हैं लेकिन यह उनके लिए सबसे अच्छी छुट्टि होती है।

यह छुट्टियां सितम्बर-दिसम्बर के महीने में दूसरी अवधी की परीक्षा के बाद छात्रों को आराम करने के लिए दी जाती है। बच्चों को सर्दियों की छुट्टियां बहुत पसंद होती हैं, क्योंकि वो सुबह देर तक सो सकते हैं। उन्हें स्कूल जाने के लिए जल्दी उठने की चिंता नहीं होती। हममें से अधिकांश लोग सर्दियों की छुट्टियों का आनंद लेने के लिए छुट्टियों के दौरान बर्फबारी वाली जगहों पर जाते हैं, और पहाड़ी क्षेत्रों में इस मौसम की सुंदरता का आनंद लेते हैं। हम सभी इन छुट्टियों में अलग-अलग तरह से योजनाएं बनाते हैं ताकि हमारी छुट्टियां एक अच्छा अनुभव और यादगार बन सके और हम इसे अच्छी तरह से व्यतीत कर सके।

सर्दियों की छुटियों का मेरा अनुभव

सर्दियों की छुट्टी हम सभी के लिए बहुत ही छोटी छुट्टी के रूप में पर सभी के लिए महत्वपूर्ण होती है। मुझे यह मौसम बहुत अच्छा लगता है इसलिए मैं इस ठण्ड के मौसम का बहुत बेसब्री से इंतजार करता हूँ। इसके अलावा मेरे लिए खुशी की बात होती है कि इन सर्दियों के मौसम में मेरी माँ के द्वारा बनाये गए विभिन्न तरह के गर्म-गर्म भोजन मुझे और परिवार को खाने के लिए मिलती है। पिछले साल हम सभी ने अपने चाचा के यहां जाने की योजना बनाई थी। मेरे चाचा उत्तराखंड के एक छोटे से गांव में पहाड़ों पर रहते हैं इसलिए यह यात्रा मेरे लिए बहुत ही खाश थी।

मैं अक्सर सुनता हूँ कि सर्दियों के दिनों में लोग बर्फबारी का आनंद लेने के लिए लोग पहाड़ी इलाकों में जाते हैं। इसलिए मैं अपने चाचा के यहाँ जाने के लिए बहुत ही उत्सुक था। पहाड़ों में बर्फीली जगहों पर लोग बर्फबारी के साथ साइक्लिंग, आइस स्केटिंग, आइस हॉकी, इत्यादि विभिन्न खेलों का आनंद लेते हैं। मेरे चाचा का घर पहाड़ों में एक छोटे से गांव में था, पर मुझे इस बात की ज्यादा खुशी थी कि इस बार मुझे सर्दियों में पहाड़ों पर सर्दी का मौसम बिताने को मिलेगा। इसके लिए मैं बहुत उत्सुक और रोमांचित था।

  • यात्रा की शुरुआत

मेरे पिताजी ने टिकटों की बुकिंग पहले से ही कर ली थी क्योंकि पिछली बार सीटों के कन्फर्म होने की संभावना कम थी। तय दिन के अनुसार हमने अपनी पैकिंग करनी शुरू कर दी और सारे सामान के साथ हम तय दिन पर अपनी ट्रेन के लिए स्टेशन पहुंच गए। उत्तराखंड पहुंचने में हमें कुल 13 घंटे का समय लगा। मैं उस जगह तक पहुंचने और वहां के मनोरम दृश्य को देखने के लिए मैं काफी उत्सुक था। अंत में हम उत्तराखंड पहुंच गए और मेरे चाचा हमें लेने के लिए स्टेशन पर आये हुए थे। मैदानी इलाकों में रहने वाले मेरे जैसे व्यक्ति को उस जगह को देखकर बहुत ही खुशी प्राप्त हुई। वह जगह मुझे एक छोटे से स्वर्ग की तरह दिखाई दे रहा था।

हम चाचा के साथ उनके गांव उनके घर पहुच गए। मेरे चाचा का घर बहुत बड़ा तो नहीं था पर वो जगह मुझे बहुत अच्छा लगता है। मैं वहां अपने चचेरे भाइयों और बहनों से मिला और हम कुल मिलाकर पांच लोग हो गए। यह छुट्टियां मेरे लिए सबसे दिलचस्प और यादगार होने वाला था। बाद में मेरी चाची ने हमारे लिए खाना बनाया। चाचा ने हमारे लिए आग जलाई और हम सब उसके आस पास बैठकर आग की गर्मी का आनंद लेने लगे। फिर चाची ने हमारे लिए भोजन परोसा और चाची द्वारा बनाया गया भोजन बहुत ही स्वादिष्ट था।

  • उस जगह की सुंदरता

हमने अगले दिन आस-पास के इलाकों में घूमने की योजना बनाई। वहां के मौसम की सुखद स्थिति और आस-पास चारों तरफ बर्फ से ढकी पहाड़ी की चोटियों का दृश्य उस स्थान को और मनमोहक बना रही थी। मैंने उस स्थान के प्राकृतिक सुंदरता को देखने के लिए बहुत समय बिताया, और उसे देख एक अजीब सा सुकून महसूस हो रहा था। वहां का वातावरण बहुत स्वच्छ था और प्रदूषण भी शहरों के अपेक्षा बहुत ही काम था। मैंने वह बर्फ से ढके पहाड़ भी देखे वहां हुई बर्फबारी का भी आनंद लिया। सुन्दर और मनोरम चित्रों को लेने का यह एक उत्तम और स्वच्छ स्थान था इसलिए हमने मिलकर पूरे परिवार के साथ कई सारी तस्वीरें भी ली जो मेरे लिए यादगार बन गयी।

अगले दिन हमने घाटी के विभिन्न मंदिरों की यात्रा करने की योजना बनाई। यह बहुत ही आश्चर्य की बात थी कि उस छोटे से जगह पर बहुत सारे मंदिर थे। मैंने देखा कि वहां के लोगों का स्वाभाव बहुत ही सरल था। घर के बरामदे में शाम के समय अलाव जलाया जाता था और हम सभी उसके आस-पास बैठकर खेलते थे। यहां रात के खाने की तैयारी शाम को ही शुरू हो जाती था, क्योंकि यह पहाड़ी गांव का इलाका था इसलिए लोग जल्दी खाकर सो जाते थे और सुबह जल्दी ही उठ जाया करते थे।

हम एक सप्ताह तक वहां रुके थे और हर दिन हमने आसपास के इलाकों में घूमने की योजना बना रखी थी। हम अलग-अलग जगहों पर गए और वहां की सुंदर तस्वीरों को अपने कैमरे में कैद कर लिया। मुझे महसूस ही नहीं हुआ कि एक सप्ताह का समय इतनी जल्दी कैसे बीत गया और अब हमारे घर वापसी का समय आ गया था। मैं थोड़े भारी मन से घर लौट आया पर मैं यह सोचकर संतुष्ट था कि मेरी सर्दियों की छुट्टियों का यह सबसे यादगार पल था।

क्या पर्वतीय क्षेत्र सर्दियों की छुट्टियां बिताने का सबसे उत्तम स्थान हैं?

बर्फबारी सर्दियों की छुट्टियों का सबसे अच्छा हिस्सा माना जाता है। यह धरती पर पहाड़ी क्षेत्रों को स्वर्ग जैसा बनाता है। बर्फबारी आमतौर पर केवल पहाड़ी इलाकों में ही होती है क्योंकि सर्दियों में ऊँचे पहाड़ी इलाकों का तापमान काफी कम होता है, जिसके कारण वहां बर्फबारी होती है। लोग सर्दियों की छुट्टियों में बर्फबारी का आनंद लेने के लिए अपने दोस्तों और परिवार के साथ ऐसी जगहों पर घूमने और बर्फबारी का आनंद लेने की योजना को बनाते हैं। कई ऐसे खेल है जैसे स्नोमैन, आइस स्केटिंग, आइस हॉकी जैसे कई तरह के खेलों का आनंद भी ऐसी जगहों पर लिया जा सकता हैं। इस तरह के खेलों का आनंद दुनिया भर के लोग लेते हैं। हममें से भी कई लोग ऐसी चीजों का आनंद लेने के लिए और मनोरम दृश्य को देखने के लिए सर्दियों के मैसम का बड़ी बेसब्री से इंतजार करते हैं।

इसलिए यह कहना गलत नहीं होगा कि सर्दियों के दिनों में पर्वतीय क्षेत्रों में बर्फबारी और वहां की अन्य चीजों का आनंद लेने के लिए लोग सबसे ज्यादा ऐसे क्षेत्रों में जाना पसंद करते है। सर्दियों के मौसम में ऐसे स्थानों के मनोरम दृश्य को देखने के लिए दुनिया भर से लोग आते है। भारत के उत्तरी क्षेत्र में पहाड़ों की सुंदरता भगवान और प्रकृति द्वारा प्रदान की गयी है। सर्दियों के मौसम में ऐसी जगहों पर घूमना देश-विदेश के लोगों को अपनी ओर आकर्षित करता है।

निष्कर्ष

यह यात्रा मेरे लिए सबसे यादगार लम्हों में से एक है, जो मेरे दिमाग में छाप छोड़ गई है। मैं हर सर्दियों की छुट्टियों में ऐसी जगहों की यात्रा करने की इच्छा रखता हूँ, जहां ऐसे मनोरम दृश्य हो। मेरे लिए चाचा के परिवार और उनके बच्चों के साथ बिताये पल सबसे हसीं पल थे। उस स्थान की सुंदरता, चाचा के परिवार का प्यार और वहां के स्वादिष्ट भोजन को याद कर आज भी मैं बहुत ही आनंद का अनुभव करता हूँ।