शहद, कब और कैसे खाएं की इसका पूरा स्वास्थ्य लाभ मिले (When and How to Eat Honey in Healthy Ways for Good Health)

शहद का प्रमाण सबसे पहले स्पेन में एक पेटिंग में मिला, जो कि 7000बी.सी. में एक गुफा में पाया गया था। जैसा कि हम जानते है कि शहद क्या है, यह सिरप जैसी स्थिरता वाला एक उत्पाद है जो कि पौधों के परागकण से बनता है। यह एक शहद मक्खी (हनी बी) होती है, जो कि अपने छत्ते (जिसकी संरचना मोम जैसी बनी होती है) में शहद का निर्माण करती है। शहद के विभिन्न प्रकार होते है, जैसे - नीलगिरी शहद, बकह्वीट शहद, डंडेलियन शहद, इत्यादि।

अच्छे स्वास्थ्य के लिए शहद खाने के स्वस्थ तरीकें (Quick Tips/Healthy Ways to Consume Honey for Different Age Group)

बच्चों के लिए शहद (Honey for Kids and Children)

हम में से ज्यादातर लोगों को शहद खाना पसंद करते है, इसका स्वाद बहुत अच्छा होता है और यहां तक की बच्चे शहद खाना बहुत पसंद करते है। यह याद रखें कि एक साल से कम उम्र के बच्चों को शहद कभी नही देना चाहिए क्योकि कभी-कभी यह उनके पेट में हानिकारक बैक्टीरिया बनाता है जो की उनके लिए बहुत खतरनाक हो सकता है। बारह महीने के बाद ही शहद उनके लिए सुरक्षित होता है।

शहद के 300 से भी ज्यादा किस्में है। इसमें चीनी से भी अधिक मिठास होती है लेकिन स्वाद में यह चीनी से कही ज्यादा बेहतर होता है। इन दिनों संशोधित किया हुआ शहद बहुत बड़ी मात्रा में बाजारों में उपलब्ध होती है, लेकिन कच्चे और मूल शहद की कीमत संशोधित या फिल्टर किए गए शहद से अधिक होता है। कुछ भी कच्चा खाना बहुत फायदेमंद और पोषण वाला होता है और अधिक लाभ के लिए कच्चा या प्राकृतिक रुप में ही खाना चाहिए।

बच्चों के लिए शहद के फायदे (Benefits of Honey for Children)

शहद बच्चों के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है जैसे-

  • खांसी को ठीक करता है - आमतौर पर बच्चों को कोई भी दवा देना बहुत मुश्किल होता है और उनके सर्दी और जुखाम के समय तो उनको दवा देना बहुत ही मुश्किल हो जाता है। कभी-कभी सर्दी और जुखाम एक खतरनाक स्वास्थ्य कारण जैसे अस्थमा, निमोनिया इत्यादि का रुप ले लेती है। शहद हमें गर्म रखता है और इसमें खांसी को ठीक करने की प्रवृत्ती होती है और डॉक्टर भी आमतौर पर इसके इस्तेमाल का सुझाव देते है। बच्चे खांसी के कारण अक्सर रातों को सो नही पाते है और शहद उनकी सांसो को आसान कर उन्हें आराम पहुचाता है। बच्चे इसके मीठे स्वाद के कारण आसानी से खा लेते हैं।
  • हड्डियों को मजबूत करता है - शहद में पॉलीफेनॉल्स की तरह कई बायोएक्टिव तत्व मौजूद होते है जो हमारी हड्डियों के स्वास्थ्य के लिए एक वरदान की तरह होती है। इसके एन्टी-इनफ्लेमेन्टरी और एंटीऑक्सीडेंट गुण कई तरह की अन्य बीमारियों से हमें बचाती है।
  • चोट पर प्रभावी - शहद किसी भी तरह के घाव और चोटके लिए बहुत ही अच्छा होता है। बच्चे घावों पर किसी भी प्रकार की दवा लगाने से रोने लगते है, जबकि कुछ मलहम से उनके घाव पर जलन भी होती है और बच्चे इसे सहन नही कर पाते है इसलिए शहद उनके घाव के लिए एक अच्छा उपाय है। कभी-कभी बच्चे चोटपर लगे मलहम को चाट जाते है जो कि उनके लिए बहुत नुकसानदायक होती है और ऐसे मामलों में उनके घाव पर शहद लगाना बेहतर होता है।

स्वस्थ तरीके से बच्चों को शहद का सेवन कैसे कराएं (Healthy Ways to Consume Honey for Children)

चीनी की जगह बच्चों को दूध में शहद मिलाकर देना चाहिए। यहाँ, बच्चों को शहद देने के कई स्वस्थ तरीके है:

  • शहद अखरोट अनार (Honey Nut Pomegranate)

सामग्री

संतरे का जूस 1/2 कप, 1 चम्मच गुलाब जल, अनार के दानें 100 ग्राम, क्रीम 200 ml, शहद 100 ग्राम, कटा पिस्ता 150 ग्राम, थोड़े दरे हुए गेंहू और दही 250 ग्राम।

विधि

  • एक बाउल लें और उसमें दरे हुएं गेहू, नट्स और आधा चम्मच शहद मिलाएं।
  • संतरे के रस को उस मिक्सचर में मिलाएं और उसे एक छोटे कप में ड़ालें।
  • उसमे क्रीम को साफ्ट होने तक मिलाएं और उसमें दही और गुलाब जल मिलाए और उस मिश्रण को और कप में ड़ाले और कुछ घंटो के लिए फ्रिज में रख दें या आप इसे रात भर के लिए भी रख सकते है। जब इसे निकाले तो इसमें अनार के दाने मिला लें।

पोषण तालिका

बनी हुई इस सामग्री में बहुत सारा वसा होता है और यह बच्चों के लिए बहुत ही अच्छा होता है, क्योंकि वो बहुत सारें शारीरिक गतिविधियां करते है तो उन्हें ऐसा करने के लिए बहुत सारी ताकत की आवश्यकता होती है जो कि इसमें उन्हें मिलती है।

  • हनी ब्रेड (Honey Bread)

सामग्री

2 ब्रेड के स्लाइस, शहद आवश्यकता के अनुसार, नट्स और मक्खन 1 चम्मच।

विधि

  • ब्रेड लें और उसके ऊपर मक्खन लगाएं।
  • एक पैन में थोड़े से मक्खन ले और सूखे मेवे (नट्स) को उसमें भुन ले और फिर उन्हें उन ब्रेड के टुकड़ो पर डालें।
  • ब्रेड को भूरे होने तक टोस्ट करें और ब्रेड के दोनों तरफ शहद लगाएं और सर्व करें।

पोषण तालिका

इसमें भरपूर मात्रा में शहद के साथ-साथ गेहू की रोटी भी होती है। जब आप बच्चों को विभिन्न प्रकार के व्यंजनो को एक ही साथ पेश करेंगे तो वो उन्हें बहुत पसंद करते है और जब आप बार-बार एक ही चीज उन्हें खाने को देंगे तो वो उन्हें खाना बन्द कर देते है, इसलिए आप इन सरल, आसान और जल्दी बन जाने वाले व्यंजनो को जिसमें शहद शामिल हो उन्हें बनाकर दें।

  • हनी मफिन्स (Honey Muffins)

सामाग्री

2 कप मैदा, चीनी आधा कप, 1 छोटा चम्मच नमक, आधा कप शहद, 2 छोटा चम्मच बेकिंग पाउडर, एक अंड़ा, दूध 1 कप और आधा कप मक्खन।

विधि

  • एक बाउल लें और उसमें मैदा, बेकिंग पाउडर, चीनी, नमक, अंड़ा, दूध, शहद और मक्खन डालें और सभी सामाग्रीयों को अच्छे से मिलाकर एक मिश्रण बना लें।
  • मफिन कप लें और ग्रीसिंग के बाद मिश्रण को इसमें भर कर ओवन में 400 degree C. पर 15 मिनट तक इसे बेक होने तक के लिए छोड़ दें और टूथपीक की मदद से इसकी जांच करते रहे।
  • पकने के बाद इन्हें ठंडा होने दे और शहद के लाभ के साथ शहद मफिन परोसें।

पोषण तालिका

इसमें काफी मात्रा में कैलोरी के साथ-साथ वसा भी होता है और यह बच्चों के लिए एक अच्छा स्वास्थ्यप्रद नाश्ता होता है।

वयस्क के लिए शहद (Honey for Adult)

शहद हम सभी को सदा ही पसंद होता है और जब हम कुछ अतिरिक्त स्वास्थ्य लाभों के बारें में बात करते है तो शहद को जरूर अपनाना चाहिए। अधिकतर युवा अपने स्वास्थ्य और शरीर के वजन को लेकर बहुत चिंतित रहते है और वो इसे नियंत्रित रखने की कोशिश करते हैं। यह न केवल शरीर के वजन में बल्कि यह हमारे शरीर में खराब कोलेस्ट्रॉल और रक्तचाप इत्यादि को भी नियंत्रित करने में सहायक होती है। इसमें अच्छी मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट, कैल्शियम, पोटेशियम, आयरन, जिंक, राइबोफ्लेविन जैसे कई गुण मौजूद होते है जिसकी आवश्यकता हमारे शरीर को प्रतिदिन होती है। शहद में लगभग 70 प्रतिशत सुक्रोज और 25 प्रतिशत पानी मौजूद होती है।

एक स्वस्थ जीवनशैली और शांति पूर्ण जीवन के लिए यह बहुत आवश्यक है कि आप इनमें से किसी की भी उपेक्षा न करें। आपके शरीर में गड़बड़ी आपके वजन के बढ़ने के साथ ही शुरु हो जाती है, जो आगे चलकर कई अन्य गंभीर बीमारियों का करण बन सकती है। इसलिए ऐसे संकेतों को जल्द ही पहचाने या एक स्वस्थ भविष्य के लिए वयस्कता में ही अपनी अच्छे से देखभाल करना शुरु कर दिजिए।

वयस्कों के लिए शहद के लाभ (Benefits of Honey for an Adult)

  • उर्जा को बढ़ाता है - शरीर में उपस्थित फ्रक्टोज की उचित मात्रा लम्बे समय तक आपको सक्रिय बनाये रखती है। यह आपके शरीर में ब्लड शुगर को बढ़ने से रोकती है और आपकी उर्जा को बनाए रखती है। यह कार्बोहाइड्रेट का एक अच्छा श्रोत होता है, और खासतौर से यह खिलाड़ियों और जो लोग बाहर क्षेत्र में काम करते है, यह लम्बे समय तक उनकी उर्जा को बनाए रखने और उनके प्रदर्शन को बढ़ाने में मदद करता है। एक आम आदमी के लिए भी उतनी ही फायदेमंद होता है।
  • वजन घटाने में मदद करता है - शहद में उपस्थित फ्रक्टोज हमारे शरीर के लिए ग्लुकोज के रुप में काम करता है। शर्करा में उपस्थित ग्लुकोज में कैलोरी होती है और विटामिन, खनिज, अन्य पोषक तत्व नही होते है। जबकि शहद में कैलोरी की मात्रा शुन्य और विटामिन और अन्य खनिजों की मात्रा बहुत अधिक होती है। शहद हमारे शरीर में ग्लुकोज बनाने में मदद करता है और यह ग्लुकोज हमारे मस्तिष्क की शर्करा को भी बढ़ाता है, जो हमारे शरीर के फैट बर्न करने वाले हार्मोन्स को बढ़ाने में मदद करता है और इस कारण हमारे वजन को बढ़ने से रोकता है।

वयस्क के लिए शहद खाने के स्वस्थ तरीके (Healthy Ways to Consume Honey for Adults)

  • शहद नीबू पानी (Honey Lemon Water)

सामाग्री

1 बड़ा चम्मच शहद, 1 नीबू, 1 गिलास पानी।

विधि

गर्म पानी को एक ग्लाक में डाले और उसमें नीबू का रस डाले और एक चम्मच शहद डालकर अच्छी तरह से मिलाएं। जूस तैयार है।

पोषण तालिका

  • शहद और नीबू एक साथ मिलकर हमारे शरीर के वजन को कम करने में अद्भुत काम करते है और हमारे शरीर को डिटॉक्स करने में मदद करते है।
  • ये मुहांसे को कम और प्रतिरक्षा शक्ति को बढ़ाते है।
  • यह स्किन, बालों या किसी प्रकार के चोट और घाव के लिए बहुत अच्छा होता है।
  • शहद के साथ केल सलाद (Kale Salad with Honey)

सामग्री

2 चम्मच शहद, 1 चम्मच जैतून का तेल, 2 कटा हुआ लहसुन की कली, कटा आजवायन, 2 चम्मच नीबू का रस, कोषेर नमक, अजमोद के पत्ते 1 कप, 3 कप बेबी केल, आधा कटा हुआ बेबी टमाटर।

विधि

  • पैन को आंच पर रखकर लहसून को भुरा होने तक पकाए।
  • एक बाउल में शहद, नीबू का रस, आजवायन, नमक को अच्छी तरह मिलाकर एक तरफ रखे।
  • एक अन्य बाउल में केल, अजमोद और कटा हुआ टमाटर डालकर ऊपर वाले मिश्रण और साथ ही भुने हुए लहसुन को एक साथ अच्छी तरह से मिलाएं।
  • सलाद तैयार हो गया है।

पोषण तालिका

इसमें केवल 50 ग्राम कैलोरी और वसा शुन्य होता है जबकि आयरन, सोडियम, कैल्शियम और कई अन्य खनिजों से भरा होता है।

वृद्धों के लिए शहद (Honey for Old People)

सभी चीजों में कुछ अच्छी और कुछ बुरी चीजें होती है। किसी चीज का अधिक मात्रा में सेवन करना आपको नुकसान पहुचा सकता है और इसके कारण आपको फूड प्वाइजनिंग हो सकता है। इसलिए चीजों को सही मात्रा में लेने की कोशिश करें खासतौर पर जब आप उच्च नागरिकों में आते है।

आमतौर पर बढ़ती उम्र के साथ लोग चीजों को भुलने लगते है, और एक शोध में यह पाया गया है कि जो लोग शहद का सेवन करते है उनकी याददाश्त बहुत अच्छी होती है। अधिक उम्र में बहुत से लोगों को खांसी के कारण फेफड़ों की समस्या का सामना करना पड़ता है और शहद खांसी के इन्फेक्शन पर आश्चर्य तरीके से ठीक करने में काम करता है।

बस आपको अपने खाने में शहद को शामिल कर आप इसके कई फायदों का लाभ उठा सकते है, लेकिन यदि आपको किसी अन्य प्रकार की स्वास्थ्य समस्या हो तो आप पहले डॉक्टर का परामर्श ले और फिर आगे बढ़े।

बुढ़ापे के लिए शहद के लाभ (Benefits of Honey for an Old Age)

  • पुराने रोगों से बचाता है - शहद में एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटीऑक्सीडेंट जैसे मौजूद गुण पुराने रोगों से रक्षा करता है। वृद्धावस्था में लोग आसानी से संक्रमण के शिकार हो जाते है क्योंकि बढ़ती उम्र में उनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता कम हो जाती है। शहद रोगों को दूर करने और प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ाने इन दोनों ही अवस्था में अद्भुत रुप से काम करता है।
  • हड्डियों के लिए अच्छा होता है - बुढ़ापा बचपन का ही दुसरा रुप होता है और दोनों अवस्था में जरूरतें भी लगभग समान होती है। उसी प्रकार बुढ़ापे में हमे हड्डियों को लेकर ज्यादा सजग रहने की जरुरत होती है। शहद में हड्डियों की देखभाल और उन्हें ठीक करने की अद्भुत प्रवृत्ति होती है। हड्ड़ियों की देखभाल करना ही इनकी प्राथमिकता बन जाती है क्योंकि इस अवस्था में ये कमजोर और नाजुक होने के साथ कई अन्य समस्याओं का कारण बन जाती है।
  • पाचन में सुधार - शहद पेट में होने वाली अल्सर, डायरिया जैसी अन्य बीमारियों के लिए रामबाण इलाज है और यह पाचन क्रियाओं को बेहतर करता है। यही कारण है कि एक चम्मच शहद आपकी पाचन क्रियाओ को ठीक रखने में हमारी मदद करता है। वृद्धावस्था में लोगों को पाचन क्रिया की बहुत समस्या होती है और शहद लेने से लोग अपनी जिन्दगी के स्वाद का मजा ले सकते है।

वृद्धावस्था में शहद खाने के सही तरीके (Healthy Ways to Consume Honey for Old Age People)

हमारे खान-पान में शहद को शामिल करना बहुत आसान है।

  • आप दूध में चीनी की जगह शहद ले सकते है।
  • सलाद में मिलाकर आप इसे सर्व कर सकते है।
  • कभी-कभी आप ऐसे ही ब्रेड पर लगाकर भी सर्व कर सकते है।
  • शहद में बने गुजबैरी जैम (आंवले के मुरब्बे) को सुबह में सकते है।
  • आप टमाटर की चटनी शहद के साथ बनाकर इसे फ्रिज में रख दे और साधारण तौर पर चपाती के साथ ले सकते है।

निष्कर्ष

शहद प्राकृति द्वारा दी गयी एक चमत्कारी तोहफा है और यह कई प्रकार से सहायक होती है। इसके उपभोग के बहुत से तरीके हैं और आप इसे किसी भी प्रकार के भोजन में मिलाकर लें सकते है। चीनी कई मामलों में सुरक्षित नही होता है तो आप चीनी की जगह शहद का इस्तेमाल कर सकते है। लेकिन हमेशा शोधित या कच्चे शहद का ही उपभोग करें क्योंकि अन्य में शुगर की मिलावट होती है जो कि हमारे स्वास्थ्य के लिए अच्छा नहीं होता है।