मेरा पसंदीदा खेल पर निबंध (My Favourite Game Essay in Hindi)

खेल हमारे शरीर और दिमाग को कसरत कराने का सबसे अच्छा तरीका है। खेल हमारे अन्दर खेलने, जीतने या प्रतिस्पर्धा करने का एक विचार लाते हैं। खेल हमारे जीवन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। खेल खेलकर हम बहुत कुछ सीखते और अपना मनोरंजन भी करते हैं। हम में से प्रत्येक के पास खेलों के विभिन्न विकल्प हैं। हम में से कुछ इनडोर खेल खेलना पसंद करते हैं जबकि कुछ बाहरी खेल खेलने में रुचि रखते हैं। खेलने से हमारे शरीर और दिमाग के स्वास्थ्य और फिटनेस को प्राप्त करने में मदद मिलती है।

मुझे उम्मीद है, मेरे द्वारा अलग-अलग शब्द सीमा में प्रदान किये गए ये निबंध आपको अपने पसंदीदा खेल के बारे में बेहतर जानकारी देने में मदद करेंगे।

मेरा पसंदीदा खेल पर लघु और दीर्घ निबंध (Short and Long Essays on My Favourite Game in Hindi, Mera Pasandida Khel par Nibandh Hindi mein)

निबंध 1 (250 शब्द) - मेरा पसंदीदा खेल बैडमिंटन है

परिचय

खेल हमारे मन और शरीर के विकास में बेहद ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। खेलों के साथ अध्ययन एक व्यक्ति को समग्र विकास की ओर ले जाता है। हम देख सकते हैं कि स्कूलों में भी टाइम टेबल में एक सप्ताह के दौरान दो या तीन गेम की अवधि होती है, जिसमें पढ़ाई के साथ खेलों की आवश्यकता पर भी ध्यान दिया जाता है। खेल खेलने से हम स्वस्थ और तंदुरुस्त होते हैं।

खेल जो मैं खेलता हूँ

आमतौर पर मैं इंडोर खेल जैसे अपने घर पर कैरम, शतरंज और लूडो, आदि खेलता हूँ। मेरी बहनों के साथ इन खेलों को खेलना घर पर मेरा पसंदीदा टाइम-पास है। कभी-कभी हम मैच जीतने के बाद कुछ उपहार या जीत की कीमत भी तय करते हैं।

मेरा पसंदीदा खेल बैडमिंटन है

तमाम सभी खेलों में मेरा पसंदीदा खेल बैडमिंटन है। यह सर्दियों के दिनों की बात थी जब मेरी माँ हमें सुबह जल्दी उठकर टहलने और पढ़ाई करने के लिए बुलाती थी। चूंकि मैं सुबह पढ़ाई नहीं कर सकता था इसलिए मैंने सुबह बैडमिंटन खेलने का फैसला किया। यह मेरे लिए खुद को स्वस्थ रखने का एक बेहतरीन व्यायाम साबित हुआ। मुझे मूड स्विंग की भी समस्या है और इस खेल ने मुझे काफी सुकून दिया।

चूंकि मुझे बैडमिंटन खेलने का अच्छा अभ्यास हो गया था, इसलिए मुझे अपने स्कूल की बैडमिंटन टीम में चुन लिया गया। बैडमिंटन खेलने के बाद मैं काफी ऊर्जावान महसूस करता हूं। कई बार मैंने अपने स्कूल की तरफ से खेला था और मुझे पुरस्कार भी मिले हैं। इस खेल के लिए मेरा एक क्रेज था और इसलिए मैं अपने दोस्तों के साथ खेलने के लिए समय पर बैडमिन्टन कोर्ट पहुंच जाता था।

निष्कर्ष

फिटनेस के लिए खेल आवश्यक हैं। जब हम आउटडोर गेम खेलते हैं, तो वे हमें फिट बनाते हैं और हमारी मांसपेशियों को बेहतर व्यायाम कराते हैं।

निबंध 2 (400 शब्द) - मेरा पसंदीदा खेल हॉकी है

परिचय

यह कहा जाता है कि एक बच्चे या एक व्यक्ति के समग्र विकास के लिए, मन और शरीर को फिट और स्वस्थ होना आवश्यक है। खेल खेलने से हमें शरीर और दिमाग की फिटनेस हासिल करने में मदद मिलती है। हमने देखा है कि कई लोगों ने खेलों में अपना सफल करियर भी बनाया है। कई लोग ऐसे होते हैं जिन्हें नियमित रूप से खेल खेलने की आदत होती है। अध्ययन और अन्य कार्यों की तरह खेल भी हमारे लिए आवश्यक हैं।

मेरा सबसे अच्छा - प्रिय खेल

मैं शतरंज, कैरम और बास्केटबॉल जैसे कई खेल खेलता हूं। लेकिन, जो खेल मुझे सबसे ज्यादा पसंद है वह है हॉकी। हॉकी एक ऐसा खेल है जो हमें अंत तक बांधे रखता है। इस खेल को खेलने के दौरान ध्यान देने और केन्द्रित होने की आवश्यकता होती है। यह खेल दो टीमों के बीच खेला जाता है। दोनों टीमें प्रतिद्वंदियों की तरफ गोल करने के लिए खेलती हैं। मुझे टेलीविजन पर हॉकी मैच देखना भी बहुत पसंद है। हमने अपने मोहल्लों में आयोजित कई मैचों के लिए खेला है।

हॉकी के खेल में दो टीम होती हैं और प्रत्येक टीम में 11 खिलाड़ी होते हैं। सभी खिलाड़ी गोल करने की भावना के साथ खेलते हैं। वे विपक्षी टीम में गोल करने के लिए गेंद को मारते हैं। यह खेल घास के मैदान पर खेला जाता है। 11 खिलाड़ियों वाली एक एकल टीम में 10 खिलाड़ी बीच मैदान पर और एक खिलाड़ी गोलकीपर के रूप में गोल बचाने के लिए होता है। टीम के खिलाड़ियों को स्कोर बनाने के लिए गेंद को विपरीत टीम की ओर ले जाना पड़ता है। खिलाड़ी गेंद को हाथों या पैरों से नहीं छू सकते हैं, उन्हें केवल अपनी छड़ी का इस्तेमाल करना होता है। सिर्फ गोलकीपर ही गेंद को हाथ-पैर आदि से छू सकता है। पूरे खेल के दौरान रेफरी का निर्णय अंतिम होता है। गलतियों पर खिलाडी और यहाँ तक कि टीम को भी दंडित किया जाता है।

हॉकी - भारत के राष्ट्रीय खेल के रूप में और इसकी वर्तमान स्थिति

हॉकी एक अंतर्राष्ट्रीय खेल है और यह दुनियाभर में खेला जाता है। यह भारत का राष्ट्रीय खेल है। हमारे देश में भी हॉकी के कई बेहतरीन खिलाड़ी हैं। हमारे देश की टीम ने हॉकी में ओलंपिक पदक और कई अन्य ट्रॉफी जीते हैं।

यह बताना वाकई बेहद दुखद है कि इस खेल की वृद्धि और प्रसिद्धि कई वर्षों से कम हुई है। हॉकी के खेल को भारत में अन्य खेलों जैसे क्रिकेट की तरह कोई समर्थन नहीं मिलता है। हमारे देश में इस खेल के विकास की ओर कोई ध्यान नहीं देता है। यहाँ तक कि हमारे पास उम्मीदवारों की सहायता और प्रशिक्षण के लिए बेहतर सुविधाएं और खेल के मैदान भी नहीं हैं। चूँकि इस खेल का इतना अच्छा इतिहास था और यह हमारा राष्ट्रीय खेल भी है, इसलिए इसके प्रति सरकार का समर्थन होना चाहिए।

निष्कर्ष

खेल हमारी दिनचर्या का हिस्सा होना चाहिए। मुझे हॉकी खेलना पसंद है और यह मेरे मूड को तरोताजा करने में काफी ज्यादा मदद करता है। भारत में हर वर्ष, एक महान हॉकी खिलाड़ी मेजर ध्यानचंद की जयंती पर उनके सम्मान में राष्ट्रीय खेल दिवस मनाया जाता है।

Essay on My Favourite Game

निबंध 3 (600 शब्द) - मेरा पसंदीदा खेल: क्रिकेट

परिचय

खेल हमारे जीवन के प्रत्येक स्तर पर महत्वपूर्ण हैं। छोटे बच्चे खेलों से कई चीजें सीखते हैं। वे खेल खेलते समय अपनी कल्पना और सोच को सामने रखते हैं और चीजों को गहराई तक जाकर सीखते भी हैं। बच्चों के लिए खेल खेलना महत्वपूर्ण है क्योंकि यह बच्चे की वृद्धि और विकास में मदद करता है। यह व्यक्तित्व विकास में भी मदद करता है। कई बच्चे खेलने के गुण वाले कुछ प्रतिभाओं के साथ ही पैदा होते हैं, लेकिन उनकी प्रतिभा को एक वाहक के रूप में बनाने के लिए अभ्यास की आवश्यकता होती है।

क्रिकेट - मेरा पसंदीदा खेल

मैं बास्केटबॉल, कैरम, शतरंज और खो-खो जैसे कई खेल खेलता हूं। मैं जिस खेल को खेलना और देखना पसंद करता हूँ वो क्रिकेट के अलावा और कोई दूसरा खेल नहीं है। सचिन तेंदुलकर और विवियन रिचर्ड्स मेरे पसंदीदा क्रिकेटर हैं। मैं बचपन से ही अपनी कॉलोनी में क्रिकेट खेलता था। चूँकि मैं छोटा था इसलिए मुझे क्षेत्ररक्षण का काम दिया जाता था। हालाँकि मैं इस खेल को खेलने में बहुत अच्छा नहीं था, फिर भी मुझे यह खेल खेलना और देखना सबसे दिलचस्प लगता है।

हमारी गर्मियों की छुट्टियों के दौरान यह एक पसंदीदा टाइमपास था। हमने अपना ज्यादातर समय खेलने या अपने मौके का इंतजार करने में बिताया। इस खेल को लेकर कई झगड़े भी शुरू हो जाते थे क्योंकि हम लोग खेलने के दौरान जोर से चिल्लाते थे या गेंद मारकर खिड़की के शीशे को तोड़ देते थे।

ज्यादातर लोग इस खेल के शौकीन होते हैं, और जब भारत और पाकिस्तान के बीच मैच होता तो हर कोई पूरा मैच ख़त्म होने तक टेलीविजन से चिपका रहता था। जब मुझे अपनी उच्च पढ़ाई पूरी करने के लिए कॉलेज में प्रवेश मिला, तो मैंने अपनी कॉलेज टीम के साथ खेलना शुरू कर दिया। टीम का कप्तान क्रिकेट खेलने में बहुत प्रतिभाशाली और अच्छा था। मैंने उससे कई चीजें सीखीं। बाद में मेरा अपने कॉलेज की क्रिकेट टीम में चयन हो गया और कॉलेज के अंदर ही अन्य टीमों के साथ मैच भी खेला। मैं फील्डिंग और गेंदबाजी में काफी अच्छा था।

खेल के बारे में

क्रिकेट एक ऐसा खेल है जिसमें दो टीमें होती हैं, जिनमें से प्रत्येक टीम में ग्यारह खिलाड़ी होते हैं। कुछ अतिरिक्त खिलाड़ी भी होते हैं जो मुख्य खिलाड़ी के खेलने के दौरान चोटिल या खेलने में असमर्थ होने की स्थिति में उनकी जगह लेते हैं। मैच शुरू होने से पहले, कप्तानों द्वारा एक टॉस किया जाता है और टॉस जीतने वाली टीम यह तय करती है कि उसे पहले गेंदबाजी करनी है या फिर बल्लेबाजी।

बल्लेबाजी करने वाली टीम गेंदों को हिट करके रन बनाती हैं, जो उसके खिलाडियों को विकेट की ओर फेंका जाता है। बॉलिंग टीम बैटिंग टीम के सदस्यों को रन बनाने से रोकती है। अन्य खिलाड़ी क्षेत्ररक्षण में शामिल रहते हैं। मैदान पर किसी भी घटना के बारे में निर्णय अंपायर द्वारा किया जाता है। खेल जिस पिच पर खेला जाता है वो 22 गज (20 मीटर) लंबा होता है।

आमतौर पर, हम सड़क, खेल के मैदान और स्टेडियम में लोगों और बच्चों को खेलते देखते हैं। पूरी दुनिया में लोग क्रिकेट खेलना और देखना काफी पसंद करते हैं। इससे विभिन्न पीढ़ियों में क्रिकेट के प्रति प्रेम का पता चलता है।

क्रिकेट से मूल्यवान जीवन सबक

हर खेल हमें कुछ मूल्यवान सबक देता है जिसे हम अपने जीवन में लागू कर सकते हैं। असल में, हम अपने जीवन में हर एक चीज से सीखते हैं। खेल खेलना हमें सिखाता है और हमारे गुणों को बढ़ाता है। कुछ मूल्यवान चीजें जिन्हें हम प्राप्त करते हैं, उन्हें मैंने यहाँ नीचे सूचीबद्ध किया गया है :

  • हमारी नाकामियों से सीखने का एक सबक देता है।
  • हमें एक स्वस्थ्य प्रतियोगिता की भावनाओं से भरता है। यह हमारे स्कूल, नौकरी या जीवन के अन्य क्षेत्रों में उत्कृष्टता हासिल करने में हमारी मदद करता है।
  • हमें सही और गलत के बीच अंतर का एहसास कराता है।
  • हमें सिखाता है कि अभ्यास और कड़ी मेहनत हमारी असफलता से बाहर आने में हमारी मदद करते है।
  • हमारे आत्मविश्वास को बढ़ाने में मदद करता है और जो गलत है उसके लिए आवाज उठाता है।
  • लक्ष्य प्राप्त करने की जिम्मेदारी के साथ टीम वर्क में एकता के साथ काम करने के लाभों को शामिल करता है।
  • खेल खेलने से योजना और रणनीति बनाने की क्षमता बढ़ती है।

निष्कर्ष

मुझे क्रिकेट खेलना पसंद है क्योंकि यह मेरे शरीर को फिट रखने में मेरी मदद करता है। मुझे अपने मनोरंजन के साधन के रूप में भी अलग अलग तरह का खेल खेलना पसंद है। हमें वीडियो या मोबाइल गेम खेलने के साथ-साथ आउटडोर गेम्स भी खेलने चाहिए, क्योंकि आउटडोर गेम्स खेलने से स्टैमिना बनाने में मदद मिलती है।