मित्रता पर भाषण

हम यहाँ मित्रता पर बहुत से भाषण उपलब्ध करा रहे हैं। सभी भाषण विद्यार्थियों के लिए, आसान और साधारण शब्दों का प्रयोग करके आसान वाक्यों में लिखे गए हैं। मित्रता पर भाषण 3 मिनट, 5 मिनट, 7 मिनट आदि समय सीमा के अनुसार दिए गए हैं। भाषणों के चुनाव के लिए आप एकदम सही स्थान पर है, आप अपनी जरुरत और आवश्यकता के अनुसार कोई भी भाषण चुन सकते हैं:

दोस्ती पर भाषण

दोस्ती पर भाषण 1

हम यहाँ इस शुभ अवसर पर इकट्ठा हुए हैं, इस अवसर पर मैं दोस्ती पर भाषण देना चाहता/चाहती हूँ। सबसे पहले, यहाँ उपस्थित सभी महानुभावों, अध्यापकों और अध्यापिकाओं को मेरी सुबह की नमस्ते। एक दोस्त हम सभी के लिए अनमोल तौहफा होता है। हमें हमेशा उसके महत्व को समझना चाहिए और बिना किसी गलतफहमी के अहमियत देनी चाहिए। मित्रता वो रिश्ता है जहाँ रक्त संबंध का कोई अस्तित्व नहीं होता। यह असीम रिश्ता है, जो हमेशा बिना किसी लेन-देन के नियम के चलता है। यह संसार में अन्य किसी व्यक्ति के साथ प्यार और स्नेह का विशेष और अद्वितीय रिश्ता है। सच्ची दोस्ती कभी भी व्यक्ति की जाति, सम्प्रदाय, धर्म और रंग को नहीं देखती: यह केवल दोस्ती में शामिल होने वाले दो या तीन व्यक्तियों की आन्तरिक सुन्दरता, सादगी और आत्मीयता को देखती है।

दोस्ती

किसी का मित्र वो होता है, जिसके साथ एक व्यक्ति स्वंय को सहज महसूस करता है और एक दूसरे पर विश्वास करने के साथ ही अपनी सभी सोचों, विचारों, व्यक्तिगत भावनाओं को साझा करता है। दोस्त वो होता है, जिसके साथ हम सुरक्षित और भय रहित महसूस करते हैं और जिसके साथ किसी विषय पर दुबारा सोचने की आवश्यकता नहीं होती। सच्चे दोस्त एक-दूसरे को सच्चा प्यार करते हैं और बिना कहे हरेक मामले में एक दूसरे की जरुरत को समझ जाते हैं। वे हमेशा एक दूसरे का समर्थन करने और अच्छी सलाह और ज्ञान प्रदान करने के लिए तैयार रहते हैं। भारत में कृष्ण और सुदामा की सबसे प्रसिद्ध मित्रता थी जो प्राचीन समय से ही सच्ची मित्रता का महान उदाहरण है। एल्बर्ट हुब्बार्ड द्वारा मित्रता के बारे में कहीं हुई आम कहावत है, “एक मित्र, वो व्यक्ति होता है जो आपके बारे में सबकुछ जानता है और तब भी आपसे प्यार करता है।”

सच्चे दोस्त हमेशा एक-दूसरे के साथ खड़े रहते हैं और एक-दूसरे की जरुरत के समय पर मदद और सहायता करते हैं। एक सच्चा दोस्त अपने मित्र की मदद करने के लिए कभी भी अपने महत्वपूर्ण कार्य की भी परवाह नहीं करता और मित्र की सहायता करने के लिए अपने सभी कार्यों को भी छोड़ देता है। वह अपने दोस्त को कभी अकेला नहीं छोड़ता/छोड़ती विशेषरुप से जीवन के कठिन समय के दौरान। यह कहा जाता कि, वक्त विपत्ति के समय में सच्चे दोस्तों की कठिन परीक्षा लेता है। वास्तव में, विपत्ति का समय सबसे अच्छा समय है जो हमें सच्चे दोस्त की अहमियत और महत्व को महसूस कराता है। वो लोग जिनके पास जीवन में सच्चा दोस्त होता है, वास्तव में, उसके पास दुनिया का सबसे बेसकीमती तौहफा होता है। जीवन में बहुत सारे मित्र बनाने से दोस्ती की गुणवत्ता में कोई फर्क नहीं पड़ता। बहुत सारे ऐसे दोस्त, जो किसी जरुरत के समय पर मदद नही करते, के होने के स्थान पर केवल एक या दो सच्चे दोस्त ही जीवनभर के लिए पर्याप्त होते हैं। दोस्त ही जीवन में वास्तविक समर्थक होते हैं जो हमें जीवन की कठिनाईयों का सामना करना सिखाते हैं। वे हमारे वास्तविक शुभचिन्तक होते हैं जो हमारे बुरे विचारों को भी किसी भी अच्छी चीज की ओर कर सकते हैं।

धन्यवाद।

मित्रता पर भाषण 2

आदरणीय अध्यापक महोदय, शिक्षिकाएं और मेरे प्यारे साथियों को मेरा नम्र सुप्रभात। मैं इस महान अवसर पर मित्रता पर भाषण देना चाहता/चाहती हूँ। मैने यह विषय दोस्ती की अहमियत और महत्व पर आप सभी के सामने अपने विचार रखने के लिए चुना है। दोस्ती हर रिश्ते में सबसे पवित्र रिश्ता है, जिसका अस्तित्व एक, दो, या तीन लोगों के बीच होता है। संसार में सच्चा, ईमानदार और प्रिय मित्र मिलना वाकई भाग्य का विषय है। सच्चा मित्र हम में से किसी एक के लिए भगवान का विशेष तौहफा होता है जो उसे मिलता है। सच्चा दोस्त हमारे अर्थहीन जीवन को अर्थपूर्ण बना देता है और हमें सफलता का सच्चा रास्ता दिखाता है। वे दोस्त ही होते हैं जो हमारे जीवन की यात्रा को आसान, उमंगों से भरी हुई और जीवांत बना देते हैं। वे हमारी गलतियों पर कभी नहीं हसते इसके स्थान पर वे हमें लगातार समर्थन के द्वारा सही रास्ता दिखाते हैं।

सच्चे दोस्त हमेशा कठिन समय में अपने दोस्तों की मदद के लिए तैयार रहते हैं चाहे वो कितनी भी व्यस्त दिनचर्या में क्यों न फसे हों। मित्रता वास्तव में, इस संसार में बहुमूल्य संबंध है जिसे कभी भी किसी को भी खरीदा या बेचा नहीं जा सकता। यह तो दो दोस्तों के दिल में एक-दूसरे के लिए प्यार पर निर्भर करता है। यह कभी भी दुनिया के भौतिकवादी सुखों पर निर्भर नहीं करता है। सच्चे दोस्त जीवन की वास्तविक खुशी होते हैं जो एक दूसरे को कभी नहीं भूलते और हमेशा सहायता करते हैं। एक मानव के रुप में हमें जीवन और सामाजिक जीवन में समय-समय पर परिस्थितियों के अनुसार जो समस्याएं आती रहती है, उनसे बाहर निकलने के लिए हमें हौसले की आवश्यकता पड़ती है। इस स्थिति में, हमारे सच्चे दोस्त हमारे जीवन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं और हमें कठिनाईयों से बाहर लाते हैं। एक सच्चे दोस्त के बिना जीवन को अधूरा माना जाता है। सुखी और विलासी जीवन होते हुए भी जीवन में किसी सच्चे दोस्त का न होना मायने रखता है।

एक अच्छा दोस्त वो होता है जिससे की हम अपने जीवन की सभी छोटी व बड़ी खुशियों, रहस्यों और समस्याओं को बिना किसी झिझक के साझा करते हैं। दोस्ती वो रिश्ता है जो हमें भावनात्मक समस्याओं से बचाता है क्योंकि यह हमें अपनी आन्तरिक सोच और भावनाओं को साझा करने के लिए प्रेरित करता है। सच्चे दोस्त कभी भी अपने मित्र की आलोचना नहीं करते इसके अलावा वो उसकी कमियों को दूर करने में मदद करते हैं। जब भी उनमें से एक गलत रास्ता चुनता है तो वे उसे सुरंग के अन्तिम छोर के प्रकाश की तरह दिशा निर्देशित करते हैं। सच्चे दोस्त हमेशा उसके पूरे अधिकारों को समझते हैं और उसे सच्चाई के साथ सही रास्ते को चुनने की सलाह देते हैं। वे हमारी सभी गलतियों को गंभीरता से लेते हैं और हमें सही दिशा में सही रास्ता दिखाने की कोशिश करते हैं। हम यह कह सकते हैं कि सच्चे दोस्त दुनिया में हीरे जैसे अनमोल पत्थर से भी ज्यादा कीमती होते हैं।

धन्यवाद।

मित्रता पर भाषण 3

यहाँ उपस्थित महानुभाव, आदरणीय शिक्षकगण और मेरे प्रिय मित्रों को नमस्कार। आज मेरे भाषण का विषय मित्रता है। जैसा कि हम सभी जानते हैं कि सच्ची मित्रता जीवन का सबसे कीमती तौहफा होती है। एक सामाजिक प्राणी होने के कारण, हम अपना जीवन अकेले नहीं जी सकते। हम एक दूसरे से अपनी जरुरत और आवश्यकता के अनुसार प्राकृतिक रुप से जुड़ जाते हैं और एक पर्याप्त समय सीमा के अंदर हमारे बीच की घनिष्टा और भी बढ़ जाती है जो लम्बे समय तक रहती है। उनके बीच उच्च स्तर का भरोसा होता है जिसे दोस्ती कहा जाता है। सामान्यतः, समान उम्र, समान उत्साह, भावुकता, भावनाओं और स्तर के व्यक्तियों में दोस्ती होती है हालांकि, यह पूरी तरह से आयु, लिंग, सामाजिक स्तर आदि से स्वतंत्र होती है। सच्ची मित्रता किसी भी आयु, धर्म, जाति, लिंग और सामाजिक स्थिति के दो व्यक्तियों के बीच हो सकती है।

मित्रता वो सच्चा रिश्ता है जिसकी आवश्यकता हम सभी को होती है। हम सभी को पूरे जीवन में खुशी से दिन बिताने के लिए सच्चे दोस्त के साथ की आवश्यकता है। वे हमारे साथ हमारे अच्छे और बुरे दिनों में खड़े रहने के साथ ही हमारे खुशी और दुखों के पलों को साझा करने के द्वारा हमें जीवन में वास्तविक खुशी देते हैं। जीवन में सच्ची दोस्ती के उदाहरण देखना बहुत ही दुर्लभ है। हम सभी हमेशा से कृष्ण और सुदामा की सच्ची और ऐतिहासिक दोस्ती के बारे में जानते हैं। लेकिन कुछ लोग बहुत ही स्वार्थी होते हैं और केवल अपने लाभ के लिए धनवान, चालाक और उच्च सामाजिक स्तर के लोगों के साथ मित्रता करते हैं। इस तरह के मित्र कभी भी बुरे वक्त में सहायता नहीं करते इसके स्थान पर वो हमेशा उनसे लाभ उठाना चाहते हैं। वे अपने मित्र को बुरे वक्त में छोड़ देते हैं हालांकि, सच्चे दोस्त अपने दोस्त को कभी अकेला नहीं छोड़ते और हमेशा आवश्यकता के समय उसकी मदद करते हैं।

बहुत से स्वार्थी व्यक्ति अच्छे लोगों के चारों ओर, उन्हें अपना मित्र बनाने के लिए चक्कर लगाते रहते हैं। लेकिन सच्चे दोस्त की परख केवल बुरे वक्त में ही होती है क्योंकि सच्चे दोस्त कभी अपने मित्र को अकेला नहीं छोड़ते और बुरे दोस्त हमेशा इसके विपरीत करते हैं। हमें जीवन में हमेशा दोस्त बनाते समय इस तरह के दोस्तों से सावधानी रखनी चाहिए। सच्चे दोस्त हमेशा जरुरत के समय पर अपने दोस्त की मदद करते हैं। सच्ची दोस्ती के बारे में एक आम कहावत है कि, “जरुरत के समय में साथ देने वाला ही दोस्त होता है” और “अच्छा भाग्य मित्र लाता है लेकिन विपत्ति उनकी परीक्षा लेती है”।

सच्चे दोस्त अपने दोस्त के बारे में अच्छे चरित्र, अच्छी भावनाओं और उनके भले की कामना करते हैं। वे कभी भी अपने दोस्त को दर्द देने की कोशिश नहीं करते इसके अतिरिक्त वे तो हमेशा उनके सम्पर्क में रहने की कोशिश करते हैं। सच्चे दोस्त किसी भी तरह का कोई रक्त संबंध नहीं रखते हालांकि, जो कुछ भी करते हैं वो किसी रक्त संबंधी से भी ज्यादा करते हैं।

धन्यवाद।


 

मित्रता पर भाषण 4

यहाँ उपस्थित सभी आदरणीय महानुभावों को सुबह की नमस्ते। मैं मित्रता के विषय पर भाषण देना चाहता/चाहती हूँ। सबसे पहले, मैं अपने कक्षा अध्यापक/अध्यापिका का/की बहुत आभारी हूँ कि उन्होंने मुझे इस महान अवसर पर आप सभी के सामने बोलने का मौका दिया। मित्रता संसार में सबसे कीमती और खूबसूरत रिश्ते में से एक है। यह रिश्ता खून का रिश्ता नहीं होता हालांकि, किसी भी रक्त संबंध से ज्यादा रिश्तें को निभाता है, जिसकी न तो हम कल्पना कर सकते हैं और न ही शब्दों में व्याख्या कर सकते हैं। वास्तविक और सच्चे दोस्त हमारे हौसले का प्रतीक होते हैं जो हमारे लिए हमेशा भावुक होते हैं और शारीरिक सहयोग करते हैं। जब भी उनके मित्र को बुरे वक्त में, उनकी जरुरत होती है तो सच्चे दोस्त कभी भी अपना कीमती वक्त साथ बिताने में बुरा नहीं मानते और उनके साथ जीवन का भरपूर आनंद लेते हैं। इस संसार में सच्चे दोस्त का मिलना बहुत ही कठिन है हालांकि, नामुमकिन नहीं है। हमें थकना नहीं चाहिए बल्कि पूरे जीवन भर अच्छे दोस्तों की तलाश को जारी रखना चाहिए क्योंकि इसे प्राप्त करना कठिन है, पर नामुमकिन नहीं।

सच्चे दोस्त हमेशा एक साथ रहते हैं और पूरे जीवनभर एक दूसरे के प्रति और एक दूसरे के परिवार के प्रति अपनी सभी जिम्मेदारियों का पालन करते हैं। दोस्ती बहुत प्यारा रिश्ता है जिसकी खूबसूरत यादें पूरे जीवनभर बनी रहती है। हम फिल्में देखना, गानें सुनना, टीवी धारावाहिकों को देखना, खाना खानें, पढ़ाई आदि अन्य कार्य बिना किसी परेशानी के एक साथ करते हैं। कुछ सवाल हमेशा सभी के दिमाग में उठते हैं जैसे; सच्चे दोस्त जीवन में क्यों आवश्यक हैं? सच्चे दोस्त क्यों हमारे जीवन में अन्य रिश्तों से ज्यादा अहमियत रखते हैं? उस अदृश्य बंधन का क्या नाम है जो दो या दो से अधिक दोस्तों को सालों या जीवनभर के लिए एक साथ बांधे रखता है? एक सच्ची दोस्ती क्या शिक्षा देती है? आदि।

विश्वास सभी रिश्तों के लिए बहुत आवश्यक होता है हालांकि, दोस्ती के रिश्तें में ये प्राकृतिक रुप से आता है। सच्ची दोस्ती पारस्परिक विश्वास और समझ के कारण हमेशा बनी रहती है। जब रिश्ता गहरा हो जाता है तो विश्वास और समझ समय के साथ और अधिक बढ़ जाते हैं। कुछ समय में ही हमारा सबसे प्रिय दोस्त हमारे दिल में हमारे माता-पिता, भाई-बहन से भी ज्यादा गहरा स्थान ले लेता है। हम हमेशा अपने प्रिय मित्र पर विश्वास करते हैं और आँख बंद करके उसके निर्णयों का अनुसरण इस आत्मविश्वास के साथ करते हैं कि वो कभी भी हमें गलत रास्ता नहीं दिखायेगा।

हम अपने मित्र के साथ, अपनी सभी अच्छी यादों को हमेशा याद रखते हैं जैसे; खिलौने के साथ खेलना, टिफ्फिन, किताबें, कपड़े, ग्रह-कार्य आदि को साझा करते हैं। दोस्तों के साथ साझा करने की आदत हमें पूरे जीवनभर बिना स्वार्थ के और उदार रहने की शिक्षा देती है।

धन्यवाद।

 

 

सम्बंधित जानकारी:

मेरा अच्छा दोस्त पर निबंध

दोस्ती पर निबंध

हमारी ज़िंदगी में दोस्त का महत्व पर निबंध

दोस्तों के लिए विदाई भाषण

दोस्ती पर कविता

मित्रता पर स्लोगन