टीम एवं उसके सदस्यों को कैसे प्रेरित करें

एक टीम की तरह काम करने का जज्बा ही कुछ और होता है, क्योंकि एक टीम के तौर पर कार्य करने से आपसी तालमेल की शक्ति द्वारा कार्य आसानी से पूरा हो जाता है। एक समूह के द्वारा किया गया प्रयास व्यक्तिगत प्रयासों से कहीं बड़ा होता है। दूसरे शब्दों में जब एक टीम के द्वारा किए गए कार्यों के मूल्यांकन करने की बात आती है तो गणितीय नियमों द्वारा लगाए गए अनुमानों से भी बढ़कर परिणाम आते हैं और इसमें कोई शक नहीं कि इस प्रकार दो एवं दो का गठजोड़ चार से भी ज्यादा का प्रतिफल देता है।

तो, अब सवाल यह उठता है कि एक टीम के रूप में हर सदस्य को अपने कार्य को किस प्रकार अंजाम देना चाहिए जिससे टीम के सभी सदस्यों का मनोबल ऊंचा रहे और साथ ही पूरे समूह द्वारा किए गए कार्य का परिणाम बेहतर हो? हालांकि इसके लिए टीम के हर सदस्य को टीम प्लेयर बनना होगा और आपको अपनी टीम के सभी सदस्यों को एक टीम की भावना से कार्य करने के लिए प्रेरित करना होगा। आप निश्चित रूप से ऐसा कर सकते हैं। चलिए इस बात का पता लगाते हैं कि वास्तविक रूप से ऐसा करने के लिए क्या जरूरी है।

टीम एवं उसके सदस्यों को कैसे प्रेरित करें

कई टीम होते है जिसके सदस्य आप हो सकते है

आप कई टीमों के सदस्य हो सकते है। यदि आप किसी ऐसे समूह का हिस्सा हैं जिसका एक समान लक्ष्य और साझा रुचियां हैं और सभी के संदर्भ भी समान हैं तो आप एक टीम का हिस्सा हैं। और इसे अगर व्यापक रूप से देखें तो क्या आप अपने जीवन में एक साथ कई टीमों के सदस्य नहीं हैं?

आप सबसे पहले अपने परिवार के सदस्य हैं और आपके परिवार को भी एक टीम के रूप में देखा जा सकता है। अपने परिवार के प्रत्येक सदस्य के लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए आपका परिवार एक साथ मिलकर काम करता है, है न? तो, इस प्रकार आपका परिवार अपने आप में एक टीम है। एक टीम का निर्धारण उसके आकार पर निर्भर नहीं करता है। सिर्फ तीन या चार सदस्यों का परिवार भी एक टीम है और अठारह सदस्यों का संयुक्त परिवार भी एक टीम ही है।

यदि आप स्कूल या कॉलेज में हैं तो आप किसी निश्चित वर्ग या एक विशेष अनुभाग, स्ट्रीम या कोर्स में होते हैं तो इस प्रकार आप उस टीम का एक हिस्सा होते हैं। और फिर आप खेल, कला, नृत्य या संगीत जैसी अतिरिक्त पाठ्यचर्या वाली गतिविधियों में भी भाग लेते हैं और इस प्रकार आप फिर से किसी न किसी टीम का हिस्सा बन जाते हैं। यदि आप किसी कार्यालय में काम करते हैं तो आप किसी विशेष विभाग कि टीम के सदस्य हैं और साथ ही आप अपने कार्यालय के एक विशेष खंड की टीम के सदस्य भी होते हैं।

यदि आप किसी क्लब या किसी अन्य सामाजिक, सांस्कृतिक या राजनीतिक संगठन या समाज या संघ के सदस्य हैं, तो भी आप एक ऐसे टीम का हिस्सा हैं जो साझा हितों के लिए बनाए गए हैं।  इन बड़ी टीमों में भी विशिष्ट गतिविधियों के लिए  छोटी टीमों का भी गठन किया जा सकता है जिनमें से भी आप किसी टीम के आप सदस्य हो सकते हैं।

वहीं दूसरी ओर, आप एक देश का भी हिस्सा हैं और देश के सभी नागरिक मिलकर एक साथ एक टीम बनाते हैं। देश के सभी नागरिक भौगोलिक रूप से एक बड़े स्थान को साझा करते हैं; वे देश के सभी संसाधनों को साझा करते हैं, और इस प्रकार एक देश में एक टीम के सदस्य के रूप में जीवन व्यतीत कर रहे होते हैं। है न? इसी बात को अगर हम और भी बड़े पैमाने पर देखें तो  हम पूरी दुनिया की टीम और पूरे ब्रह्मांड का हिस्सा भी हैं। हम सब पूरी दुनिया और ब्रह्मांड रूपी टीम को साझा करते हैं। निश्चित रूप से, इन टीमों का आकार और प्रसार विशाल और व्यापक है।

एक टीम का सदस्य होने के क्या मायने हैं

एक टीम के सभी सदस्यों का एक साझा लक्ष्य होता है और उनके हित भी एक समान होते हैं। प्रत्येक टीम के सभी सदस्यों के अधिकार और जिम्मेदारियां दोनो ही होती हैं। किसी भी टीम को स्थिर और प्रभावी होने के लिए टीम के सभी सदस्यों को इस पहलू को स्वीकार करना पड़ता है और तदनुसार अपनी जिम्मेदारियां निभाने की आवश्यकता होती है।

टीम के लक्ष्यों को पूरा करने के लिए सभी सदस्य एक साथ मिलकर काम करते हैं। प्रत्येक व्यक्ति के काम और जिम्मेदारी का स्पष्ट विवरण पहले से ही निर्धारित हो सकता है और इन्हें यथासंभव और यथाशीघ्र पालन करने की आवश्यकता होती है। वहीं दूसरी ओर, टीम के सदस्यों की जिम्मेदारियों से संबंधित कुछ छोटे-बड़े उतार-चढ़ाव भी हो सकते हैं। ऐसी स्थिती में, सभी सदस्यों की भूमिकाएं भी पूर्वनिर्धारित होती हैं। इसी प्रकार, एक टीम अपने सदस्यों को अलग-अलग जिम्मेदारियों को निभाने के लिए भी बुला सकती है। इस परिस्थिति में, सभी सदस्य अपनी पसंद, रुचि या क्षमता के अनुसार अपनी भूमिकाएं चुनते हैं।

टीम के रूप में कार्य करने का मतलब क्या है

एक टीम में कार्य करना बड़ा ही रोचक होता है और इससे सीखने के लिए भी बहुत कुछ मिलता है। एक टीम प्रयासों का एकीकरण और उपलब्धियों का एक साझाकरण है और टीम के सदस्यों के बीच विकसित होने वाले सौहार्द का एक अर्थ भी व्यापक है। और इस प्रकार जब आप एक टीम का हिस्सा बनकर कार्य करते हैं तो अकेले काम करने के अपेक्षा यह रोचक और आनंददायक होता है।

हालांकि वास्तविकता के धरातल पर एक टीम के रूप में कार्य करते हुए कुछ मुश्किलें भी पेश आती हैं और टीम की कुछ व्यावहारिक समस्याएं भी होती हैं। उदाहरण के लिए, एक  टीम के सदस्यों के बीच मतांतर भी हो सकता है। सभी सदस्यों के एक समान लक्ष्यों को हासिल करने के लिए लक्ष्यों के निर्धारण संबंधित विवाद भी हो सकते हैं। साथ ही, संसाधनों और उनके विभाजन और उपयोग पर भी बहस हो सकती है कार्य पूर्ण करने की समयावधि के निर्धारण एवं कार्य के प्रति राय में भी मतभेद हो सकते हैं। इसी तरह, काम और जिम्मेदारियों को विभाजित करने की उचितता पर भी विवाद हो सकते है, और साथ ही अधिकारों और लाभों को लेकर भी विवाद हो सकते हैं।

ये सभी टीमों में होने वाली काफी सामान्य घटनाएं हैं और उनकी कार्यप्रणाली से संबंधित हैं। वहीं टीम के सदस्यों के बीच मतभेद और भिन्न विचारों का होना जटिल और लंबे समय से तैयार हो रहे मुद्दों से निपटने और उनके सबसे अधिक अनुकूल और प्रभावी समाधान ढ़ूढ़ने के लिए अच्छा है क्योंकि इससे टीम के सदस्यों की उत्पादकता एक निश्चित सीमा से भी अधिक हो सकती है। हालांकि जहां एक तरफ यह स्थिति किसी टीम के सदस्यों को प्रेरित करने का स्रोत भी बन सकता है वहीं यह पूरी टीम की कार्यप्रणाली को भी प्रभावित करके पूरे कार्य को ही खतरे में डाल सकता है।

टीम को कैसे प्रेरित करें

निर्धारित लक्ष्यों को सफलतापूर्वक प्राप्त करने के लिए और अपने समूह के सभी लोगों को एक साथ रखने के लिए टीम के सदस्यों को प्रेरित करना आवश्यक है। आखिर वह क्या है जो टीम के सभी सदस्यों को प्रेरित करने की भूमिका निभा सकता है? टीम के प्रत्येक सदस्य टीम और काम का हिस्सा बनने के लिए प्रेरित हों ऐसा करने कि लिए क्या करें जिससे टीम के सभी सदस्य टीम के अस्तित्व और कार्य के अनुसार मापदंडों और संदर्भ के शर्तों को बनाए रखने में अपनी क्षमता का सबसे अच्छा योगदान कर सकते हैं? ऐसा क्या है जो टीम के सदस्यों को इतना प्रेरित करने में मदद कर सकता है ताकि वे अन्य टीम के सदस्यों को भी प्रेरित कर सकें?

जब किसी टीम के सभी सदस्य प्रेरित होते हैं तभी सर्वश्रेष्ठ रूप से लक्ष्य की प्राप्ति हो सकती है। और यही प्रेरित सदस्य जब अपने सर्वोत्तम प्रयासों के साथ टीम के कार्य में सम्मिलित होते हैं तो टीम के सभी सदस्यों को सफलता हासिल होती है। टीम के सदस्यों का प्रेरित होना एक सफल और प्रभावी टीम की कुंजी है। चलिए अब हम कुछ कारकों को उजागर करते हैं जो टीम के सदस्यों को प्रेरित करने में योगदान दे सकते हैं।

टीम को प्रेरित करने के लिए विभिन्न सुझाव

टीम के सदस्यों के बीच अपनापन की भावना पैदा करें। अपनापन की भावना का होना सबसे पहली आवश्यकता है। जब तक टीम के सभी सदस्य एक दूसरे से जुड़ाव महसूस नहीं करेंगे तो वे अपना योगदान देने की आवश्यकता भी महसूस नहीं कर पाएंगे और इस प्रकार वे एक टीम के रूप में कार्य करने से मिलने वाले फायदों का लाभ उठाने से भी वंचित रह जाएंगे।

यदि आप एक टीम के सदस्य हैं और आप सदस्य के तौर पर टीम की उपलब्धियों से लाभ उठाते हैं, तो इसके लिए टीम के प्रति आपकी जिम्मेदारियों का निर्वहन भी आपके लिए आवश्यक है। है न? यह टीम की गतिविधियों में शामिल होने और आपके कर्तव्यों का उचित निर्वहन है जिसके द्वारा आप एक टीम के सदस्य के रूप में उसकी उपलब्धियों का फायदा उठा सकते हैं और इसके लिए एक सदस्य के रूप में आपके अंदर टीम भावना का होना आवश्यक है। अगर टीम के सदस्यों में जुड़ाव की भावना का अभाव है, तो टीम प्रेरित नहीं हो सकती है। इसलिए, यदि आप अपनी टीम के सदस्यों को प्रेरित करना चाहते हैं, तो उनमें एक साथ जुड़े होने की भावना का विकास करें।

उदाहरण के लिए, अपने परिवार को ही ले लें। आपको अपने माता-पिता या भाई या फिर अपने पति या पत्नी या बच्चे की देखभाल के लिए निर्देश दिए जाने की ज़रूरत नहीं है क्यों? यह आपके परिवार से आपके सम्बन्धों की भावना के कारण है जो अपने आप में ही बहुत मजबूत है। इसी तरह, अगर एक टीम में आपस में जुड़ाव की भावना है  तो उस टीम के सभी सदस्य अपना सर्वश्रेष्ठ देने के लिए अपने आप को प्रेरित महसूस करेंगे।

टीम के सदस्यों का हौसला कैसे बढ़ाएं

टीम के सदस्यों को जिम्मेदारी देने से उनमें जुड़ाव की भावना का विकास होता है और उन्हें अपना बेहतर प्रदर्शन करने की प्रतिबद्धता महसूस होती। इसलिए टीम के सदस्यों की भूमिकाएं उचित तथा लोकतांत्रिक रूप से निर्धारित करें। इस प्रक्रिया में उत्कृष्टता ही एकमात्र पैमाना होना चाहिए। जब प्रदर्शन में उत्कृष्टता और लक्ष्यों से संबंधित उपलब्धियां ही मुख्य बिंदु हों तो, तो छोटे मुद्दे तो अपने आप सुलझ जाते हैं।

टीम के सदस्यों को अपनी जिम्मेदारी तभी महसूस होती है जब उन्हें काम सौंप दिया जाता है और उन्हें प्रदर्शन करने का मौका दिया जाता है। यदि टीम के सदस्यों को उनके काम में अड़चने महसूस होंगी तो वे काम करने के लिए प्रेरित कैसे हो पाएंगे? इसलिए, भूमिकाओं और जिम्मेदारियों का स्पष्ट निर्धारण होना चाहिए ताकि टीम के सदस्य अपने कर्तव्यों का निर्वहन कर सकें और अपने कार्यों को पूरी जिम्मेदारी के साथ कर निभा सकें। अगर टीम के सदस्यों की भूमिकाओं और जिम्मेदारियों को अस्पष्ट रखा जाएगा तो उन्हें जिम्मेदारीपूर्वक काम करने और प्रदर्शन करने के लिए प्रेरित कैसे किया जा सकेगा?

  1. सराहना अच्छी प्रेरणा प्रदान करता है

जब टीम के सदस्य टीम के लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए प्रयास करते हैं, तो उनके प्रयासों की सराहना की जानी चाहिए। इस तरह की गई प्रशंसा सदस्यों को प्रेरित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकती है। प्रशंसा विभिन्न प्रकार से की जा सकती है और टीम के सदस्यों के कठोर परिश्रमों की स्वीकृति और सराहना करने से, टीम के सदस्यों का मनोबल ऊंचा होता है और वे बेहतर प्रदर्शन करने के लिए प्रेरित होते हैं।

  1. अच्छे काम की प्रशंसा करें और इनाम दें, यह एक प्रेरक के रूप में कार्य करता है

अच्छे ढ़ंग से किए गए कार्य के लिए मिली प्रशंसा और पुरस्कार टीम के सदस्यों के लिए प्रोत्साहन के रूप में कार्य करता है। जब आप अच्छे काम के लिए पुरस्कार की पेशकश देते हैं तो आप आप टीम के सदस्यों को अपने सर्वश्रेष्ठ प्रयासों के प्रदर्शन के लिए प्रोत्साहित करने में सफल होते हैं। अगर टीम के सदस्यों को उनके द्वारा अच्छे से किए गए कार्य के लिए पुरस्कृत किया जाता है तो इस प्रकार से उन्हें प्रेरणा मिलती है और पुरस्कार की अनुपस्थिति में, टीम के सदस्यों में कार्य करने के लिए आवश्यक उत्साह में कमी आती है। अगर टीम में एक कुशल एवं अकुशल निर्वाहकों दोनों ही को एक बराबर माना जाता है, तो कड़ी मेहनत करने के लिए कोई क्यों उत्साहित होगा? क्यों यह सही  बात है या नहीं?

पुरस्कार टीम के कार्य या उसके सामान्य संदर्भों और लक्ष्यों के अनुरूप हो सकते हैं। ये मौद्रिक लाभ के रूप में भी हो सकते हैं, या ये कुछ विशेष सुविधाएं या विशेषाधिकारों के रूप में भी हो सकते हैं, या इनके अलावा भी कुछ और पुरस्कार हो सकते हैं। यदि यह एक अकादमिक या प्रशिक्षण संस्थान है तो पुरस्कार के रूप में यह एक उच्च श्रेणी या डिवीजन या अच्छे अंक प्रदान करना भी हो सकता है।

  1. अपनी टीम को प्रेरित करने के लिए आपको आदर्श प्रस्तुत करना होगा

आप स्वयं एक आदर्श बनकर अपनी टीम के सदस्यों को प्रेरित कर सकते हैं। जब आप खुद को प्रेरित होने के आदर्श के रूप में प्रस्तुत करते है तो एक प्रकार से आप एक टीम के महान सदस्य होने का उदाहरण प्रस्तुत करते हैं और साथ ही आप आसानी से टीम के अन्य सदस्यों को प्रोत्साहित करने में कामयाब होते हैं।

  1. वचनबद्धता एक दृश्यमान विशेषता है, इसे विकसित करें

अपनी टीम के लक्ष्यों और टीम के प्रति अपनी जिम्मेदारियों के प्रति समर्पण अपने आप में ही एक उदाहरण प्रस्तुत करता है। जब आप अपनी प्रतिबद्धता दिखाते हैं, तो एक प्रकार से आप दूसरों को प्रेरित करते हैं। एक लक्ष्य के प्रति प्रतिबद्धता की वजह से ही आप उसे प्राप्त करने के लिए कार्य कर पाते हैं। और आपकी यही कार्य के प्रति समर्पण एवं उसे करने के लिए आपकी प्रेरणा ही आपकी टीम के सदस्यों के लिए एक उदाहरण बन के उभरता है और इस प्रकार वे आपका अनुसरण करने के लिए प्रेरित होते हैं।

  1. क्षमा करे एवं सदस्यों की गलतियों को भूलें

यह महत्वपूर्ण एवं जरूरी है कि टीम सदस्यों की भूल-चूक और कमियों और गलतियों को माफ किया जाए एवं उन्हें भूला जाए है। गलती करना एक प्रकार से मानव का स्वभाव है। और हम सभी गलतियां करते रहते हैं, क्यों सही कहा न? और एक टीम के रूप में कार्य करने का लक्ष्य यह होता है कि जो कुछ भी हमारे पास हो हम उसी के साथ काम करें। हमें अपने लक्ष्यों को प्राप्त करने की दिशा में कार्य करने की ज़रूरत है, न कि एक- दूसरों को नकारने या दूसरों के दोष गिनवाने की। टीम के सदस्यों द्वारा की गई गलतियों को क्षमा करने एवं भूलने से टीम सदस्यों को दुबारा गलतियां न करने की प्रेरणा मिलती है और इस प्रकार टीम के सदस्य खुद ही सद्भावपूर्वक और कुशलतापूर्वक कार्य कर पाते हैं।

  1. आपस में संवाद जरूरी है

टीम के सदस्यों के बीच संचार एवं विचारों का आदान-प्रदान करना टीम के लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए सबसे प्रभावी साधनों, समाधानों एवं तरीकों को ढ़ूढ़ने के लिए बेहद महत्वपूर्ण है। अपनी टीम को प्रेरित करने के लिए यह आवश्यक है कि आप शब्दों एवं विलेखों के माध्यम से संवाद करें। एक टीम में ऊपर से नीचे, नीचे से ऊपर एवं पूरे टीम के सभी सदस्यों के बीच संचार महत्वपूर्ण है ताकि टीम के सभी सदस्य एक साथ कार्य कर सकें।

जब तक एक टीम के सभी सदस्य एक समान आदर्शों का पालन न करें और टीम में होने वाली हर छोटे-बड़े घटनाक्रमों से परिचित न हों तो टीम के सदस्यों के बीच विभाजन हो जाएगा और वे एकजुटता से अपने साझा लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए प्रयास नहीं कर पाएंगे। टीम में आपसी संवाद के सभी माध्यमों को खुला रखना आवश्यक है ताकि परस्पर विचारों का आदान-प्रदान हो सके और टीम के कार्यों की प्रगति के बारे में सभी परिचित रह सकें और यह टीम के सभी सदस्यों को प्रेरित करने के लिए महत्वपूर्ण है।