करियर पर निबंध

करियर किसी भी व्यक्ति के जीवन का एक महत्वपूर्ण पहलू है। यह किसी भी इंसान की जीवनशैली का नेतृत्व करता है जिससे समाज में उसकी स्थिति निर्धारित होती है। जहाँ हर कोई एक अच्छी जीवन के सपने देखता है वहीँ हर कोई मजबूत कैरियर बनाने में सक्षम नहीं होता जो अच्छी जीवन शैली को सुनिश्चित करता है।

करियर आमतौर पर किसी व्यक्ति के जीवन के पेशेवर पहलू से जुड़ा होता है। हालांकि कुछ व्यक्ति इसे अपने जीवन से जोड़ते हैं और अपने काम के अतिरिक्त सीखते हैं। यहां इस विषय पर आपकी मदद के लिए हमने करियर पर विभिन्न प्रकार के निबंध उपलब्ध करवाएं हैं। आपको जब भी आवश्यकता हो अपनी आवश्यकता के अनुसार किसी भी करियर पर निबंध का चयन कर सकते हैं:

करियर पर निबंध (Essay on Career in Hindi)

करियर पर निबंध 1 (200 शब्द)

करियर का चयन करना एक बड़ा निर्णय है और विडंबना यह है कि जब हमें ऐसे निर्णय लेने की आवश्यकता होती है तो हम इस तरह के बड़े निर्णय लेने के लिए तैयार नहीं होते। हम अभी हमारे स्कूली जीवन में हैं जहाँ हमें विज्ञान, वाणिज्य और मानविकी स्ट्रीम के बीच चयन करना पड़ता है जो मुख्य रूप से हमारे बाद के करियर के रास्ते को प्रभावित करता है। हालांकि पहले माता-पिता, शिक्षकों और बड़े भाई बहन थे जो हमारे करियर के विकल्प को बड़े पैमाने पर प्रभावित करते थे पर इन दिनों बच्चे अधिक जागरूक हो गए हैं – इसके लिए इंटरनेट को धन्यवाद। अंतिम निर्णय लेने से पहले हम इंटरनेट पर उपलब्ध विभिन्न करियर विकल्प और साथ ही उनकी संभावनाओं का पता लगा सकते हैं। हालांकि बड़ों की सलाह अभी भी अनुशंसा की जाती है क्योंकि वे हमसे अधिक अनुभवी हैं।

Career

हमारे कैरियर का चयन करते समय हम सभी को बहुत सावधान रहना चाहिए। हमें किसी क्षेत्र में सिर्फ इसलिए प्रवेश नहीं करना चाहिए क्योंकि हमारे मित्र या भाई ने इस क्षेत्र को चुना है या हमारे माता-पिता हमें इस क्षेत्र में ले जाना चाहते हैं। हमें अपने दिल की बात सुननी चाहिए। हमें यह समझना होगा कि वास्तव में हमारा हित क्या है, यह देखना होगा कि हम इसमें कितने अच्छे हैं और फिर इसके साथ जुड़े अन्य पहलुओं की समीक्षा करनी चाहिए। अन्य पहलुओं में इस क्षेत्र में जाने की लागत, बाजार में ऐसे पेशेवरों की मांग, इस क्षेत्र में मिलने वाले पैकेज और क्षेत्र में विकास की संभावनाएं शामिल हैं।


 

करियर पर निबंध 2 (300 शब्द)

प्रस्तावना

एक लड़का हो या लड़की इन दिनों करियर को हर व्यक्ति के जीवन में बहुत महत्व दिया जाता है। शुरुआत से ही हमें हमारे अध्ययनों पर ध्यान केंद्रित करने और परीक्षाओं में अच्छी तरह से अंक हासिल करने के लिए कहा जाता है। ऐसा करने का मकसद एक मजबूत आधार बनाने और अच्छे ग्रेड लाना है जो आपको एक आकर्षक कैरियर बनाने में मदद करेगा।

मेरी कैरियर योजना

मैं एक अच्छे शिक्षित परिवार से हूँ। मेरे परिवार में सभी लोग अच्छे पदों पर काम कर रहे हैं और इसलिए मुझसे भी बहुत उम्मीदें हैं I मेरे पिता सूचना प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में हैं और एक अच्छी बहु-राष्ट्रीय कंपनी के साथ काम कर रहे हैं। मेरी मां एक दंत चिकित्सक है और उनका अपना क्लिनिक है जो अच्छी तरह से स्थापित है। मेरा भाई वर्तमान में चिकित्सा का अध्ययन कर रहा है और डॉक्टर बनने का सपना देखता है तो मूल रूप से मेरे परिवार में हर कोई विज्ञान से जुड़ा हुआ है।

मैं 8वीं कक्षा में हूं और मुझे जल्द ही यह निर्णय लेने की आवश्यकता पड़ेगी कि मुझे किस स्ट्रीम के विषय को चुनना है। मैं अपनी परीक्षाओं में लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रहा हूं और आसानी से विज्ञान विषय ले सकता हूं। मेरे सभी रिश्तेदारों, मित्रों और परिवार के सदस्यों को भी यही लगता है कि मैं विज्ञान विषय का चयन कर रहा हूं लेकिन मेरी योजना थोड़ी अलग है।

मैं इंटीरियर डिजाइनर बनना चाहता हूं। मेरा झुकाव इस क्षेत्र में थोड़ा ज्यादा है। यह मुझे बेहद दिलचस्प लगता है और मुझे लगता है कि मैं वास्तव में इसमें अच्छा काम कर सकता हूं। मैं होम डेकोर वस्तुओं से प्यार करता हूं और इंटरनेट और पत्रिकाओं के माध्यम से इन पर नज़र बनाए रखने के लिए सर्फिंग करना पसंद करता हूं। मैं अपने कमरे को बार-बार सजाना पसंद करता हूं और मेरी अद्वितीय सजावट से जुड़े विचारों की सराहना भी की जाती है। मुझे पता है कि यह मेरी ख़ूबी है तथा यह और ज्यादा विकसित होगी। मुझे यकीन है कि मेरा परिवार मेरे निर्णय का सम्मान करेगा और मुझे अपनी पसंद के क्षेत्र में अच्छा प्रदर्शन करने के लिए प्रोत्साहित करेगा।

निष्कर्ष

कैरियर चुनना एक चुनौतीपूर्ण कार्य हो सकता है। आपको अंतिम निर्णय लेने से पहले अपने कौशल और दिलचस्पी का मूल्यांकन करना चाहिए, बाजार की स्थिति का अध्ययन करना चाहिए और एक अनुभवी व्यक्ति से परामर्श करना चाहिए।

करियर पर निबंध 3 (400 शब्द)

प्रस्तावना

आपके द्वारा चुना गया करियर आपके जीवन के विभिन्न पहलुओं पर बहुत प्रभाव डालता है। यह समाज में आपकी स्थिति, आपकी जीवनशैली, आपके सामाजिक चक्र और आपके रिश्तेदारों के साथ आपके संबंधों को भी निर्धारित करता है। इसलिए आपके करियर को बुद्धिमानी से चुनना महत्वपूर्ण है।

करियर का चयन करते समय विचार करने के लिए कारक

करियर चुनने के दौरान कई कारक हैं जिन्हें आपको ध्यान में रखना चाहिए। इन पर एक संक्षिप्त नजर इस प्रकार हैं:

  1. आपकी दिलचस्पी और क्षमता

करियर चुनते समय आपको पहली चीज करना चाहिए वह है अपने आप का आकलन। यह समझने कि कोशिश करें कि आपकी रुचि किसमें है। हालांकि केवल किसी विशेष क्षेत्र में रुचि रखना काफी नहीं है। इसके अलावा आपको यह भी देखना चाहिए कि क्या आप उस विशेष व्यवसाय के लिए अच्छी तरह अनुकूल हैं। यह कहना सही होगा कि यदि आपके हित के क्षेत्र में अच्छी तरह प्रदर्शन करने के लिए आपके पास आवश्यक कौशल और क्षमता है तो आपको ऐसा करने कि कोशिश करनी चाहिए।

  1. उपलब्ध अवसर

आपकी शैक्षणिक योग्यता और अनुभव से मेल खाने वाले विभिन्न प्रकार के व्यवसाय हो सकते हैं। इन सभी व्यवसायों की सूची बनाना अच्छा विचार है।

  1. सूची बनाएं

सभी उपलब्ध अवसरों को बेहतर समझने के लिए अपनी सूची बनाए और उस सूची में से उस चीज़ को छांटे जो आपके लिए सबसे उपयुक्त है। ऐसा करते समय आपको अपने वरिष्ठ और साथ ही उन साथियों से सलाह लेनी चाहिए जो पहले से ही ऐसे पेशे में हैं। ऐसे कार्य करने के लिए इंटरनेट एक वरदान है। अंतिम निर्णय लेने से पहले इंटरनेट से उसी के बारे में जानकारी इकट्ठा करें।

  1. अच्छा बायोडाटा बनाएं

एक बार जब आप यह स्पष्ट कर लें कि आप किस तरह के कैरियर के रास्ते पर चलना चाहते हैं तो अपनी योजना को सफल बनाने के लिए आपको एक अच्छा बायोडाटा लिखना आवश्यक है। अपनी पसंद की नौकरी को पाने में आपका बायोडाटा एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। इसलिए आपको एक अच्छी तैयारी करनी चाहिए।

  1. हुनर पैदा करें

कई बार आपकी शैक्षणिक योग्यता आपकी पसंद का व्यवसाय करने के लिए पर्याप्त नहीं हो सकती है। आपको व्यावसायिक प्रशिक्षण से गुजरने वाले कुछ अतिरिक्त कौशल की आवश्यकता हो सकती है। ऐसे अल्पकालिक प्रशिक्षण और कार्यशालाओं में जाने से संकोच न करें।

निष्कर्ष

आपको अपना करियर सावधानी से चुनना चाहिए क्योंकि यह आपके जीवन के विभिन्न पहलुओं से जुड़ा हुआ है। अपना समय लीजिए, सभी विकल्पों का अन्वेषण करें, उन लोगों की सलाह लें जो आपसे अनुभवी हैं और फिर निर्णय लीजिए। एक बार जब आपने अपना करियर चुन लिया तो कड़ी मेहनत करें ताकि आप अपनी पसंद के क्षेत्र में जा सकें।

करियर पर निबंध 4 (500 शब्द)

प्रस्तावना

करियर का निर्माण करने के लिए शिक्षा, कौशल, दृढ़ संकल्प के साथ-साथ अच्छे अवसर की आवश्यकता होती है। एक आकर्षक करियर बनाने के लिए हार नहीं मानने और लगातार अपने लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए आगे बढ़ना शामिल है।

भारत में करियर के अवसर

भारत हर साल लाखों प्रतिभाशाली युवाओं का उत्पादन करने के लिए जाना जाता है। हालांकि हमारे देश की शिक्षा प्रणाली की बार-बार आलोचना की गई है फिर भी हम इस तथ्य से इनकार नहीं कर सकते हैं कि हमारे स्नातकों और स्नातकोत्तर पूरे विश्व के बड़े ब्रांडों में नौकरियां करने के जरिए मील का पत्थर स्थापित कर रहे हैं। हालांकि देश इन योग्य और कुशल व्यक्तियों को अच्छे रोजगार के अवसर प्रदान करता है लेकिन वास्तव में उन्हें एक नौकरी प्राप्त करने के लिए बहुत मुश्किलों का सामना करना पड़ता हैं।

पहली बाधा यह है कि बाजार में नौकरियां देश के योग्य व्यक्तियों के समान नहीं हैं। भारत की बढ़ती आबादी इसके लिए जिम्मेदार है। दूसरा यहां दिए गए वेतन पैकेज अक्सर इन युवाओं को विदेशों में मिलने वाले पैकेजों की तुलना में कम है। आरक्षण या कोटा प्रणाली एक और कारण है कि क्यों योग्य उम्मीदवारों को देश में अच्छी नौकरी नहीं मिलती। ये सब कारण है कि कई योग्य डॉक्टर, इंजीनियर और अन्य पेशेवर देश से बाहर चले जाते हैं।

विदेशों में करियर के अवसर

भारत में मिलने वाली सैलरी की तुलना में विकसित देश अच्छा वेतन और एक बेहतर जीवन शैली प्रदान करते हैं। संयुक्त राज्य अमेरिका, यूनाइटेड किंगडम, कनाडा, सिंगापुर और ऑस्ट्रेलिया जैसे देश हमेशा अपने व्यवसायों को बढ़ाने के लिए प्रतिभाशाली युवाओं की तलाश करते हैं और अपने देश की अर्थव्यवस्था को नई ऊंचाइयों पर ले जाते हैं। विज्ञान, प्रौद्योगिकी, प्रबंधन और कई अन्य क्षेत्रों में कई अवसर उपलब्ध हैं। भारत जैसे विकासशील देश के लोग अच्छे रोजगार के अवसर, बेहतर पैकेज और एक अच्छी जीवन शैली की तलाश कर रहे हैं और इस तरह विकसित देशों द्वारा प्रदान किए गए अवसरों को प्राप्त कर सकते हैं।

हर साल कई पेशेवर अपने मूल देश को छोड़कर विकसित विश्व देशों की ओर स्थानांतरित हो जाते हैं जिससे ब्रेन ड्रेन की समस्या उत्पन्न होती है।

करियर के लक्ष्य कैसे प्राप्त करें?

जहाँ बहुत से लोग अच्छे रोजगार के अवसरों की तलाश में विदेशों में जाते हैं वहीँ अन्य कम वेतन देने वाली नौकरियों या जो उनकी योग्यता के अनुरूप नहीं हैं उसके लिए विदेशों का रुख करते हैं। उन सभी लोगों के लिए जिनका सपना बड़ा करियर बनाना था लेकिन कम से संतोष करना पड़ा उनके लिए अभी भी आशा है। अपने करियर के लक्ष्यों को हासिल करने में आपकी सहायता करने के लिए यहां कुछ युक्तियां दी गई हैं:

  1. अपने लिंक्डइन प्रोफाइल को अपडेट रखें

नौकरी देने वाली कंपनियों का ध्यान आकर्षित करने के लिए अपनी लिंक्डइन प्रोफाइल को बनाए रखना आवश्यक है। इसके अलावा इस मंच के साथ-साथ अन्य जॉब पोर्टल्स पर भी सक्रिय रहें जिससे कि किसी भी नए अवसर की तलाश में मदद मिला सके। इस मंच पर एक अच्छी प्रोफ़ाइल आपको अच्छे अवसरों को प्राप्त करने में मदद दे सकता है।

  1. नेटवर्क बनाएँ

एक ही क्षेत्र के पेशेवरों के साथ पब्लिक रिलेशन और नेटवर्किंग बनाए रखना नवीनतम जानकारी के साथ उद्योग क्षेत्र में अद्यतित रहने के लिए आवश्यक है।

  1. उद्योग संगोष्ठियों और घटनाओं में हिस्सा लें

इन दिनों कई सेमिनार और उद्योग महोत्सव आयोजित किए जाते हैं। उद्योगों में अधिक अंतर्दृष्टि प्राप्त करने और प्रभावशाली लोगों से मिलने के लिए इस तरह के सेमिनारों में भाग लेने का सुझाव दिया जाता है।

इसके अलावा समय-समय पर अपने कैरियर के लक्ष्यों की समीक्षा करना और सीखना बंद न करें।

निष्कर्ष

भारत सरकार को ऐसे मुद्दों को रोकने चाहिए जो देश के व्यक्तियों को अच्छे करियर के अवसर प्रदान करने में बाधा पैदा कर रहे हैं। एक देश जो अपने नागरिकों की प्रतिभा और कौशल को महत्व देता है और इसे एक सही गति से सही दिशा में आगे बढ़ाता है।


 

करियर पर निबंध 5 (600 शब्द)

प्रस्तावना

जहाँ एक तरफ प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में उन्नति ने मजदूर वर्ग से नौकरियां छीन ली हैं वहीँ दूसरी तरफ इसने अच्छी तरह से शिक्षित लोगों के लिए कई आकर्षक नौकरियों के अवसरों का मौका दिया है। तकनीकी ज्ञान से लैस लोगों के लिए अधिक अवसर हैं।

करियर के अवसर

इससे पहले यह माना जाता था कि जो लोग 10वीं कक्षा के बाद विज्ञान के विषयों को चुनते हैं उनका आकर्षक करियर बनने की संभावना ज्यादा है और जो वाणिज्य विषयों को चुनते हैं उनके अच्छे करियर की संभावना कम है और उन लोगों के लिए अच्छे करियर की ना के बराबर संभावना है जो कला/आर्ट्स क्षेत्र के विषयों को चुनते हैं। ऐसा कुछ दशक पहले तक सही था लेकिन अब नहीं हैं। इन दिनों हर विषयों में विशाल संभावनाएं हैं। आपके द्वारा चुने गये विषयों के आधार पर यहां विभिन्न करियर के अवसरों पर एक नज़र डाली गई हैं:-

विज्ञान विषय

यहां उन छात्रों के लिए करियर के अवसरों के बारे में बताया गया है जो विज्ञान विषय का चयन करते हैं:

आप 12वीं कक्षा के बाद इंजीनियरिंग में डिग्री हासिल कर सकते हैं। इंजीनियरिंग के बारे में जानने के लिए कई क्षेत्रों के विशेषज्ञ पाठ्यक्रम मौजूद हैं उनमें से कुछ हैं: इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग, इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग, केमिकल इंजीनियरिंग, मैकेनिकल इंजीनियरिंग, सिविल इंजीनियरिंग, पेट्रोलियम इंजीनियरिंग, एयरोस्पेस इंजीनियरिंग, जैव प्रौद्योगिकी इंजीनियरिंग, खनन इंजीनियरिंग, कपड़ा इंजीनियरिंग, कृषि इंजीनियरिंग, उत्पादन इंजीनियरिंग, विद्युत अभियांत्रिकी और मरीन इंजीनियरिंग। इनमें से किसी भी क्षेत्र में योग्य इंजीनियर एक सलाहकार, सहायक अभियंता, मुख्य अभियंता या पर्यवेक्षक के रूप में काम कर सकता है।

इसके अलावा कोई भी बी.एस.सी की डिग्री जैसे भौतिकी में बी.एस.सी, रसायन विज्ञान में बी.एस.सी, गणित में बी.एस.सी, जैव प्रौद्योगिकी में बी.एस.सी, वानिकी में बी.एस.सी, आईटी और कंप्यूटर विज्ञान में बी.एस.सी, विमान और इलेक्ट्रॉनिक्स में में बी.एस.सी आदि। इन पाठ्यक्रमों में से किसी को भी पूरा करने के बाद आप शिक्षण या अनुसंधान और विकास में करियर का निर्माण कर सकते हैं।

यदि आपके मन में तकनीक की ओर झुकाव अधिक है तो बीसीए एक अच्छा विकल्प है। आईटी कंपनियां बीसीए स्नातकों की तलाश में रहती हैं। इसके बाद एमसीए की डिग्री हासिल करना अच्छे रोज़गार के अवसर प्रदान करता है। बैचलर ऑफ़ आर्किटेक्चर, बैचलर ऑफ फार्मेसी और कमर्शियल पायलट ट्रेनिंग आदि ऐसे क्षेत्र हैं जहाँ  आप जा सकते हैं।

वाणिज्य विषय

जो लोग 10वीं कक्षा के बाद वाणिज्य विषय का चुनाव करते हैं उनके पास आगे भी आगे बढ़ने के कई अवसर हैं। यहां इनमें से कुछ पर नज़र डाली गई हैं:

चार्टर्ड अकाउंटेंसी (सीए), कंपनी सेक्रेटीशिप (सीएस), कॉस्ट और वर्क अकाउंटेंट (सीडब्ल्यूए), बैचलर्स ऑफ कॉमर्स (बीकॉम), बैचलर्स ऑफ बिज़नस एडमिनिस्ट्रेशन (बीबीए), बैचलर ऑफ बिज़नस मैनेजमेंट, बैचलर ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज, होटल प्रबंधन, कानून (एलएलबी) और खुदरा प्रबंधन। इनमें से किसी भी क्षेत्र में करियर बनाना सम्मानजनक और आकर्षक है।

आर्ट्स/कला विषय

कक्षा 10वीं के बाद आर्ट्स विषय चुनने वाले छात्रों के लिए भी एक व्यापक गुंजाइश है। यहां विभिन्न उपलब्ध विकल्पों पर एक नज़र डाली गई है:

कोई भी 12वीं कक्षा को पूरा करने के बाद अपनी रुचि के क्षेत्र में विशेषज्ञ बैचलर ऑफ आर्ट्स के लिए जा सकता है। अंग्रेजी, समाजशास्त्र, राजनीति विज्ञान, दर्शनशास्त्र, सामाजिक कार्य, इतिहास, मनोविज्ञान, ललित कला, पुस्तकालय विज्ञान और पत्रकारिता में कला आदि स्नातक के कुछ विकल्पों में से हैं। विभिन्न क्षेत्रों में व्यावसायिक ज्ञान और प्रशिक्षण प्राप्त करने के लिए डिप्लोमा पाठ्यक्रम भी किया जा सकता है। डिप्लोमा इन ट्रैवल एंड टूरिज्म, डिप्लोमा इन इंटीरियर डिज़ाईनिंग, डिप्लोमा इन फॉरेन लैंग्वेज, डिप्लोमा इन इवेंट मैनेजमेंट, डिप्लोमा इन होटल मैनेजमेंट, टीचर ट्रेनिंग (टीटीसी), डिप्लोमा इन एयर होस्टेस एंड फ्लाईट स्टीवर्ड इन पाठ्यक्रमों में से कुछ हैं। कुछ डिग्री कोर्स की अवधि 3 से 5 साल हो सकती है। डिप्लोमा पाठ्यक्रम ज्यादातर 6 महीने से 2 साल के समय में पूरा हो सकते हैं। जो लोग इन पाठ्यक्रमों में से कोई विकल्प चुनते हैं तो उनके लिए भविष्य में बहुत अच्छे अवसर हैं।

निष्कर्ष

भारत और साथ ही विदेश में योग्य और कुशल उम्मीदवारों के लिए अच्छे करियर के अवसर मौजूद हैं। हालांकि प्रतियोगिता कठिन है तो सिर्फ एक अच्छे कोर्स में दाखिला लेना काफी नहीं है। एक मजबूत करियर बनाने के लिए आपको कड़ी मेहनत करनी चाहिए और परीक्षाओं को भी अच्छे ग्रेड के साथ पास करना ज़रूरी है।