जीवन में किताबें महत्वपूर्ण क्यों हैं पर निबंध

मनुष्य के जीवन की यात्रा उसके जन्म के साथ ही शुरू हो जाती है। हर मनुष्य को जीवन जीने के लिए जन्म से ही सभी चीजों के बारे में सिखाना पड़ता है। जन्म से ही माता-पिता अपने बच्चों को सही-गलत, अच्छे-बुरे, इत्यादि के बारे में बताते और सिखाते हैं। इसी कड़ी में किताबें हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण साबित होती है। हमें किताबों से हर प्रकार की जानकारी मिलती है जो हमारें जीवन को रोचक और रोमांचित बनाती है। किताबों के माध्यम से हम जीवन में अनेकों अलग तरह की जानकारी प्राप्त करते हैं। किताबें ही हमारें जीवन का आधार हैं।

हमारे जीवन में किताबें क्यों महत्वपूर्ण हैं पर दीर्घ निबंध (Long Essay on Why Are Books so Important in Our Life in Hindi)

Long Essay – 1200 Words

परिचय

जन्म से ही हर व्यक्ति अपने जीवन में कुछ नया जानने और नया करने के लिए उत्सुक होता है, इसके लिए वह अपने माता-पिता, गुरुओं और आसपास की चीजों से सीखता हैं। चीजों को सीखने और जीवन को नया अर्थ देने के लिए हमें किताबों से जानकारी मिलती है। कौन, क्या, क्यों, किसलिए, इत्यादि ऐसे अनेकों सवाल हैं जिनकी जानकारी हमें केवल किताबों से ही मिलती हैं। यह हमारे जीवन को रोमांचित करती हैं, हंसाती है, रुलाती है और यही हमारी सारी दुविधाओं का हल करती है।

हर किसी को अपने जीवन में पुस्तकों को पढ़ने की अच्छी आदत को अपनानी होगी। इससे आपको लगभग हर प्रकार की जानकारी मिलती है। जीवन का उद्देश और जीवन की प्रेरणा भी हमें इन्ही किताबों से ही मिलती हैं।

किताबें - एक अच्छा मित्र

हर कोई जीवन में एक लक्ष्य प्राप्ति का उद्देश्य लेकर जीवन में आगे बढ़ता है, और उस उद्देश्य को पूरा करने में ये पुस्तकें बहुत सहायक होते हैं। ये पुस्तकें हमारे सबसे अच्छे मित्र होते है। हर वक्त ये हमारे साथ होते है और कभी भी हमसे नाराज नहीं होते। जब भी हमें इनकी आवश्यकता होती है ये हमारे मदद करते हैं। पुस्तकों के माध्यम से हमें न केवल आसपास की दुनिया के बारें में जानकारी मिलती है, बल्कि ये हमें एक नयी और अद्भुत दुनियां की सैर कराते है। किताबों से हमें विभिन्न तरह की जानकारियां प्राप्त होती हैं, जो हमारे जीवन को नये आयामों से प्रकाशित करती हैं। किताबें हमारे चरित्र निर्माण में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं। प्रेरणादायी कहानियों के माध्यम से हमारे और हमारे युवा पीढ़ियों में अच्छे विचार और नई सोच पैदा होती हैं।

जीवन में एक अच्छे मित्र की तरह यह हमेशा हमें प्रेरणा और हिम्मत देती हैं। यह हमारे अन्दर की बुराइयों का नाश कर जीवन में अच्छे गुणों का निर्माण करते है। एक जीवंत मित्र की तरह यह हमारे साथ रहकर हमें आनंदित करती है, तनाव से मुक्ति, बाधाओं को हल, इत्यादि अनेकों कार्य एक साथ करती है। सही मायनों में ये पुस्तकें ही हमारे सबसे अच्छे मित्र होते है, जो दुनिया की हर मुसीबतों, परेशानियों, जीवन के हर कठिन और अच्छे-बुरे समयों पर सदैव हमारे साथ होते हैं।

छात्रों के जीवन में पुस्तकों का महत्व

हर व्यक्ति का जीवन छात्र जीवन से होकर गुजरता है। हर छात्र के जीवन में अपना एक लक्ष्य और उद्देश्य होता हैं। अपने लक्ष्यों और जीवन के उद्देश्य प्राप्ति के लिए ये पुस्तके हमेशा ही सहायक सिद्ध होते है। छात्रों का जीवन संघर्षों और परेशानियों से भरा होता है। इन संघर्षों, परेशानियों और गलतियों से छुटकारा केवल यही किताबें ही दिला सकती है। हर छात्र को किताबों से मित्रता करने की आवश्यकता है।

पुस्तकों से मित्रता करने का सबसे आसान तरीका है, उद्देश्य प्राप्ति के लिए उसका अनुसरण करना और उनका मार्गदर्शन करना है। कुछ महान हस्तियों की ऐसी आत्मकथाएं है जिनसे छात्रों को प्रेरणा लेनी चाहिए। उनके आत्मकथाओं से प्रेरणा लेकर अपने उद्देश्य की प्राप्ति के लिए उनके बताये मार्गों पर चलना चाहिए। किताबों के माध्यम से छात्र को ध्यान और एकाग्रता का निर्माण होता है, जो उनके उद्देश्य प्राप्ति में सहायक होते है।

छात्रों को अपने स्कूली शिक्षा के साथ-साथ उन्हें अपने दैनिक जीवन में अच्छी पुस्तकों का भी अनुसरण करने की आवश्यकता है। इससे उनके शब्दावली, आचरण, व्यवहार, और अच्छे गुणों की प्राप्ति में मदद मिलेगी। इन सभी गुणों के कारण वो अपने जीवन में हर लक्ष्य को आसानी से प्राप्त कर सकते है। छात्र पुस्तकों से अनेकों नई जानकारी, नए विचार, नए तथ्य और नए शब्दावली प्राप्त कर सकते है। किताबों के माध्यम से छात्र अधिक तार्किक और बुद्धिमान बनते है, जिससे की वो अपने परीक्षा में भी सफल होते है। किताबें छात्रों को उनके नैतिक मूल्यों के बारे में भी बताती है और एक सज्जन व्यक्ति और नेक विचार पैदा करती है, और बड़े होकर वो नेक, ईमानदार और जिम्मेदार नागरिक साबित होते है।

क्या किताब पढ़ना फिल्म देखने से बेहतर है?

फिल्में हमारे मनोरंजन का एक बेहतर तरीका है, यह हमें अपनी ओर आकर्षित करती है। आमतौर पर एक फिल्म 2-3 घंटो का होता है। इनमें से कुछ हमारा मनोरंजन करती है तो कुछ हमें ज्ञान भी देती है। पर जहां तक मेरा विचार है, किताबें पढ़ना फिल्म देखने से कही बेहतर है। जब हम कोई उपन्यास, कहानी या किसी के जीवन परिचय के बारे में पढ़ते है तो हमारे विचारों और हमें कुछ नए ज्ञान की प्राप्ति होती है, परन्तु कुछ कहानियों के जरिये हमारा मनोरंजन भी होता है। किताबें फिल्मों से ज्यादा दिलचस्प होती है।

जब हम कोई फिल्म देखते है तो हमारे दिमाग में वैसा ही एक ख्याल जन्म लेता है, जो फिल्म के खत्म होने के साथ ही वो विचार धूमिल हो जाता है। परन्तु जब हम किताब पढ़ते है तो वो किताब घंटों के बजाये कई दिनों तक हम पढ़ते है। और हमारे अंदर कल्पना, उत्साह और नए विचारों का जन्म होता है। जैसे-जैसे हम उस कहानी को हमारी उत्सुकता और अधिक होती जाती है। उस कहानी के जरिये हम एक नए ख्यालों की दुनियां में होते है और यह दुनियां हमारी असल दुनिया से कही खूबसूरत और अद्भुत होती है। किताबों के जरिये हमें किसी भी विषय के बारे में सही और सटीक जानकारी प्राप्त होती है। किताबें हमारे नए विचार, कल्पना, रचनात्मकता और नए तर्क की शक्ति को भी बढाती है।

तकनीकी वातावरण में पुस्तकों का महत्व

आज के दिनों में हर कोई मोबाईल, कंप्यूटर, इंटरनेट इत्यादि नई-नई तकनीकी का इस्तेमाल करते है। किसी भी जानकारी के लिए छात्र या अन्य कोई तकनीकी के माध्यम से जानकारी प्राप्त करता है। पर कभी-कभी इसमें मिली जानकारी अधूरी होती है। तकनीकी और प्रौद्योगिकी के इस युग में भी किताबों का अपना ही एक महत्व है। किताबों के माध्यम से हमें जो जानकारी मिलती है वो पूर्णतया साफ होती है। पर कभी-कभी कुछ अनसुलझे से पहलू भी हमें मिलते है। जिससे हमारे मन की उत्सुकता उसके बारे में जानने की होती है, इसलिए उस बारे में जानने की कोशिश में लग जाते है। इससे हमारे उत्सुकता, खोजने, बुद्धि और नए विचारों का जन्म होता है।

जब हम नयी तकनीकी की बात करते है तो इंटरनेट सीखने का एक अच्छा माध्यम होता है। यहां पर हमें सारी जानकारियां आसानी से मिल जाती है, जिससे हमारी जिज्ञासा, नए विचार और सोचने की क्षमता प्रभावित होती है। इंटरनेट तकनीकी को चलने के लिए बिजली और इंटरनेट की आवश्यकता होती है, जिनके न होने से हमारी जानकारी में बांधा आती है। पर पुस्तकों को लेकर हमें बस उसे पढ़ना है। इंटरनेट से सीखना एक नया तरीका है पर किताबों से मिली जानकारी को हमें कमतर नहीं आंकना चाहिए।

इंटरनेट की तकनिकी का उपयोग कर हम सभी इ-बुक्स फ़ाइलों का उपयोग उससे जानकारी इकठ्ठा करने के लिए करते है। पर वही दूसरी ओर किताबों में सारी जानकारी ऑफलाइन ही उपलब्ध होते है। किताबों के माधयम से मिली जानकारी पूर्णतया सही और सत्य होती है। पुस्तकों के माध्यम से पढ़ना हमारे विचारों, सोच, और नई कल्पनाओं का विकास होता है। अतः हम सभी को पुस्तके पढ़ने की आदत को अपनाने की आवश्यकता है।

निष्कर्ष

किसी भी चीज के बारे में पढ़ना एक खूबसूरत एहसास की तरह होता है, और वो एहसास किताबों के माध्यम से हो तो बात ही कुछ और है। किताब पढ़ने की आदत हमें लफ्ज़ो से खेलने की कला भी सिखा देती है। पुस्तकों के माध्यम से हमें न केवल उस विषय के बारे में जानकारी प्राप्त होती है बल्कि इससे हमारी समझ-बूझ और बुध्दि का भी विकास होता है।