आतंकवाद पर स्लोगन (नारा)

आज के समय में आतंकवाद एक वैश्विक समस्या बन चुका है, शायद ही विश्व में ऐसा कोई देश हो जो इससे प्रभावित ना हुआ हो। आतंकवाद को रोकने के लिए राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कई प्रयास किए जाते है पर फिर भी अभी तक इस विषय में कोई खास परिणाम नही प्राप्त हुए है। आंतकवाद एक ऐसा महौल है, जिसमें अपने राजनैतिक और धार्मिक लक्ष्यो को प्राप्त करने लिए हिंसा का इस्तेमाल किया जाता है। वैसे तो आतंकवाद के कई रुप और कारण है पर इसका सबसे बड़ा कारण है धार्मिक कट्टरवाद और सरकार को इसपे अंकुश लगाने में अभी तक कोई खास सफलता नही मिली है, क्योंकि इसका अंत तभी संभव है। जब प्रत्येक व्यक्ति इस विषय को लेकर जागरुक और जानकार हो।

ऐसे कई अवसर आते है जब आपको आतंकवाद के विषय से जुड़े भाषणो, निबंधो या नारों की आवश्यकता होती है। यदि आपको भी आतंकवाद के विषय से जुड़े ऐसे ही सामग्रियों की आवश्यकता है तो परेशान मत होइये हम आपकी मदद करेंगे। हमारे वेबसाइट पर आतंकवाद से जुड़ी तमाम तरह की सामग्रियां उपलब्ध है, जिनका आप अपनी आवश्यकता अनुसार उपयोग कर सकते है।

आतंकवाद पर नारा (Slogans on Terrorism in Hindi)

हमारे वेबसाइट पर आतंकवाद के विषय पर विशेष रुप से तैयार किए गये कई सारे नारे उपलब्ध है। जिनका उपयोग आप अपने भाषणो या अन्य कार्यो के लिए अपनी आवश्यकता के अनुसार कर सकते है। ऐसे ही अन्य सामग्रियों के लिए भी आप हमारे वेबसाइट का उपयोग कर सकते है।

Unique and Catchy Slogans on Terrorism in Hindi Language

आतंकवाद पर भाषण के लिए यहा क्लिक करें

 

हर व्यक्ति ने ठाना है, आतंकवाद मिटाना है।

 

जब सभ्य बनेगा हरेक इंसान, आतंकवाद का मिटेगा नामो निशान।

 

हर एक बच्चा शिक्षित बनेगा, आतंकवाद के दानव से लड़ेगा।

 

देश का नागरिक जागेगा, आतंकवाद भागेगा।

 

धर्म के नाम पे उन्माद ना फैलाओ, छोटे-छोटे बच्चो को आतंकवादी ना बनाओ।

 

बच्चा-बच्चा कर रहा पुकार, सब मिलकर करो आतंकवाद पर वार।

 

दुनिया में मचा है हाहाकार, आतंकवाद पर करो तुम वार।

 

आतंकवाद मिटाओ, दुनिया को बेहतर बनाओ।

 

हर भारतवासी का यही है सपना, आतंकवाद मुक्त बने देश अपना।

 

जब आतंकवाद का नाश होगा, विश्व का विकास होगा।

 

जन-जन ने यह ठाना है, धार्मिक कट्टरता को मिटाना है।

 

पूरा करो बापू का सपना, आतंकवाद मुक्त बनाओ भारत अपना।

 

आतंकवाद एक दिमक के तरह है जो धीरे-धीरे एक राष्ट्र को खोखला कर देता है।

 

जनहित में यह सूचना जारी, आतंकवाद को रोकने की करो तैयारी।

 

लड़ाई करनी है तो आर पार की करो, यू पीछे से छुप कर आतंकवाद का सहारा लेकर वार ना करो।

 

देश के तरक्की के राह में बाधा बन के खड़ा हो गया है, आतंकवाद हमारे सोच से भी बड़ा हो गया है।

 

देश की जनता का लहू पी जाता है, कभी धर्म तो कभी क्षेत्र के नाम पर यह आतंकवाद ना जाने कितनों की लाशें बिछाता है।

 

विश्व और भी सुंदर बन जायेगा, जब आतंकवाद मिट जायेगा।

 

आतंकवाद विश्व के लिए एक अभिशाप है।

 

एक जागरुक नागरिक का यह कर्तव्य है कि वह आतंकवाद के विषय में लोगो के अंदर जागरुकता पैदा करें।

 

आतंकवाद का कोई धर्म नही, इन मानवता की हत्या करने वालो के हृदय में कोई मर्म नही।

 

आतंकवाद की समस्या जब समाप्त होगी, तभी विश्व में शांति व्यवस्था व्याप्त होगी।

 

मानवता के लिए शांति है वरदान, आतंकवाद का खात्मा करके बनेंगे हम बेहतर इंसान।

 

हम सुरक्षित जीवन जी पाते है, क्योंकि हमारी सुरक्षा के लिए देश के जवान आतंकवाद के राह में खड़े हो जाते है।

 

हर दिन ही ना जाने कितने रोते बिलखते है, आतंकवाद की घटनाओं में ना जाने कितने ही अपने से बिछड़ते है।

 

देश की आजादी का सम्मान करेंगे, आतंकवाद की समस्या से जी जान से लड़ेंगे।

 

 

सम्बंधित जानकारी:

वैश्विक आतंकवाद पर भाषण

आतंकवाद पर निबंध

भारत में आतंकवाद पर निबंध