क्रिकेट पर निबंध

भारत में क्रिकेट का खेल कई वर्षों से खेला जा रहा है, यह एक काफी प्रसिद्ध तथा रोमांचक खेल है। इसे खेल को बच्चों द्वारा काफी पसंद किया जाता है सामान्यतः छोटे मैदान, सड़क जैसे आदि जैसे किसी भी छोटे खुले स्थानों पर उनकी क्रिकेट खेलने की आदत होती है। बच्चे क्रिकेट और उसके नियम-कानूनों के बारे में जानकारी के शौकीन होते है। सबसे जरूरी बात कि, ये है कि यह एक सामान्य विषय है जिसे विद्यार्थी निबंध लिखने की प्रतियोगिता में निबंध लिखने के लिये विषय के रुप में ले सकते है। यदि आपको क्रिकेट से जुड़े निबंधों की आवश्यकता है, तो परेशान मत होइये। इसके लिए आप हमारे वेबसाइट का उपयोग कर सकते है। हमारे वेबसाइट पर विभिन्न लंबाई के कई सारे निबंध दिये गये, जिनका आप अपनी आवश्यकता अनुसार उपयोग कर सकते है।

क्रिकेट पर बड़े तथा छोटे निबंध (Long and Short Essay on Cricket in Hindi)

Find here essays on cricket in Hindi language for students in 100, 200, 250, 300, 400, and 600 words.

इन दिये गये निबंधों में से आप अपनी आवश्यकता अनुसार किसी भी निबंध का चयन कर सकते हैं, यह निबंध काफी सरल तथा ज्ञानवर्धक है। इन निबंधों के माध्यम से हमनें क्रिकेट के विभिन्न विषयों जैसे कि क्रिकेट की शुरुआत कैसे हुई? क्रिकेट इतना लोकप्रिय क्यों है? भारत में क्रिकेट का इतिहास, क्रिकेट का इतिहास क्या है? आदि जैसे विषयों पर प्रकाश डालने का प्रयास किया है।

क्रिकेट पर निबंध 1 (100 शब्द)

भारत में राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर खेले जाने वाले में खेलों में क्रिकेट सबसे अधिक प्रसिद्ध है। ये भारत में जुनूनी तथा रोमांचक खेलों के रुप में स्थापित है। क्रिकेट वह खेल है जिसे बल्ले और गेंद की सहायता से खेला जाता है। इस खेल में दो टीमें होती है और हर एक टीम में 11-11 खिलाड़ी होते है। दोनों टीमों द्वारा रनों की संख्या और सबसे ज्यादा रनों की प्राप्ति के एक समान लक्ष्य के लिये खेला जाता है। इसमें वो टीम विजेता होती है जिसका खेल के अंत में सबसे ज्यादा रन होता है।

इस खेल की एक मुख्य जगह होती है जिसे ‘पिच’ कहा जाता है और उसी के चारों तरफ इसे खेला जाता है। ये एक बहुत बड़े खुली जगह और अच्छे व्यवस्थित मैदान में 68 से 58 मीटर और 2.64 मीटर माप के पीच पर खेला जाता है। आज के समय में क्रिकेट विश्व भर में काफी लोकप्रिय खेल बन चुका है। लोगों में क्रिकेट की लोकप्रियता इतनी अधिक है कि इस खेल को देखने के लिए दर्शकों की जितनी भीड़ स्टेडियम में जाती है उतनी शायद ही किसी दूसरे खेल में जाती हो।

क्रिकेट

क्रिकेट पर निबंध 2 (200 शब्द)

प्रस्तावना

क्रिकेट एक खुले जगह पर खेला जाने वाला खेल है जिसे खासतौर से बच्चे बहुत पसंद करते है और अपने युवा दिनों में एक अच्छा क्रिकेटर बनने का सपना देखते है। यह खेल एक बड़े खुले मैदान में बल्ले और बॉल के द्वारा खेला जाता है।

क्रिकेट

ये दो टीमों के मध्य खेला जाता है जिसमें 11-11 खिलाड़ी होते है। इसे एक 22 गज के लंबे आयताकार पिच के मैदान के एक केन्द्र में खेला जाता है। बल्ले बाजी करने के दौरान इसका इस्तेमाल बल्लेबाज रन लेने के लिये करता है और पारी के रुप में रन प्राप्त करने की कोशिश करता है।

दोनों टीमों में से एक टीम गेंदबाजी और दूसरी टीम बल्लेबाजी करती है। बल्लेबाज का विकेट लेने के लिये गेंदबाज गेंद को बल्ले से दूर फेंकने का प्रयास करता है। एक बल्लेबाज़ तब तक बल्ले बाज़ी करता है जब तक वो कोई गलती करके आउट न हो जाए। जो कोई भी टीम बैटिंग शुरु करती है वो तब तक बैटिंग करती है जब तक कि उसके 10 बल्लेबाज़ आउट न हो जाए या 6 बॉल के ओवर के निश्चित संख्या पूरी न हो जाए।

निष्कर्ष

अगर इस खेल को रोज खेला जाए और अभ्यास किया जाये तो ये बहुत ही आसान खेल है। क्रिकेट खिलाड़ियों को अपने खेल में सुधार लाने के लिये रोज अभ्यास की जरूरत पड़ती है जिससे वो छोटी-छोटी गलतियों को दूर कर सकें और पूरे प्रवाह के साथ इसे खेल सकें।

 

क्रिकेट पर निबंध 3 (250 शब्द)

प्रस्तावना

क्रिकेट राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कई देशों द्वारा पर खेला जाने वाला एक पेशेवर स्तर का आउटडोर खेल है। इस बाहर खेले जाने वाले खेल में 11 खिलाड़ियों की दो टीमें होती है। क्रिकेट तब तक खेला जाता है जब तक 50 ओवर पूरे न हो जाए। इससे जुड़े नियम-कानून का संचालन तथा नियमन अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद और मेर्लबोर्न क्रिकेट क्लब द्वारा किया जाता है। यह खेल टेस्ट मैचों और एक दिवसीय तथा टी 20 अंतरराष्ट्रीय मैचों के रुप में खेला जाता है। सर्वप्रथम यह खेल 16वीं शताब्दी के दक्षिणी इंग्लैंड में खेला जाता था। हालाँकि 18वीं शताब्दी के दौरान इसका विकास इंग्लैंड के राष्ट्रीय खेल के रुप में हुआ।

क्रिकेट का इतिहास

ब्रिटिश साम्राज्य के विस्तार के दौरान ये खेल बाहर के देशों में खेला जाने लगा और 19वीं शताब्दी में पहला अंतरराष्ट्रीय मैच आईसीसी द्वारा 10-10 सदस्यों के दो टीमों में कराया गया। क्रिकेट एक काफी प्रसिद्ध खेल है जो इंग्लैंड, भारत, ऑस्ट्रेलिया, दक्षिण-अफ्रिका आदि जैसे दुनिया के कई सारे देशों में खेला जाता है। भारत में छोटे बच्चे इस खेल के दिवाने है और वह इसे छोटी सी खुली जगहों में खेलते है, खासतौर से सड़क और पार्क में। अगर इसे रोज खेला और अभ्यास किया जाये तो ये बहुत ही आसान खेल है। क्रिकेट खिलाड़ियों को अपने खेल में सुधार लाने के लिये रोज अभ्यास की जरूरत पड़ती है जिससे वो छोटी-छोटी गलतियों को दूर कर सकें और पूरे प्रवाह के साथ इसे खेल सकें।

निष्कर्ष

क्रिकेट ही नहीं बल्कि किसी भी प्रकार के खेल से स्वास्थ्य और उत्साह तो बढ़ता ही है, साथ ही स्वस्थ प्रतियोगिता की भावना का भी विकास होता है। क्रिकेट के खेल से इसके साथ-साथ आपसी एकता तथा भाईचारा का विकास भी होता है। विश्व कप क्रिकेट टूर्नामेंट के समय समूचा विश्व जैसे एक परिवार ही बन जाता है और यह क्रिकेट के खेल की एक बड़ी उपलब्धि है।

 

क्रिकेट पर निबंध 4 (300 शब्द)

प्रस्तावना

भारत में सभी दूसरे खेलों के बजाय क्रिकेट मेरा सबसे पसंदीदा खेल है। मेरे स्कूल दोस्तों और पड़ोसियों के साथ मेरे घर के सामने के पार्क में मेरी क्रिकेट खेलने की आदत है। क्रिकेट एक खेल है जिसकी शुरुआत ब्रिटेन में हुई, हालाँकि उसके बाद इसे कई देशों द्वारा खेला जाना लगा। इस खेल को खेलने के लिये बल्ले और गेंद की जरूरत होती है। यह खेल 18वीं शताब्दी में प्रचलन में आया और इसी दौरान यह काफी प्रसिद्ध हुआ। क्रिकेट के खेल में 11 खिलाड़ियों के साथ दो टीमें होती है, इसके साथ ही खेल में निर्णायक के रुप में  दो अंपायर भी होते है जो मैच के दौरान होने वाली गलतियों पर नज़र रखते है उसी के अनुसार अपना फैसला सुनाते है। मैच शुरु होने से पहले एक सिक्का उछाला जाता है जिससे ये फैसला होता है कि कौन पहले बल्लेबाजी या गेंदबाजी करेगा।

खेल की विधि

दोनों टीमें बारी-बारी से बैटिंग करती है हालाँकि कौन पहले बल्लेबाजी या गेंदबाजी करेगा ये टॉस (सिक्के के उछाले जाने पर निर्भर करता है) निर्धारित करता है। विश्लेषकों के विचार से भारत में क्रिकेट दिन-प्रतिदिन एक मनोरंजक खेल बनाता जा रहा है। जब कोई राष्ट्रीय या अंतरराष्ट्रीय स्तर का क्रिकेट खेल होने वाला होता है तो इसमें अत्यधिक रुचि लेने वाले लोग इसके शुरु होने के एक हफ्ते पहले से ही उत्साह से भर जाते है। बहुत सारे क्रिकेट प्रेमी इसको घर पर टीवी या न्यूज में देखने के बजाय इस खेल के ऑनलाइन टिकट की बुकिंग कराते है जिससे वो इसका स्टेडियम के अंदर से लुफ्त उठा सके। पूरी दुनिया में क्रिकेट खेलने वालों के देशों में हमारा देश सबसे प्रसिद्ध है।

निष्कर्ष

क्रिकेट एक उत्साह पूर्वक खेले जाने वाला खेल है जिसमें जरूरत के अनुसार नए-नए परिवर्तन भी होते रहे हैं और आज इन्हीं परिवर्तनों के तहत टेस्ट मैचों की जगह पर एक दिवसीय क्रिकेट मैच अधिक लोकप्रिय बन गए हैं। क्रिकेट की अनेक विशेषताएं होती हैं। खेल के भाव से खेल को खेलना, जीत-हार को छोडकर खेल की कला का आनन्द लेना, खेल में भ्रातृभाव अथवा जीवन के श्रेष्ठ गुणों का आभास क्रिकेट के मैदान में पाया जाता है।


 

क्रिकेट पर निबंध 5 (400 शब्द)

प्रस्तावना

भारत में क्रिकेट एक बहुत ही रोमांचक खेल है और पूरी दुनिया के कई देशों में खेला जाता है। ये संयुक्त राज्य अमेरीका में बहुत प्रसिद्ध नहीं है हालाँकि भारत, ब्रिटेन, ऑस्ट्रेलिया जैसे कई देशों में यह काफी दिलचस्पी के साथ खेला जाता है। ये एक बेहतरीन खेल है जो एक खुले बड़े मैदान में बल्ले और गेंद के सहयोग से खेला जाता है। इसीलिए यह मेरा पसंदीदा खेल है। जब कभी भी कोई राष्ट्रीय या अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट प्रतियोगिता होती है तो सामान्यतः मैं टीवी पर क्रिकेट अवश्य देखता हुं। इस खेल में दो टीमें होती है और हर टीम में 11-11 खिलाड़ी होते है। टॉस के अनुसार एक टीम पहले बल्लेबाजी या गेंदबाजी करती है।

क्रिकेट के नियम

क्रिकेट के खेल में ढेर सारे नियम है जिन्हें बिना जाने कोई भी इसे सही तरीके से नहीं खेल सकता है। ये ठीक तरह से तभी खेला जा सकता है जब मैदान सूखा हो जबकि मैदान गीला होने पर कुछ समस्या आ जाती है। एक बल्लेबाज तब तक खेलता है जब तक वो आउट नहीं होता। जब भी मैच शुरु होता है हर एक का उत्साह बढ़ जाता है और पूरे स्टेडियम में लोगों की तेज आवाज फैल जाती है, खासतौर से जब उनका कोई खास खिलाड़ी चौका या छक्का मारता है।

क्रिकेट खिलाड़ियों में सचिन मेरे पसंदीदा खिलाड़ी है और लगभग सभी लोग उन्हें काफी पसंद करते है। भारत के क्रिकेट इतिहास में उनके द्वारा कई नये रिकार्ड बनाये गये है। जिस दिन सचिन किसी राष्ट्रीय या अंतरराष्ट्रीय मैच में खेल रहे होते है, उस दिन मैं क्रिकेट देखने के उत्साह में अपना भोजन करना तक भूल जाता हूँ।

क्रिकेट खेल के खिलाड़ी

क्रिकेट खेल के खिलाडियों के दो टीमें होती हैं। खेल को खिलाने के लिए दो निर्णायक होते हैं, जिन्हें अम्पायर कहते हैं। इसी तरह प्रत्येक दल का एक-एक मुखिया स्किपर (कप्तान) होता है जिसके नेतृत्व में उसकी टीम खेल खेलती है। हर दल में ग्यारह-ग्यारह खिलाड़ी होते हैं। हर दल में एक अथवा दो अतिरिक्त खिलाड़ी भी रखे जाते हैं। क्रिकेट का खेल एक लम्बी अवधि तक खेला जाता है। टेस्ट मैच प्रायः 5 दिन का होता है। अन्य साधारण मैच तीन-चार दिन के होते हैं। कभी-कभी एक दिन का मैच भी खेला जाता है।

निष्कर्ष

यदि क्रिकेट के खले का रोज अभ्यास किया जाये तो इसे काफी आसानी से सीखा जा सकता है। मैं भी क्रिकेट से बहुत लगाव रखता हूँ और रोज शाम को अपने घर के पास के मैदान में खेलता हूँ। मेरे माता-पिता बहुत सहयोगी है और हमेशा मुझे क्रिकेट खेलने के लिये प्रेरित करते है।


 

क्रिकेट पर निबंध 6 (600 शब्द)

प्रस्तावना

क्रिकेट सभी का बहुत पसंदीदा और प्रसिद्ध खेल है। हम सभी क्रिकेट खेलना बहुत पसंद करते है और रोज शाम में छोटे से खेल के मैदान में इसे खेलते है। इसे हर उम्र के लोग पसंद करते है और ये बहुत रोचक तथा असंभवनाओं से भरा हुआ खेल है। इसकी कोई सटीक भविष्यवाणी नहीं है कि कौन सी टीम जीत जाएगी। अंतिम समय में कोई भी टीम जीत सकती है, इसी कारण यह खेल और बी ज्यादे रोमांचक हो जाता है, जो सभी लोगो का उत्साह बढ़ाने का कार्य करता है। लोगों की अपनी पसंदीदा टीम होती है जिसे वो जीतते देखना चाहते है और लोग मैच तब तक देखते है जब तक कि खेल खत्म न हो जाए और उन्हें कोई परिणाम प्राप्त न हो हो जाए। क्रिकेट देखने के लिये क्रिकेट प्रेमियों की टीवी के कमरे और क्रिकेट मैदान में एक बड़ी भीड़ होती है जब भी कोई टेस्ट मैच या राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय स्तर का टूर्नामेंट होता है।

क्रिकेट का लोगों पर प्रभाव

युवा लड़के इस खेल से बहुत प्रभावित रहते है और लगभग हर कोई एक अच्छा क्रिकेटर बनना चाहता है। क्रिकेट भले ही भारत का खेल न रहा हो लेकिन फिर भी इसे आज हमारे देश में पूरी खुशी और उत्साह से खेला जाता है। क्रिकेट कई सारे देशों में खेला जाता है जैसे भारत, पाकिस्तान, दक्षिण अफ्रिका, ऑस्ट्रेलिया, जिम्बॉबवे, इंग्लैंड, ऑयरलैंड, श्रीलंका, न्यूजीलैंड आदि। टेस्ट मैच पाँच दिनों का होता है जिसमें 11-11 खिलाड़ीयों की दो टीमें होती है, इसमें हर टीम को दो पारी खेलने का मौका मिलता है जो टीम सबसे अधिक रन बनाती है वही विजेता बनती है।

क्रिकेट के नियम

क्रिकेट कोई आसान खेल नहीं है फिर भी क्रिकेट के खेल को नियमित अभ्यास से सीखा जा सकता है। इसमें दो मुख्य खिलाड़ी होते है एक बल्लेबाज और दूसरा गेंदबाज,बल्लेबाज अपने आउट होने तक खेल सकता है और गेंदबाज अपना ओवर पूरा होने तक गेंद फेंक सकता है। क्रिकेट मैच शुरु होने के पहले एक सिक्का उछाला जाता और इससे इस बात का फैसला होता कि कौन सी टीम पहले बल्लेबाजी या गेंदबाजी करेगी।

टॉस के बाद एक टीम पहले गेंदबाजी करती है और दूसरी टीम बल्लेबाजी करती है तथा एक पारी खत्म होने के बाद गेंदबाजी वाली टीम बल्ले बाजी टीम द्वारा दिये गये रनों का पीछा करती है। हार और जीत इस खेल के दो पहलू है जो इस खेल को रोमांचक और संदेहास्पद बना देती है। ये खेल और शानदार तब बन जाता है जब क्रिकेट प्रेमी अपने पसंदीदा बल्लेबाज के चौके-छक्के मारने पर पूरे स्टेडियम को हर्षोल्लास के शोर से भर देते है।

निष्कर्ष

क्रिकेट के खेल में ढेर सारे नियम है जिन्हें बिना जाने कोई भी इसे सही तरीके से नहीं खेल सकता है। ये ठीक तरह से तभी खेला जा सकता है जब मैदान सूखा हो यदि मैदान गीला होगा तो खेल खलने में कई तरह की समस्याएं उत्पन्न हो जायेंगी। क्रिकेट के खेल में एक बल्लेबाज तब तक खेलता है जब तक वो आउट नहीं हो जाता है। जब भी मैच शुरु होता है। तो इसे देखने वाले हर एक व्यक्ति का उत्साह बढ़ जाता है और पूरे स्टेडियम में लोगों की तेज गूजने लग जाती है, खासतौर से जब उनका कोई खास खिलाड़ी चौका या छक्का मारता है।

क्रिकेट के खेल में सचिन ज्यादेतर लोगों के पसंदीदा खिलाड़ी है और उन्हें क्रिकेट के भगवान के नाम से भी जाना जाता है। भारत के क्रिकेट इतिहास में उन्होंने कई महत्वपूर्ण रिकार्ड बनाये है। यहीं कारण है कि जिस दिन सचिन किसी राष्ट्रीय या अंतरराष्ट्रीय मैच में खेल रहे होते है, उस दिन लोग अपने कई महत्वपूर्ण कार्यों को रोककर क्रिकेट देखते हैं।

 

 

More Information:

फुटबॉल पर निबंध

हॉकी पर निबंध