अंतरराष्ट्रिय नर्स दिवस पर निबंध

अंतरराष्ट्रिय नर्स दिवस एक वैश्विक समारोह है जो हर वर्ष 12 मई को मनाया जाता है। यह मुख्य रूप से स्वास्थ्य सेवाओं में कार्यरत नर्सों को समाज में उनके परिश्रम और सेवा के लिए सम्मानित करने के लिए मनाया जाता है। 12 मई का दिन फ्लोरेंस नाईटेंगल की जयन्ती के रूप में भी मनाया जाता है, जो आधुनिक नर्सिंग की संस्थापक थीं।

अंतरराष्ट्रीय नर्स दिवस पर लघु और दीर्घ निबंध (Short and Long Essays on International Nurses Day in Hindi)

निबंध 1 (250 शब्द)

परिचय

अंतरराष्ट्रीय नर्स दिवस, स्वास्थ्य सेवा में नर्सों के काम को सराहने के लिए हर साल 12 मई को मनाया जाने वाला एक वैश्विक कार्यक्रम है। यह अंतरराष्ट्रिय काउंसिल ऑफ नर्स (आईसीएन) द्वारा प्रायोजित है। इस कार्यक्रम को मनाने के लिए इसी दिन को इसलिए चुना गया क्योंकि इस दिन फ्लोरेंस नाइटिंगेल, एक ब्रिटिश समाज सुधारक और आधुनिक नर्सिंग की संस्थापक, की जन्म तिथि है।

अंतरराष्ट्रीय नर्स दिवस कैसे मनाया जाता है?

अंतरराष्ट्रीय नर्स दिवस पूरे विश्व में अस्पतालों और चिकित्सा पेशेवरों द्वारा मनाया जाता है। समारोहों का मूल यह है कि इस दिन दुनियाभर की नर्सों को समाज के प्रति अपनी समर्पित सेवाओं के लिए सम्मानित करना है।

नर्सों को चिकित्सा किट सौंपी जाती हैं और उन्हें बीमारियों, रोगियों के उपचार आदि पर शैक्षिक सामग्री भी दी जाती है।

पुरस्कार समारोह छोटे और बड़े अस्पतालों में आयोजित किए जाते हैं, जहाँ नर्सों को उनकी सेवाओं के लिए किये गए परिश्रम के आधार पर सम्मानित किया जाता है। कुल मिला जुला कर, यह नर्सों को प्रोत्साहित करने, उनका सम्मान करने और उनके ज्ञान में वृद्धि करने का एक मौका होता है।

अंतरराष्ट्रीय नर्स दिवस का महत्व

एक डॉक्टर और मरीज के बीच की सबसे महत्वपूर्ण कड़ी नर्स होती हैं। डॉक्टर केवल दवाओं को निर्धारित करता है और रोग का निदान करता है, लेकिन आखिर में, यह नर्स ही होती है जिसके ऊपर मरीज के उपचार की वास्तविक जिम्मेदारी निर्भर करती है। नर्सिंग स्टाफ के बिना, कोई भी चिकित्सा सुविधा एक दिन के लिए भी काम नहीं कर सकती है। इसलिए, अंतरराष्ट्रीय नर्स दिवस का अवलोकन इन तथ्यों को देखते हुए और भी अधिक महत्वपूर्ण हो जाता है।

निष्कर्ष

नर्सिंग पेशे को और भी अधिक आकर्षक और सम्मानजनक बनाने के लिए हर वर्ष और दुनियाभर के सभी देशों द्वारा अंतरराष्ट्रीय नर्स दिवस मनाया जाना चाहिए।

निबंध 2 (400 शब्द)

परिचय

अंतरराष्ट्रीय नर्स दिवस प्रतिवर्ष 12 मई को फ्लोरेंस नाइटिंगेल की जयंती पर मनाया जाता है, जो एक ब्रिटिश नर्स और आधुनिक नर्सिंग की संस्थापक थीं। फ्लोरेंस नाइटिंगेल को याद करने के अलावा, यह मौका दुनिया भर की नर्सों और उनके पेशे का सम्मान करता है। इन कार्यक्रमों को इंटरनेशनल काउंसिल ऑफ नर्स (आइसीएन) द्वारा प्रायोजित किया जाता है।

अंतरराष्ट्रीय नर्स दिवस - फ्लोरेंस नाइटिंगेल को याद करने के लिए

फ्लोरेंस नाइटिंगेल (12 मई 1820 - 13 अगस्त 1910) जो एक ब्रिटिश समाज सुधारक और पेशे से नर्स थीं। क्रीमियन युद्ध (1853-1856) के दौरान नर्सों के प्रबंधक और प्रशिक्षक के रूप में उनकी भूमिका की काफी सराहना की गई थी। उसने एक नर्स के रूप में घायल सैनिकों को अभूतपूर्व सम्मान दिया। उन्हें 'द लेडी विद द लैंप' कहा जाने लगा, जो घायल सैनिकों की देखभाल के लिए रात में घूमती थी।

फ्लोरेंस नाइटिंगेल ने नर्सिंग को मुख्य रूप से महिलाओं के लिए एक पेशे में बदल दिया। उन्होंने दुनिया में पहली बार धर्मनिरपेक्ष नर्सिंग स्कूल खोला। यह लंदन के सेंट थॉमस अस्पताल में खोला गया था।

वह एक सक्रिय समाज सुधारक भी थीं और उन्होंने भारत सहित सभी ब्रिटिश उपनिवेशों में स्वास्थ्य सेवा में सुधार के बारे में सराहनीय कार्य किया था। उन्होंने भारत में भूख से छुटकारा और महिलाओं पर कठोर वेश्यावृत्ति कानून में संशोधन करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

नर्सिंग के पेशे में फ्लोरेंस नाइटिंगेल के प्रयासों की प्रशंसा करने के लिए, विश्व समुदाय 12 मई को उनके जन्मदिन पर 'अंतर्राष्ट्रीय नर्स दिवस' मनाता है।

अंतर्राष्ट्रीय नर्स दिवस क्यों मनाया जाता है?

प्राथमिक चिकित्सा और बुनियादी स्वास्थ्य सेवा प्रदान करने में नर्स बेहद महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं। वे दुनिया भर में किसी भी स्वास्थ्य प्रणाली की रीढ़ की हड्डी के सामान होती हैं। उनके बिना, संपूर्ण स्वास्थ्य सेवा प्रणाली कमजोर हो जाएगी और जरूरतमंदों की सेवा करने में विफल रहेगी। वास्तव में वे डॉक्टरों और अन्य पेशेवरों के हाथ और आंखें होती हैं। केवल इसलिए, यह स्पष्ट है कि हम स्वास्थ्य सेवाओं के कार्यान्वयन में नर्सों के महत्व को समझते हैं और उनके मनोबल को ऊंचा रखने के लिए समय-समय पर उनके प्रयासों की सराहना करते हैं।

हर देश जो अंतर्राष्ट्रीय नर्स दिवस मनाता है, नर्सों के लिए कई तरह के स्मरणीय कार्यक्रम भी आयोजित कराता है। नर्सों को सम्मानित किया जाता है, उनकी सराहना की जाती है और उन्हें समाज में उनके योगदान के लिए मान्यता दी जाती है। यह सभी बातें, उन्हें उनकी शपथ से करीब रखता है और उन्हें उनकी क्षमता से भी आगे जा कर समाज की सेवा करने के लिए प्रोत्साहित करता है। वह समाज जो नर्सिंग को एक सम्मानजनक पेशे के रूप में पहचानता है वह एक स्वस्थ समाज है।

निष्कर्ष

अंतर्राष्ट्रीय नर्स दिवस, समाज में विशेष रूप से स्वास्थ्य सेवा के क्षेत्र में काम करने के लिए नर्सों को उनका एहसान वापस करने का एक अवसर है।

निबंध 3 (600 शब्द)

परिचय

प्रत्येक वर्ष 12 मई को दुनिया भर में अंतर्राष्ट्रीय नर्स दिवस मनाया जाता है, ताकि नर्सों द्वारा समाज के लिए किए गए योगदान को याद किया जा सके। यह फ्लोरेंस नाइटिंगेल की जयंती के रूप में भी मनाया जाता है, जो एक ब्रिटिश समाज सुधारक और आधुनिक नर्सिंग की संस्थापक थीं।

अंतर्राष्ट्रीय नर्स दिवस - इतिहास

इंटरनेशनल काउंसिल ऑफ नर्स (आईसीएन), एक फेडरेशन है जो अंतर्राष्ट्रीय नर्स दिवस को प्रायोजित करता है, जिसकी स्थापना 1899 में की गयी थी। यह अपनी तरह का पहला वैश्विक स्वास्थ्य पेशेवरों का संगठन था। यह संगठन 1965 से वार्षिक कार्यक्रम के रूप में अंतर्राष्ट्रीय नर्स दिवस मना रहा है।

अंतर्राष्ट्रीय नर्स दिवस को एक वैश्विक कार्यक्रम के रूप में लाने का प्रस्ताव पहली बार 1953 में अमेरिकी स्वास्थ्य विभाग, शिक्षा और कल्याण विभाग, डोरोथी सदरलैंड के एक अधिकारी द्वारा दिया गया था। प्रस्ताव संयुक्त राज्य अमेरिका के तत्कालीन राष्ट्रपति ड्वाइट डी. आइजनहावर के लिए बनाया गया था; हालाँकि, राष्ट्रपति ने इस प्रस्ताव को ठुकरा दिया।

फिर भी, संयुक्त राज्य अमेरिका ने 1954 में शुरू हुए 11 से 16 अक्टूबर तक राष्ट्रीय नर्स सप्ताह का अवलोकन किया।

आईसीएन के प्रयासों के बाद, संयुक्त राज्य अमेरिका के 37वें राष्ट्रपति, मिस्टर रिचर्ड निक्सन ने 1974 में राष्ट्रीय नर्स सप्ताह के अवलोकन की घोषणा की। जिसके बाद काउंसिल ने आधुनिक नर्सिंग की संस्थापक, फ्लोरेंस नाइटिंगेल की जयंती मनाने के लिए 12 मई की तारीख का चुनाव किया।

संयुक्त राज्य अमेरिका के 40 वें राष्ट्रपति, रोनाल्ड रीगन, ने आधिकारिक तौर पर 1990 में 6 मई को राष्ट्रीय नर्स दिवस के रूप में नामित किया। इसने अंतर्राष्ट्रीय नर्स दिवस के लिए एक भूमिका तैयार कर दी, जो नर्सों और नर्सिंग पेशे को याद करने के लिए एक कार्यक्रम के रूप में मनाया जाता है। यह विशेष दिन फ्लोरेंस नाइटिंगेल को सम्मानित करने के लिए भी मनाया जाता है, जिन्हें आधुनिक नर्सिंग की संस्थापक के रूप में याद किया जाता है।

विश्व भर में समारोह का आयोजन

अंतर्राष्ट्रीय नर्स दिवस को अंतर्राष्ट्रीय नर्स परिषद (आईसीएन) द्वारा प्रायोजित किया जाता है। वे दुनिया भर में नर्सों को चिकित्सा किट और सूचनात्मक सामग्री वितरित करते हैं। पूरे विश्व में इस दिन को अलग तरह से मनाया जाता है। यहाँ पर नीचे हम दुनिया के कुछ प्रमुख देशों के बारे में बता रहे हैं जहाँ यह समारोह मनाया जाता है।

यूनाइटेड किंगडम

फ्लोरेंस नाइटिंगेल का जन्म स्थान होने के नाते, यूनाइटेड किंगडम नर्सों को श्रद्धांजलि देने के लिए कुछ विशेष सेवाएं प्रदान करता है। वेस्टमिंस्टर एबे लंदन में स्थित एक चर्च है, जहाँ एक प्रतीकात्मक रूप से लैंप को एक नर्स से दुसरे नर्स तक गुजरने का कार्यक्रम होता है, जो ज्ञान के पारित होने का संकेत देता है। हैम्पशायर के सेंट मार्गरेट चर्च में एक विशेष सेवा भी आयोजित की जाती है, जहाँ फ्लोरेंस नाइटिंगेल को दफनाया गया है।

संयुक्त राज्य अमेरिका

संयुक्त राज्य अमेरिका में, हर साल 6 मई से 12 मई तक एक राष्ट्रीय नर्सिंग सप्ताह मनाया जाता है। इसी तरह कनाडा में भी 1985 में एक राष्ट्रीय नर्सिंग सप्ताह की स्थापना की गई थी।

ऑस्ट्रेलिया

ऑस्ट्रेलिया अपने नर्सिंग स्टाफ का सत्कार करके यह दिन मनाता है। इस दिन पूरे देश में कई पुरस्कार समारोह आयोजित किए जाते हैं, जिसमें स्वास्थ्य सेवा के क्षेत्र में विशिष्ट सेवाओं के लिए चयनित नर्सों को पुरस्कार दिए जाते हैं।

चीन

चीन में नर्सें कैंडल मार्च, शपथ समारोह और अन्य कार्यक्रमों का आयोजन करके अंतर्राष्ट्रीय नर्स दिवस मनाती हैं। हजारों नर्सें एक उपयुक्त स्थान पर इकट्ठा होती हैं और आयोजन को संभालती हैं।

भारत

अंतर्राष्ट्रीय नर्स दिवस पूरे भारत में भी, निजी और सरकारी अस्पतालों में व्यापक रूप से मनाया जाता है। हालांकि उत्सव के लिए किसी तरह के ठप्पे का कोई नियम नहीं है और हर अस्पताल या संगठन इसे अपने तरीके से मनाता है। नर्सिंग स्टाफ के लिए स्मरणीय कार्यक्रम मेडिकल कॉलेजों और अस्पतालों में आयोजित किए जाते हैं, जिसमें डॉक्टरों, व्याख्याताओं और चिकित्सा पेशे से संबंधित अन्य व्यक्तियों की भागीदारी होती है।

निष्कर्ष

नर्सिंग एक महत्वपूर्ण पेशा है और नर्सें रोगीयों की देखभाल में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं तथा स्वास्थ्य सेवाओं को जमीनी स्तर पर लागू करती हैं। सरकार की स्वास्थ्य संबंधी नीतियों और सेवाओं की दक्षता, काफी हद तक नर्सिंग कर्मचारियों पर निर्भर करती है; इसलिए, अंतर्राष्ट्रीय नर्स दिवस जैसी घटनाओं के माध्यम से नियमित रूप से उनके मनोबल को बढ़ाने की आवश्यकता है।