खेल पर भाषण

हम यहाँ छात्रों के लिए विभिन्न शब्द सीमाओं में उनकी जरुरत और आवश्यकता के अनुसार खेल पर भाषण उपलब्ध करा रहे हैं। सभी खेल भाषण बहुत सरल है और विद्यार्थियों के लिए आसान व साधारण भाषा में, छोटे वाक्यों के रुप में लिखे गए है। वे दिए गए भाषणों में से कोई भी भाषण अपनी कक्षा के स्तर के अनुसार चुन सकते हैं। इस तरह के भाषणों का प्रयोग करके विद्यार्थी अपने स्कूल में आयोजित किसी भी कार्यक्रम के दौरान भाषण बोलने में आसानी से कर सकते हैं।

खेल पर भाषण (Long and Short Speech on Sports in Hindi)

खेल पर भाषण 1

आदरणीय महानुभावों, प्राचार्य महोदय, सर, मैडम और मेरे प्यारे साथियों को मेरा नम्र सुप्रभात। जैसा कि हम सभी जानते हैं कि, हम सभी यहाँ इस अवसर को मनाने के लिए इकट्ठा हुए हैं, इस अवसर पर मैं खेल पर भाषण देना चाहता/चाहती हूँ। खेल हम सभी के प्रतिदिन के जीवन के लिए बहुत अच्छा होता है क्योंकि ये हमें स्वस्थ्य वातावरण में सामान्य शारीरिक गतिविधियों में शामिल करता है। खेल का वातावरण खिलाड़ियों के लिए बहुत ही प्रतियोगी और चुनौतिपूर्ण हो जाता है इसलिए वे चुनौतियों को सामने रखकर उन पर ध्यान केंद्रित करते हैं। एक व्यक्ति की शारीरिक सुन्दरता उसके लिए मानवता निर्माण में सहायक होती है। खेल बहुत प्रकार के होते हैं जो अलग-अलग देशों में विभिन्न देश के लोगों द्वारा खेले जाते हैं। किसी भी खेल का, राष्ट्रीय और अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर किसी भी देश में आयोजन किया जाता है। समय-समय पर खेल में क्रान्तिकारी परिवर्तन आये हैं और अष्टांग या योगा की अन्य क्रियाओं द्वारा इन्हें बदला भी गया है। खेल खेलना हमें पूरे जीवनभर बहुत से तरीकों से मदद करता है।

खेल

विभिन्न प्रकार के खेलों की क्रियाएं हमारे लिए बहुत प्रकार के सकारात्मक अवसर लाती है। इसमें बहुत सी समस्याएं भी आती है हालांकि, वे इतना अधिक मायने नहीं रखती। खेल गतिविधियों में भाग लेना बच्चों की स्कूली उपलब्धियों को बढ़ाता है। बच्चों के जीवन में खेल बड़ी उपलब्धियों को प्राप्त करने का रास्ता है हालांकि, ये उनकी गतिशीलता और उस अनुभव पर अधिक निर्भर होता है जो उनके पास पहले से होता है। किसी भी खेल में रुचि, पूरे विश्वभर में पहचान और जीवन भर के लिए उपलब्धी प्रदान कर सकती है। खेल की चुनौतियों का सामना करना हमें जीवन की अन्य चुनौतियों से निपटने के साथ ही इस प्रतियोगी संसार में जीवित रहना भी सिखाता है।

कुछ खिलाड़ी खेलों में अपने बचपन से ही, कुछ भगवान के उपहार के रुप में जन्म से ही रुचि रखते हैं हालांकि, उनमें से कुछ लोग किसी विशेष खेल में अपनी रुचि बनाते हैं ताकि वो जीवन में धन और प्रसिद्धि प्राप्त कर सकें। हम में से कुछ को अपने माता-पिता, अध्यापकों या प्रसिद्ध खिलाड़ी से प्रेरणा प्राप्त करने और प्रोत्साहित होने की आवश्यकता होती है हालांकि, हम में से कुछ को ये प्रेरणा भगवान से उपहार के रुप में प्राप्त होती है। खेलों में रुचि रखने वाले एथलीट अपने सबसे अच्छे प्रयासों के साथ खेलते हैं, चाहे फिर वो हारे या जीतने से वंचित रह जाए, पर वे कभी भी अपने सर्वश्रेष्ठ प्रयासों को करना नहीं छोड़ते। वे पहले से ही इस वास्तविकता को जानते हैं कि, वे कुछ खेलों को जीतेगें और कुछ को हारेंगे भी। सफलता पाने के लिए वे पूरे जीवनभर बहुत ही अनुशासित रहते हैं और समय पर तैयार होते हैं। वे अपने खेल के लिए पूरी प्रतिबद्धता के साथ नियमित अभ्यास करते हैं।

धन्यवाद।

खेल पर भाषण 2

आदरणीय प्रधानाचार्य, अध्यापकों और मेरे प्यारे मित्रों को मेरी सुबह की नमस्ते। मैं इस अवसर पर खेल पर भाषण देना चाहता/चाहती हूँ। मैं अपने कक्षा अध्यापक का/की बहुत आभारी हूँ कि, उन्होंने मुझ पर विश्वास करके इस अवसर पर बोलने का मौका दिया। मेरे प्यारे साथियों, खेल और स्पोर्ट दोनों ही हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं क्योंकि वो हमें मजबूत, स्वस्थ्य और तंदरुस्त बनाये रखते हैं। ये वो क्षेत्र है जो, हमें एक समान दिनचर्या से कुछ अलग परिवर्तन दे सकता है। सभी खेलों को पसंद करते हैं क्योंकि ये मनोरंजन का एक उपयोगी साधन होने के साथ ही शारीरिक गतिविधियों का भी एक तरीका है। ये प्रकृति में चरित्र निर्माणकर्ता और बड़े स्तर पर ऊर्जा और मजबूती देने वाला है।

खेल या स्पोर्ट्स क्रियाओं में सक्रिय रुप से भाग लेने वाले व्यक्ति का शारीरिक और मानसिक विकास दूसरों से अच्छा होता है। यह हमें जीवन में बहुत सारी आवश्यक चीजों को सीखने देता है। यह हमारे व्यक्तित्व, आत्मविश्वास के स्तर में विकास और शारीरिक व मानसिक संतुलन बनाये रखने में मदद करता है।

स्पोर्ट्स और खेलों में रुचि, हमें जीवन में कठिन परिस्थितियों का सामना करने और शरीर और मस्तिष्क को तनाव रहित बनाने में मदद करती है। यह टीम सदस्यों के बीच में मित्रता की भावना को विकसित करने, एकसाथ काम करने की आदत को बढ़ावा देती है। यह मस्तिष्क और शरीर को आकार देने और थकान और सुस्ती को हटाने के द्वारा मानसिक और शारीरिक कड़ाई वाले व्यक्ति का निर्माण करती है। यह पूरे शरीर में रक्त परिसंचरण में सुधार करती है इस प्रकार, व्यक्ति के मानसिक और शारीरिक स्तर में सुधार होता है।

स्पोर्ट्स और खेल वो गतिविधियाँ है जो, व्यक्ति को उच्च स्तर की क्षमता के साथ व्यक्ति को और अधिक सक्षम बनाता है। यह मानसिक थकावट दूर करता है और हमें किसी भी कठिन काम को करने के लिए सक्षम बनाता है। आधुनिक शिक्षा प्रणाली में, शिक्षा को और अधिक दिलचस्प बनाने के लिए खेल को शिक्षा का अभिन्न अंग बना दिया गया है। शिक्षा को बिना खेलों के अधूरा माना जाता है क्योंकि खेलों के साथ शिक्षा, बच्चों का अध्ययन की ओर अधिक ध्यान खिंचती है।

स्पोर्ट्स गतिविधियाँ सभी के लिए, विशेषरुप से बच्चों और युवाओं के लिए बहुत आवश्यक है क्योंकि ये शारीरिक और मानसिक विकास को बढ़ावा देती हैं। यह स्मृति स्तर, एकाग्रता स्तर और बच्चों की सीखने की क्षमता में सुधार करता है। एक छोटा बच्चा भी यदि बचपन से ही अपने प्रिय खेल का अभ्यास करें तो प्रसिद्ध राष्ट्रीय और अन्तर्राष्ट्रीय स्तर का खिलाड़ी बन सकता है। बच्चों को अपने स्कूल में आयोजित होने सभी खेलों में अपनी झिझक को हटाकर आगे बढ़ने के लिए भाग लेना चाहिए। स्पोर्ट्स और खेल एक अच्छे खिलाड़ी के लिए अच्छा भविष्य, कैरियर के रुप में रखते हैं। यह हमें अपने जीवन में आगे बढ़ने, धन- नाम और कमाने का अवसर प्रदान करते हैं। आजकल, सभी स्कूलों और कॉलेजों में स्पोर्ट्स सुविधाओं को ग्रामीण और शहरी दोनों इलाकों में विकसित कर दिया गया है ताकि विद्यार्थी खेल गतिविधियों में रुचि लें और एक बेहतर रास्ते को चुन सकें।

धन्यवाद।

खेल पर भाषण 3

आदरणीय अध्यापकों और मेरे प्यारे साथियों को सुप्रभात। जैसा कि हम सभी इस .... कार्यक्रम को मनाने के लिए यहाँ इकट्ठा हुए हैं, मैं इस अवसर पर हमारे जीवन में खेलों के महत्व के विषय पर भाषण देना चाहता/चाहती हूँ। मैं अपने कक्षा अध्यापक/अध्यापिका की बहुत आभारी हूँ कि, उन्होंने मुझे इस अवसर पर आप सभी के सामने अपने विचार रखने का मौका दिया। एक बच्चा होने के नाते, एक सबसे आम सवाल हमारे मस्तिष्क में अक्सर उठता है कि, क्यों कुछ लोग खेलों को अपने कैरियर के रुप में चुनते हैं और उचित शिक्षा के बिना वे कैसे सफलता प्राप्त करते हैं? कहाँ से उन्हें खेलों में जाने की प्रेरणा मिलती है? मेरे विचार से, उनमें से कुछ जन्म से ही खेलों में रुचि रखते हैं, कुछ को उनके माता-पिता द्वारा प्रेरणा मिलती है और कुछ प्रसिद्ध खिलाड़ियों से प्रेरणा प्राप्त करते हैं। इसके पीछे चाहे कोई भी कारण क्यों न हो, वास्तविकता यह है किय यदि कोई सच में खेलों में रुचि रखता है तो, वह भविष्य में निश्चित ही सफलता प्राप्त करेगा।

खेलों से प्यार करने वाले व्यक्ति हमेशा उचित अनुशासन के साथ खेल का नियमित अभ्यास करते हैं। बहुत से लोग कभी भी खेलों के महत्व और लाभों को नहीं समझते हालांकि, कुछ लोग जो तंदरुस्त, आकर्षक और हमेशा अच्छे दिखना चाहते हैं वो अपने स्वास्थ्य और फिटनेस के बारे में अधिक सचेत हो जाते हैं। खेल हमारे जीवन में बहुत लाभकारी हो सकते हैं क्योंकि ये हमारे कैरियर निर्माण के साथ ही हमारे स्वास्थ्य और फिटनेस सहित अन्य तरीकों से भी लाभ प्रदान करता है। पहले, लोग खेल गतिविधियों और स्वास्थ्य और फिटनेस प्राप्त करनें में बहुत अधिक रुचि नहीं रखते थे। यद्यपि, आजकल, सभी विशेष रुप से खेलों में प्रसिद्ध, स्वस्थ्य, फिट और सक्रिय होना चाहते हैं। इस क्षेत्र का फैलाव बहुत अधिक विस्तृत हो गया है क्योंकि प्रत्येक व्यक्ति जीवन में इसके महत्व और लाभों को समझता है। लोग जानते हैं कि, खेलों में किसी भी अन्य क्षेत्र से ज्यादा बेहतर कैरियर, नाम, प्रसिद्धि और पैसा है।

स्पोर्ट्स और खेल वो गतिविधियाँ हैं जो शारीरिक रुप से व्यस्त और अंजाने में फिट रखती हैं। कल्पना करो, यदि एक कार को सही से सर्विस न दी जाये या उसका उचित तरीके से प्रयोग न किया जाये तो यह बेकार और जंग लगी हो जायेगी। इसी तरह, यदि हम शारीरिक गतिविधियों में शामिल नहीं होते तो हमारा शरीर भी कुछ समय बाद बेकार हो सकता है जो अस्वस्थ्य और दर्द भरे जीवन का एक बड़ा कारण बनता है। हमारा शरीर भी कार के इंजन की तरह है, दोनों ही नियमित उपयोग स्वस्थ्य आहार से ही फिट रह सकते हैं। खेल गतिविधियाँ हमारे रक्त दाब (ब्लड प्रेशर), संचरण और अन्य मानसिक क्रियाओं को सक्रिय और संतुलित रखती हैं। शोध के अनुसार, यह पाया गया है कि वो लोग जो अपने जीवन में किसी भी शारीरिक गतिविधि में शामिल नहीं होते, उन्हें मध्य आयु में बहुत सी समस्याओं का सामना करना पड़ता है जैसे; उच्च रक्त दाब, तनाव, थकान, अवसाद आदि।

कुछ लोग किसी भी खेल को नहीं खेलते लेकिन टीवी पर खेल को देखने के शौकीन होते हैं जैसे- क्रिकेट, हॉकी, फुटबाल, वॉलीबाल आदि। यह उनके पसंदीदा खिलाड़ी के जीतने पर उन्हें खुशी और आनंद देता है। आजकल, खिलाड़ियों की बाजार में बहुत माँग है क्योंकि राष्ट्रीय और अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर उनकी बहुत व्यवसायिक कीमत है। हमें अपने जीवन में किसी भी खेल गतिविधि में, न केवल अपना कैरियर बनाने के लिए बल्कि स्वस्थ्य और फिट रहने के लिए शामिल होना चाहिए।

धन्यवाद।


 

खेल पर भाषण 4

मेरा नाम ................है। मैं कक्षा.... में पढ़ता/पढ़ती हूँ। आप सभी को मेरा सुप्रभात। मेरे प्यारे मित्रों, आज हम सभी यहाँ इस अवसर को मनाने के लिए इकट्ठा हुए हैं और इस अवसर पर मैं, ‘खेल हमारे जीवन में क्या करता हैं?’ विषय पर भाषण देना चाहता/चाहती हूँ। जैसा कि हम सभी जानते हैं कि खेल हमें बहुत तरीकों से लाभ पहुँचाते हैं हालांकि, हम अभी भी उनसे पूरी तरह लाभ नहीं ले रहे हैं। खेल जीवन में बहुत सी चीजों को प्राप्त करने में मदद करता है जैसे; स्वास्थ्य, फिटनेस, शान्ति, धन, नाम प्रसिद्धि आदि। यह हमें जीवन में बहुत अधिक अवसर प्रदान करता है हालांकि, इसके लिए पूरी प्रतिबद्धता, समर्पण और नियमित अभ्यास की आवश्यकता है। यदि हम गलत तरीके से इनका अभ्यास करते हैं तो, हमें इनसे कुछ समस्याएं भी हो जाती हैं हालांकि, ये खुशी और शान्ति का स्रोत है। बहुत से अभिभावकों के सर्वे के अनुसार, उनके कथनों में यह पाया गया कि, खेलों में भागीदारी ने बच्चों की स्कूल उपलब्धियों को बढ़ा दिया है।

खेल जीवन के किसी विशेष क्षेत्र तक ही सीमित नहीं है, यह एक व्यक्ति को जीवनभर के लिए उपलब्धियों को प्रदान करता है। यह पाया गया है कि, वो बच्चे जो चुनौतिपूर्ण खेल प्रतियोगिताओं में भाग लेते हैं वो कक्षा की चुनैतियों को भी पसंद करते हैं और वे प्रतियोगी समाज में भी कार्य कर सकते है। खेलों में नियमित भागीदारी बच्चों को स्कूल और जीवन में खेल खेलना सिखाती है। वे अच्छी तरह से जानते हैं कि हारे हुए खेल को कैसे जीतना है। खिलाड़ी हमेशा अनुशासित और जीवन भर आत्मविश्वास से भरे रहते हैं और जीवन के कठिन संघर्षों में भी कभी निराश नहीं होते। वे आसानी से नैतिकता, आवश्यक कौशल और जीने की कला को विकसित कर लेते हैं।

इस तरह के तकनीकी संसार में, समाज में प्रतियोगिता निरंतर बढ़ती जा रही है जिसके लिए बच्चों और युवाओं को आगे जाने के लिए अधिक प्रयासों की आवश्यकता है। इस अवस्था में, खेल व्यक्ति के शान्तिपूर्ण और कुशल मस्तिष्क के विकास में निर्माणकारी भूमिका को निभाता है जो इस प्रतियोगी क्षेत्र में जीने के लिए बहुत आवश्यक है। कोई भी व्यक्ति जो खेल गतिविधियों में रुचि रखता है, वो जीवन के किसी भी खेल में कभी भी हार नहीं मानता। खेल या स्पोर्ट्स में उन लोगों को टीम का खिलाड़ी बनना सिखाता है जो हमेशा आकर्षण का केन्द्र बने रहना वाला रवैया रखते हैं। खेल और स्पोर्ट्स आत्मविश्वास बनाने वाली गतिविधियाँ हैं जो, बच्चों को बहुत अधिक आनंद प्रदान करती हैं। यह सुधार, उपलब्धियों और व्यक्तिगत प्रगति की भावनाओं को लाती है। यह एक खिलाड़ी को राष्ट्रीय प्रसिद्धि के साथ ही विश्वव्यापी प्रसिद्धि देता है।

आजकल, लड़कियाँ भी लड़कों की तरह ही बड़े स्तर पर, अपने आत्मविश्वास के साथ बिना किसी पारिवारिक और सामाजिक झिझक के खेल गतिविधियों में भाग ले रही हैं। खेल कैरियर निर्माणकर्ता है जो, बेहतर और उज्ज्वल भविष्य में सहायक है। आधुनिक समय के बच्चे विभिन्न प्रकार के खेलों में बहुत ही रुचि रखते हैं क्योंकि वे खेलों, टीवी कार्यक्रमों या कार्टून नेटवर्क के कार्यक्रमों से छोटी उम्र में ही प्रोत्साहित होना शुरु हो जाते हैं।

धन्यवाद।

 

 

सम्बंधित जानकारी:

खेलकुद पर भाषण

खेल पर निबंध

खेल के महत्व पर निबंध