राष्ट्रीय एकता पर स्लोगन (नारा)

राष्ट्रीय एकता एक प्रकार की भावना है, जो किसी राष्ट्र में रहने वाले लोगो के अंदर अपने राष्ट्र के एकता और अखंडता के प्रति होती है। इसके साथ ही यह उस देश के लोगों की अपने देश के अखंडता के प्रति आदर को भी प्रकट करता है। राष्ट्रीय एकता की भावना किसी देश के विभिन्न धर्म, संप्रदाय, जाति तथा विभिन्न भाषा बोलने वाले लोगो को एकसाथ लाने का कार्य करती है। भारत जैसे बहुसांस्कृतिक देश के लिए राष्ट्रीय एकता का महत्व बहुत ज्यादे है, क्योंकि भारत की एकता ही इसके शक्ति का आधार है।

ऐसे कई अवसर आते हैं जब आपको राष्ट्रीय एकता से जुड़े भाषणों, निबंधो या स्लोगन की आवश्यकता होती है। यदि आपको भी राष्ट्रीय एकता से जुड़े ऐसे ही सामग्रियों की आवश्यकता है तो परेशान मत होइये हम आपकी मदद करेंगे। हमारे वेबसाइट पर राष्ट्रीय एकता से जुड़ी तमाम तरह की सामग्रियां उपलब्ध हैं, जिनका आप अपनी आवश्यकता अनुसार उपयोग कर सकते हैं।

राष्ट्रीय एकता पर नारा (Slogans on National Integration in Hindi)

हमारे वेबसाइट पर राष्ट्रीय एकता के लिए विशेष रुप से तैयार किए गये कई सारे स्लोगन उपलब्ध हैं। जिनका उपयोग आप अपने भाषणों या अन्य कार्यों के लिए अपनी आवश्यकता के अनुसार कर सकते हैं। ऐसे ही अन्य सामग्रियों के लिए भी आप हमारे वेबसाइट का उपयोग कर सकते हैं।

Unique and Catchy Slogans on National Integration in Hindi Language

राष्ट्रीय एकता पर भाषण के लिए यहां क्लिक करें

 

राष्ट्रीय एकता को बनाए रखना है, देश को सजाए रखना है।

 

राष्ट्रीय एकता से है हमारा अस्तित्व, इसे बनाए रखना है हमारा दायित्व।

 

राष्ट्रीय एकता का बहुत बड़ा है प्रभाव, इसे उत्पन्न होता देश में सदभाव।

 

देश की आजादी के लिए हुई अनगिनत जंग, पर प्राप्त हुई आजादी राष्ट्रीय एकता के संग।

 

देश की राष्ट्रीय एकता है अविभाज्य, इसी के बल बूते टिका हुआ है भारत का साम्राज्य।

 

बहुत मुश्किलों से हुआ है राष्ट्रीय एकता का निर्माण, इसके लिए ना जाने कितने क्रांतिकारियों ने दियें अपने प्राण।

 

 

राष्ट्रीय एकता का करों चुनाव, देशहित से करो लगाव।

 

राष्ट्रीय एकता के विषय में दो सबको ज्ञान, देशहित के लिए चलाओ अभियान।

 

राष्ट्रीय एकता बिना है भारत अपूर्ण, यह भावना राष्ट्र को परिपूर्ण।

 

आओ मिलकर बढ़ाये राष्ट्रीय एकता को सब लोग, ताकि देश में तरक्की का हो सके उपयोग।

 

राष्ट्रीय एकता है देश की तरक्की का आधार, इसके बिना है सब बेकार।

 

राष्ट्रीय एकता है भारत का रीढ़, इसके बिना है देश शक्तिक्षीण।

 

राष्ट्रीय एकता के बिना भारत है शक्तिहीन, इसके द्वारा भारत में होता शक्तिसंचार नवीन।

 

हमारे राष्ट्रीय एकता ने तोड़ा है अनगिनत महाशक्तियों का दंभ, इसके द्वारा भारत में हुआ है नवयुग का आरंभ।

 

जिन देशों में होता है राष्ट्रीय एकता का आभाव, वहा नही देखने को मिलता है लोगो में सदभाव।

 

राष्ट्रीय एकता का हमें समझना होगा अर्थ, यह है वह शक्ति जो देश में पैदा करती है सामर्थ्य।

 

 

राष्ट्रीय एकता का है देशहित से संबंध, इसमें विघ्न डालने वालों पर लगना चाहिए प्रतिबंध।

 

देश की एकता है सबसे महत्वपूर्ण, इसके बिना देश की शक्ति है अपूर्ण।

 

राष्ट्रीय एकता को स्थिर रखना है सबसे बड़ा कार्य, इसका पालन करना है सबके लिए अनिवार्य।

 

चाहे हो कोई भी विवाद, पर राष्ट्रीय एकता पर चोट करना है अपराध।

 

प्रदेश और भाषा के नाम पर ना करो विवाद, राष्ट्रीय एकता को तोड़ना है सबसे बड़ा अपराध।

 

हमारे देश की राष्ट्रीय एकता और अखंडता ही इसकी शक्ति का आधार है।

 

राष्ट्रीय एकता को बनाए रखना देश के हर नागरिक का कर्तव्य है।

 

भाषा और राज्य के नाम पर लोगो से भेदभाव राष्ट्रीय एकता को प्रभावित करता है।

 

राष्ट्रीय एकता ही स्वतंत्र भारत का आधारस्तंभ है।

 

सम्बंधित जानकारी:

एकता पर भाषण

राष्ट्रीय एकता पर भाषण

विविधता में एकता पर भाषण

एकता में बल है पर भाषण

विविधता में एकता पर निबंध

एकता में अटूट शक्ति है पर निबंध

धर्म एकता का माध्यम है पर निबंध

एकता में बल है पर निबंध