अंतरराष्ट्रीय भ्रष्टाचार विरोधी दिवस पर 10 वाक्य

भ्रष्टाचार संपूर्ण विश्व की सबसे जटिल राजनीतिक, आर्थिक तथा सामाजिक घटनाओं में से एक है। इसने पूरी दुनिया को अपनी चपेट में ले रखा है, हर राष्ट्र पर वर्तमान समय में यह कहर बरसा रहा है चाहे वह कितना भी समृद्ध एवं विकसित क्यों न हो। इन सब बातों को ध्यान में रखते हुए, बढ़ते भ्रष्टाचार को नियंत्रित करने के लिए संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 9 दिसम्बर, म्लोंडी कालुजा (Mlondi Caluza) के जन्म दिवस को अंतरराष्ट्रीय भ्रष्टाचार विरोधी दिवस के रूप में मनाने की घोषणा कर दी।

अंतरराष्ट्रीय भ्रष्टाचार विरोधी दिवस पर 10 लाइन (10 Lines On International Anti-Corruption Day in Hindi)

साथियों आज मैं आप सभी के बीच अंतरराष्ट्रीय भ्रष्टाचार विरोधी दिवस पर 10 लाइन लेकर उपस्थित हुआ हूँ, मुझे आशा है कि ये आपको पसंद आएंगी तथा स्कूल एवं कॉलेजों में भी आपके लिए सहायक होंगी।

Set 1

1) मानव जीवन में स्वेच्छा से स्वीकृत सार्वजनिक मूल्यों के विरूद्ध व्यवहार (आचरण) को भ्रष्ट आचरण माना जाता है। सामान्य जनजीवन में यह अपराध की श्रेणी में आता है।

2) भ्रष्टाचार कई रूपों में हो सकता हैं। जैसे- हफ्ता वसूली, घूस (रिश्वत), जबरन चंदा लेना, चुनाव में धांधली आदि।

3) भ्रष्टाचार पर नियंत्रण के लिए 9 दिसम्बर को संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा अंतरराष्ट्रीय भ्रष्टाचार विरोधी दिवस के रूप में मनाने की घोषणा की गई।

4) अंतरराष्ट्रीय भ्रष्टाचार विरोधी दिवस की शुरुआत 31 अक्टूबर 2003 को संयुक्त राष्ट्र महासभा के द्वारा एक प्रस्ताव पारित कर के की गई थी।

5) इस दिवस का मुख्य उद्देश्य है लोगों को भ्रष्टाचार के खिलाफ जागरूक करना।

6) इस दिन सभी प्राइवेट, सरकारी तथा गैर सरकारी संस्थाएं भ्रष्टाचार के खिलाफ एकजुट होकर लड़ने का संकल्प लेती है।

7) वर्तमान में भ्रष्टाचार के खिलाफ सभी देशों का एकजुट होना एक शुभ संकेत जान पड़ता है।

8) इस दिन भ्रष्टाचार से लड़ने वाले समूह एक साथ होकर इस कदाचार के खिलाफ लोगों को जागरूक करते हैं।

9) ड्रग्स और अपराध पर संयुक्त राष्ट्र कार्यालय (UNODC) तथा संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम (UNDP) भ्रष्टाचार पर जागरूकता फैलाने वाली अग्रणी संस्थाएं है।

10) संयुक्त राष्ट्र का एक आंकड़ा बताता है कि प्रति वर्ष रिश्वत के रूप में 1 ट्रिलियन डॉलर का लेन देन होता है।

Set 2

1) सामान्य तौर पर सरकारी सत्ता तथा संसाधनों आदि का व्यक्तिगत लाभ के लिए किया जाने वाला इस्तेमाल भ्रष्टाचार के रूप में संबोधित किया जाता है।

2) अंतरराष्ट्रीय भ्रष्टाचार विरोधी दिवस का विश्व स्तर पर काफी महत्व है क्योंकि यह वैश्विक स्तर पर लोगों को कदाचार के बारे में जागरूक तथा उससे बचने के उपाय सुझाता है।

3) भ्रष्टाचार अनेक प्रकार से देश की आर्थिक गतिविधियों को प्रभावित करता है इसलिए अंतरराष्ट्रीय भ्रष्टाचार विरोधी दिवस की भूमिका तथा जिम्मेदारीयां और बढ़ जाती हैं।

4) अंतरराष्ट्रीय भ्रष्टाचार विरोधी संस्थाओं के साथ-साथ देशों के अंदर उनकी राष्ट्रीय संस्थाएं भी भ्रष्टाचार के खिलाफ अपने-अपने तरीके से जंग लड़ रही हैं।

5) अंतरराष्ट्रीय भ्रष्टाचार विरोधी दिवस के अवसर पर विद्यालयों तथा कॉलेजों में विभिन्न कार्यक्रमों एवं निबंध प्रतियोगिता का आयोजन करके भी लोगों को जागरूक किया जाता है।

6) साल 2020 के अंतरराष्ट्रीय भ्रष्टाचार विरोधी दिवस का थीम (विषय) 'RECOVER with INTEGRITY' था।

7) भारत के पास भी राष्ट्रीय स्तर की अपनी तीन भ्रष्टाचार विरोधी संस्थाएं (केंद्रीय सतर्कता आयोग, केंद्रीय जांच ब्यूरो तथा लोकपाल) हैं।

8) भारत जैसे राष्ट्र में महंगाई, भुखमरी, अनैतिकता तथा जनसंख्या संबंधित अनेक समस्याएं पहले से ही व्याप्त थी, उस पर भ्रष्टाचार भी राष्ट्र का काल बनकर बढ़ता चला आ रहा है।

9) अंतरराष्ट्रीय भ्रष्टाचार विरोधी दिवस पर भ्रष्टाचार से लड़ने वाले समूहों तथा संस्थाओं द्वारा लोगों को इससे निपटने के उपायों आदि के बारे में जागरूक किया जाता है।

10) भारत की भ्रष्टाचार विरोधी संस्थाएं, नारों एवं स्लोगनों द्वारा भी लोगों को इसके प्रति जागरूक करने का प्रयास करती हैं।


निष्कर्ष

वास्तव में भ्रष्टाचार से लड़ना इतना आसान नहीं है क्योंकि इसका कोई मूर्त रूप नहीं है। यह अमूर्त रूप में लोगों के मन में बसता है, इससे लड़ने का मतलब है राष्ट्र की पूरी जनसंख्या के सोच से लड़ना औ इतनी बड़ी आबादी के मन को बदलना कुछ संगठनों एवं संस्थाओं के बस की बात नहीं है। भ्रष्टाचार पर नियंत्रण के लिए पूरे राष्ट्र की जनसंख्या को एकजुट होना होगा।

मैं आशा करता हूँ कि अंतरराष्ट्रीय भ्रष्टाचार विरोधी दिवस पर 10 वाक्य (10 Points on International Anti-Corruption Day) आपको पसंद आये होंगे तथा इसे आप अच्छी तरह से समझ पाए होंगे।

धन्यवाद !

ये भी पढ़े:

अंतरराष्ट्रीय भ्रष्टाचार विरोधी दिवस पर अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न (Frequently Asked Questions on International Anti-Corruption Day in Hindi)

प्रश्न.1 भ्रष्ट देशों की सूची में भारत कौन से स्थान पर है?

उत्तर- 40 अंकों के साथभ्रष्ट देशों की सूची में भारत 86वे स्थान पर है।

प्रश्न.2 घोटाले की अनुभूति की सूची (Corruption Perceptions Index) किसके द्वारा जारी किया जाता है?

उत्तर- घोटाले की अनुभूति की सूची, इंडेक्स ट्रांसपेरेंसी इंटरनेशनल (Index Transparency International) द्वारा जारी किया जाता है।

प्रश्न.3 सबसे अधिक भ्रष्ट देश कौन सा है?

उत्तर- दक्षिण सूडान तथा सोमालिया 12 अंकों के साथ दुनिया के सबसे भ्रष्ट देश है।