जीतने का दृष्टिकोण विकसित करने के आसान उपाय (Easy Steps to Develop a Winning Attitude)

जीतने का दृष्टिकोण हमारे व्यवहार में दृढ़ संकल्प के साथ सकारात्मकता लेकर चलता है। सकारात्मकता हमें एक अनंत शक्ति देता है और इस तरह से, इसे जीतने का दृष्टिकोण कहा जाता है। सकारात्मक रहने का यकीन स्वतः ही आपके अन्दर जीतने के दृष्टिकोण को विकसित करता है। रोबिन शर्मा जैसी मशहूर हस्ती हमेशा जीतने के रवैये पर जोर देते है और उनका जीवन, जीतने के दृष्टिकोण का सच्चा उदाहरण है।

जीतने का दृष्टिकोण क्या है?

सकारात्मक परिणामों में भरोसा करना और जीवन को सकारात्मक बनाये रखना ही जीतने का दृष्टिकोण कहलाता है। जीतने के दृष्टिकोण, को सरल शब्दों में आशावादी दृष्टिकोण कह सकते हैं। एक जीतने का रवैया सफलता की कुंजी है और एक प्रयास इसे चमकाने का काम करता है। कोई भी जन्म से विजेता या सफल नहीं होता है, केवल उसकी सोच और विचारों को लागू करने का तरीका उसे एक विजेता बनता है।

जीतने के दृष्टिकोण की विशेषताएं

हर मनुष्य के लिए सफलता ही उसका आखिरी लक्ष्य होता है, और इसके लिए किया गया प्रयास बेहद अहम भूमिका निभाता है। प्रयास वही होते हैं जो हमारा दृष्टिकोण अपनाता है और उसी पर तत्परता से कार्य करते हैं। आगे बढ़ने से पहले मैं यहाँ पर जीतने के दृष्टिकोण पर कुछ मुख्य बातों को उभारना चाहता हूँ:

  • आशावादी
  • सकारात्मक सोच
  • प्रगतिशील दृष्टिकोण
  • जीवन का दूरदर्शी तरीका
  • साहसी व्यक्ति
  • चुनौतियों को गले लगाते हुए
  • विश्वास, भरोसा और उम्मीद

जीतने का दृष्टिकोण कैसे विकसित करें (Achieve a Winning Attitude in Few Easy Steps/How to Develop a Winning Attitude)

जीवन जीने का सकारात्मक तरीका अपनाकर और नकारात्मक विचारों को हटाकर, आप जीतने का दृष्टिकोण अपना सकते हैं। जीतने का दृष्टिकोण अपनाना कोई एक दिन की चीज नहीं हैं, जीवन के सकारात्मक पहलुओं पर भरोसा करने में थोड़ा वक़्त लग सकता है। यहाँ पर कुछ तरीके हैं जिसे हमने सफलता के मन्त्रों से निकाला है, ताकि जीतने के दृष्टिकोण को विकसित किया जा सके:

  • सकारात्मक रहें: जीतने का दृष्टिकोण हमेशा सकारात्मकता को दर्शाता है। इसलिए, जीतने का रवैया बनाने का पहला और महत्वपूर्ण कदम सकारात्मक सोच है। आसान शब्दों में, सकारात्मक सोच भी जीतने का दृष्टिकोण बनाने का आधार है।
  • खुद के प्रयासों पर भरोसा करें: आप चाहे जैसी भी परिस्थिति का सामना कर रहे हों, यह बेहद महत्वपूर्ण है कि अपने प्रयासों पर भरोसा करें। खुद के प्रयास पर भरोसा करना आपके अन्दर सकारात्मक सोच विकसित करता है, और सकारात्मकता जीतने के दृष्टिकोण को विकसित करने की कुंजी है।
  • सकारात्मक तथ्यों पर विश्वास करें: हमेशा अपने आसपास की सकारात्मकता पर भरोसा करें। ये सकारात्मकता आपके सहकर्मी से, माता-पिता से, यहाँ तक कि अजनबियों से भी मिल सकती है। अपने आसपास मौजूद सकारात्मकता पर विश्वास करना काफी महत्वपूर्ण है खुद के विचार में एक आशावादी भावना लाने के लिए।
  • जाने दो वाला दृष्टिकोण: मुश्किल परिस्थितियों के बारे में बहुत ही शांत तरह से बात करना आपके अन्दर 'जाने दो' वाला दृष्टिकोण विकसित करता है। जब आप किसी कठोर दृश्य के बारे में बड़ी ही आसानी से बात करते हैं, तब आप अपने सोचने के नजरिये के बारे में बदलाव महसूस करते हैं। संक्षेप में, कठिन समय के बजाय हमारे आसपास होने वाली सकारात्मक चीजों पर ध्यान केंद्रित करने से आप अपने अंदर एक आशावादी सोच का विकास कर सकते हैं।
  • अपनी आभा सकारात्मक बनाएं: आभा क्या है जो आप सोचते है वही है। अगर आप सकारात्मक सोचते हैं तो आपकी आभा भी सकरात्मक होगी। सकारात्मकता हमारे अन्दर एक जीतने का दृष्टिकोण विकसित करती है। सकारात्मक आभा स्वयं के निर्माण के लिए अच्छी चीजों को अपनी तरफ आकर्षित करती है।
  • थैंक यू नोट से साथ करें दिन की शुरुवात: यह कहा गया है कि हमेशा इश्वर का आभारी होना चाहिए। यह सच है, अगर आप अपने दिन की शुरुवात प्रकृति को, भगवान को (अपने धर्म अनुसार), अपने माता-पिता को धन्यवाद दृष्टिकोण के साथ करते हैं, निश्चित रूप से आप पूरे दिन शांति पायेंगे। धन्यवाद दृष्टिकोण चाहे तो प्रार्थना के रूप में हो सकती है, ध्यान के रूप में, या आप जैसे भी अपनी आस्था दिखाते हैं उस रूप में।

जीतने का दृष्टिकोण छात्रों के लिए, व्यापारियों के लिए, खिलाड़ी और सामान्य जीवन के लिए महत्वपूर्ण होता है। हमने जीवन के विभिन्न चरणों में सकारात्मकता पैदा करने के लिए कुछ महत्वपूर्ण सह प्रभावी तकनीकों को तैयार किया है। कृपया इसके माध्यम से जाएं और इन तकनीकों को अपने दैनिक जीवन में शामिल करने का प्रयास करें:

छात्रों में जीतने का दृष्टिकोण कैसे विकसित किया जाये (How to Develop a Winning Attitude for Students)

जीतने का दृष्टिकोण या आशावादी सोच छात्रों के लिए महत्वपूर्ण है। सकारात्मक सोच स्वरुप उन्हें अपने पाठ्यक्रम में स्पष्टता प्राप्त करने में मदद करेगा और शिक्षाविदों में भी। मैं छात्रों में जीतने का दृष्टिकोण विकसित करने के लिए कुछ महत्वपूर्ण सुझावों पर प्रकाश डालने जा रहा हूँ जो इस प्रकार से हैं:

  • उनके प्रयासों की सराहना करें: पढ़ाई हो, खेल हो या फिर स्कूल स्तर की अन्य गतिविधियां हो उनके प्रयासों के लिए छात्रों की सराहना करना महत्वपूर्ण है। प्रशंसा उनके ऊर्जा स्तर को बढाती है और इससे उन्हें आत्मविश्वास की भावना मिलती है। केवल युवा छात्रों को ही नहीं बल्कि उच्च कक्षाओं में पढ़ने वाले छात्रों के लिए भी सराहना आवश्यक है। मनोवैज्ञानिक रूप से यह सिद्ध हो चुका है कि सकारात्मक प्रयासों के लिए प्रशंसा आत्मविश्वास पैदा करती है।
  • उन्हें सकारात्मकता का महत्व सिखाएं: सकारात्मकता, छात्रों के लिए एक शक्तिशाली हथियार है। यह बेहद आवश्यक है कि उन्हें सकारात्मक होने के महत्व को सिखाया जाये। सुबह की असेंबली में या अपने कक्षाओं के बीच में शिक्षक, छात्रों के बीच सकारात्मक दृष्टिकोण पैदा करने के लिए एक विशेष सत्र आयोजित कर सकते हैं।
  • यहां तक ​​कि कथन भी सकारात्मक होना चाहिए: हाँ, छात्रों द्वारा उनके दिन-प्रतिदिन के जीवन में इस्तेमाल किये जाने वाले कथन भी सकारात्मक होने चाहिए। छात्रों द्वारा उपयोग किए जाने वाले कथन "मैं इसे नहीं कर सकता", "मैं किसी भी चीज के लिए अच्छा नहीं हूं" को बदलने के लिए प्रोत्साहित किया जाना चाहिए। ये कथन उन्हें हतोत्साहित कर सकते हैं और उन्हें यह सिखाना बेहद आवश्यक है कि इन कथनों को खुद पर नहीं लागू करना चाहिए।
  • उन्हें सकारात्मक परिणाम खोजने के लिए प्रशिक्षित करें: छात्रों को यह बताना महत्वपूर्ण है कि नकारात्मक की तुलना में सकारात्मक परिणाम अधिक हैं। यह भय को काटेगा और उन्हें भविष्य के लिए तैयार करेगा। हर परिदृश्य में सकारात्मकता खोजने से छात्रों में आत्मविश्वास विकसित होगा।
  • हॉबी क्लासेज: स्कूल परिसर में हॉबी कक्षाएं आयोजित करना एक अच्छा विकल्प हो सकता है। हॉबी कक्षाओं में शामिल होने से छात्रों में आत्मविश्वास विकसित होता है। आत्मविश्वास आपको एक सकारात्मक सोच के तरीके की तरफ ले जाता है और यह जीवन के एक आशावादी तरीके में मददगार हो सकता है।

उद्यमियों में एक जीतने का दृष्टिकोण कैसे विकसित किया जाये (How to Develop a Winning Attitude for Entrepreneurs)

उद्यमियों और व्यापारियों के लिए जीतने के दृष्टिकोण की एक महत्वपूर्ण भूमिका है। व्यवसाय चलाने के दौरान, व्यवसायी को विभिन्न परिस्थितियों से जूझना पड़ता हैं। कारोबार के उतार-चढ़ाव से निपटना काफी तनावपूर्ण होता है। हमने एक व्यवसायी में जीतने के दृष्टिकोण को विकसित करने के लिए कुछ तकनीकों पर चर्चा की है:

  • अनुकूलन क्षमता: अनुकूलन क्षमता का अर्थ उन परिस्थितियों के अनुकूल होना है जिनसे हम गुजर रहे हैं। व्यवसाय के दृष्टिकोण के लिए कर्मचारियों और व्यावसायिक परिदृश्यों के प्रबंधन के लिए अनुकूल होना बेहद ही महत्वपूर्ण है। व्यवसाय में अनुकूल होने के वजह से आपको इस प्रतिस्पर्धी दुनिया में और अधिक खोज करने का विकल्प मिलता है, जहां व्यवसाय स्थापित करना समुद्र में गला-काट तैराकी की प्रतियोगिता करने जैसा है।
  • ध्यान परिवर्तन करना: एक सफल व्यवसाय के लिए, सकारात्मक पहलुओं पर ध्यान केंद्रित करना महत्वपूर्ण है। व्यापार में उतार-चढ़ाव आते रहते हैं। एक उद्यमी होने के नाते पिछली परेशानियों से ध्यान हटाने और सकारात्मक प्रयासों के नकारात्मक प्रभावों पर ध्यान देने की आवश्यकता होती है। यह फलदायी परिणाम दे सकता है।
  • कृतज्ञता का दृष्टिकोण विकसित करें: कृतज्ञता या आभार केवल एक शब्द नहीं है, यह एक दूसरे के प्रति सम्मान देने का एक तरीका है। व्यवसाय में, सौहार्दपूर्ण और सकारात्मक वातावरण में आभार एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। कर्मचारियों के बीच उच्च मनोबल बनाए रखने के लिए आभार एक सशक्त उपकरण के रूप में काम कर सकता है।
  • "इसे तुरंत करो" वाली अवधारणा पर काम करना: एक सफल व्यवसाय के लिए, तत्काल कार्रवाई बेहद आवश्यक होती है। एक व्यवसाय चलाने के लिए कुछ योजनाएं होती हैं, यदि ये योजनाएँ ब्लूप्रिंट में ही हैं तो क्या होगा। सही समय पर योजनाओं को अमल में लाना व्यापार में विजयी रवैया विकसित करने के तरीकों में से एक के रूप में गिना जा सकता है।
  • नकारात्मक तत्वों से बचें: नकारात्मकता व्यवसाय की सफलता में एक व्यवधान है। यह बहुत ही आवश्यक है कि अपने व्यवसाय के आसपास भी नकारात्मक तत्वों को नहीं आने दें। कभी-कभी आपके भरोसेमंद कर्मचारी या फिर व्यावसायिक भागीदार भी नकारात्मक बातें करने लग जाते हैं। उनके विचारों से बचने की कोशिश करें और वही करें जो आपको अपने बारे में सही लगे, इस तरह से आपका व्यवसाय बढ़ेगा।
  • योग / ध्यान का अभ्यास करके: योग केवल सामान्य जीवन में ही नहीं बल्कि व्यवसाय में भी लागू होता है। योग हमारे मन को तरोताजा व केंद्रित रखता है और हमें शांति प्रदान करता है। एक व्यवसायी के लिए, ध्यान केंद्रित करना और प्रत्येक कदम को बहुत समझदारी से उठाना बेहद आवश्यक है और योग का अभ्यास करके धैर्य प्राप्त किया जा सकता है। धर्य आपको आशावादी तरीके से सोचने में मदद करता है।
  • सकारात्मक मानसिकता: एक सकारात्मक मानसिकता किसी भी व्यक्ति को बिजनेस में उतार-चढ़ाव का सामना करने का दृष्टिकोण देता है। व्यवसाय चलाने के लिए सकारात्मकता आवश्यक है। जोखिम लेने का साहस केवल सकारात्मक दृष्टिकोण से प्राप्त किया जा सकता है।

एक खिलाड़ी में जीतने का दृष्टिकोण कैसे विकसित किया जाये (How to Develop a Winning Attitude for Sportsperson)

यहां हमने एक खिलाड़ी के लिए कुछ विनिंग टिप्स निकाले हैं। फिर चाहे वह क्रिकेट हो, बास्केटबॉल हो, फुटबॉल हो, या कोई भी खेल हो; प्रत्येक खेल में मैच जीतने के लिए सेट खिलाड़ियों की आवश्यकता होती है जिनमे उत्साह हो। यहाँ पर मैंने कुछ तकनीकों के बारे में चर्चा की है जिन्हें अपना कर खिलाडियों को विजयी रवैया विकसित करने में मदद मिलेगी:

  • व्यावहारिक बनें: व्यावहारिक दृष्टिकोण बुद्धिमानी भरे निर्णयों को संदर्भित करता है। बिना किसी पक्षपातपूर्ण व्यवहार के व्यावहारिक निर्णय लेना एक खेल जीतने के लिए आवश्यक है। एक अच्छी टीम में केवल बेहतरीन खिलाड़ी होते हैं और यह सभी खेलों पर लागू होता है।
  • अभ्यास करते रहें: यह कहा जाता है कि "अभ्यास एक आदमी को पूर्ण बनाता है"। खेल इस संवाद का सबसे बेहतर तरह से समर्थन करता है। जितना ज्यादा आप अभ्यास करते हैं उतना ही आपके अन्दर आत्मविश्वास आता है और ये हर तरह के खेल पर लागू होता है। आत्मविश्वास खेल में एक आशावादी दृष्टिकोण विकसित करेगा।
  • निष्पक्ष रहें: जीत के पीछे एक निष्पक्ष खेल इसकी वजह हो सकती है। खेल पूरी तरह से प्रतिस्पर्धी भावना है, लेकिन ऐसा कहीं भी उल्लेख नहीं किया गया है कि जीत किसी भी तरह से हासिल की जा सकती है। इमानदार रहें और बेईमानी से काम करने की कोशिश न करें। निष्पक्ष जीतने वाली भावना एक वास्तविक जीतने वाली भावना होती है और एक नैतिक आचार संहिता के रूप में, जो जीतता है उसे हमेशा एक निष्पक्ष टीम माना जाता है।
  • टीम स्पिरिट: एक अच्छी टीम खिलाड़ियों के बीच विजयी दृष्टिकोण विकसित करती है। टीम भावना खिलाड़ियों के बीच सौहार्दपूर्ण व्यवहार बनाए रखती है। वे एक साथ अपने खेल के लिए अच्छे और बुरे पर चर्चा कर सकते हैं; वे एक दूसरे के प्रयासों से इस पर काम कर सकते हैं।
  • उचित रणनीतियों को अपनाना: खेल को जीतने के लिए एक बेहतर खेल योजना बनाना आवश्यक है। यह योजना खेल के मैदान पर खिलाड़ियों के व्यक्तिगत क्षमता को बढ़ाएगी। खेलों में जीत का दृष्टिकोण व्यक्तिगत क्षमता और खेल को जीतने के लिए उनकी सकारात्मकता का परिणाम है, इसलिए रणनीति का पालन करना बेहद महत्वपूर्ण है।

निष्कर्ष

जीतने का रवैया एक विकासशील व्यक्तित्व की सबसे बड़ी जरूरत होती है। जीवन के प्रति एक सकारात्मक और आशावादी दृष्टिकोण को ही जीतने का दृष्टिकोण कहा जाता है। अपने अपने तरीके से हम सभी विजेता हैं। जीवन के सकारात्मक पहलु को अनुकूल बना कर और नकारात्मक सोच को घटा कर हम एक जीतने का दृष्टिकोण हासिल कर सकते हैं। जबकि एक व्यक्ति, एक छात्र के तौर पर या फिर एक व्यापारी के तौर पर हर किसी के लिए जीतने का दृष्टिकोण आवश्यक है।