जीवन पर स्लोगन (नारा)

जीवन का तात्पर्य उस अवधि से है जो हम अपने पैदा होने से लेकर मृत्यु तक व्यतीत करते है। मानव जीवन एक ऐसा विषय है जिसे पूर्ण रुप से परिभाषित नही किया जा सकता है, क्योंकि यह अनिश्चितताओं से भरा होता है और इसमें सदैव ही उतार-चढ़ाव आते रहते हैं। लगभग हर व्यक्ति का जीवन दूसरे व्यक्ति से काफी हद तक भिन्न होता है, कई लोग तमाम अभावो के बाद भी जीवन का पूर्ण रुप से आनंद ले पाते है। वहीं दूसरी ओर कई लोग हर तरह की सुविधाओं के बावजूद भी जीवन में कभी संतुष्ट नही रह पाते, उनके अंदर सदैव ही और ज्यादे पाने की लालसा तथा अपनी वर्तमान संपदा के खोने का भय बना रहता है।

ऐसे कई अवसर आते हैं जब आपको जीवन से जुड़े भाषणों, निबंधो या स्लोगन की आवश्यकता होती है। यदि आपको भी जीवन से जुड़े ऐसे ही सामग्रियों की आवश्यकता है तो परेशान मत होइये हम आपकी मदद करेंगे। हमारे वेबसाइट पर जीवन से जुड़ी तमाम तरह की सामग्रियां उपलब्ध हैं, जिनका आप अपनी आवश्यकता अनुसार उपयोग कर सकते हैं।

जीवन पर नारा (Slogans on Life in Hindi)

हमारे वेबसाइट पर जीवन के लिए विशेष रुप से तैयार किए गये कई सारे स्लोगन उपलब्ध हैं। जिनका उपयोग आप अपने भाषणों या अन्य कार्यों के लिए अपनी आवश्यकता के अनुसार कर सकते हैं। ऐसे ही अन्य सामग्रियों के लिए भी आप हमारे वेबसाइट का उपयोग कर सकते हैं।

Unique and Catchy Slogans on Life in Hindi Language

जीवन पर भाषण के लिए यहां क्लिक करें

 

बचपन, तरुण, यौवन और बुढ़ापा जीवन के पढ़ाव चार, सच्चाई का मार्ग ही है जीवन का मूलाधार।

 

जीवन है अनमोल, इसका नही है कोई मोल।

 

जीवन का करो तुम सदुपयोग, कार्य करो ऐसे जिससे वाहवाही करे लोग।

 

जीवन में बनाए रखो स्वाभिमान, इससे पाओगे हर जगह सम्मान।

 

जीवन जीने में ना रखो कोई वियोग, अपने कार्यों से करो नित्य नये प्रयोग।

 

धर्म है जीवन का मूल, अच्छे कार्यों को तुम करना ना जाना भूल।

 

जीवन जीओ नये विचार से, जीवन जीओ नये अधिकार से।

 

 

जीवन में रखना तुम कभी ना धन का दंभ, क्योंकि ऐसा करने वालों का हो जाता है बुरा वक्त आरंभ।

 

विश्व भर में होनी चाहिए आजादी की अभिव्यक्ति, ताकि लोगों को मिल सके जीवन जीने की शक्ति।

 

जीवन ऐसे जीओ की ना रहे कोई खेद, बोलो मीठी वाणी जिससे ना रहे अपने पराये का भेद।

 

सत्य और चेतना है जीवन की आशा, गलत कार्य करने वालों को सदा मिलती है निराशा।

 

जीवन में सदा करो अच्छा कार्य, लोगो को भी सिखाओ नित्य नये सुविचार।

 

अपने-परायों का भेद मिटाओ, जीवन से सारे खेद मिटाओ।

 

जीवन में पैदा करो तुम सामर्थ्य, तभी मिलेगा इसका असली अर्थ।

 

जीवन में बनो प्रतिभाशाली, तभी जीवन में आयेगी खुशहाली।

 

 

जीवन में खोजो उन्नति का मार्ग, भूल कर भी ना चुनो कुमार्ग।

 

जीवन का आनंद उठाओ, हंस कर बोलो सबसे दुखो को दुर भगाओ।

 

जीवन में मिल सकती है खुशिया अनंत, बस चुनना होगा तुम्हे सही पंथ।

 

जीवन में आने वाले उतार-चढ़ाव से हमें हताश नही होना चाहिए।

 

जिसने जीवन में विपत्तियों को नही सहा उसने जीवन का असली सुख नही लिया।

 

जीवन वह विषय है जिसे परिभाषित करना लगभग असंभव है।

 

मानव जीवन ऐसा है, जिसे हम चाहे तो स्वर्ग भी बना सकते हैं और नर्क भी।

 

यदि जीवन में सदा याद रखोगे कष्ट, तो जीवन का आनंद हो जायेगा नष्ट।

 

जीवन ईश्वर का दिया हुआ सबसे बहुमूल्य तोहफा है।

 

स्वाभिमान है जीवन का रस, इसके बिना जीवन हो जाता नीरस।

सम्बंधित जानकारी:

शहरी जीवन बनाम ग्रामीण जीवन पर निबंध

स्वस्थ जीवन शैली पर निबंध

सादा जीवन उच्च विचार पर निबंध

विद्यार्थी जीवन में अनुशासन के महत्व पर भाषण

मेरे स्कूली जीवन पर भाषण

जीवन पर भाषण