मैं जीवन मे क्या बनना चाहता हूं पर निबन्ध

हर किसी का एक सपना होता है कि वह जीवन मे कुछ बनें, और उसे पाने के लिए वह कड़ी मेहनत करते है। सपने देखना बहुत अच्छा होता है क्योकि यह हमें सही रास्ता चुनने और सफल बनाने मे हमारी मदद करता है। यह आपके समय को बर्बाद नही होने देता है और सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने मे मदद करता है।

मैं जीवन मे क्या बनना चाहता हूं पर लघु और दीर्घ निबन्ध (Short and Long Essays on What I Want To Become in Future)

निबन्ध 1 (250 शब्द) - मै क्या बनना चाहता हूं: एक कोरियोग्राफर

परिचय

सभी के कुछ सपने होते है और वह कुछ बनना चाहते है, बस यह अंतर होता है कि हम अपने सपनों का कितना पीछा करते है या अपने सपनों की राह पर आगे बढ़ते है। जब मै छोटा था, तो मै नृत्य के विभिन्न रियलिटी शो को देखता था और हमेशा उनकी तरह नृत्य करने की इच्छा रखता था और फिर मैनें एक दिन कोरियोग्राफर बनने का फैसला किया।

मेरी प्रेरणा (My inspiration)

जब मैं अपनी प्राथमिक कक्षाओं मे था तो मैने अपने स्कूल के वार्षिक समारोह मे प्रदर्शन किया था, और उसके लिए मुझे सम्मानित भी किया गया था। यह मेरे लिए एक जागृत करने वाली घटना थी क्योकि तब मैं छोटा था। मुझे आज भी उन तालियों की गड़गड़ाहट सुनाई देती है। जैसे सभी ने मुझे चीयर किया और वास्तव मे मुझे बहुत खुशी महसूस हुई। डांस (नाच) ने हमेशा ही मुझे अकर्षित किया और मै स्कूल जाने के बजाय अपने डांस क्लास जाने के लिए ज्यादा उत्साहित रहता था।

मेरे माता-पिता मे मुझे एक डांस क्लास मे भर्ती कराया, जहां मै रोजाना नई शैली और तकनीक सिखता हूं। मैं अपने शिक्षकों की बात पर ध्यान देता हूं और रोज उसका अभ्यास करता हूं। मेरी मां भी मेरे लिए बहुत मेहनत करती है, वो मुझे डांस क्लास के लिए ले जाती है, फिर उसके बाद ट्यूशन क्लास के लिए ले जाती है। जब वह वापस घर आती है, तो हमारे लिए खाना भी बनाती है और मै अपने माता-पिता की उम्मीदों को कभी निराश नही होने देना चाहता।

निष्कर्ष

मेरे माता-पिता हमेशा कहतें है, कि कोई भी काम छोटा या बड़ा नही होता है, यह तो हमारे सोंच पर निर्भर करता है। अगर आप खुद को एक अच्छा इंसान बनाने का फैसला करते है, तो मदर टेरेसा जैसे भी बन सकते है। यह सब बस हमारी मेहनत और लगन पर निर्भर होता है। हमें सब कुछ सीखना चाहिए लेकिन एक चीज पर ध्यान देना चाहिए, जिससे कि आप अपने पेशे के प्रति समर्पित रहें और यही सफलता की कुंजी है।

निबन्ध 2 (400 शब्द) - मै क्या बनना चाहता हूः एक अंतरीक्ष यात्री

परिचय

डॉ. ए.पी.जे. अब्दुल कलाम की एक प्रसिद्ध उद्धरण है, “एक सपना वह नहीं जो आप नींद मे देखते है, सपना वह होता है जो आपको सोने नही देता है”, और यह बिल्कूल सत्य है। मैनें एक अंतरिक्ष यात्री बनने का सपना देखा है, और अपने राष्ट्र और माता-पिता को गौरवान्वित करने का सपना देखा है।

मैं एक अंतरिक्ष यात्री क्यों बनना चाहता हूं? (Why I want to be an Astronaut)

जब मैं छोटा था, तो मैं और मेरी दादी छत पर सोते थे और मैं आकाश की ओर देखते हुए उनसे कई सवाल किया करता था, जैसे कि आकाश कितनी दूर है?, तारे इतने छोटे क्यों लगते है?, आदि। आकाश हर समय मुझे अपनी ओर आकर्षित करता था और मै अपनी दादी के जबाब से कभी संतुष्ट नही होता था, और मै आकाश और तारों को हमेशा अपनी नग्न आंखों से देखना चाहता हूं।

फिर एक दिन मेरे माता-पिता ने मुझसे कहां कि, मुझे ऐसी चीजों को देखने और उनके बारें मे जानने के लिए एक अंतरिक्ष यात्री बनने की आवश्यकता है। यह सब मेरे लिए एक सपना जैसा है, और वास्तव मे भविष्य मे मैं आकाश औऱ सितारों को देखना चाहता हूं। मैने कल्पना चावला, सुनिता विलिएम्स आदि के बारें मे सुना है और मै उनके जैसा ही बनना चाहता हूं।

मैं अपने लक्ष्य को कैसे प्राप्त कर सकता हूं? (How can I achieve my Goal)

एक अंतरिक्ष यात्री बनने के लिए एकमात्र रास्ता है पूरी तरह से अध्ययन करना, और मै हमेशा ही अपने अध्ययन के प्रति अपने शिक्षाविदों से अच्छे अंक प्राप्त करने पर ध्यान केंद्रित करता हूं, जिससे कि आगे कि कॉलेजों मे प्रवेश पाने मे मदद मिले। इन सबके अलावा मैं हमेशा अंतरिक्ष से संबधित विभिन्न टी.वी. शो और कई अन्य चीजों से भी सिखने की कोशिश करता हूं।

मेरे पिताजी हमेशा मेरी मदद करते है और वो अंतरिक्ष से संबन्धित विभिन्न दिलचस्प पुस्तके लाकर मुझे देते है। वो मुझे अपना ज्ञान बढ़ाने मे मेरी मदद करते है और हमेशा मुझे प्रेरित करते है। मेरे माता-पिता मुझे इतना समर्थन देते है कि जैसे लगता है कि यह उनका ही सपना हो। मेरे स्कूल के शिक्षक भी मुझे अपना समर्थन देते है, और मै अपने स्कूल के आंतरिक विज्ञान प्रतियोगिता मे हमेशा भाग लेती हूं। यह प्रतियोगिता मुझे नए गैजेट बनाने और मेरी रचनात्मकता को दिखाने मे मेरी मदद करती है, और ऐसा करना मुझे बहुत अच्छा लगता है।

मुझे यकिन है कि एक दिन मै अंतरिक्ष यात्री जरुर बनूंगा, क्योकि मै अपने सपनों को पूरा करने के लिए बहुत उत्सुक हूं और यह मेरा जुनून है। जब कोई व्यक्ति अपने सपनों को लेकर बहुत भावुक होता है तो कोई भी उसे रोक नही सकता है।

निष्कर्ष

हम सभी को अपने सपने को एक लक्ष्य की तरह देखना चाहिए, क्योकि हम मानव है और भगवान ने हमे एक ऐसा मस्तिष्क दिया है जो कि हमे जानवरों की तुलना मे कही बेहतर बनाता है। जैसा कि जानवर और किड़े भी, खाते है, सोते है, लेकिन इंसानों और जानवरों मे फर्क बस इतना है, कि उनका कोई उद्देश्य नही होता है। इसलिए आप एक जानवर की तरह मत बनों और अपने मस्तिष्क का उपयोग करें और एक लक्ष्य निर्धारित करके उसकी ओर आगे बढ़े।

निबन्ध 3 ( 600 शब्द ) - मैं क्या बनना चाहता हूं: एक इंजीनियर

परिचय

सपना बड़ा होना चाहिए यह जरुरी नही है, यदि आप किसी लक्ष्य को हासिल करना चाहते है तो आपको उस लक्ष्य की प्राप्ति के लिए कड़ी मेहनत की जरुरत है। आमतौर पर छात्र मेरी ही तरह समयानुसार अपना लक्ष्य बदल देते है। जब मै छोटा था तो आटोरिक्शा मुझे अपनी ओर बहुत आकर्षित करता था और वास्तव मे वह एक पहेली की तरह था और मै अपनी मां से इसकी सवारी करने के लिए हमेशा कहा करता था। जब मै थोड़ा बड़ा हुआ, तो मैने एक साक्षात हवाई जहाज को देखा और अब मुझे इसकी सवारी करने की उत्सुकता होने लगी। अंत मे मेरे माता-पिता को लगा कि मै मशीनों से प्यार करता हूं, और जब भी मेरे पिताजी मुझे अपने गराज ले जाना चाहते थे, तब मै बहुत उत्सुक होता था।

एक इंजीनियर कैसे बने? (How to be an Engineer?)

मेरे इंजीनियर बनने के पीछे एक और कारण है और वो है मेरे पिता जी। वह एक इंजीनियर है और वह हमेशा लोगों की मदद करते है और लोग उन्हे धन्यवाद भी देते है, तब मुझे उनपर गर्व महसूस होता था, और मैने फैसला किया कि एक दिन मै भी इंजीनियर बनूंगा। मेरे माता-पिता ने कभी मुझे मजबूर नही किया बल्कि मुझे अपना लक्ष्य खुद ही चुनने के लिए कहते है।

एक इंजीनियर बनने के लिए आपको अपने एकेडमी के अध्ययन पर ध्यान केन्द्रित करना होगा जिससे कि आपको आगे की पढ़ाई के लिए कालेज का चुनाव करने मे मदद मिलेगी। एक तो आपको अपनी 11वी और 12वी कक्षा के लिए साइन्स स्ट्रीम का चुनाव करना होगा और एक प्रवेश परीक्षा उत्तीर्ण करनी होगी जो आपके कालेज के चुनाव करने मे मदद करेगी। भारत मे ऐसे कई कालेज है। यह किसी अन्य कालेज मे प्रवेश पाने की तरह नही है, इसके लिए आपको एक आई.आई.टी. कालेज मे प्रवेश लेना होता है। आजकल की प्रतियोगिता का स्तर बहुत ऊंचा और बेहतर हो गयी है।

अपने सपनों को पूरा करने के लिए मुझें क्या करना चाहिए (What I Do to Achieve My Dreams)

मैं रोजाना चार घंटे पढ़ता हूं और अपने असाइनमेंट और प्रोजेक्ट को समय पर पूरा करता हूं। दरअसल अनुशासन हमारे जीवन के लिए बहुत आवश्यक है, और यदि आप चीजों को पूरा करने को अपनी आदत बना लेते है, तो यह हमेशा आपकी सफलता मे मदद करेगा। मेरी एक दिनचर्या है और नियमित रुप से मै इसका पालन करता हूं। जब भी मुझे किसी विषय को लेकर संदेह होता है, तो मै अपने शिक्षक की सहायता लेता हूं और इसे हल करता हूं। खुद को स्थिर और केन्द्रित रखने के लिए सभी चीजों का साफ होना बहुत आवश्यक है। एक इंजीनियर के रुप मे मै दूसरों की मदद कैसे करुंगा।

मैने स्वचलित मशिन के अविष्कार करने का फैसला किया है जो कि लोगों की मदद करेगा और उनके काम को और आसान बना देगी। आमतौर पर लोग घर की सफाई के लिए बहूत खर्च करते है, और मेरे घर मे क्लीनर की कमी के कारण मेरी मां को बहुत तकलीफ होती है। इसलिए मै अन्य लोगों के साथ -साथ अपनी मां के लिए आटोमैटिक हाउस क्लिनर को गिफ्ट करने का फैसला किया है। मैं छात्रों के लिए एक मशीन बनाना चाहता हूं जो उनकी पढ़ाई मे उनका मार्गदर्शन कर सके।

आमतौर पर गूगल पर जब भी हम कुछ खोजते है, तो उसके लिए हमे अपने फोन या लैपटाप के स्क्रीन पर लगातार देखते है, जो कई मामलों मे हमारे लिए बहुत नुकसानदायी होता है। इसलिए मै एक ऐसा उपकरण विकसित करना चाहता हूं, जो आपको एक शिक्षक की तरह सिखाएं और स्वचलित रुप से आपको चित्र भी दिखाए, और आपको आपकी आवश्यकता के अनुसार सारी जानकारी उपलब्ध कराए।

निष्कर्ष

कोई क्षेत्र छोटा नही होता है, यदि कुछ मायने रखता है तो यह कि आप उसके बारे मे कैसा सोचते है। कुछ लोग अपने पेशे से पैसा कमाना चाहते है तो कुछ लोग अपने पेशे से औरों की मदद करना चाहते है। आपको केवल एक चीज के बारे मे सोचने की आवश्यकता है, कि आप खुद से काम के प्रति कितना वफादार है। जब पढ़ने का समय हो तो पढ़े, और खेलने के समय खेलें, और आप यकिन करे कि आप एक दिन अवश्य सफल होंगे। हमारे इतिहास मे ऐसे कई उदाहरण है, जैसे कि न्यूटन, थामस एडिसन, डॉ. ए.पी.जे. अब्दुल कलाम आदि के संघर्षो की कहानी को पढ़े, यह निश्चित रुप से आपको सफल होने के लिए प्रेरित करेगा। अपने पेशे के अलावा एक अच्छा इंसान बनने की कोशिश करें, क्योकि यह केवल आपके काम को ही नही आपके दृष्टिकोण को भी बदल कर आपको सफल बनाने मे आपकी मदद करेगा।