क्या वास्तव में कंप्यूटर छात्रों के लिए अच्छा है पर निबंध

आज के दिनों में इस आधुनिक दुनिया में बस एक क्लिक से आपको विश्व भर की सारी जानकारी प्राप्त हो जाती है। बस एक क्लिक के द्वारा आपको किसी के विचार, रिसर्च, देश की जानकारी, इत्यादि सभी मिल जाते है। कुछ सालों पहले हम किसी भी डेटा को सुरक्षित रखने के लिए उसे नोटबुक में लिख कर रखा करते थे। इस तरह किसी भी समस्या को मैनुअली हल करने के लिए अधिक समय, खर्च, और शारीरिक मेहनत की भी आवश्यकता होती थी। कम्प्यूटर के आ जाने से कार्य की जटिलता, समस्या, खर्च, और शारीरिक मेहनत के साथ-साथ कार्य को सरल बना दिया है।

क्या वास्तव में कंप्यूटर छात्रों के लिए अच्छा है पर दीर्घ निबंध (Long Essay on Is Computer Really Good for Students in Hindi)

Long Essay – 1600 Words

परिचय

हम सभी कंप्यूटर युग में जी रहे है। हर विषय या वस्तुओं इत्यादि की जानकारी हमें बस एक क्लिक द्वारा सामने आ जाती है। सभी छात्रों के लिए पढ़ाई की सारी सामग्रियां ऑनलाइन ही उपलब्ध हो जाती है। विडियो कालिंग, ऑनलाइन क्लासेज इत्यादि ने छात्रों के जीवन को सरल और उपयोगी बना दिया है। कम्प्यूटरों में इंटरनेट की सुविधा ने हमें घर बैठे ही सारी जानकारी, दूर अपने मित्रों रिश्तेदारों इत्यादी से बात, ऑनलाइन कक्षाएं सभी एक जगह मिल जाती है। "आवश्यकता ही अविष्कार की जननी है" इस कथन से लगभग सभी लोग वाकिफ़ है, और कंप्यूटर इसी बात को सत्य बनाती है।

कंप्यूटर - एक स्मार्ट मशीन और इसके कार्य

कंप्यूटर एक इलेक्ट्रॉनिक उपकरण है, जो मनुष्य के द्वारा दिए दिशा निर्देशों पर कार्य करता है। इसमें मानव द्वारा डेटा को इलेक्ट्रानिक डिवाइस के माधयम से इनपुट कराया जाता है, कंप्यूटर उस डेटा को प्रॉसेस करके उसके परिणाम को आउटपुट के रूप में दिखता/देता है। किसी भी डेटा को सुरक्षित रखने के लिए कंप्यूटर में एक डेटा स्टोरेज डिवाइस लगी होती है जिसे हम हार्ड-डिस्क के नाम से जानते है।

हमें कार्य करने के लिए मशीनों की आवश्यकता होती है, ये मशीन हमारे कार्य को सरल और सुविधाजनक बना देते है। कंप्यूटर भी इसी को और आगे ले जाने की एक कड़ी है। यह हमारे कार्य की जटिलता और हमारे कार्यभार को कम करती है। कंप्यूटर के द्वारा हमारी हर समस्या का हल आसानी से मिनटों में मिल जाता है।

विभिन्न प्रकार के कार्य जैसे- गणना, लेखा-जोखा, डिजाइन, अनुसन्धान कार्य इत्यादि कंप्यूटर के द्वारा किये जा सकते है। जटिलता से होने वाले कार्यों को कंप्यूटर ने बहुत ही सरल बना दिया है। कंप्यूटर को चलाने के लिए मानव दिमाग की आवश्यकता होती है तब ये उसी दिशा में काम करता है। ये मानव के दिमाग की तरह हर कार्य कर सकते है पर कुछ विशेष परिस्थितियों में ये मानव दिमाग से बहुत कम है।

कंप्यूटर - एक संक्षिप्त इतिहास

कंप्यूटर का इतिहास बहुत बड़ा और पुराना है। आइये इसके कुछ मुख्य बातों पर नजर डालते है-

  • आज से लगभग 300 वर्ष पूर्व कंप्यूटर का विकास गणितीय संख्याओं की गणना के लिए किया गया था। यह गणना की विभिन्न प्रणालियों को जन्म दिया जैसे- बेबीलेनियन, यूनानी, रोमन और भारतीय प्रणाली। इनमें से केवल भारतीय प्रणाली को ही अपनाया गया।
  • 19वी. शताब्दी में चार्ल्स बैबेज ने इस प्रणाली के उपयोग और कुछ उपकरण का इस्तेमाल करके इसे "विश्लेषणात्मक इंजन" का रूप दिया और इन्हें ही 'कंप्यूटर का जनक' माना जाता है।
  • पहले के अविष्कार कंप्यूटर बहुत ही बड़े और भारी हुआ करते थे, और ये काम भी बहुत धीरे करते थे। समय बितने के साथ ही तकनीकी और विज्ञान ने इन्हें छोटा, तेज और बेहतर कार्य प्रणाली के साथ निर्मित किया।
  • बाद में पहली पीढ़ी (फर्स्ट जनरेशन) के कम्प्यूटरों में सुधार के लिए सिंगल-टास्किंग प्रोसेसर और वैक्यूम-ट्यूब का इस्तेमाल किया गया। जैसे- ENIAC (इलेक्ट्रॉनिक न्यूमेरिकल इंटिग्रेटेर एंड कंप्यूटर) है।
  • दूसरी पीढ़ी (सेकंड जनरेशन) के कम्प्यूटरों में वैक्यूम ट्यूबों की जगह ट्रांजिस्टर का इस्तेमाल किया गया। जिसमें UNIVAC 1, IBM 650 और IBM 700 जैसे ट्रांजिस्टर शामिल है।
  • वही तीसरी पीढ़ी (थर्ड जनरेशन) के कंप्यूटर में इंटीग्रेटेड सर्किट ने ट्रांजिस्टर की जगह ली, और उनके आकार, गति, और गुणवत्ता में सुधार किया गया। जैसे डेस्क टॉप कंप्यूटर।
  • नवीनतम कंप्यूटरों में आधुनिक तकनीक का इस्तेमाल करके इसे छोटा और तेज बनाया गया है। जिससे की बड़े काम भी आसानी से कम समयों में कही पर भी बैठ कर किया जा सकता है। इनमें लैपटॉप, टेबलेट और मोबाइल जैसे डिवाइस शामिल है।

कंप्यूटर उपयोग के लाभ और हानि

लाभ

  • छात्रों के ऑनलाइन शिक्षण में सहायक

आज कोविड महामारी के दौरान लैपटॉप, टैबलेट, मोबाइल और इंटरनेट के इस्तेमाल से छात्रों के लिए त्वरित कक्षाओं को जारी रखने में यह वरदान साबित हुआ है। इसके माध्यम से छात्रों ने पढ़ाई को ऐसे समय में जारी रखा जिस समय महामारी के कारण किसी को घर से निकलने की इजाजत नहीं थी। इस तरह हम कह सकते है की महामारी के दौरान कंप्यूटर और इंटरनेट की सहायता से छात्रों की पढ़ाई में बाधा नहीं हुई।

  • कार्यभार को कम करने में सहायक

आधुनिक युग में कंप्यूटर का इस्तेमाल लगभग हर जगह जैसे - अनुसन्धान, शिक्षण संस्थाओं, कृषि, विकास कार्य, रक्षा, ऑफिस, इत्यादि लगभग हर जगह इसका उपयोग किया जाता है। इसके माध्यम से हमारे कार्य तुरंत और कार्यभार को कम करने में हमें सहायता मिलती है।

  • समय बचत करता है

पहले के दिनों में मैनुअली रूप से कार्य करने में बहुत अधिक समय लगते थे। उसकी तुलना में कंप्यूटर के उपयोग से जटिल काम भी कम और सही समय पर आसानी से पूरा किया जा सकता है। टिकट बुकिंग, बिल भुगतान, सामान की खरीदारी इत्यादि हम घर या ऑफिस में बैठे आसानी से कर सकते है। इससे हमारे समय और पैसे दोनों की बचत होती है।

  • मनोरंजन के साधन के रूप में उपयोग

इसके माधयम से हम पढ़ाई या काम के बोझ से हमें रिफ्रेशमेंट (तरो-ताजा) होने में भी मदद मिलती है। कंप्यूटर में हम विभिन्न प्रकार के गेम खेल सकते हैं, गीत-संगीत सुन सकते हैं, फिल्में देख सकते हैं, इत्यादि जिससे खुद को तरो-ताजा करते हैं। इस प्रकार कंप्यूटर एक मनोरंजन के साधन के रूप में भी इस्तेमाल किया जाता है।

  • जानकारी प्राप्त करने में सहायक

कंप्यूटर में इंटरनेट कनेक्शन के साथ छात्र या अन्य कोई भी विभिन्न प्रकार के सूचना और विषयों की जानकारियां प्राप्त की जा सकती है। दुनिया में हो रही घटनाओं के बारे में हम सारी जानकारी हम कंप्यूटर के माध्यम से प्राप्त कर सकते है। यह हमारी बौद्धिक क्षमता को भी बढ़ाने में मदद करता है। एक क्लिक के माध्यम से हम सारी दुनिया की जानकारी को देख, सुन या संग्रह करके रख सकते है। छात्रों या रिसर्च करने वालोँ के लिए नयी-नयी चीजों की खोज में यह वरदान साबित होती है।

  • डेटा संग्रह

हर जानकरी को याद रखना या उसे नोट करके रखना मनुष्य के लिए इतना आसान नहीं होता है। वो ज्यादातर उपयोगी चीजें भूल जाता है। कंप्यूटर ऐसी ही जानकारी को बड़ी मात्रा में इकठ्ठा करके इसमें सुरक्षित रखा जा सकता है, और इसको पुनः उपयोग में लाया जा सकता है।

  • एक साथ अनेक कार्य

कंप्यूटर एक मल्टी-टास्किंग डिवाइस है। इसके माध्यम से कई काम को एक साथ कर सकते है। जैसे गाने सुनते हुए छात्र अपना असाइनमेंट बना सकते है।

कंप्यूटर से हानि

  • साइबर अपराध

कंप्यूटर और इंटरनेट के माध्यम से इन दिनों साइबर क्राइम की घटनाएं होना आम बात हो गई है। व्यक्तिगत सुरक्षा के लिए यह एक बड़ा खतरा है। हैकिंग, आइडेंटिटी थेफ्ट, मालवेयर इत्यादि साइबर अपराध के अंतर्गत आते है।

  • स्वास्थ्य समस्या

इसके लगातार और ज्यादा इस्तेमाल से कई स्वास्थ्य समस्याएं सामान्य रूप से देखी जा सकती है। आंखों का खराब होना, पीठ दर्द, मोटापा व अन्य प्रकार की स्वास्थ्य समस्या मुख्य रूप से देखने को मिलती है।

  • महंगा

आमतौर पर एक आम आदमी के लिए कंप्यूटर महंगे होते है। पढ़ाई और अन्य कामों के इस्तेमाल के लिए अलग-अलग कंप्यूटर लोगों की जेबों पर ज्यादा दबाव डाल रहा है।

  • पुरानी पीढ़ी के लिए मुश्किल

पहले के दिनों में ज्यादातर काम मैनुअली किया जाता था। तब वहां के कर्मचारियों को कंप्यूटर का ज्ञान नहीं हुआ करता था। उन लोगों के लिए यह बहुत जटिल कार्य है जो तकनीकी प्रेमी नहीं है, जिसके कारण उन्हें अपनी जॉब खोने का डर लगा रहता है।

  • ई-कचरे में बढ़ावा

जिन कंप्यूटरों का इस्तेमाल नहीं होता या वो काम के उपयोग में नहीं लायी जा सकती है। बाद में ये एक कचरे के ढ़ेर के रूप में बदल कर पर्यावरण को प्रदूषित करती है। इसे हम ई-कचरे के नाम से जानते है।

कंप्यूटर संचार का माध्यम

कार्य या आपसी सम्बन्ध को बनाये रखने के लिये आपसी बात-चित होनी बहुत जरुरी है। इस कड़ी में कंप्यूटर एक विशेष माध्यम बन गया है। इंटरनेट के इस्तेमाल से हम एक दूसरे के माध्यम से जुड़कर उससे बातें, जानकारी और विचार साँझा कर सकते है, संचार का यह एक उत्तम तरीका है। हम डेटा, फाइल्स या अन्य प्रकार के कार्य फाइल, दूसरे को कंप्यूटर के माध्यम से भेज सकते है। एक जगह से दूसरी जगह मेल के माध्यम से डेटा मिनटों में भेज सकते है। छात्र को अपने दोस्तों से ऑनलाइन पढ़ाई में मदद या अध्यापकों से ऑनलाइन कुछ पूछना हो, सब कंप्यूटर के माध्यम से किया जा सकता है।

वर्तमान समय में लोग दूर बैठे अपने परिवार से इंटरनेट के माध्यम से रूबरू बातें कर सकते है, चाहें वह विदेश में ही क्यों न हो। छात्रों के लिए ऑनलाइन स्टडी भी इसी की एक कड़ी है। विदेशों से आपसी सम्बन्ध बनाने, व्यापार बढ़ाने इत्यादि सब एक जगह बैठे कंप्यूटर के माध्यम से ऑनलाइन सामने-सामने बैठ कर किया जाता है। इससे आर्थिक स्थिति में भी सुधार देखने को मिलता है।

क्या वास्तव में कंप्यूटर छात्रों के लिए अच्छा है?

दुनियां में हर तकनीक के कुछ सकारात्मक तो कुछ नकारात्मकता देखने को मिलती है। इस कड़ी में हम देखे तो कंप्यूटर के सही इस्तेमाल से कई महत्वपूर्ण कार्य आसानी से उपयोग में लाये जा सकते है, यह छात्रों के उपयोग पर निर्भर करता है। कंप्यूटर के सही तरीके से इस्तेमाल छात्रों को बुद्धिमान, खोजी, जानकार इत्यादि बनाती है। तकनीक के उपयोग से जल्द सीखने की क्षमता भी छात्रों में विकसित होती है। अतः हम कह सकते है की सही तरीके से इसका उपयोग छात्रों के लिए वास्तव में उन्हें अच्छे और आधुनिक बनाएगा।

निष्कर्ष

कंप्यूटर एक आशीर्वाद के रूप में दिया विज्ञान और प्रौद्योगिकी की एक भेट है। इसके इस्तेमाल ने तकनीक के सहारे हमारे सभी कार्यों को आसान बना दिया है। कोई भी क्षेत्र कंप्यूटर के उपयोग से छूटा नहीं है। भविष्य में ये हमारी तकनीक में और तरक्की कर हमारे देश को आगे बढ़ने में मदद करेगा। जहाँ इसका सही इस्तेमाल एक वरदान है वही इसका दुरुपयोग विनाश का कारण बन सकता है।

Essay on Is Computer really good for Students