प्रेम पर स्लोगन (नारा)

प्रेम एक प्रकार की भावना तथा एक एहसास है। यद्यपि साधरणतः लोग प्रेम का अर्थ एक स्त्री तथा पुरुष के मध्य उत्पन्न होने वाले प्रेम से समझते है, परन्तु ऐसा नही है। प्रेम के कई प्रकार है जैसे राष्ट्र प्रेम, परिवार प्रेम, भातृ प्रेम तथा अपने मित्रों से प्रेम का अहसास रखना भी एक तरह का प्रेम ही है। प्रेम या जिसे प्यार भी कहा जाता है मानव जीवन में एक बहुत महत्वपूर्ण स्थान रखता है, क्योंकि यह भावना है जो किसी वस्तु तथा रिश्ते से हमारे लगाव तथा उसके लिए किए जा सकने वाले त्याग को प्रकट करता है।

प्रेम (प्यार) पर नारा (Slogans on Love in Hindi)

ऐसे कई अवसर आते हैं जब आपको प्रेम से जुड़े भाषणों, निबंधो या स्लोगन की आवश्यकता होती है। यदि आपको भी प्रेम से जुड़े ऐसे ही सामग्रियों की आवश्यकता है तो परेशान मत होइये हम आपकी मदद करेंगे।

हमारे वेबसाइट पर प्रेम से जुड़ी तमाम तरह की सामग्रियां उपलब्ध हैं, जिनका आप अपनी आवश्यकता अनुसार उपयोग कर सकते हैं।

हमारे वेबसाइट पर प्रेम के लिए विशेष रुप से तैयार किए गये कई सारे स्लोगन उपलब्ध हैं। जिनका उपयोग आप अपने भाषणों या अन्य कार्यों के लिए अपनी आवश्यकता के अनुसार कर सकते हैं।

ऐसे ही अन्य सामग्रियों के लिए भी आप हमारे वेबसाइट का उपयोग कर सकते हैं।

Unique and Catchy Slogans on Love in Hindi Language

 

प्रेम का कोई आधार नहीं होता, यह एक बार होता है बार बार नहीं होता।

 

प्रेम का कोई आधार नहीं होता, यह एक बार होता है बार बार नहीं होता।

 

जिसमें परमात्मा का वास है, ये प्रेम ऐसा एहसास है।

 

जिसमें परमात्मा का वास है, ये प्रेम ऐसा एहसास है।

 

जहाँ स्वार्थ न हो वहाँ सच्चा प्यार होता है, ये लाखों में कहीं किसी को एक बार होता है।

 

जहाँ स्वार्थ न हो वहाँ सच्चा प्यार होता है, ये लाखों में कहीं किसी को एक बार होता है।

 

अगर किसी की खातिर आप सबसे अज़ीज़ हैं, यकीन मानिये आप सबसे खुशनसीब हैं।

 

अगर किसी की खातिर आप सबसे अज़ीज़ हैं, यकीन मानिये आप सबसे खुशनसीब हैं।

 

प्रेम का फल अगर मिल जाये तो चखना, मगर ध्यान रहे इसे सम्हाल के रखना।

 

प्रेम का फल अगर मिल जाये तो चखना, मगर ध्यान रहे इसे सम्हाल के रखना।

 

 

जिसे प्रेम हो गया वो कहाँ गरीब होगा, इस दुनिया में वही सबसे खुशनसीब होगा।

 

जिसे प्रेम हो गया वो कहाँ गरीब होगा, इस दुनिया में वही सबसे खुशनसीब होगा।

 

प्रेम का वसूल है ये इस जहान में, सारी खुशियां समेट देती है ये एक इंसान में।

 

प्रेम का वसूल है ये इस जहान में, सारी खुशियां समेट देती है ये एक इंसान में।

 

प्रेम है सबसे महत्वपूर्ण, इसके बिना जीवन है अपूर्ण।

 

प्रेम है सबसे महत्वपूर्ण, इसके बिना जीवन है अपूर्ण।

 

प्रेम सबसे अनूठा एहसास है, ये एक नहीं कई जन्मों का साथ है।

 

प्रेम सबसे अनूठा एहसास है, ये एक नहीं कई जन्मों का साथ है।

 

प्रेम एक ऐसा एहसास है, जो दुनिया में सबसे ख़ास है।

 

प्रेम एक ऐसा एहसास है, जो दुनिया में सबसे ख़ास है।

 

 

प्रेम से वो जिंदगी निखार गयी थी, जो सदियों पहले टूट के बिखर गयी थी।

 

जब प्रेम हो मन में तो द्वेष नहीं होता, दुखों का कोई समावेश नहीं होता।

 

प्रेम का रखो मान, इसके प्रसार को बनाओ अपना अभिमान।

 

प्रेम का प्रसार है सर्वत्र, जो लोगो में उत्पन्न करता भाव अत्र।

 

प्रेम के लिए ना जाने कितनों ने किया संघर्ष, इसे पाकर लोगों के ह्रदय में उदय हुआ नया उत्कर्ष।

 

प्रेम से करो हर काम, जग में अवश्य होगा तुम्हारा नाम।

 

प्रेम के गुण है महान, जिस पर लोगो ने न्यौछावर किये प्राण।

 

प्रेम का जहा होता है अभाव, वहा नही होता है लोगों में समभाव।

 

जिनके ह्रदय होते है प्रेम हीन, उन्हें सुख नही मिलते नवीन।

 

प्रेम की महिमा है अनन्य, जिसे मिल जाये वह हो जाता है धन्य।

 

प्रेम मे सदा होता है मृदुभाव, जो लोगो का बदल देता है स्वभाव।

 

प्रेम, दया और करुणा का सागर है भारतवर्ष, जहां सदा लोगो ने किया है बुराई और अत्याचारों से संघर्ष।

 

शत्रुता लाती है जीवन में पतन और दंभ, प्रेम को अपनाकर करो नवयुग का आरंभ।

 

चलाओ मैत्री और प्रेम का अभियान, जिससे विश्व भर में हो शांति और सदभाव का गुणगान।

 

सदा करो लोगो से सरल व्यवहार, हमेशा मिलेगा जीवन में प्रेम अपार।

 

प्रेम नही है कोई व्यापार, इसमें मिलती खुशियां अपार।

 

प्रेम लाता है जीवन में शक्ति, इसकी गरिमा प्रदान करती मनुष्य को विचारों की अभिव्यक्ति।

 

देश हो चाहे परिवार प्रेम, यह हमेशा याद दिलाता अपनों की कुशल क्षेम।

 

प्रेम सिखाता है मानव को दया भाव, प्रेम का मार्ग अपनाने वालो के जीवन में नही होता कोई आभाव।

 

चाहे हो संसार पर आधिपत्य पूरा, पर प्रेम बिना है जीवन अधूरा।

 

प्रेम ही वह वस्तु है जो पशु को भी मनुष्य बना देती है।

 

प्रेम बिना जीवन का कोई आधारस्तंभ नही है।

 

जीवन में प्रेम की महिमा है अपार, इसके बीना सब है बेकार।

 

प्रेम मनुष्य को सभ्य बनाता, जीवन के भीतर नयी गरिमा लाता।

 

सम्बंधित जानकारी:

देश प्रेम/देशभक्ति पर निबंध