• बारिश/वर्षा ऋतु पर कविता

    वर्षा ऋतु चारों ऋतुओं में से एक है, यह वह ऋतु है जिसकी मनमोहक छंटा देखते ही बनती है। इसकी सबसे खास बात यह है ...
  • स्वयं

    खुद पर कविता

    विश्व में शायद ही ऐसा कोई व्यक्ति हो जिस की कोई ख्वाहिशें नहीं हों, नीचे दिए गए कविताओं में खुद की ख्वाहिशों पर प्रकाश डाला ...
  • गणतंत्र दिवस

    गणतंत्र दिवस पर कविता

    गणतंत्र दिवस मनाने की शुरुआत 26 जनवरी 1950 से हुई थी। जब भारत में “भारत सरकार अधिनियम” के स्थान पर भारत के संविधान को लागू ...
  • स्वतंत्रता दिवस

    स्वतंत्रता दिवस पर कविताएं

    स्वतंत्रता दिवस पर कविता, 15 अगस्त को देश के आजाद होने पर अपने भावों की काव्यात्मक अभिव्यक्ति का प्रदर्शन है। हमारा देश 15 अगस्त 1947 ...
  • गाय

    गाय पर कविता

    गाय सबसे शान्त और घरेलू पशु है। गाय पर कविता, गाय के स्वभाव, उसकी प्रकृति, समाज में उसकी वर्तमान स्थिति और महत्व को ध्यान में ...
  • दोस्ती

    दोस्ती पर कविता

    एक प्यारा सा दिल जो कभी नफरत नहीं करता, उसे ही दोस्ती कहते हैं| जी हां दोस्तों हम आपके लिए ऐसी ही कई सारी कविताएं ...
  • बेटी बचाओ

    बेटी पर कविता

    नीचे दिए गए कविताओं में बेटी पर हो रहे अत्याचारों और जमाने की जंजीरों में जकड़े हुयी उन बेटिओं के बारे में बताया गया है, ...
  • माँ

    माँ पर कविता

    माँ जीवन का वह रुप है, जिससे ईश्वर भी अभिभूत है। निचे दिए गए कविताओं में माँ के द्वारा किया हुआ त्याग बताया गया है। ...
  • भारत

    मेरा भारत पर कविता

    देश के लिए प्यार और कुछ करने का जज्बा बहुत कम लोगों में होती है। लेखक ने ये कविता मातृभूमि से प्यार और देश के ...
  • मुस्कान या मुस्कुराहट पर कविता

    मुस्कान किसी भी व्यक्ति के हृदय की अभिव्यक्तियों को प्रदर्शित करती है। किसी के चहरे पर मुस्कान को देखकर हम उसकी खुशी का अनुमान लगा ...