क्या घर में तोता रखना सौभाग्य लाता है? जानिए कमाल के तथ्य! (Does Keeping Parrot at Home Bring Good Luck? Know the Amazing Facts in Hindi)

ज्यादातर लोग अपने घर में पालतू जानवरों को घर में रखना पसंद करते हैं। कोई बिल्लियां रखना पसंद करता है तो कोई कुत्ते। ऐसे ही कुछ लोग तोता रखना पसंद करते हैं। इसे कुत्ते और बिल्लियों के बाद तीसरा सबसे अधिक अपनाया जाने वाला जानवर माना जाता है। तोते रखने के कई फायदे हैं, खास कर इनका बोलना सब को बहुत पसंद आता है। पालतू जानवरों कि देखभाल हमें अपने बच्चों कि तरह करनी चाहिए। क्यों कि वे अपनी जरूरतों को बता नहीं सकते और यह हमें उनके हाव-भाव से ही समझना पड़ता है।

तोते अत्यंत खास होते हैं, उन्हें लोगों के बीच रहना पसंद आता है और वे हर आने-जाने वाले व्यक्ति से बात करने के लिए बड़े उतावले रहते हैं। तोते कि कुछ प्रजातियां एकदम मनुष्यों कि तरह बोलते हैं। इनमें जल्दी सीखने कि प्रवृत्ति होती है। ये मनुष्य कि भावनाओं को बड़े अच्छे से समझ भी लेते हैं।

घर में तोते रखने के कुछ बेहतरीन लाभ (Some Unknown Benefits of Having Parrots at Home as Pets)

Keeping Parrot at Home Bring Good Luck
  • तनाव कम करता है (Reduces Stress)

तोते अपनी बात करने कि आदत कि वजह से स्ट्रेस बस्टर के रूप में भी जाने जाते हैं। जब हम जानवरों के साथ खेलते या बात करते हैं तो, हमारे शरीर में स्ट्रेस कम करने वाले हारमोन बनते हैं जो रक्तचाप, किसी प्रकार का मानसिक रोग, आदि से बचाता है। जब व्यक्ति तनाव में रहता है तो, जानवरों के साथ कुछ समय बिताने से आराम मिलता है। और हमें कई प्रकार के लाभ भी मिलता है। तोते सबसे बात करना चाहते हैं और किसी के न बोलने पर वे स्वतः शोर मचाने लगते हैं।

  • सामाजिक बनाता है (Makes you Social)

कुछ लोग काफी शर्मीले स्वभाव के होते हैं और वे सबसे घुल-मिल नहीं पाते और ऐसे लोगों कि एक और समस्या यह होती है कि वे अपनी भावनाओं को बता नहीं पाते, दूसरों से साझा नहीं कर पाते। घर में तोता रखने से ऐसे लोगों को बड़ी सहायता मिलती है। वे हिचकिचाना बंद कर देते हैं और सामाजिक हो जाते हैं।

  • मानसिक स्वास्थ्य सुधारता है (Improves Mental Health)

तनाव हमारा मानसिक संतुलन बिगाड़ देता है और जैसे ही हम इसे ठीक करते हैं यह हमारे शारीरिक एवं मानसिक दोनों के स्वास्थ्य पर सकारात्मक प्रभाव दिखने लगता है। मानसिक स्वास्थ्य के लिए हमारे मूड का अच्छा होना जरूरी होता है। आज-कल लोग अपने दिनचर्या में इतने व्यस्त रहते हैं कि उन्हें किसी से मिलने और दो पल बैठ के बात करने कि फुरसत नहीं होती।

ऐसे में लोगों को तोता अवश्य पालना चाहिए, तोते का जीवन काल भी अधिक होता है। तोते आपको उनके साथ आकर खेलने पर मजबूर कर देते हैं। वे बहुत बोलते हैं जिससे घर में रौनक बनी रहती है और यह आपके मानसिक स्वास्थ्य के लिए भी बेहतरीन होता है।

यदि आपके पास तोता है तो आप निम्नलिखित बातों का अवश्य ध्यान दें (Precautions Should be Taken When You Have a Parrot)

  • उन्हें रसोई के आस-पास कभी न रखें, क्योंकि रसोई में पानी, आग, गैस जैसी चीजें होती हैं और कई बार ये उनके लिए विषाक्त हो सकती हैं, क्योंकि पशु-पक्षी बहुत संवेदनशील होते हैं खास कर पक्षियों कि श्वसन प्रणाली।
  • तोते बच्चों कि तरह होते हैं, इस लिए रोज सोते समय या कहीं बैठते समय आप यह अवश्य सुनिश्चित कर लें कि कहीं वे आकर छिपे तो नहीं हैं।
  • वे अपने तीखे चोंच से बिजली के तार काट सकते हैं इस लिए जब वे स्वतंत्र हों तो उनपर नजर अवश्य रखें।
  • जब वे पिंजरे के बाहर हों तो खिड़कियों को अवश्य बंद कर दें।
  • उन्हें पिंजरे से बाहर निकालते समय इस बात का अवश्य ध्यान रखें कि पंखे बंद हों क्यों कि पंखों के धारदार ब्लेड से वे कट सकते हैं।
  • टेफलान कुकवेयर से निकलने वाले धुआं से पक्षी मर सकते हैं इस लिए इस धातु का उपयोग करने से बचें या उन्हें रसोई से दूर रखें।
  • पालतू जानवरों के लिए रूम फ्रेशनर, इत्र, आदी ठीक नहीं होते, इस लिए इसके प्रयोग से बचें।
  • अगर आपके पास कई जानवर हैं तो आपको सबको अलग-अलग रखना चाहिए और यह भी सुनिश्चित करें कि सबका पिंजरे से निकलने का समय अलग-अलग हो, क्यों कि बड़े जानवर छोटों को मार सकते हैं।
  • अपने पास सदैव एक पशु चिकित्सक का नंबर अवश्य रखें और कभी भी कुछ भी गड़बड़ लगने पर तुरंत डॉक्टर को फोन करें।

अपने तोते की देखभाल कैसे करें? (How to Take Care of Your Parrot?)

  • जानवर के साथ समय बिताएं: तोते बहुत जल्दी सीखते हैं, परंतु उन्हें प्रशिक्षित करने के लिए आपको उनके साथ समय बिताना पड़ेगा। जानवर प्रेम की भाषा समझते हैं इसलिए उन्हें समय अवश्य दें, उन्हें सिखाएं और प्रशिक्षित करें।
  • विभिन्न गतिविधि करें: तोते जल्दी सीखते हैं इसलिए इन्हें सिखाना बेहद आसान होता है। आपको इसके लिए अलग-अलग गतिविधियां करनी चाहिए जिससे की वे सीख सकें। बाजार में पक्षियों के लिए कई प्रकार के खिलौने मिलते हैं जो उन्हें बेहद पसंद भी आता है।
  • उन्हें साफ रखें: रोज उनके पानी व खाने का कटोरा बदलें और उनको साफ करें। तोते और अन्य पक्षियों का श्वसन अंग बहुत संवेदनशील होता है और वे बड़े जल्दी प्रभावित हो जाते हैं। इसलिए लगातार कुछ अंतराल के पश्चात उनके पंखों को साफ करते रहें।
  • रोज न नहलाएं: रोज नहलाने से तोते कि त्वचा सूखी हो जाती है, इसलिए उन्हें महीने में दो से तीन बार ही नहलाएं।
  • उनकी उचित नींद पर ध्यान दें: यह पाया गया है कि तोते को 12 घंटे की नींद की आवश्यकता होती है, इसलिए उन्हें स्वस्थ और सक्रिय रखने के लिए उन्हें सोने दें।
  • उनके नाखून काटें: यदि संभव हो तो, आप उनके नाखून जरूर काटें, जैसे कि कुछ तोते इतने बदमाश होते हैं कि आपको यह काम करने नहीं देंगे। इसलिए संभव हो तो अवश्य काटें क्यों कि वे आपको और खुद उनको भी नुकसान पहुंचा सकते हैं।
  • प्राथमिक उपचार: पक्षियों के लिए प्राथमिक उपचार किट जरूर खरीद लें, क्यों कि हर बात पर डॉक्टर के पास जाना मुमकिन नहीं है। अतः आप छोटे-मोटे उपचार करना सीख लें।

निष्कर्ष

वास्तु और फेंगशुई के अनुसार तोते पालना और उन्हें रोज भोजन देना बेहद शुभ होता है। जानवरों कि सेवा करना बेहद किस्मत वालों को मिलता है और हमें इस काम को बड़े ईमानदारी के साथ करना चाहिए। जो लोग घर पर पालतू जानवर नहीं पाल सकते वे कई बार चिड़ियाघर जाकर ऐसा करते हैं। जानवरों को खाना देना बेहद शुभ माना जाता है। इसलिए यदि आप तोता पालने का विचार कर रहे हैं तो अवश्य करें।