ऑनलाइन अध्ययन के लाभ और नुकसान पर निबंध

इन दिनों ऑनलाइन अध्ययन एकप्रचलन सा बन गया है, कोविड-19 के चलते इस लॉकडाउन में कई स्कूलों ने पिछले कुछ महिनों से ऑनलाइन अध्ययन की प्रक्रिया को अपनाकर इसे अधिक उपयोग में लाया है। ऑनलाइन अध्ययन की प्रक्रिया को देखते हुए, मैं इससे होने वाले लाभ और नुकसान के तीन अलग-अलग शब्द सीमा के निबंध का विस्तार कर रहा हुँ। आप सभी इस विस्तार के माध्यम से ऑनलाइन अध्ययन से होने वालें लाभ और नुकसान के बारें में अधिक जानकारी प्राप्त कर सकतें है।

ऑनलाइन स्टडी से होने वाले लाभ और नुकसान पर छोटे-बड़े निबंध (Short and Long Essay on Advantages and Disadvantages of Online Study in Hindi)

निबंध - 1 (300 शब्द) - ऑनलाइन स्टडी के लाभ और नुकसान

परिचय

ऑनलाइन स्टडी अपनी सुविधा और आसान संचालन की प्रक्रिया से अधिक लोकप्रिय हो रहा है। इस निबंध में मैंनें ऑनलाइन अध्ययन से होने वाले लाभ और नुकसान के बारें में यहाँ विस्तार से बताया है।

लाभ

ऑनलाइन अध्ययन के तरीके से अध्ययन के कई फायदे है। यह बहुत सुविधाजनक है, इस सुविधा के उपयोग से आप अपने घर पर ही रहकर बातचीत कर सकते है। आप क्लासरूम की तरह यहाँ पर भी एक दुसरे से सवाल जबाब कर सकते है।

प्राकृतिक आपदा या आपातकाल की स्थिति में ऑनलाइन अध्ययन की प्रक्रिया का महत्व और भी अधिक बढ़ जाता है। इस प्रक्रिया का सही उदाहरण हाल ही में फैली कोविड-19 महामारी है, जिसका प्रभाव सारी दुनियाँ में है और इसके प्रभाव से बचने के लिए सभी प्रयत्नशील है। इन दिनों कई स्कूल छात्रों की सुरक्षा को देखते हुए ऑनलाइन अध्ययन की प्रक्रिया को अपना रहें है। वास्तव में ऑनलाइन अध्ययन की प्रक्रिया स्कूली शिक्षा के लिए एक सुरक्षित विकल्प है।

नुकसान

ऑनलाइन अध्ययन की प्रक्रिया में कई लाभों के अलावा कुछ नुकसान भी हमारें सामनें प्रस्तुत होते है। जिस तरह वास्तविक कक्षा में जो उत्साह का वातावरण होता है यहाँ उस वातावरण का अभाव होता है। एक जीवंत कक्षा या लाइव क्लास में जो आनंद का माहौल होता है, ऑनलाइन अध्ययन में उस माहौल की कमी होती है। यहाँ पर एक शिक्षक और छात्र एक दुसरे से केवल एक ही विषय को लेकर बातचीत और चर्चा कर सकते है।

इसके अलावा इसके कारण गैजेट का ओवर एक्सपोजर से स्वास्थ के कई खतरे जैसे कि सिरदर्द, आंखों का कमजोर होना और एकाग्रता में कमी आना इत्यादि का खतरा भी बढ़ जाता है।

निष्कर्ष

स्वास्थ सम्बन्धित इतने नुकसान के बाद भी इस अध्ययन प्रक्रिया का उपयोग विशिष्ट परिस्थितियों में बहुत ही फायदेमंद साबित हुआ है। जब कि आपका घर छोड़ना आपकी सुविधा और स्वास्थ के लिए हानिकारक है तो उस स्थिति में ऑनलाइन अध्ययन की प्रक्रिया आपके लिए एक वरदान साबित हो जाता है।

निबंध - 2 (400 शब्द) - ऑनलाइन स्टडी छात्रों को कैसे प्रभावित करता है?

परिचय

ऑनलाइन शिक्षा की प्रक्रिया में फायदें और नुकसान दोनों ही शामिल है। इस निबंध में हम इससे होने वाले नुकसान के बारें में चर्चा करेंगें और अगले निबंध में आपको इससे होने वाले लाभ के बारे में भी आपको बताएंगें। यहां पर मैने ऑनलाइन अध्ययन से होने वाले कुछ नुकसान के बारे में बताया है।

कैसे ऑनलाइन स्टडी छात्रों के लिए अच्छा नहीं है

ऑनलाइन अध्ययन के कई फाँयदों के बावजूद इसके ढ़ेरों नुकसान भी है। यहां नीचे इससे होने वाले कुछ नुकसान के बारें में आपको बताया गया है।

  • खुद पर नियंत्रण

एक ऑनलाइन अध्ययन की सफलता आपके खुद के आचरण पर निर्भर करता है, चाहे वह किसी भी क्षेत्र में हो। किसी भी ऑनलाइन अध्ययन की प्रक्रिया सफल हुई या नहीं यह बात केवल आपके सीखने की उत्सुकता पर ही निर्भर करती है, हो सकता है कि आपका अध्यापक आपको न देंख सकें, यह आपकी स्वतंत्रता पर निर्भर करता है कि आप सीखने के कितने इच्छुक है। आप खुद के मन को कैसे नियंत्रित कर उस कक्षा से कितना सीखते है यह आप पर निर्भर करता है।

  • ईमानदारी पर निर्भर

यह ऑनलाइन अध्ययन की एक महत्वपूर्ण कमीयों में से एक है। ऑनलाइन कक्षा में रहते हुए आपका ध्यान हमेशा के लिए उपर होनी चाहिए, उसके लिए आप कक्षा में स्वतंत्र नहीं है। आप ऑनलाइन कक्षा के प्रति कितने इमानदार है यह आपकी उपस्थिति पर निर्भर करता है। ऐसी कक्षा में सभी छात्र पर ध्यान देना शिक्षक के लिए संभव नहीं है।

  • केवल कोर्स सम्बन्धित बातें

अक्सर एक ऑनलाइन कक्षा में विषय के उस बिन्दु पर चर्चा की जाती है जिस विषय में चर्चा की जानी होती है। आमतौर की कक्षाओं में शिक्षक जहां अपनी निजी तथ्य और जोक्स भी शामिल करता है, ऑनलाइन कक्षा में इसकी कमी रहती है। कक्षा में जहां शिक्षक कई अन्य बातों के बारे में भी बात कर सकता है वही वह ऑनलाइन कक्षा में केवल विषय से सम्बन्धित बाते ही बताता है।

  • ओवर एक्सपोजर टू स्क्रीन

ऑनलाइन अध्ययन में कक्षाओं के संचालन के लिए इलेक्ट्रानिक स्क्रीन गैजेट्स की आवश्यकता होती है। छात्रों को लम्बे समय तक, कभी-कभी 2 से 3 घंटे तक लगातार स्क्रीन पर देखना पड़ता है। इस तरह लम्बे समय तक स्क्रीन के ऊपर देखने के कारण हमारे स्वास्थ के प्रतिरोधक क्षमता पर गहरा प्रभाव पड़ता है। इसके कारण कुछ छात्रों में सिरदर्द और आंखों की समस्या देखने को मिलती है।

  • सीमित बातचीत

हाँलाकि शिक्षक और छात्रों के बीच ऑनलाइन कक्षा में बातचीत की कोई सीमा तय नहीं की गई है, फिर भी यहाँ एक सीमीत मात्रा में बात की जाती है। एक शिक्षक को सभी छात्रों के प्रश्नों के उत्तर देने पड़ते है इस कारण शिक्षक छात्रों को बस कुछ मिनट ही दें पाता है, इसके लिए वह बाध्य होता है।

निष्कर्ष

ऑनलाइन अध्ययन का तरीका कुछ मामलों में पूर्ण नहीं है। यह तो निश्चित है कि इसके अपने कई नुकसान है, पर कुछ महत्वपूर्ण परिस्थितियों में यह हमारे बहुत फायदेमंद साबित हुआ है। जैसे कि कोविड-19 महामारी में लॉकडाउन होने के उपरान्त यह कई स्कूल और बहुत सारें छात्रों के लिए एक आशिर्वाद के रूप उन्हे मिला है।

निबंध - 3 (500 शब्द) - ऑनलाइन स्टडी छात्रों के लिए कैसे अच्छा है?

परिचय

ऑनलाइन अध्ययन शिक्षा का एक आधुनिक डिजिटल तरीका है, जहाँ पर शिक्षक और छात्र उपकरणों जैसे कि लैपटॉप, स्मार्टफोन, टैब या अन्य उपकरणों का उपयोग कर एक दूसरे से बातचीत करतें है। अध्ययन की यह पद्धति या प्रणाली इन दिनों काफी प्रचलित है, जबकि इस महामारी के फैलने के बाद हमें घर से बाहर न निकलने को कहा गया है। कोविड़-19 महामारी को देखते हुए कई स्कूलों ने ऑनलाइन अध्ययन के तरीके को अपनाया है और इस प्रक्रिया को काफी हद तक सफल भी बनाया है।

ऑनलाइन स्टडी छात्रों के लिए कितनी अच्छी है

अध्ययन की यह प्रक्रिया के अपने ही फायदें है। यह काफी सुविधाजनक और अध्ययन की बहुत सस्ती प्रक्रिया है। ऑनलाइन स्टडी के लाभों में कुछ महत्वपूर्ण लाभ का विवरण नीचे किया गया है।

  • सुविधाजनक

ऑनलाइन अध्ययन की इस विधी द्वारा छात्रों के साथ-साथ शिक्षको के लिए भी काफी उपयोगी और सुविधाजनक है। दोनों ही अपने घर के बाहर बिना कदम रखें ही शिक्षा के सत्र में इस प्रक्रिया द्वारा भाग ले सकते है। उन्हें एक दूसरे से जुड़ने के लिए केवल एक अच्छे डिवाइस और इंटरनेट कनेक्शन की आवश्यकता होती है। बस आप अपनी आवश्यकता की किताबों के साथ अपने कमरे में एक उचित स्थान पर आराम से बैठकर अपने क्लासमेट्स के साथ ऑनलाइन कक्षा में भाग ले सकते है।

  • सस्ता

ऑनलाइन अध्ययन स्कूली शिक्षा प्रणाली के कई मामलों में काफी सस्ती विधी है। सबसे पहला यह कि आपको स्कूल जाने और वापस आने में ट्रान्सपोर्ट व अन्य खर्चों की आवश्यकता नहीं पड़ती है, दूसरा यह कि स्कूल के अन्य सभी खर्चे कम हो जाते है। कभी-कभी पुस्तकें भी हमें ऑनलाइन ही उपलब्ध हो जाती है जिसकी कीमत हार्ड कापी की तुलना में काफी कम होती है। आप अपनी आवश्यकता के अनुसार इसे डाउनलोड कर सकते है, जिसमें की वास्तविक किताबों की तरह ही सामग्री उपलब्ध होती है। यहां तक आपको बस इंटरनेट कनेक्सन के पैसे ही खर्च करने होते है और कुछ नहीं।

  • सुरक्षित

इसमें कोई संदेह नहीं कि ऑनलाइन अध्ययन सुरक्षित विकल्प है, जिसमे खतरे की संभावना बहुत कम होती है। यह आपके लिए एक वरदान के रूप में है, जबकि आपका घर से बाहर निकलना आपको खतरनाक साबित हो सकता है। हम सभी कोविड-19 महामारी के बारे में अच्छी तरह से जान चुकें है, जिसने पूरे पृथ्वी को लॉकडाउन में डाल दिया है। जिसके कारण छात्र एक दूसरे के शारिरीक सम्पर्क में नहीं आते है और इसके कारण उनमे इस महामारी के फैलने की संभावना काफी कम हो जाती है। शुक्र है कि छात्र नियमीत रूप से ऑनलाइन कक्षा में भाग लें रहें है जिसके कारण पाठ्यक्रम भी नहीं पिछड़ा है।

  • लचीलापन

ऑनलाइन स्टडी पाठ्यक्रमों के दौड़ में आगे जाकर एक जबरजस्त लचीलापन ला सकता है। हमारे यहां कुछ विश्वविद्यालय आपके द्वारा चुने गये विषयों की ऑनलाइन सर्टिफिकेट प्रदान करता है। जिसका पंजिकरण से लेकर परीक्षा तक की प्रक्रिया सब कुछ ऑनलाइन के माध्यम से किया जाता है। इसके अलावा इसके समय में भी लचीलापन है। यदि आप थोड़ी देर से भी इसमें शामिल होते है तो चिन्ता की कोई बात नहीं है, इनके सत्र की कक्षाएं रिकार्ड हो जाती है जिसे आप बाद में भी इसका उपयोग कर सकते है।

  • कम पेपर का स्तेमाल

ऑनलाइन शिक्षा की प्रक्रिया का एक और लाभ यह भी है कि इसमे कागजों का उपयोग बहुत कम हो जाता है। क्लासरूम प्रणाली की अपेक्षा डिजिटल प्रणाली से अध्ययन करने में पेपर के उपयोग की मात्रा लगभग न के बराबर हो जाती है। आपको बस अपने में ये सब नोट करना होता है, जबकि आपका शिक्षक आपको बिना किसी पेपर के भी आपको पढ़ा सकता है। इसके अलावा ऑनलाइन स्टडी टेस्ट भी आयोजित किये जाते है जिसके कारण पेपर का स्तेमाल बहुत कम हो जाता है।

  • कम संकोच

क्लासरूम एनवायरमेंट की तुलना में ऑनलाइन अध्ययन में छात्र शिक्षक के बीच अधिक तालमेल देखा जा सकता है। आमतौर पर कक्षा में व्याकुलता ज्यादा मौजूद होते है जबकि ऑनलाइन कक्षा में इसकी संभावना काफी कम हो जाती है जिसके कारण छात्र शिक्षक द्वारा बतायी गयी बातों पर ज्य़ादा ध्यान केन्द्रित करने में मदद मिलती है। इसके अलावा छात्र अधिक संवेदनशील हो जाते है जिससे कि वो अपने संकोच को अपने शिक्षक के साथ बात करके उसका हल निकाल सकते है।

निष्कर्ष

ऑनलाइन अध्ययन का माध्यम शिक्षा और तकनिक का एक संलयन है। यह हमें सीखाती है कि नयी तकनीक के माध्यम से हम कैसे शिक्षा प्रणाली का लाभ उठा सकते है और हम इसमें विकास और सुधार के लिए और अधिक प्रयास कर सकते है। शिक्षा के क्षेत्र में यह प्रणाली एक क्रांति लाने की दिशा में हर दिन नये कदम की ओर अग्रसर है जो कि पहले कभी नहीं हुआ।