कुत्ता पर निबंध

कुत्ता सभ्यता के आरंभ से ही हमारे साथ है। यह बहुत ही वफादार सेवक और सच्चा दोस्त होता है। पालतु जानवर तो कई हैं लेकिन यह उन सबमें खास और अनूठा होता है। कुत्ता ही इकलौता ऐसा जानवर होता है जो समय पड़ने पर अपने मालिक के लिए अपनी जान भी दे सकता है। यह मनुष्य द्वारा सबसे पहले पालतु बनाया जाने वाला जानवर माना जाता है। कुत्तों की बहुत सी नस्लें हैं, जिन्हें मनुष्य द्वारा पालतु पशु के रुप में प्रयोग किया जाता है। इनका स्वभाव बहुत ही मददगार होता है और इसे मनुष्य का सबसे अच्छा मित्र माना जाता है।

कुत्ता पर छोटे तथा बड़े निबंध (Long and Short Essay on Dog in Hindi)

निबंध 1 (300 शब्द)

परिचय

कुत्ता एक पालतू जानवर है। एक कुत्ते के दांत तेज और नुकीले होते हैं, ताकि वह बहुत आसानी से चीजों को चीर-फाड़ सके। इसके चार पैर, दो कान, दो आंखें, एक पूंछ, एक मुंह और एक नाक होती है। यह बहुत चालाक जानवर है और चोरों को पकड़ने में बहुत उपयोगी है। यह बहुत तेज दौड़ता है, जोर से भौंकता है और अजनबियों पर हमला करता है। एक कुत्ता मास्टर के जीवन को खतरे से बचाता है।

जीवन-काल

एक कुत्ते का जीवनकाल बहुत छोटा होता है। यह लगभग 12-15 साल तक जीवित रह सकता है जो उनके आकार पर निर्भर करता है जैसे कि छोटे कुत्ते लंबा जीवन जीते हैं। एक मादा कुत्ता एक बच्चे को जन्म देती है और उसे दूध पिलाती है। इसलिए स्तनपायी श्रेणी में कुत्ते आते हैं। कुत्ते के बच्चे को पिल्ला और कुत्ते के घर को केनेल कहा जाता है।

कुत्ते

वर्गीकरण

कुत्तों को उनकी काम के अनुसार वर्गीकृत किया जाता है जैसे गार्ड डॉग, हेरिंग डॉग, हंटिंग डॉग, पुलिस डॉग, गाइड डॉग, स्निफर डॉग, इत्यादि। इसमें सुंघने की अद्भुत शक्ति होती है, जिसकी सहायता से पुलिस हत्यारों, चोरों और डाकुओं को आसानी से पकड़ सकते है। मिलिट्री, कुत्तों को ट्रैक करने और बम का पता लगाने के लिए भी प्रशिक्षित करती हैं।

कुत्तों की जरूरत

खोजी कुत्तों को हवाई अड्डों, पुलिस स्टेशनों, सीमाओं और स्कूलों में नियुक्त किया जा सकता है। टेरियर्स, ट्रैकिंग और शिकार के लिए कुत्तों की सबसे ज्यादा जरुरत पड़ती हैं। इन कुत्तों को उनके मानव साथियों के लिए सुनने, देखने और शिकार ढूंढ कर लाने के लिए प्रशिक्षित किया जाता है।

निष्कर्ष

दुनिया में हर जगह कुत्ते मिल सकते हैं। कुत्ते बहुत वफादार जानवर होते हैं। इसमें तेज दिमाग और चीजों को सूंघने की तीव्र क्षमता होती है। इसमें पानी में तैरना, कहीं से भी कूदना जैसे कई गुण होते हैं।

निबंध - 2 (400 शब्द)

परिचय

यह जानकर आपको आश्चर्य होगा कि ‘कुत्ता’ दुनिया का सबसे विविध जानवर है। कुत्ता मनुष्यों का तब से साथी है, जब से सभ्यता का आरंभ माना जाता है। यह मनुष्यों के साथ कम से कम 20,000 साल से हैं। यह मानव द्वारा पाला गया प्रथम पालतु जीव भी है। अपनी अटूट स्वामी-भक्ति के कारण यह सर्वाधिक लोकप्रिय जानवर है।

सामान्य परिचय

कुत्ता एक पालतु जानवर होता है। इसका वैज्ञानिक नाम कैनिस ल्यूपस फैमिलिएरिस है। कुत्ता लोमड़ी की प्रजाति का जीव होता है। यह स्तनधारी होता हैं और मादा अपने जैसे बच्चों को जन्म देती है। यह एक बार में सामान्यतः 5-6 बच्चों को जन्म देती है। इन्हें मांसाहार अधिक प्रिय होता है, लेकिन ये सब कुछ खा सकते है। अतः इन्हें सर्वाहारी कहना उचित होगा। मनुष्य के सापेक्ष इनकी लम्बाई औसतन 6 से 33 इंच तक होती है। एवं वजन लगभग 3 से 175 पाउंड तक होता है। इसके समूह को ‘पैक’ कहते है।

संचार का माध्यम

कुत्ते कई तरह से संवाद करते हैं। यह सुंघकर एवं शरीर के हाव-भाव देखकर पहचान लेते है कि कौन उनके मालिक का हितैषी है और कौन नहीं। इसके अतिरिक्त शरीर की स्थिति, गति और चेहरे की अभिव्यक्ति भी मजबूत संदेश प्रेषित करती है। इन संकेतों में से कई मनुष्य भी पहचान सकते हैं, जैसे कि एक खुश कुत्ता उत्तेजित होकर अपनी पूंछ चारों ओर घुमाता है और गुस्से में होने पर गुर्राता और भौंकता है। शाब्दिक रूप से, कुत्ते भौंककर, गुर्राकर कोलाहल कर के संवाद करते हैं। वो अपने मालिक का ध्यान आकर्षित करने के लिए चेहरे पर तरह-तरह के भाव-भंगिमाओं का प्रदर्शन करते हैं।

आर्मी का वीर जवान मूक कैनाइन योद्धा ‘डच’

असम में आर्मी डॉग यूनिट में ‘डच’ को बड़े अधिकारियों ने उसे साहसी, अच्छी तरह से प्रशिक्षित और एक सच्चे मूक योद्धा के रूप में याद किया। 11 सितंबर, 2019 को उनका निधन हो गया और पूरी यूनिट ने उसके अंतिम संस्कार में उसकी बहादुरी को श्रद्धांजलि दी।

डच ने लगभग नौ साल तक भारतीय सेना की सेवा की। एक्सप्लोसिव डिटेक्शन (ईडी) कुत्ते के रूप में अपने कामकाजी जीवन के दौरान, उसने पूर्वी कमान के तहत आतंकवाद रोधी अभियानों के दौरान नागरिकों और सैनिकों दोनों की जान बचाई थी।

निष्कर्ष

कुत्ते बहुत ही उत्कृष्ट तैराक होते हैं। यह वास्तव में एक बहुत ही उपयोगी पालतू जानवर हैं। वह अपने मालिक का दिल से सम्मान करता है और आसानी से अपनी सुंघने की शक्ति से लोगो की उपस्थिति का अनुमान लगा सकता है। हमें इसकी बहुत स्नेह के साथ देखभाल करनी चाहिए और उन्हें अच्छी स्थिति में रखना चाहिए।

निबंध - 3 (500 शब्द)

परिचय

घरेलू कुत्ते दोस्त की तुलना में अधिक अच्छे सेवक होते हैं। कई मेहनत वाले काम बखूबी निभाते हैं। ये हमारे घरों की रक्षा करते हैं, और पुलिस, आर्मी का हिस्सा बन बचाव कार्य भी करते हैं। कुछ विशेष परिस्थितियों में अगर इनका मालिक अंधा हो तो उसका मार्गदर्शन भी करते हैं।

कुत्ते के प्रकार

एक कुत्ते में सुंघने की मजबूत शक्ति होती है। इन्हें वफादार और विश्वासपात्र होने के कारण लोग अधिक पसंद करते हैं। कुत्तों के कई रंग होते हैं जैसे कि ग्रे, सफ़ेद, काला, भूरा और लाल। ये कई प्रकार के होते हैं, जैसे ब्लडहाउंड, ग्रेहाउंड, जर्मन शेफर्ड, लैब्राडोर, रोटवीलर, बुलडॉग, पुडल, पामेरियन, पग आदि। इसकी पूंछ लम्बी होती है, जो हमेशा ऊपर की तरफ मुड़ी होती है। इनकी पूंछ इन्हें संतुलन बनाने में मदद करती है। कुछ नस्लों में पूंछ छोटी भी होती है।

खान-पान

आमतौर पर, कुत्ते मछली, मांस, दूध, चावल, रोटी आदि खाते हैं। कुत्तों को मनुष्य के सबसे अच्छे दोस्त के रूप में संदर्भित किया जाता है। ये आसानी से घरेलू वातावरण में पल जाते हैं। सर्वाहारी होने के कारण कुछ भी प्यार से खिलाने पर खा लेते है। आजकल बाजारों में भी इनके भोज्य-पदार्थ बिकने लगे है। पेडि-ग्री सबसे ज्यादा बिकने वाला उत्पाद है।

रहन-सहन

वे आमतौर पर वफादार होते हैं और मनुष्यों के आसपास रहना पसंद करते हैं। ये तनाव, चिंता और अवसाद को कम करने, अकेलेपन, व्यायाम और खेल को प्रोत्साहित करने और यहां तक ​​कि आपके हृदय स्वास्थ्य में सुधार करने में भी सहायक होते हैं। एक कुत्ता वयस्कों के लिए मूल्यवान साहचर्य प्रदान करता है।

अमूल्य मित्र

कुत्ते अपने मालिक के प्रति इतने वफादार होते हैं कि कुछ भी उसे अपने मालिक को छोड़ने के लिए प्रेरित नहीं कर सकता। उसका मालिक एक गरीब आदमी या एक भिखारी ही क्यों न हो, लेकिन फिर भी, कुत्ता अपने मालिक को नहीं छोड़ता है। कुत्ते अपने मालिक को बाहर से घर आते देखते हैं, वे उनके पास भागते हैं और अपने प्यार को दिखाने के लिए उन पर कूदते या चाटने लगते हैं। यह उनका प्रेम दिखाने का तरीका होता है।

सबसे वफादार पालतु जानवर

यह बाकी सभी पालतु जानवरों में सबसे ज्यादा वफादार होता है। यह कभी अपने मालिक या किसी का भी एहसान नहीं भूलता है। और सदैव उस एहसान को चुकाने के लिए तत्पर रहता है। अगर घर में छोटे बच्चें हों तो यह उनका बहुत अच्छे से ध्यान रखते है। उनके द्वारा काटने-मारने पर भी कुछ नहीं करते है। और यदि कोई बच्चों को डाटें, तो उसे ही भौंक कर डाटने लगते है।

मालिक पर जान न्यौछावर करने वाला

कुत्ते ईमानदार दोस्त हैं जो दोस्त को बचाने के लिए हमेशा मरने-मारने के लिए तैयार रहते हैं। यह एक चोर या अजनबी को काट सकते है, जब वे इसकी भौंकने की अनदेखी करते हैं और हरकत करने की कोशिश करते हैं। कुत्ते हमेशा मालिक को दिन-रात सुरक्षा देते हैं। ये रात-भर जाग कर घर की चौकीदारी करते हैं।

निष्कर्ष

कुत्ता आदमी का प्यारा साथी होता है। वह अपने मालिक के साथ हर जगह जाने के लिए तैयार रहता है। वह अपनी पूँछ हिलाकर और उसके हाथ या चेहरे को चाट कर अपने स्वामी के प्रति अपना स्नेह दिखाता है। यदि उसका स्वामी अंधा है, तो कुत्ता उसे सड़क पार करने में मदद करता है और उसके प्यार करने वाले मार्गदर्शक के रूप में कार्य करता है।

More Information:

मेरा पालतू कुत्ता पर निबंध

मेरी पालतू बिल्ली पर निबंध