शिक्षा क्यों महत्वपूर्ण है पर निबंध

शिक्षा मनुष्य के जीवन में एक वास्तविक धन की तरह है। यह वह धन है जो कभी खत्म नहीं होता है और जीवन भर हम इसका उपयोग कर सकते है। संपत्ति जैसे अन्य धन की अपेक्षा शिक्षा का गहना जीवन में कभी भी आपको नुकसान नहीं पहुंचते हैं। शिक्षा और शिक्षित लोग ही असल में समाज और राष्ट्र असली रत्न के रूप में हैं। शिक्षा के महत्त्व को किसी व्यक्ति में बचपन से ही पैदा किया जाना चाहिए।

इस निबंध में मैं आपके शिक्षा के महत्त्व के बारे में आपको बताऊंगा। यह छात्रों के विचारों और उनके प्रायोगिक परीक्षाओं के लिए काफी सहायक सिद्ध हो सकती है।

शिक्षा क्यों महत्वपूर्ण है पर दीर्घ निबंध (Long Essay on Why is Education Important in Hindi)

1300 Words Essay

परिचय

जिस प्रकार एक अच्छे भवन निर्माण के लिए एक अच्छी और मजबूत नीव की आवश्यकता होती है, उसी तरह एक व्यक्ति को इस समाज का एक सभ्य नागरिक बनने के लिए शिक्षा बहुत ही महत्वपूर्ण होती है। शिक्षा हमें जीने का तरीका सिखाती है और हमारे जीवन के मूल्यों को भी समझाती हुए बताती है। बेहतर शिक्षा और इससे हर किसी को दुनिया का एक बेहतर नजरिया सीखने को मिलता है। बच्चों के लिए शिक्षा के महत्त्व को समझाना बहुत ही आवश्यक है।

शिक्षा क्या है?

"शिक्षा" जीवन को सीखने की एक प्रक्रिया है। यह प्रक्रिया जन्म से शुरू होकर मनुष्य के मृत्यु तक चलती रहती है। हम जीवन के हर पड़ाव पर सिखते हैं। हम अच्छी शिक्षा प्राप्त करने के लिए विभिन्न अच्छे शिक्षण संस्थानों में जाते हैं। सामान्य तौर पर अगर हम शिक्षा की बात करें तो यह केवल परीक्षा में अंक प्राप्त करने के बारे में नहीं है। यह इस बारे में होता है कि वास्तव में जीवन में हमने क्या सीखा है। शिक्षा अच्छी आदतों, मूल्यों और कौशलता के साथ-साथ ज्ञान प्राप्त करने के बारे में होता है। यह हमारे व्यक्तित्व और हमारे चरित्र को दर्शाता है और हमें अपने जीवन में सफल होने के लिए हमेशा प्रेरित करता रहता है।

शिक्षा का महत्त्व

  • शिक्षा हमें ज्ञान प्रदान कराती है

स्कूलों में हम सभी औपचारिक शिक्षा प्राप्त करते हैं। हम स्कूलों में विभिन्न विषयों, नैतिक मूल्यों और अन्य गतिविधियों के बारे में शिक्षा लेते हैं और उन्हें सिखते है। अध्ययन करने से हमें बहुत से क्षेत्रों के बारे में जानकारी अर्थात ज्ञान की प्राप्ति होती है और इस प्रकार हमारे ज्ञान में भी वृद्धि होती है। स्कूली शिक्षा प्राप्त करने के बाद हमारे अंदर वास्तविक चरण विकसित होता है। पढ़ना और लिखना हमारे अंदर के ज्ञान को बढ़ाने के तरीके हैं।

  • गलत धारणाओं को मिटाने में मदद करता है

शिक्षा हमारे समाज में फैली कुरीतियों और अंधविश्वासों को मिटाने का एक साधन है। यह हमारे सोचने के तरीके को और विस्तृत करता है। बहुत से लोग काम पढ़े-लिखे और अनपढ़ होते है और वो झूठी मान्यताओं और अफवाहों पर यकीन बहुत जल्दी से कर लेते हैं। वो आखें बंद करके हर चीजों पर विश्वास कर लेते हैं। शिक्षा हमें इस प्रकार के झूठे विश्वासों को दूर करने में हमारी मदद करती है।

  • सामाजिक कुरीतियों को दूर करने में शिक्षा सहायक होती है

हमारा समाज निरक्षरता, गरीबी, बेरोजगारी, बाल श्रम, बाल-विवाह आदि जैसे कई कुरीतियों से भरा पड़ा है। हमारा समाज या राष्ट्र केवल शिक्षित होकर ही इन कुरीतियों से छुटकारा पा सकता है। शिक्षित लोगों को दूसरों को सिखाने, उन्हें शिक्षा के महत्त्व, और उन्हें स्कूल जाने के महत्त्व को समझना और उन्हें शिक्षा के लिए प्रेरित करना चाहिए। शिक्षा ही इन सामाजिक बुराइयों को कम कर सकती है और साथ ही रोजगार के संभावनाओं को भी बढ़ा सकती है, जिससे गरीबी कम हो सकती है।

  • शिक्षा हमें विकास की ओर लेकर जाती है

हमारे समाज में शिक्षित और पढ़े-लिखे लोगों को अच्छा काम या नौकरी मिलती है और इस तरह उनका पेशेवर जीवन और बेहतर होता है। अच्छे अकादमिक रिकॉर्ड और ज्ञान वाले किसी भी व्यक्ति को उनके जीवन में नौकरी के अच्छे अवसर मिलते हैं। यह हमें जीवन में अच्छे कमाई करने की क्षमता प्रदान करती है।

शिक्षा हमें कौशलता प्रदान करती है, और हमें कौशल निपुण बनाती है। एक अच्छी नौकरी पाने के लिए अच्छा ज्ञान और कौशल होना बहुत ही जरूरी है। लिखने, पढ़ने, सीखने और कौशल क्षमता रखने वाले लोगों को नौकरी करने से बहुत लाभ होता है। इस प्रकार शिक्षा हमारे देश में मौजूद बेरोजगारी की समस्याओं पर काबू पाने में मदद करती है।

  • हमें अच्छा नागरिक बनाता है

ज्ञान एक मूल्यवान संपत्ति है, और यह हमें शिक्षित बनाती है। शिक्षा हमारे अंदर की जागरूकता को बढ़ाती है, और यह हमें गलत रास्ते पर भी जाने से रोकती है। शिक्षा बुद्धि, अच्छे नैतिक मूल्यों और आदतों को विकसित करती है। यह हमें समाज और राष्ट्र में एक बेहतर स्थिति प्रदान करवाता है। पढ़े-लिखे लोगों की सभी प्रशंसा करते हैं। शिक्षा हमें समाज का जिम्मेदार नागरिक बनाकर राष्ट्र के नियमों, विनियमों और कानून को समझने और उनका पालन करने में हमारी मदद करती है। यह हमारी समृद्ध संस्कृति और परंपरा को सम्मान देने के साथ-साथ उन्हें समझने और उनके बारे में हमें अवगत भी कराती है।

  • शिक्षा हमारे संचार कौशल को बढ़ाने में मदद करती है

किसी कार्य को जितना बेहतर हम समझ सकते है, उतना ही बेहतर हम उसे बता भी सकते हैं। बोल कर अच्छा संचार विकसित कर सकते हैं, जब कि हमारे पास उस विषय का अच्छा ज्ञान प्राप्त हो। इसे सीखकर हासिल किया जा सकता है। किसी भी विषय के बारे में अच्छा ज्ञान हमारे आत्मविश्वास को बढ़ाता है और हमारे संचार कौशल को समृद्ध करता है। जब तक हम उस विषय/चीज के बारे में नहीं समझेंगे तब तक उस विषय पर कोई संदेश देना संभव नहीं है।

  • हमें सही और गलत की पहचान कराती है

ज्ञान की प्राप्ति हमें अपने जीवन में शिक्षित बनाती है। यह हमें दुनिया को बेहतर तरीके से समझने में हमारी मदद करता है। शिक्षा हमें सही और गलत में फर्क करने की ताकत देती है। यह हमारी विश्लेषण करने की शक्ति को बढ़ाती है। यह ज्ञान हमें अपने जीवन में हमारे ध्यान भटकाने और गलत काम करने से रोकती है।

बच्चों के लिए शिक्षा का महत्त्व

बच्चों के लिए शिक्षा बहुत ही महत्वपूर्ण है। यह उन्हें अपने जीवन में अपने भविष्य के लक्ष्यों को सोचने और समझने में उनकी मदद करता है। एक बच्चा जन्म के तुरंत बाद सीखना शुरू कर देता है। प्रारंभ में माता-पिता ही बच्चे के शिक्षक के रूप में होते है इसलिए उन्हें ही जीवन का सबसे बड़ा और प्रथम शुरू माना जाता है। बच्चों को शिक्षा के महत्त्व को समझाना चाहिए। इससे उन्हें अपने जीवन में जिम्मेदारियों और समय के महत्त्व को समझने में मदद मिलेगी। माता-पिता को शुरू से ही बच्चों में पढ़ने की आदत डालनी चाहिए क्योंकि इससे बच्चों में किताबों के प्रति उनकी रूचि विकसित होती है और उन्हें ज्ञान मिलता है। कुछ भी जब शुरू से ही आत्मसात हो जाता है तो वह छात्रों को भविष्य के लिए तैयार करता है।

क्या शिक्षा वास्तव में हमारे लिए महत्वपूर्ण है?

ज्ञान प्राप्त करने और शिक्षित होने की प्रक्रिया निश्चित रूप से हमारे जीवन में सफलता के सभी द्वार खोलती है। हमारा जीवन तब तक सार्थक नहीं है जब तक हम सपने न देखें। हमारे सपनों को पूरा करने के लिए शिक्षा एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। भारत में शिक्षा प्रणाली में कुछ बदलाव करने की आवश्यकता है और यह नई शिक्षा निति 2020 में परिलक्षित हुआ है। व्यक्ति की शिक्षा को केवल उसके अकादमिक रिकॉर्ड से नहीं आका जाना चाहिए। स्किल डेवलपमेंट को उसके साथ अवश्य ही शामिल करना चाहिए।

यह आवश्यक नहीं है कि हममें से हर कोई पढ़ाई में अच्छा हो। शिक्षा किसी विशेष क्षेत्र यानि केवल पढ़ाई के लिए ही बाध्य नहीं है। इसका सीधा सा मतलब है हर चीज के बारे में सीखना। हमारे जीवन में शिक्षा एक निवेश की तरह है, जिससे हमेशा लाभ ही होता है और इससे कोई नुकसान नहीं होता है। इसलिए हम कहते हैं कि शिक्षा हम सभी के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है।

निष्कर्ष

कोई भी राष्ट्र वहां के लोगों के द्वारा ही जाना जाता है। शिक्षा वहां के लोगों को उनके लक्ष्य को प्राप्त करने और उनके आस-पास की दुनिया को समझने में मदद करती है। शिक्षा लोगों की बुद्धि और उनके ज्ञान को और अधिक बढ़ाता हैं, और उन्हें समाज का एक जिम्मेदार नागरिक बनाता है। यह बदले में राष्ट्र को प्रगति और विकास की ओर ले जाता है। शिक्षा ही हमारे समाज और हमारे राष्ट्र में एक बड़ा बदलाव ला सकती है।