गणतंत्र दिवस 2019 पर स्लोगन (नारा)

भारतीय गणतंत्र दिवस 26 जनवरी के दिन मनाये जाना वाला एक राष्ट्रीय पर्व है, इस दिन को पूरे भारतवर्ष में काफी धूम-धाम के साथ मनाया जाता है। यह दिन हमारे लिए काफी खास इसलिए भी है क्योंकि इसी दिन हमारे देश में गणतंत्र की स्थापना हुई। जिससे हमारे देश के नागरिकों को तमाम तरह के अधिकार दिये और हमारे देश के संविधान के कारण सभी को समानता और स्वतंत्रता का अधिकार प्राप्त हुआ। गणतंत्र दिवस के इसी महत्व को देखते हुए हमने इन स्लोगन को तैयार किया है। जो आपके लिए भाषणों, निबंधो तथा अन्य कई कार्यों में आपके काम आयेंगे।

ऐसे कई अवसर आते हैं जब आपको गणतंत्र दिवस से संबंधित भाषण, निबंध या स्लोगन की आवश्यकता होती है। यदि आपको भी गणतंत्र दिवस से जुड़ी ऐसे ही सामग्रियों की आवश्यकता है तो परेशान मत होइये हम आपकी मदद करेंगे। हमारे वेबसाइट पर गणतंत्र दिवस से जुड़ी तमाम तरह की सामग्रियां उपलब्ध हैं, जिनका आप अपनी आवश्यकता अनुसार उपयोग कर सकते हैं।

गणतंत्र दिवस 2019 पर नारा (Slogans on Republic Day of India 2019 in Hindi)

हमारे वेबसाइट पर गणतंत्र दिवस के विषय के लिए विशेष रुप से तैयार किए गये कई सारे स्लोगन उपलब्ध हैं। जिनका उपयोग आप अपने भाषणों या अन्य कार्यों के लिए अपनी आवश्यकता के अनुसार कर सकते हैं। ऐसे ही अन्य सामग्रियों के लिए भी आप हमारे वेबसाइट का उपयोग कर सकते हैं।

Unique and Catchy Slogans on Republic Day 2019 in Hindi Language

रिपब्लिक डे पर भाषण के लिए यहां क्लिक करें

गणतंत्र दिवस का दिन है सुहाना, इस दिन संविधान की बातों को हमें होगा अपनाना।

 

गणतंत्र दिवस आया है, राष्ट्रभक्ति और प्रेम का दिन लाया है।

 

आओ गणतंत्र दिवस पर मिलकर करें कार्य, उठाये देशहित का सेवाभार।

 

गणतंत्र दिवस के दिन आजाद हुआ भारतवर्ष, इसकी स्वतंत्रता को बरकरार रखने हेतु करना होगा हमें संघर्ष।

 

संविधान से ही भारत बना गणतंत्र, इसके ही कारण हर व्यक्ति जीवन जीता है स्वतंत्र।

 

आओ मिलकर मनाये गणतंत्र दिवस, देश को और उन्नत करने की ले शपथ।

 

गणतंत्र दिवस है हमारे दिलों के काफी पास, इसलिए यह राष्ट्रीय पर्व है हमारे लिए काफी खास।

 

गणतंत्र दिवस जब आता है, भारत विश्व को अपनी शक्ति दिखलाता है।

 

26 जनवरी को मिली थी भारत को गणतंत्र की शक्ति, क्योंकि यह है वह वस्तु जो हमें देती है आजादी की अभिव्यक्ति।

 

गणतंत्र दिवस डालता है भारत में नये प्राण, इसके बिना लोकतंत्र हो जायेगा निष्प्राण।

 

26 जनवरी के दिन हुआ था नवभारत का आरंभ, पूर्ण स्वतंत्रता प्राप्त करके भारत ने तोड़ा था अंग्रेजी हुकूमत का दंभ।

 

26 जनवरी को मिला भारत को गणतंत्र का वरदान, इसीलिए है गणतंत्र दिवस का यह दिन बहुत महान।

 

आओ मिलकर सबको समझाएं गणतंत्र दिवस का अर्थ, समाज को बनाएं शक्तिशाली और लोगों को बनाए समर्थ।

 

गणतंत्र दिवस है भारतीय गणतंत्र का प्रतीक, इस दिन गणतंत्र दिवस परेड में दिखलायी जाती है भारतीय रक्षा तकनीक।

 

स्वतंत्रता तब तक स्वतंत्रता नहीं है जब तक कि ये सभी को बराबर अधिकार प्रदान न करे।

 

सही अर्थों में दासता स्वतंत्रता से अच्छी है, कम से कम ये सभी के साथ एक जैसा तो व्यवहार करती है।

 

स्वतंत्रता कुछ भी नहीं है, इसलिये दिखाई नहीं देती सिर्फ महसूस की जाती है।

 

 

स्वतंत्रता किसी भी शासक से आजाद होना नहीं है बल्कि सभी बंधनों से मुक्त होना है चाहे वो शारीरिक, सामाजिक, राजनीतिक, मानसिक या बौद्धिक ही क्यों न हो।

 

स्वतंत्रता वो धन है जो मनुष्य को शारीरिक, मानसिक सामाजिक और मनोवैज्ञानिक तौर पर खुश करता है।

 

एक युवा होने के नाते हमें केवल एक सत्य में विश्वास में करना चाहिये कि हम देश का भाग्य बदलने की ताकत है।

 

राष्ट्रीय ध्वज के रंगों को मत देखों, बस केवल इसके पीछे छिपे अर्थ को महसूस करो।

 

हम लोकतांत्रिक देश में रहने पर गर्व महसूसस करते हैं, हांलाकि क्या हम लोकतंत्र का वास्तविक अर्थ जानते हैं?

 

हम शासकीय प्रणाली आजाद हो चुके हैं, किन्तु अभी भी भ्रष्टाचार और आतंकवाद से शासित है।

 

हम मंगल ग्रह तक अपनी पहुँच बनाने में सफल हो गये पर अपनी संकीर्ण मानसिकता में आज भी जकड़े हुये हैं।

 

हम अंतरिक्ष में नये आसियाने की खोजो में लगे हैं पर पृथ्वी पर बसे हुये पुराने आसियाने को उजाड़ रहे हैं।

 

हम आजादी पाने के लिये छटपटाते हैं और मिलने पर उसका सही अर्थ नहीं समझ पाते हैं।

 

हम विदेशी शासकों से तो आजाद हो चुके हैं पर अपने राजनेताओं के जातिवाद और क्षेत्रवाद में उलझे हुये हैं।

 

वास्तविक अर्थ में, स्वतंत्रता बिमारियों, लालच और मानसिक गंदगी से आजाद होना है।

 

स्वतंत्रता की वास्तविक स्थिति वो है जहाँ एक अपनी पाँचो ज्ञानेद्रियों को अपने वश में कर लेता है।

 

चलो, इस गणतंत्र दिवस पर एक स्वप्न देखे: एक राष्ट्र, एक उद्देश्य और एक पहचान।

 

भारतीय होना हमारी पहचान है, हांलाकि गणतंत्र होना हमारे देश की पहचान है।

 

तिरंगा, जिससे हम गणतंत्र दिवस पर फहराते हैं, हमारी आजादी का संकेतक है।

 

67वाँ गणतंत्र दिवस मनाना हमारा सौभाग्य है।

 

इस गणतंत्र दिवस पर अन्तिम सांस तक देश के लिये जीने की एक प्रतिज्ञा लेते है।

 

यदि आप स्वतंत्रता से जीना चाहते हो तो अपने देश को प्यार करो!

 

यदि आप वास्तविक अर्थों में स्वतंत्रता चाहते हो तो, गंदगी, प्रदूषण और ग्लोबल वार्मिंग से आजाद हो।

 

हमारे पूर्वजों ने हमें गणतंत्र देश दिया है, लेकिन; क्या हम अपने आगे आने वाली पीढ़ी को प्रदूषण मुक्त राष्ट्र देने में सक्षम होंगे।

 

भारत को गणतंत्र देश बनाना हमारे पूर्वजों का सपना था और; हमारा सपना साफ और हरा-भरा भारत होना चाहिये।

 

गणतंत्र दिवस एक राष्ट्रीय कार्यक्रम है जब भारत की शक्ति, संस्कृति और एकता प्रदर्शित होती है।

 

चलो, गणतंत्र दिवस की तरह स्वच्छ भारत दिवस मनायें।

 

चलो, गणतंत्र भारत में विकास का स्वागत करें।

 

हम 1950 से गणतंत्र दिवस मना रहें हैं लेकिन 2019 तक स्वच्छ भारत दिवस मनाने को सुनिश्चित करें।

 

चलो, इस साल गणतंत्र दिवस स्वच्छ भारत, विकलित भारत के उद्देश्य से मनायें।

 

हम अपने असली हीरों के कारण 67वाँ स्वतंत्रता दिवस मनाने पर गर्व महसूस करते हैं।

 

देश में स्वतंत्रता बनाये रखने के लिये अपनी जिम्मेदारियों को वफादारी के साथ निर्वहन करें।

 

देश के लिये अपने कर्तव्यों के प्रति वफादार बनें।

 

बच्चें बचाओं, राष्ट्र बचाओं।

 

बाल-श्रम को रोको और देश के विकास को सुनिश्चित करो।

 

बेटी पढ़ाओं, राष्ट्र को विकसित बनाओं।

 

देश के सशक्तिकरण के लिये महिला सशक्तिकरण करो।

 

स्वच्छ भारत, हरा भारत, प्रदूषण मुक्त भारत।

 

स्वतंत्र भारत, गणतंत्र भारत, चलो, इसे हम विकसित भारत बनायें।

 

स्वच्छ भारत, विकसित भारत, गणतंत्र भारत का बस यही उद्देश्य है।

 

भारत का भविष्य बदलने के लिये, बच्चों को बचाओ, महिलाओं को बचाओ।

 

स्वच्छ भारत, विकसित भारत, वास्तव में एक अविश्वसनीय भारत हो जाएगा।

 

चलो, 67वें स्वतंत्रता दिवस पर असली नायकों को सलाम करें।

 

भारत हमारा घर है; चलो, इसे अपने युवाओं के लिये इसे स्वच्छ और हरा भारत बनायें।

 

देश में मनाये जाते है तीन राष्ट्रीय त्योहार, जिसमें से एक है गणतंत्र दिवस का अवसर।

 

पूर्ण स्वराज के साथ 26 जनवरी को शुरु हुआ था आजादी का सपना, यहीं कारण है कि इस दिन हम मनाते हैं गणतंत्र दिवस अपना।

 

खुशनसीब है हमारा देश क्योंकि यहां है गणतंत्र का शासन, क्योंकि तानाशाही और राज व्यवस्था में होता है मनुष्य का शोषण।

 

गणतंत्र दिवस का यह विशेष दिन, जो वर्ष में आता सिर्फ एक दिन।

 

गणतंत्र दिवस की खुशियां मनाओ, देशहित के लिए संविधान की बातों को अपनाओ।

 

आओ मिलकर संविधान के सामने शीश झुकाएं, साथ मिलकर गणतंत्र दिवस का पर्व मनायें।

 

हमारा गणतंत्र हमारा स्वाभिमान और पहचान, इसीलिए तो गणतंत्र दिवस के पर्व का हमारे दिलों में है विशेष स्थान।

 

जिस दिन का रहता है सबको इंतजार, वो है गणतंत्र दिवस का राष्ट्रीय त्योहार।

 

गणतंत्र दिवस का रहता सबको इंतजार, इस दिन से हर भारतवासी करता प्यार।

 

साथ मिलकर गणतंत्र दिवस मनायेंगे, सबको गणतंत्र का वास्तविक अर्थ समझायेंगे।

 

 

सम्बंधित जानकारी:

गणतंत्र दिवस

गणतंत्र दिवस पर निबंध

गणतंत्र दिवस पर भाषण

गणतंत्र दिवस पर कविता

गणतंत्र दिवस परेड