जीवन या काम में निराशा होने पर उससे कैसे बाहर निकलें (How to Overcome/Defeat with Discouragement in Life or at Work)

निराशा एक ऐसा शब्द है जिसका अर्थ है जीवन का एक ऐसा चरण जब अपनी समस्याओं से निपटने के लिए आपके पास और अधिक हिम्मत नहीं होती है। लेकिन क्या यह वास्तव में सच है? जब एक सांप आपको काटने आता है तो क्या होता है? क्या आप चुप रहेंगे और कहेंगे कि इसे मुझे काटने दो क्योंकि मुझमें इससे निपटने की हिम्मत नहीं है या फिर आप वहां से किसी गोली की रफ्तार से भागेंगे।

असल में, आपके पास कई विकल्प थे, जैसे आप उस पर कोई पत्थर फेंक सकते हैं, अगर आपके पास कोई छड़ी है तो आप उसकी मदद से सांप को खुद से दूर कर सकते हैं और अगर वे दोनों चीजें काम नहीं करती हैं, फिर तो भागना ही आखिरी रास्ता है।

मेरे लिए निराशा का अर्थ कुछ ऐसा है, जब आप निर्जीव या असहाय होते हैं और कुछ भी नहीं कर सकते। यह केवल तब होता है जब आपके पास कोई भी अन्य विकल्प नहीं होता हैं और मेरे लिए, अंततः यह मौत के समान है। आप अपने जन्म या मृत्यु को नियंत्रित नहीं कर सकते हैं, लेकिन आप दुनिया के बीच, जिस तरह से रहते हैं, बढ़ते हैं, सोचते हैं, जीवन हमारे ऊपर है, उसे नियंत्रित कर सकते हैं। यह संभव है कि हम अपने जीवन में कुछ समस्याओं का सामना कर सकते हैं, लेकिन यहाँ हमेशा एक समाधान पीछे रह जाता है, जिसे हम सिर्फ अपनी चेतना की कमी के कारण नहीं देख पाते हैं, हम उदास, हताश महसूस करते हैं और ये सभी गतिविधियां हमें कुछ भी बेहतर सोचने की अनुमति नही देती हैं।

स्कूल में एक बच्चा हतोत्साहित महसूस कर सकता है, तो उसे क्या करना चाहिए? उसे सारा दिन रोना शुरू कर देना चाहिए और स्कूल जाना बंद कर देना चाहिए। बेशक, जवाब 'ना' होगा, तो आप जीवन में छोटी चीजों के बारे में दुखी क्यों होते हैं। हम सभी अपने जीवन में उतार-चढ़ाव का सामना करते हैं और हमें उनसे निपटना और उन्हें हल करना सीखना चाहिए। एक भ्रमित, उदास और क्रोधित मन न कभी सोच पाता है और न ही कोई सटीक सामाधान निकाल पाता है। इसलिए, स्थिति जो भी हो दुखी नहीं होना चाहिए। सकारात्मक रहें और आप इससे निपटने के लिए एक नया तरीका निकाल लेंगे। आज मैं जीवन में निराशा से निपटने के लिए कुछ बेहतरीन और लाजवाब तरीके लेकर आया हूँ।

जीवन में निराशा से निपटने के लिए 9 सर्वश्रेष्ठ और अनोखे तरीके (9 Best and Unique Ways to Deal with Discouragement in Life)

मैं कुछ तरीकों का सुझाव देकर लेख को पूरा कर सकता हूं जो पहले से ही कई अलग अलग वेबसाइटों पर मौजूद हैं ताकि उन्हें प्राथमिकता मिल सके मगर यह मेरा तरीका नहीं है। मैं चाहता हूं कि मेरे पाठक अपनी समस्याओं से बाहर निकलें क्योंकि जब हम पीड़ित होते हैं तो यह बहुत दर्द और तकलीफ देता है।

मैं भी उन लोगों में से एक हूं जिन्होंने अपनी समस्याओं से निपटने के लिए गूगल और पूरे इंटरनेट पर काफी खोज की और आखिरकार, मुझे कुछ नहीं मिला। इसलिए, मैं नहीं चाहता कि मेरे पाठक इस तरह से हार मान जाएँ, मैंने काफी मंथन किया और जीवन में हतोत्साहन से निपटने के लिए कुछ सर्वोत्तम तरीके खोज निकले, जिन्हें मैंने आपके लिए नीचे सूचीबद्ध किया है।

1. अपनी समस्या का विश्लेषण करें

उदास रहने के कई कारण हो सकते हैं और अलग अलग परिस्थितियों में लोगों को विभिन्न समस्याओं का सामना करना पड़ता है। इसलिए, आपकी जो भी समस्या है और जिस भी उम्र से संबंधित है, बस खुद से कुछ सवाल पूछें। यह निश्चित घटना क्यों हुई? मान लीजिए कि आपने अपनी नौकरी खो दी है, इसलिए हर एक विवरण पर ध्यान केंद्रित करें, क्योंकि कभी-कभी हम खुद भी नहीं जानते हैं और बस, सारा खेल खत्म हो गया होता है। इसलिए, ध्यान केंद्रित करें और सोचें आपको स्वतः ही सुराग मिलने लगेंगे।

यह संभव है कि आपने अपने बॉस के पसंदीदा कर्मचारी के साथ दुर्व्यवहार किया हो। यह भी संभव है कि आपके प्रतिस्पर्धियों ने कुछ किया होगा। मेरा यकीन कीजिये; जब आप विवरण पर काम करेंगे तो आपको सुराग मिलने लगेंगे। और अगर ऊपर बताई गयी बातों में से कोई भी काम नहीं करता है तो इसकी वजह आपका प्रदर्शन हो सकता है। घबराइए नहीं क्योंकि हम सभी सोचते हैं कि हम सबसे अच्छे हैं लेकिन हम असफल होते हैं और अहंकार की भावना सब कुछ नष्ट कर देती है। अपने आप का विश्लेषण करें और तुलना करें और फिर एक सही निष्कर्ष निकालें।

2. भ्रमित न हों

कभी-कभी ऐसा होता है कि हम दिल और दिमाग के बीच उलझ जाते हैं जो हमारा मूड खराब कर देता है। अपने सम्पूर्ण जीवनकाल में, आपने कई निर्णय लिए होंगे और कभी-कभी हमारे फैसले सही साबित होते हैं और कई बार गलत भी। इसलिए, गलत चीजों पर मंथन करने और अपनी ऊर्जा बर्बाद करने के बेहतर है फिर से खड़े हो जाएं और एक बार और प्रयास करें।

अगर आप भ्रमित हैं और यह तय नहीं कर पा रहे हैं कि क्या करना है, तो उस क्षेत्र में बेहतर अनुभव रखने वाले व्यक्ति के पास जाएं। मान लीजिए अगर आपका रिश्ता आपको परेशान कर रहा है और आप यह तय नहीं कर पा रहे हैं कि आगे क्या करना है, तो अपनी मां या बड़े भाई-बहन के पास जाएं। आप अपने उन दोस्तों से भी सलाह ले सकते हैं जो पहले से ही एक रिश्ते में हैं। उनके अनुभव की मदद से यह निश्चित रूप से आपको रिश्ते के घटनाक्रम को समझने में काफी मदद करेगा; वे आपका सही दिशा में मार्गदर्शन करेंगे। इसी तरह, आपके जीवन में कई चीजें हो सकती हैं जहां आप संबंधित व्यक्ति तक पहुंचने के लिए खुद को भ्रमित महसूस करते हैं।

3. कुछ प्रेरक पुस्तकें पढ़ें

इस सलाह को भूल से भी न छोड़ें; क्योंकि मैं यहाँ तमाम तरह की किताबों की सूची नहीं बनाने जा रहा हूँ, मैं बस लोगों को भागवत गीता पढ़ने का सुझाव देता हूँ। मुझे पता है कि जब आप जीवन में पूरी तरह से बेजान हो जाते हैं तो कुछ भी पढ़ना काफी मुश्किल होता है। मेरा यकीन कीजिये, यह पुस्तक बहुत ही करिश्माई है और इसमें हर समस्या का हल है। आजकल इसका मौखिक रूप भी उपलब्ध है। अगर ये दोनों ही तरीके आपकी पहुँच से बाहर हैं, तो आप बस YouTube पर जा सकते हैं और इसे अलग अलग भागों में पा सकते हैं। इसे मानवीय समस्याओं से निपटने के लिए ही डिजाइन किया गया है। यह भगवान कृष्ण थे जिन्होंने मानव के रूप में जन्म लिया और अर्जुन को यह सुनहरा ज्ञान दिया और परिणामस्वरूप, उन्होंने महाभारत का युद्ध जीता। यह जीवन की विभिन्न स्थितियों का वर्णन करता है और उनका उचित समाधान देता है।

4. अपनी पसंदीदा फिल्में देखें

ऐसी कई फिल्में मौजूद हैं जो न सिर्फ आपका दिन बनाती हैं बल्कि आपको बहुत सारे सकारात्मक विचारों से प्रेरित भी करती हैं। मैं यहाँ पर कुछ फिल्मों की लिस्ट बना रहा हूँ जो आपको जरुर देखनी चाहिये, ए ब्यूटीफुल माइंड, परस्यूट ऑफ हैप्पीनेस, ग्लोरी रोड, द ब्लाइंड साइड, मनीबॉल, आदि। लेकिन मुझे नहीं लगता कि आपको और अधिक की जरूरत है, बस आपकी आंतरिक शक्ति को बढ़ाने और आपको प्रेरित करने के लिए यह पर्याप्त है।

असल में, इन फिल्मों की कहानियों को समाज में एक विशेष संदेश देने के लिए विशेष रूप से फिल्माया गया है, कि कैसे आपकी परिस्थितियां आपको प्रभावित नहीं कर सकती हैं। एक जीवित व्यक्ति ही केवल दर्द के साथ साथ ख़ुशी को भी महसूस कर सकता है। इसलिए, निराश मत होइए, एक नई कहानी शुरू कीजिये क्योंकि अभी भी बहुत देर नहीं हुई है।

5. हमेशा खुद से कम वाले से उदाहरण लें

जरूरी नहीं है कि हर कोई अमीर घर में ही पैदा हो, केवल एक ही चीज है जो हम कर सकते हैं वह है 'कड़ी मेहनत'। फिर भी कभी-कभी हम हतोत्साहित महसूस करते हैं, इसलिए बस ऐसे लोगों को देखें जिनके पास आपसे भी कम है। मान लीजिए आप एक कार के मालिक हैं, तो बस उन लोगों को देखें जिनके पास स्कूटर है। इससे पता चलेगा कि आप कितने धन्य हैं। असल में, हम जब भी ऊपर की ओर देखते हैं, हम या तो उदास या फिर प्रेरित महसूस करते हैं।

इसलिए, निराश या हतोत्साहित होने की जरूरत नहीं है क्योंकि यदि कोई आपसे अधिक कमा रहा है तो इसका मतलब है कि वह कड़ी मेहनत कर रहा है या उसके पास कुछ रहस्य हैं। इसलिए, दुखी होने के बजाय इसे चुनौती के रूप में लें, और कड़ी मेहनत करें। हमेशा खुद की अपने से निचले वाले से तुलना करें और ऊपरी वाले को चुनौती दें। सोचने का यह तरीका निश्चित रूप से आपके जीवन को बदल देगा और आपको कभी निराश नहीं होने देगा।

6. अपने कौशल को निखारें

अपने कौशल को निखारना बेहद ही आवश्यक है क्योंकि आप अपने जीवन में जो भी क्षेत्र चुनेंगे, आपको कुशल होना चाहिए। दुनिया प्रतिस्पर्धा से भरी है और आपको सफल होने के लिए विवरणों पर काम करने की आवश्यकता है और यदि आप हमेशा अपनी नौकरी बदलते है और नए सिरे से शुरू करने की सोचते है, तब ये इस बात की घंटी है कि कुछ तो गलत है।

अपने कार्यस्थल पर लोगों पर हमेशा एक अलग तरह का दबाव होता है क्योंकि जो लोग बहुत कुशल नहीं होते हैं वे हमेशा भयभीत रहते हैं जो किसी भी कार्यस्थल पर सबसे सामान्य दबावों में से एक होता हैं। इसलिए, यह सबसे बेहतर होगा कि आप अपनी नौकरी छोड़ दें या फिर कोई ऐसी कंपनी की खोज करें जहाँ आप सीख सकते हैं। और पैसे पर ध्यान केंद्रित करने के बजाय अपने कौशल पर ध्यान केंद्रित करें और इसे और भी ज्यादा निखारें, तब अंतर देखें। कंपनियाँ आपसे कहीं और न जाने की गुजारिश करेंगी। जब भी आपके साथ कुछ गलत व्यवहार होता है, तो आप को निराश नही होना चाहिए क्योंकि इसके पीछे हमेशा एक कारण होता है।

7. भरोसा करें

यह उन लोगों के लिए है जो कुशल हैं, सुशिक्षित हैं और तक़रीबन सभी मामलों में अच्छे हैं, फिर भी, उन्हें अपने जीवन में वांछित सफलता नहीं मिली है। कभी-कभी हम पूछते हैं कि मेरे ही साथ यह खास बात क्यों हुई? यद्यपि आप अच्छे हैं, आप दूसरों की मदद भी करते हैं, फिर भी, कभी-कभी आप ही पीड़ित होते हैं।

यह सब आपकी किस्मत है, मैं समझता हूं कि यह आपका सबसे खराब समय चल रहा है, फिर भी मेरा विश्वास कीजिये कि मुझे अपने काम पर, भगवान पर, भरोसा है और धैर्य भी है। हममें से कुछ लोग अपना धैर्य खो देते हैं और कुछ अवांछित कदम उठा लेते हैं; हम अपने गुस्से को अपने करीबियों पर निकल देते हैं, ऐसा लगता है कि जीवन में सब कुछ ख़राब हो गया है। जब भी आप खुद को असहाय और अकेले महसूस करते हैं तब महाशक्तियों में विश्वास रखिये, क्योंकि 'कर्म' नाम का भी एक शब्द है जो हमेशा आपके पास वापिस आएगा। बस अच्छी चीजें करते रहें और अपनी आशा कभी न खोएं।

केएफसी के संस्थापक कर्नल हारलैंड को 70 साल बाद अपनी प्रसिद्धि मिली, जैक मा को 30 से अधिक साक्षात्कारों से खारिज कर दिया गया और इसे सफल होने में 35 वर्ष का समय लगा, इसी तरह, इस ब्रह्मांड में आपके आसपास ऐसी कई प्रेरणाएं हैं जो हमें सकारात्मक शक्तियों में धैर्य और विश्वास रखना सिखाती हैं।

8. प्रेरक वक्ताओं से मिलें

इस दुनिया में आप अकेले नहीं हैं जो दुखी हैं या जीवन में निराशा महसूस कर रहे हैं, यकीन मानिये यहाँ तक कि करोड़पति भी कभी-कभी अपनी समस्याओं के कारण सो नहीं सकते हैं। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आपके पास कितना धन है, अगर कुछ ऐसा है तो वो 'शांति' है। सफल उन्हें कहा जाता है जो अपने जीवन में संतुलन बनाए रख सकते हैं और यह केवल आंतरिक शांति के साथ आता है। आप केवल तभी ध्यान केंद्रित कर सकते हैं और अच्छा प्रदर्शन कर सकते हैं जब आपके भीतर वह आंतरिक शांति मौजूद हो।

हमारे चारों तरफ तमाम प्रेरक वक्ता मौजूद हैं, आप उनसे व्यक्तिगत रूप से मिल सकते हैं या फिर उनके ऑनलाइन सत्र भी कर सकते हैं। असल में, वे आपकी समस्याओं को किसी से सम्बंधित करते हैं और आपको एक न्यायसंगत जवाब देते हैं जो स्वतः ही आपको सकारात्मक बनाता है। या तो आप हतोत्साहित हैं या फिर नहीं, आपको इन वक्ताओं को जरुर सुनना चाहिए। जिस तरह से मल्टीविटामिन की गोली आपके शरीर पर काम करते हैं, ये वक्ता भी आपकी आत्मा पर काम करते हैं। और एक सुंदर आत्मा की हमेशा प्रशंसा की जाती है, कई अरबपति हैं लेकिन हम केवल उन लोगों को याद करते हैं जिनके पास करोड़ों का दिल भी होता है।

9. खुद पर यकीन करें कि आप खास और अलग हैं

खुद की तुलना कभी किसी और से कर के अपने आप को हतोत्साहित न करें क्योंकि ईश्वर ने हम सभी के लिए एक अलग किरदार चुना हुआ है। हम इस धरती पर एक मिलियन-करोड़ से भी अधिक लोगों का परिवार हैं और सभी की एक अलग कहानी है। हम सभी एंजेलिना जोली से प्यार करते हैं और हम में से अधिकांश उसके जैसा दिखना चाहते हैं, क्या आपने कभी सोचा है कि अगर कई ऐसे होंगे जो उसकी तरह दिखेंगे, तब वह इतनी प्रसिद्ध नहीं होगी।

इसलिए, वह मशहूर है क्योंकि वह अपने रूप, अपने काम आदि में अद्वितीय है, इसलिए, किसी के जैसा बनने के लिए सोचना, हमेशा कुछ अलग करने की उम्मीद करने जैसा है। हम सभी में कुछ अनोखी क्षमताएं होती हैं, बस उसे पहचानने की कोशिश करना हैं। कोशिश करते रहें, अगर आप 100वीं बार भी असफल होते हैं तो भी प्रयास करें और मेरा यकीन मानिए, एक ऐसा दिन होगा जो आपके सारे दर्द को मिटा देगा।

निष्कर्ष

जिस दिन आपका पृथ्वी पर स्वागत किया गया, आप रोए लेकिन जब आप रोए तो लोग खुश थे क्योंकि आपको जीवित रखना आवश्यक था और डॉक्टर चाहते थे कि आप रोएं और अपनी काम कर के दिखाएं। इसी तरह, जब आप अपने जीवन में हतोत्साहित होते हैं, तो हमेशा कुछ सकारात्मक होता है। इसलिए, उदासीन और हतोत्साहित होने के बजाय, चुनौती को स्वीकार करें, और ऊँचा उठें जिससे निश्चित रूप से आपके विरोधियों का मुंह बंद हो जाएगा। कुछ नया शुरू करने में कभी देर नहीं होती।