मुख्य अतिथि के लिए स्वागत भाषण

प्रमुख अतिथि के लिए स्वागत भाषण छात्र, शिक्षक, प्राचार्य या किसी मेज़बान द्वारा विद्यालय, कॉलेज, यूनिवर्सिटी में आयोजित किसी आयोजन में सम्मानित मुख्य अतिथि का स्वागत करने के लिए दिया जाता है। यहां हमने मुख्य अतिथि के स्वागत के लिए आपको छह स्वागत भाषण उपलब्ध कराए हैं जो किसी पुरस्कार समारोह, वार्षिक दिन, स्वतंत्रता दिवस इत्यादि विभिन्न कार्यक्रमों में दिए जाते है। आप अपने आमंत्रित मुख्य अतिथि के स्वागत के लिए स्कूल या कॉलेज में आयोजित होने वाली प्रतियोगिता के अनुसार किसी भी स्वागत स्पीच (भाषण) का चयन कर सकते हैं।

स्कूल और कॉलेज में मुख्य अतिथि के लिए स्वागत भाषण (वेलकम स्पीच फॉर चीफ गेस्ट)

वार्षिक महोत्सव के दिन मुख्य अतिथि के लिए प्राचार्य द्वारा देने जाने हेतु स्वागत भाषण

सभागार में मौजूद सभी सम्मानित अथितियों को मेरा नमस्कार,

मैं आप सबका एबीसी पब्लिक स्कूल, नोएडा के 25वें वार्षिक महोत्सव में स्वागत करता हूँ। हमारे स्कूल के लिए यह बहुत ही प्रतिष्ठित अवसर है क्योंकि हमने अपने 25 स्वर्ण वर्ष पूरे कर लिए है। दूसरे शब्दों में कहूँ तो आज हम अपनी रजत जयंती मना रहे है। यह विश्वास करना बहुत मुश्किल है कि जो सपना हमने देखा था वह अब पूरा हो रहा है। एक शैक्षिक संस्थान की नींव का विचार हमारे लिए वाकई प्रेरणादायी है जिसे 25 साल पहले एक पौधे के रूप में लगाया गया था आज यह बड़े पेड़ के रूप में उग आया है। आज यहां मैं अपने सामने असाधारण और स्मार्ट छात्रों तथा उनके माता-पिता को देख रहा हूं जो इस दिन शहर के कोने-कोने से हमारे पास आए हैं।

हर साल मैं उन लोगों को संबोधित करने में खुशी महसूस करता हूं जो आज के युवा हैं और कल देश के  जिम्मेदार नागरिक होंगे। मैं और हमारा पूरा समर्पित शिक्षक दल अपने बच्चों के लिए उनके माता-पिता द्वारा किए गए प्रयासों की सराहना करते हैं। इसलिए यहां आज मुझे उन माता-पिता का गर्मजोशी से स्वागत करने के लिए विशेषाधिकार मिला है जो लगातार इस स्कूल के विद्यार्थियों और साथ ही शिक्षकों के समर्पण और प्रेम का विस्तार कर रहे हैं।

इस रंगीन शाम को आगे ले जाने और वार्षिक समारोह को शुरू करने के लिए मैं यहां उपस्थित सभी की ओर से उद्घाटनकर्ता का तहे दिल से स्वागत करता हूं जो आज के अनमोल समारोह के अतिथि भी है। मैं हमारे अतिथि श्री XYZ कपूर, जो सामाजिक कार्यकर्ता, शिक्षाविद और परोपकारी है, का विशेष रूप से आभारी हूं की जब हमने उनसे इस समारोह के निमंत्रण कार्ड के साथ संपर्क किया और शाम को मुख्य अतिथि के रूप में आने के लिए अनुरोध किया तो श्री कपूर ने तुरंत ही हमारे अनुरोध को स्वीकार कर लिया और आज के आयोजन और कार्यक्रम के बारे में अपनी सहमति व्यक्त की।

श्री कपूर महिला सशक्तीकरण से संबंधित मामलों में एक प्रसिद्ध नाम है। उन्होंने लड़की की शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए बहुत प्रयास किए हैं। इसके लिए उन्होंने लड़कियों और महिलाओं के लिए बहुत से छोटे शिक्षा केंद्र भी स्थापित किए हैं। आज एक अनाथालय और वृद्धाश्रम के स्थापना की उनकी पहल को हर कोई सराहनीय कदम बता रहा है।

इसलिए तालियों की गड़गड़ाहट से उनका स्वागत करें क्योंकि मैं श्री XYZ कपूर को दीप प्रज्वलित करने के रिवाज़ के लिए मंच पर आमंत्रित करता हूं और उनके प्रयासों और उनके जीवन के अनुभवों के बारे में कुछ शब्द बोलने का अनुरोध करता हूं।

आप सभी का बहुत-बहुत धन्यवाद !!

वार्षिक खेल महोत्सव के दिन मुख्य अतिथि के लिए प्राचार्य द्वारा देने जाने हेतु स्वागत भाषण

सभागार में मौजूद सभी सम्मानित अथितियों को मेरा नमस्कार,

सेंट JKL एकेडमी की ओर से मैं आप सभी उपस्थित लोगों का स्कूल के 14वें वार्षिक खेल महोत्सव में गर्मजोशी से स्वागत करता हूं। खेल हमारे जीवन का अभिन्न और आवश्यक हिस्सा है।

खेल, चाहे टीम आधारित हो या व्यक्तिगत, बच्चों के लिए एक महान गतिविधि है जो हमें शारीरिक फिटनेस के अलावा अन्य विविध लाभ प्रदान करती है। खेल सहभागिता आत्म-सम्मान, आत्मविश्वास का निर्माण करता है और बच्चों को अकादमिक रूप से उत्कृष्ट बनाने के लिए प्रेरित करता है जिससे बच्चों को अपने सामाजिक कौशल का निर्माण करने में सहायता मिलती है। यह बच्चों को निर्धारित लक्ष्य को हासिल करने और निरंतर अभ्यास के तरीके भी सिखाता है।

इसलिए इस उद्देश्य से हम हर साल खेल महोत्सव आयोजित करते हैं जिसमें बच्चों की 100% भागीदारी को प्रोत्साहित किया जाता है तथा प्रत्येक प्रतिभागी को पुरस्कृत किया जाता है। हमारे लिए बच्चों की भागीदारी है ही सबसे महत्वपूर्ण हैं जो हमें खुशी प्रदान करती है। इस वर्ष हमारे स्कूल को शहर के सर्वश्रेष्ठ संस्थानों में से एक घोषित किया गया है जो दैनिक टाइम-टेबल में अतिरिक्त पाठ्यचर्या वाली गतिविधियों का सख्ताई से पालन करता है। मैं हर माता पिता को धन्यवाद देना चाहता हूं जिनके समर्थन के बिना यह हमारे लिए संभव नहीं होता। मैं सभी माता-पिता से गुज़ारिश करूँगा कि जो आज आप देख रहे हैं वह छात्रों और शिक्षकों द्वारा किए गए बड़े पैमाने पर सतत प्रयासों का परिणाम है इसलिए छात्रों को प्रोत्साहन दें और अपने तालियों से स्वागत करें।

मुझे यह बताने में अत्यधिक प्रसन्नता हो रही है कि हमारे खेल दिवस के प्रतिष्ठित अतिथि के रूप में और कोई नहीं बल्कि महान भारतीय पहलवान और ओलंपियन कुमारी बबीता फोगाट है जिनके प्रेरक जीवन की कहानियों पर एक फिल्म ("दंगल") बनाई गई है। मेरा मानना ​​है कि आप सभी को फोगाट बहनों के बारे में पता होना चाहिए जिन्होंने सभी बाधाओं के बावजूद जी तोड़ मेहनत की। बबीता फोगाट उन भारतीय महिलाओं पहलवानों में से एक है जिन्होंने पुरुषों द्वारा वर्चस्व वाले क्षेत्र में अपने उत्कृष्ट प्रदर्शन से अपने देश को गौरान्वित किया है।

उनके मजबूत दृढ़ संकल्प और संघर्ष के कारण ही आज वे यहाँ है। उन्होंने राष्ट्रमंडल कुश्ती चैम्पियनशिप में भारत के लिए 3 स्वर्ण पदक और 1 रजत पदक जीता है तथा विश्व कुश्ती चैंपियनशिप और एशियाई कुश्ती चैम्पियनशिप में 2 कांस्य पदक जीते हैं। यह हमारे लिए सौभाग्य की बात है कि आज हम सब यहां इकट्ठे हुए हैं और हमारे सम्मानित मेहमान के रूप में बबीता फोगाट हमारे बीच मौजूद है।

तो तालियों की गड़गड़ाहट के साथ स्वागत करें मिस बबिता फोगाट का जिन्हें मैं मंच पर आमंत्रित करना चाहूँगा ताकि वे अपनी प्रेरणादायक जीवन की कहानी को हमारे साथ साझा करे।

आशा करता हूँ कि आप सभी खेल महोत्सव का आनंद उठाएंगे।

धन्यवाद !!

वार्षिक महोत्सव के दिन मुख्य अतिथि के लिए छात्र द्वारा देने जाने हेतु स्वागत भाषण

माननीय मुख्य अतिथि श्री XYZ कपूर, अध्यक्ष श्री दीपक अग्रवाल, प्रमुख महोदया श्रीमती रेखा, सम्मानित शिक्षकगण और मेरे प्यारे दोस्तों आप सभी को मेरी तरफ़ से प्यार भरा नमस्कार,

मेरा नाम है PQR और मैं 12वीं-सी कक्षा का छात्र और ABC स्कूल का सांस्कृतिक सचिव भी हूँ। यह मेरा सौभाग्य है कि हमारे विद्यालय के 25 वर्ष पूरे करने और अपनी रजत जयंती समारोह का जश्न मनाने के शुभ दिन पर मैं आज आप सबके समक्ष मौजूद हूँ।

मुझे लगता है कि हम सभी के लिए आज के दिन के महत्व और मूल्य के बारे में मुझे कुछ कहने की ज़रूरत नहीं है। सभी के चेहरे की चमक ही सब कुछ साफ़ बता रही है कि आप सब आज यहाँ आकर कितने खुश है। आज हम सभी अपनी संस्था के लिए बेहद खुश हैं और मैं सभी सदस्यों को हमारे स्कूल के 25 स्वर्णिम वर्ष पूरा होने के लिए बधाई देता हूँ। अब हम उस स्थिति में हैं जहां हमारा अकादमिक अध्याय बंद होकर एक नया अध्याय आरंभ होता है।

मैं चौथी कक्षा से इस विद्यालय का हिस्सा रहा हूं और प्रत्येक वर्ष की मेरी यात्रा संघर्षों तथा उतार-चढ़ाव  के कारण बेहद मज़ेदार रही है। मेरे सफ़र के दौरान हमारे सभी शिक्षकों और प्रशिक्षकों ने मेरा हर कदम पर साथ दिया। अकादमिक क्षेत्र में हमारा विद्यालय नोएडा का सर्वश्रेष्ठ विद्यालयों में से एक के रूप में सम्मानित होने के अलावा हमारा विद्यालय प्रत्येक छात्र के लिए अतिरिक्त पाठ्यचर्या संबंधी गतिविधियों पर भी बराबर ध्यान देता है।

अब हमारे सांस्कृतिक कार्यक्रमों को शुरू करने से पहले हमारे आज शाम के मुख्य अतिथि श्री XYZ कपूर के स्वागत के लिए मुझे अत्यंत ख़ुशी है जो पूरे देश में शिक्षाविद, सामाजिक कार्यकर्ता और परोपकारी व्यक्ति के रूप में पहचाने जाते है। आज हमारे बीच मौजूद हमारे मुख्य अतिथि किसी भी तरह औपचारिक परिचय के मोहताज़ नहीं है क्योंकि आप सभी ने उनके कार्यों, प्रयासों और समाज के प्रति उनके अंतहीन योगदान के बारे में ज़रूर सुना होगा। हमारे मुख्य अथिति का व्यक्तित्व बहुत ही सम्मानजनक है। वे व्यापक रूप से महिलाओं के सशक्तिकरण, बालिका शिक्षा, वृधाश्रम, अनाथालयों की स्थापना तथा सामाजिक सेवा के क्षेत्र में अपना उल्लेखनीय योगदान दे चुके है।

आज रात हमारे मुख्य अतिथि के रूप में इस तरह के एक महान व्यक्तित्व का स्वागत करके मैं खुद को बहुत सौभाग्यशाली महसूस कर रहा हूँ। इसलिए यहां उपस्थित सभी की तरफ से मैं हमारे मुख्य अथिति को मंच पर बुलाने की आज्ञा चाहूँगा।

अपना भाषण ख़त्म करने से पहले मैं स्वागत करना चाहूँगा अपने सभी शिक्षकों, अभिभावकों, मित्रों और विद्यालय के सभी कर्मचारियों का जिन्होंने इस वार्षिक समारोह में भाग लेकर सफल बनाने के लिए अपना अमूल्य योगदान दिया।

आप सभी का बहुत-बहुत धन्यवाद !!


 

एकेडमी पुरस्कार समारोह के दिन मुख्य अतिथि के लिए छात्र द्वारा देने जाने हेतु स्वागत भाषण

माननीय मुख्य अतिथि, श्री डीएम, श्री डीजी, निदेशक, श्रीमती पी, प्रिंसिपल, श्री वीपी, उपाध्यक्ष, मंच पर गणमान्य व्यक्ति, सम्मानित शिक्षकों, माता-पिता और मेरे प्रिय दोस्तों आप सभी को मेरा नमस्कार, मेरा सौभाग्य है कि सभागार में मौजूद सभी "XYZ स्कूल" के छात्रों की शैक्षणिक उपलब्धियों के जश्न को मनाने और उन्हें पुरस्कृत करने के लिए इस आनंदमय शाम को संबोधित करने का मौका मुझे मिला है।

मैं हूँ ABC, हेड बॉय और कक्षा 12वीं-ए का छात्र. मैं अपने आप को बेहद सौभाग्यशाली महसूस कर रहा हूं कि मुझे इस प्रतिष्ठित पल में आपको संबोधित करने का यह मौका मिला है जब हमारा विद्यालय अपने 15वीं वार्षिक शैक्षिक पुरस्कार समारोह का जश्न मना रहा है जहां हमारे विद्यालय द्वारा अपनी कड़ी मेहनत के लिए विद्वानों को पुरस्कार दिया जाता है और अपनी आकांक्षाओं को उच्च रखने के लिए प्रेरित किया जाता है।

इसके अलावा इस समारोह के आयोजन से दिखता है कि हमारी संस्था 15 वर्षों में बच्चों को शिक्षा प्रदान करने के दायरे में कितनी सफल रही है। आज भी यह समारोह हमारे स्कूल के युवा दिमागों की प्रतिभाओं का प्रदर्शन करने का साक्षी है।

शिक्षा का महत्व कक्षा की चार दीवारों के भीतर ही सीमित नहीं है बल्कि यह इससे भी बहुत अधिक है और हम बहुत भाग्यशाली हैं की हमें इस तरह के शिक्षक, प्रशिक्षक मिले जो इसके महत्व को पहचानते हैं। यदि यह इमारत और शिक्षक स्कूल में उपलब्ध दो संसाधन हैं तो निश्चित रूप से हम छात्र तीसरा संसाधन है। वास्तव में शिक्षण की असली खुशी यह है कि वह किस तरह रचनात्मक, शैक्षिक, खेल की क्षमताओं को अपने छात्रों से बाहर निकालता है।

हमारे विद्यालय का मानना ​​है कि वे सिर्फ शैक्षणिक योग्यता की तलाश नहीं कर रहे हैं बल्कि नेतृत्व और टीम वर्क, निर्धारण और लचीलापन, आत्मविश्वास और स्व-भरोसा, सम्मान और विचार आदि जैसे व्यक्तिगत गुणों को भी देख रहे हैं।

मुझे स्कूल की तरफ से और स्वयं की ओर से, 9वीं और 10वीं के विद्यार्थियों द्वारा की गई कड़ी मेहनत को देखकर बहुत खुशी हुई क्योंकि वे हम से भी कई गुना ज्यादा मेहनती और आज रात अपने परिणामों को घोषित होने का इंतजार कर रहे हैं। मैं उन सभी विद्यार्थियों को भी श्रेय देना चाहता हूँ जो कड़ी मेहनत कर रहे है और अपने लक्ष्य को हासिल करने का दम रखते है।

आज मुझे जो कार्य सौंपा गया है वह है छात्रों को प्रोत्साहित करने के इस भव्य समारोह में सभी का स्वागत करना। तो सबसे पहले मैं हमारे माननीय प्रिंसिपल मैम का स्वागत करना चाहूंगा जो हमारे स्कूल की जीवन शक्ति का आधार है। जो आराम कम करती है और स्कूल के छात्रों की भलाई के बारे में अधिक काम करती है। हम आप सबका हमारे विद्यालय के इस प्रतिष्ठित कार्यक्रम में स्वागत करते हैं। हमारे प्यारे माता-पिता जिन्होंने हमारे संस्थान की सभी उच्च संभावनाओं को लगातार अपने प्यार और समर्थन से सींचा है उनका तहे दिल से स्वागत करते हैं।

मैं आज शाम के हमारे मुख्य अतिथि का हार्दिक स्वागत करता हूं जिन्हें किसी भी तरह औपचारिक परिचय की आवश्यकता नहीं है क्योंकि शहर के बुनियादी ढांचे, पर्यावरण के विकास और सुधार के लिए किए गए उनके कार्यों की जानकारी आप सभी को है। हमारे मुख्य अथिति वह व्यक्ति है जिन्होंने लड़कियों और महिलाओं की सुरक्षा सुनिश्चित की है तथा सामाजिक सेवाओं के साथ-साथ गरीबों और जरूरतमंद लोगों को आश्रय भी प्रदान करवाया है। वह और कोई नहीं बल्कि हमारे शहर के जिलाधिकारी श्री डीएम हैं।

तो तालियों की गूंज के साथ मैं मंच पर श्री डीएम को बुलाना चाहूँगा ताकि हम सभी को ऐसे महान व्यक्तित्व को सुनने का सौभाग्य मिल सके।

धन्यवाद।


 

वार्षिक महोत्सव समारोह के दिन मुख्य अतिथि के लिए कॉलेज में देने जाने हेतु स्वागत भाषण

सभागार में मौजूद सभी सम्मानित अथितियों को मेरा नमस्कार,

आज हमारा ABC कॉलेज अपने 23वें वार्षिक दिन का जश्न मना रहा है। इस महत्वपूर्ण क्षण में आपको संबोधित करने का अवसर पाकर मैं खुद को बहुत सौभाग्यशाली महसूस कर रहा हूँ। युवा मन को प्रेरित करने का मौका मिलना हमेशा एक सम्मानजनक पल होता है। आज के बच्चे देश के आने वाले कल का भविष्य हैं। जो चमकदार चेहरों को आज पुरस्कार मिल रहें हैं उनकी प्रतिभाओं के प्रदर्शन की बुनियाद पर हम यह कह सकते है कि वे कल देश का मान बढ़ाएंगे। हो सकता है कि वे अपनी जिंदगी में बड़ी सफलता, नाम और प्रसिद्धि प्राप्त करें लेकिन हम उनसे उम्मीद करते है कि वे अच्छे इंसान भी बने और इस दुनिया को रहने के लिए एक बेहतर जगह बनायें।

मुझे यह कहने में अत्यंत गर्व महसूस हो रहा है कि आज यहां विद्यार्थियों ने जो प्रतिभा का प्रदर्शन किया है वह यह सबूत है कि उनके पास समाज के योग्य नागरिक बनने की क्षमता है और वे स्वयं और दूसरों की विभिन्न तरीकों से मदद कर सकते हैं।

आज हम वार्षिक दिवस पर यहां इकट्ठा हुए हैं ताकि युवाओं को अपनी प्रतिभा दिखाने के लिए प्रोत्साहित किया जाए जिसकी वजह से उन्हें एक अलग पहचान मिली। यह हमारे लिए बेहद महत्वपूर्ण अवसर है क्योंकि यह उत्सव हमारे स्कूल की शिक्षा के क्षेत्र में निरंतर सफलता को बताता है। इसके अलावा इस मंच से आज शाम के हमारे मुख्य अतिथि का स्वागत करने का मौका भी हमें मिला है।

ABC कॉलेज की ओर से मैं सम्मानपूर्वक श्री _____ का स्वागत करता हूं, जो एक प्रसिद्ध हृदय रोग विशेषज्ञ है और प्रतिष्ठित XYZ अस्पताल में हार्ट स्पेशलिस्ट के रूप में काम करते हैं। हम निश्चित रूप से आपका, इस अवसर पर मुख्य अतिथि बनने के लिए विनम्रतापूर्वक निमंत्रण स्वीकार करने के लिए, आभारी हैं। हमारे मुख्य अतिथि को किसी भी औपचारिक परिचय की आवश्यकता नहीं है क्योंकि वह एक परोपकारी और समाज के एक विशिष्ट व्यक्ति है। हमारे मुख्य अथिति अत्यधिक सम्मानित व्यक्ति है और अपने कर्मों और पेशेवर सेवाओं के लिए चिकित्सा के साथ-साथ सामाजिक सेवा क्षेत्र में जानें जाते है। वह अपना निजी क्लिनिक भी चलाते है जहां गरीबी रेखा से नीचे के लोगों का मुफ्त में इलाज किया जाता है। उनके कुछ गैर-सरकारी संगठनों (एनजीओ) से भी संबंध हैं जो जरूरतमंदों के लिए मुफ्त दवाओं और उपकरणों की व्यवस्था करते हैं। वह वास्तव में एक बहुमुखी व्यक्तित्व है और समाज को ऐसे कई लोगों की जरूरत है। हम सभी उनके उपचारों से परिचित हैं जिसके कारण उन्होंने कई लोगों की जान बचाई है। हमारे मुख्य अथिति समाज में एक उच्च सम्मानित व्यक्ति हैं और चिकित्सा विज्ञान के क्षेत्र में हासिल की गई उपलब्धियों के लिए प्रसिद्ध हैं। यह हमारा सौभाग्य है कि वह आज मुख्य अतिथि के रूप में यहाँ हमारे बीच मौजूद है।

मैं सभी माता-पिता का भी स्वागत करना चाहूंगा जिन्होंने ज्ञान के प्रकाश को फैलाने के हमारे प्रयास में लगातार हमें समर्थन दिया है।

अंत में एक और महत्वपूर्ण बात मैं सभी शिक्षकों, कर्मचारियों और छात्रों का स्वागत करना चाहूंगा जो इस महाविद्यालय के अभिन्न अंग हैं और हमेशा कॉलेज के विज़न और मिशन का समर्थन करते हैं। मैं अपने कार्यक्रम के दौरान आपके सहयोग और इसे सफल बनाने के लिए सभी से अनुरोध करता हूं।

धन्यवाद !


 

स्वतंत्रता दिवस के दिन मुख्य अतिथि के लिए विद्यालय में देने जाने हेतु स्वागत भाषण

सभागार में मौजूद सभी सम्मानित अथितियों को मेरा नमस्कार,

भारत विभिन्न देवी-देवताओं, भाषाओं, त्योहारों और रीति-रिवाजों की भूमि है। यहाँ विभिन्न समुदायों, धर्मों, संस्कृतियों के लोग एकजुट रहते है। इसमें कोई आश्चर्य की बात नहीं कि हमारा देश भारत वाकई अविश्वसनीय है। 70 साल पहले 15 अगस्त को हमारे देश को आजादी मिली और हमें यह कहने पर गर्व है कि हमने बहुत संघर्ष और असंख्य बलिदानों के बाद इस उपलब्धि को हासिल किया है। जैसा कि आज हम यहां इकट्ठे हुए हैं इसलिए मैं इस अवसर पर हर छात्र और हमारे सभी शिक्षकों को स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाएं देता हूं।

इस मंच से आज मुख्य अतिथि का स्वागत करने का मुझे एक बड़ा अवसर मिला है जो कि समाज में प्रसिद्ध राजनीतिक व्यक्ति हैं। हमारे मुख्य अथिति हमारे जिले की विधान सभा (विधायक) के सदस्य हैं। वह प्रसिद्ध परोपकारी भी है और अपने महान कार्यों के लिए पहचाने जाते है। हमारे मुख्य अथिति एक गैर सरकारी संगठन के संस्थापक भी हैं जो गरीब और वंचित बच्चों के लिए काम करता है। वह उच्च साक्षर व्यक्ति है। आईआईटी खड़गपुर से अपना स्नातक पूरा करने के बाद वह सरकार में शामिल हो गए और हमारे शहर में कई सड़कों और पुलों के निर्माण के लिए अपना योगदान दिया। हमारे मुख्य अतिथि अपने खाली समय में लिखना पसंद करते है और उन्होंने कई लेख लिखे है विशेष रूप से गरीबी, बेरोजगारी आदि जैसे सामाजिक मुद्दों पर ध्यान केंद्रित करने के लिए। आज मुख्य अतिथि के रूप में इस तरह के एक प्रतिष्ठित व्यक्ति की उपस्थिति हमारे स्कूल के छात्रों के लिए प्रेरक और प्रेरणादायक है।

मैं इस मंच से उन सभी माता-पिता को धन्यवाद देता हूँ और उनका स्वागत करता हूं जिन्होंने हमारे विद्यालय के मिशन और दृष्टि को बिना शर्त प्यार और समर्थन दिया जिससे हमें अपने लक्ष्य को प्राप्त करने में बहुत मदद मिली। यहाँ उपस्थित सभी माता-पिता ने स्कूल में जबरदस्त भरोसा दिखाया है जो हमेशा उत्कृष्टता के चरम पर पहुंचने के लिए विद्यालय की प्रेरणा रहा है। अंत में मैं सभी शिक्षकों, छात्रों और स्कूल के सभी स्टाफ सदस्य को धन्यवाद देना चाहूँगा जो हमेशा सक्रिय, मेहनती और समर्पित रह कर हर पल को शानदार सफलता बनाने के लिए दिन रात जुटे रहे।

जैसा कि हम जानते हैं कि हर साल हम इस दिवस को कई सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ मनाते हैं, इस साल भी हम अपने स्कूल के छात्रों द्वारा किए जाने वाले विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ अपनी आजादी का जश्न मना रहे हैं। ये छात्र विभिन्न समुदायों से संबंधित हैं लेकिन वे अपनी जाति, पंथ, संस्कृति, धर्म या आर्थिक पृष्ठभूमि के बावजूद एकता की भावना को साझा करते हैं। विद्यालय हर किसी को अच्छे इंसान बनने की सीख देता है।

मैं हर किसी से अनुरोध करता हूं कि सबसे पहले हमारे देश और उन सभी सैनिकों को नमन करें जो इस आजादी के लिए निडरतापूर्वक लड़े हैं। आप सबसे निवेदन है कि कृपया खड़े होकर एक साथ राष्ट्रगान गायें। इसके बाद, मैं सम्मानित मुख्य अतिथि से दीपक को प्रज्वलित करने, राष्ट्रीय ध्वज को फ़हराने और हमें अपने प्रेरक भाषण से प्रोत्साहित करने का अनुरोध करता हूं।

धन्यवाद !!