हर घर तिरंगा पर निबंध (Essay on Har Ghar Tiranga in Hindi)

हर घर तिरंगा अभियान आजादी का अमृत महोत्सव के तहत भारत की आजादी के 75 साल के गौरवशाली उपलब्धि के उपलक्ष्य में भारत सर्कार द्वारा चलाया गया एक अभियान है।

15 अगस्त 2022 को भारत अपनी आजादी के 75 साल पूरा करेगा। भारत की स्वतंत्रता की 75वीं वर्षगांठ को चिह्नित करने के लिए, भारत सरकार ने स्वतंत्रता सेनानियों को श्रद्धांजलि देने के साथ-साथ भारत के लंबे इतिहास का जश्न मनाने का फैसला किया है। इस राष्ट्रीय त्योहार को मनाने के लिए, विभिन्न कार्यक्रमों की योजना बनाई गई है, और इस उत्सव को सरकार द्वारा "आजादी का अमृत महोत्सव" नाम दिया गया है। इस उत्सव के तहत होने वाले कार्यक्रमों में से एक "हर घर तिरंगा" है। आज हम इस अभियान के बारे में विस्तार से चर्चा करेंगे।

हर घर तिरंगा पर 10 वाक्य

हर घर तिरंगा अभियान पर लघु और दीर्घ निबंध  (Short and Long Essays on Har Ghar Tiranga Abhiyan in Hindi, Har Ghar Tiranga par Nibandh Hindi mein)

यहां पर मैं हर घर तिरंगा अभियान पर निबंध विभिन्न शब्द सीमाओं में प्रस्तुत कर रही हूँ। यह विषय सभी वर्गों के छात्रों के लिए उपयोगी है। ये सभी निबंध आप लोगों को इस अभियान के बारे में समझने में सहायक सिद्ध होंगे। साथ ही साथ मैंने इस विषय से संबंधित अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्नों को भी दिया है।

हर घर तिरंगा पर छोटा निबंध 1 (150 शब्द)

हर घर तिरंगा भारत सरकार द्वारा प्रस्तावित एक अभियान है। यह अभियान आजादी का अमृत महोत्सव के तहत शुरू किया गया है। यह अभियान हर भारतीय से 15 अगस्त को अपने घरों में राष्ट्रीय झंडा फहराने की अपेक्षा करता है। इस अभियान के तहत 13 से 15 अगस्त तक ध्वजारोहण का अनुरोध किया जाता है।

यह सभी देशवासियों में राष्ट्रीय ध्वज के महत्व को फैलाने में मदद करेगा। पीएम नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रीय ध्वज दिवस पर इस अभियान की घोषणा की थी। यह भारतवासियों में ध्वज के प्रति सम्मान व देश के प्रति देश भक्ति की भावना जगाने में मदद करेगा। इस अभियान के दौरान कई प्रेरणात्मक कार्यक्रम आयोजित किए जायेंगे। इसका उद्देश्य नागरिकों में देशभक्ति को बढ़ावा देना है।

यह भी पढ़ें: स्वतंत्रता दिवस पर 10 वाक्य || स्वतंत्रता दिवस के महत्व पर 10 वाक्य

हर घर तिरंगा अभियान पर लघु निबंध 2 (200 - 250 शब्द)

आजादी का अमृत महोत्सव आजादी की 75वीं वर्षगांठ का उत्सव है। जिसके तहत कई कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं। हर घर तिरंगा अभियान कुछ और नहीं बल्कि आजादी का अमृत महोत्सव के तहत ही एक अभियान है। यह अभियान भारत सरकार द्वारा शुरू किया गया था और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह द्वारा पारित किया गया था।

यह अभियान लोगों से 13 से 15 अगस्त 2022 तक अपने घरों में राष्ट्रीय ध्वज फहराने की अपील करता है। 22 जुलाई 2022 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोगों से इस कार्यक्रम में भाग लेने का अनुरोध किया था। उनके अनुसार "हर घर तिरंगा" अभियान से देशभक्ति की भावना को उच्चतम स्तर तक पहुंचाया जाएगा। यह लोगों के बीच राष्ट्रीय ध्वज के महत्व के बारे में जागरूकता भी फैलाएगा।

इस अभियान का मुख्य उद्देश्य अधिक से अधिक लोगों को अपने घरों में राष्ट्रीय ध्वज फहराने के लिए प्रोत्साहित करना है। इससे न केवल नागरिकों को ध्वज से व्यक्तिगत रूप से जुड़ने में मदद मिलेगी बल्कि राष्ट्रीय ध्वज के प्रति सम्मान भी बढ़ेगा। इस उत्सव केद्वारा स्वतंत्रता सेनानियों को भी सम्मानित किया जा सकता है।

इस आयोजन के तहत कई कार्यक्रम और प्रतियोगितायें आयोजित की जायेंगी। यह हम सभी को संबंधित सरकारी वेबसाइट के माध्यम से कार्यक्रमों में वस्तुतः भाग लेने की अनुमति भी देता है। इसलिए, यह हम सभी पर निर्भर है कि हम इसमें भाग लेकर यह सुनिश्चित करें कि यह सरकारी अभियान सफल हो और इसका सफल अंत हो।


हर घर तिरंगा अभियान पर दीर्घ निबंध 3 (500 - 600 शब्द)

प्रस्तावना

किसी देश का आधिकारिक झंडा उस पूरे देश का प्रतीक होता है। यह प्रतीक एक ही छवि में देश के अतीत, वर्तमान और भविष्य को दर्शाता है। जिस तरह एक झंडा किसी देश का प्रतिनिधित्व करता है, उसी तरह हमारा राष्ट्रीय झंडा भारत देश का प्रतिनिधित्व करता है। हमारे लिए हमारे राष्ट्रीय झंडे के बहुत मायने हैं। यह हमें गौरवान्वित महसूस कराता है। हमारे झंडे को और अधिक महत्वपूर्ण बनाने के लिए भारत में एक अभियान "हर घर तिरंगा" शुरू किया गया है।

तिरंगा पर एक नजर

तिरंगा या भारत का राष्ट्रीय ध्वज देश के लोगों के लिए बहुत महत्व रखता है। भारत का राष्ट्रीय ध्वज शांति, प्रेम और एकता का प्रतीक है। भारत को आजाद कराने में कई स्वतंत्रता सेनानियों ने अपनी जान गंवाई। यह उनके अमूल्य बलिदान का प्रतिनिधित्व करता है। पहले, झंडे के लिए कई डिजाइन और रंगों का इस्तेमाल किया जाता था। ध्वज का मूल रूप जो आज हम देखते हैं, वह 22 जुलाई 1947 को संविधान सभा द्वारा अपनाया गया था। यह पिंगली वेंकय्या द्वारा डिजाइन किया गया था और इसमें केसरिया, सफेद और हरे रंग की तीन समान पट्टियां होती हैं। भारतीय ध्वज संहिता ध्वज के प्रदर्शन और उपयोग को नियंत्रित करती है। राष्ट्रीय ध्वज "तिरंगा" एक स्वतंत्र गणराज्य के रूप में भारत का प्रतिनिधित्व करता है।

क्या है हर घर तिरंगा अभियान?

आजादी का अमृत महोत्सव का उत्सव कई कार्यक्रमों का आयोजन करता है। ऐसा ही एक अभियान है हर घर तिरंगा। इस अभियान को शुरू करने के लिए भारत सरकार जिम्मेदार है। इस कार्यक्रम को केंद्रीय गृह मंत्री श्री अमित शाह द्वारा अनुमोदित किया गया है क्योंकि वह आजादी का अमृत महोत्सव के तहत सभी गतिविधियों की देखरेख करते हैं। 22 जुलाई 2022, शुक्रवार को प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने इस अभियान की घोषणा की और भारत के लोगों से इसे एक बड़ी सफलता बनाने का अनुरोध किया।

इस अभियान ने सभी भारतीयों से 13 से 15 अगस्त 2022 तक राष्ट्रीय ध्वज (तिरंगा) फहराने का अनुरोध किया। इस अभियान के तहत कई कार्यक्रम और प्रतियोगिताएं आयोजित की जा रही हैं। लोग वर्चुअल रूप से भी इस अभियान में हिस्सा ले सकते हैं। इस अभियान में भाग लेने के लिए एक विशेष वेबसाइट भी शुरू की गई है।

हर घर तिरंगा अभियान का उद्देश्य

हर घर तिरंगा अभियान का मुख्य उद्देश्य राष्ट्रीय ध्वज के साथ हमारे संबंध को गहरा करना है। पहले झंडे का इस्तेमाल केवल संस्थागत कार्यों और औपचारिक अवसरों के लिए किया जाता था। घरों और संस्थानों में झंडा फहराने से लोग व्यक्तिगत स्तर पर झंडे से जुड़ सकेंगे। यह अभियान लोगों को हमारे राष्ट्रीय झंडे के महत्व के बारे में जागरूक करने में मदद करेगा।

इस उत्सव को सभी स्वतंत्रता सेनानियों को श्रद्धांजलि के रूप में भी देखा जा सकता है। हर घर तिरंगा अभियान भारत के नागरिकों के बीच देशभक्ति और राष्ट्रवाद को बढ़ाने में मदद करेगा। यह एक राष्ट्र के रूप में हमारी प्रतिबद्धता को दर्शाने का भी एक अच्छा तरीका है। परिणामस्वरूप, हमारा हमारे राष्ट्रीय ध्वज के प्रति सम्मान बढ़ेगा। साथ ही, यह अभियान भारतीय नागरिकों को राष्ट्र के प्रति उनकी जिम्मेदारियों की याद दिलाएगा।

निष्कर्ष

भारत को आजादी मिलने के बाद पिछले 75 वर्षों में देश ने हर क्षेत्र में जबरदस्त प्रगति की है। हमारे देश ने ऊपर सूचीबद्ध क्षेत्रों के अलावा विज्ञान और प्रौद्योगिकी, चिकित्सा विज्ञान और कई अन्य क्षेत्रों में भारी प्रगति की है। अब हम अपने विकास के बहुत अच्छे बिंदु पर हैं और इसे मनाने का यह बहुत अच्छा समय है। इस प्रकार, आजादी का अमृत महोत्सव का उत्सव कुछ ऐसा है जिसमें प्रत्येक भारतीय नागरिक को भाग लेना चाहिए और इस पर बहुत गर्व होना चाहिए। एक भारतीय के रूप में इस देश और उत्सव का हिस्सा होने से ज्यादा गर्व की कोई बात नहीं है।

मुझे आशा है कि ऊपर दिया गया हर घर तिरंगा अभियान पर निबंध इस अभियान के विभिन्न पहलुओं को समझने में सहायक होगा।

FAQs: हर घर तिरंगा अभियान पर अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

Q.1 हर घर तिरंगे के लिए पंजीकरण कब शुरू हुआ?

उत्तर: हर घर तिरंगे के लिए पंजीकरण 22 जुलाई 2022 से शुरू हो गया था।

Q.2 हर घर तिरंगा अभियान में कैसे भाग लें?

उत्तर: आप नीचे दिए गए चरणों का उपयोग करके इस अभियान में भाग ले सकते हैं:
• आधिकारिक साइट "harghartiranga.com" पर जाएं
• फ्लैग पिन पर जाएं।
• लॉग इन करने के लिए अपना नाम और मोबाइल नंबर दर्ज करें।
• लोकेशन एक्सेस इनेबल करें।
• अपना लोकेशन पिन करें।

Q.3 अपने घर पर राष्ट्रीय ध्वज कैसे लगायें?

उत्तर: राष्ट्रीय ध्वज सर्वोच्च स्थान पर होना चाहिए और स्पष्ट रूप से प्रदर्शित होना चाहिए। अनादरित या क्षतिग्रस्त झंडे को प्रदर्शित नहीं किया जाना चाहिए।

Q.4 राष्ट्रीय ध्वज को बनाने के लिए किस प्रकार की सामग्री का उपयोग किया जाता है?

उत्तर: यह पॉलिस्टर, ऊन, खादी, कपास, या रेशम बंटिंग से बना होना चाहिए जो हाथ से बुने हुए या मशीन से बने होते हैं।

Related Information:

भारत का 76वां स्वतंत्रता दिवस - 15 अगस्त 2022

15 अगस्त को ही आजादी क्यों मनाई जाती है?

15 अगस्त को ही देशभक्ति क्यों उमड़ती है?

स्वतंत्रता दिवस पर निबंध

स्वतंत्रता दिवस पर भाषण

स्वतंत्रता दिवस पर शिक्षकों के लिये भाषण

स्वतंत्रता दिवस पर स्लोगन

स्वतंत्रता दिवस पर कविता