पैसे पर भाषण

प्रत्येक व्यक्ति के जीवन में पैसा सबसे महत्वपूर्ण पहलुओं में से एक है। हमें स्वयं के लिए बड़ी से बड़ी चीजों और छोटी से छोटी वस्तुओं के लिए पैसे की ज़रूरत है। पैसा किसी भी देश में आर्थिक संतुलन या असंतुलन का कारण है। आपको विभिन्न अवसरों पर पैसे पर भाषण देने के लिए कहा जा सकता है। हम आपके साथ पैसे पर स्पीच के कुछ नमूने साझा कर रहे हैं जो आपको दर्शकों के लिए एक प्रभावशाली भाषण देने में आपकी सहायता कर सकते हैं। पैसे पर हमारे लम्बे भाषण बैंक या किसी कॉर्पोरेट स्तर पर आपकी सहायता कर सकते हैं। यदि आपको कहीं भी भाषण देने की आवश्यकता हो तो आप निचे दिए गए पैसे पर भाषण का उपयोग कर सकते हैं। भाषणों के लिए इस्तेमाल की गई भाषा बहुत ही सरल और प्रभावशाली है।

धन (पैसे) पर पर लंबे और छोटे भाषण व स्पीच - Speech on Money in Hindi

पैसे पर भाषण - 1

सुप्रभात।

मुझे आपके साथ यह ख़ुशी साझा करते हुए बहुत प्रसन्नता हो रही है कि हमने इस साल व्यापार में दुगना लाभ कमाया है और यह केवल आप सभी के कठिन प्रयासों के कारण ही मुमकिन हो सका है। इस प्रकार प्रबंधन समिति ने सभी कर्मचारियों के साथ लाभ का एक निश्चित हिस्सा बोनस के रूप में साझा करने का निर्णय लिया है।

हम समझते हैं कि पैसा सबसे महत्वपूर्ण चीज़ है जिसके बिना हम अपने जीवन की कल्पना नहीं कर सकते। हम सभी को पैसे के महत्व और चीजों के बारे में पता है कि हम धन से क्या-क्या खरीद सकते हैं। यही कारण है कि हर कोई अपने जीवन में धन जमा करना चाहता है। मुझे कहने की ज़रूरत नहीं है कि पैसा सामान खरीदने या किसी भी सेवा का लाभ लेने के लिए लेनदेन का एक महत्वपूर्ण माध्यम है। पैसे की अहमियत जीवन की आवश्यकता से परे हो गई है। धन विलासिता का आनंद लेने और एक आरामदायक जीवन जीने के लिए आवश्यक है।

पैसा मुख्य रूप से मानव द्वारा व्यापार, सामान और सेवाओं के आदान-प्रदान के लिए एक समान संप्रदाय के रूप में आविष्कार किया गया था और जिसका उद्देश्य धन के रूप में आय अर्जित करना था। उन दिनों समाज में नैतिक सिद्धांत एवं नीतियों के बाद धन मुख्य आवश्यकता थी लेकिन आज के समय में पैसा लोगों की सबसे महत्वपूर्ण आवश्यकता बन गया है। बिना पैसे कोई भी व्यक्ति जिन्दा नहीं रह सकता है।

हम मानते हैं कि न केवल आरामदायक जीवन के लिए बल्कि हमारे परिवार के सदस्यों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए अधिक से अधिक धन अर्जित करना महत्वपूर्ण है। आज कुछ चीजें निश्चित नहीं हैं जैसे दुर्घटनाएँ, प्राकृतिक आपदायें आदि जैसी आपात स्थितियों के लिए पैसा जरूरी है। मुझे इस धारणा पर विश्वास नहीं है कि किसी को अधिक पैसा कमाने के लिए कड़ी मेहनत नहीं करनी चाहिए या किसी को कम प्रकृति के उपहारों के साथ खुश रहना चाहिए। मेरा मानना ​​है कि अधिक पैसे कमाने के लिए उत्साह एक व्यक्ति को प्रतिस्पर्धी और चुस्त बनाता है। इसके अलावा कम पैसे आपकी वर्तमान जरूरतों को पूरा कर सकते हैं लेकिन भविष्य की दुर्घटनाओं से आपकी रक्षा नहीं कर सकते हैं। इस प्रकार एक अनदेखे भविष्य के लिए निश्चित रूप से अधिक पैसे की जरूरत है।

हिंदू पौराणिक कथाओं में लोग पूज्य लक्ष्मी और देवता कुबेर की पूजा करते हैं जो धन और संपदा के प्रतीक हैं। कोई भी संस्कृति ऐसा प्रचार नहीं करती है कि आप अपने परिवार के सदस्यों के प्रति अपनी जिम्मेदारियों को नजरअंदाज करे और साधु-तपस्वी का जीवन जिएं। यह महत्वपूर्ण है कि आप अपने परिवार के सदस्यों के प्रति अपने कर्तव्यों को अपनी क्षमता अनुसार पूरी करें और इसके लिए निश्चित रूप से उन चीजों को खरीदने के लिए धन की आवश्यकता होगी जो आपके प्रियजनों को खुश कर सकती है।

पैसा अब कागज, धातु, प्लास्टिक कार्ड, ई-बटुआ, यात्रियों के जांच कूपन आदि जैसे विभिन्न रूपों में उपलब्ध होने लगा है। निश्चित रूप से पैसे के मूल्य की अहमियत है ना कि इसके अलग-अलग रूपों की। दूसरा धन कमाने के अलावा आपको एक महत्वपूर्ण कार्य के रूप में भविष्य के लिए धन की बचत करने पर भी विचार करना चाहिए। इसके लिए आप जमीनी-संपत्ति, सोना आदि में निवेश करने पर विचार कर सकते हैं क्योंकि इन चीजों का मूल्य हर साल बढ़ रहा है। आपको पैसे कमाने और बचाने के लिए विभिन्न तरीकों की ओर हमेशा देखना चाहिए लेकिन आपको पैसा जल्दी से कमाने के लिए अवैध तरीके अपनाने नहीं चाहिए। इस तरह के पैसे आपको थोड़े समय के लिए खुशी दे सकते हैं लेकिन बाद में आपको इसके लिए भारी दंड भुगतना पड़ सकता है। इसके अलावा आपको इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि आप दूसरों के साथ खुद की तुलना ना करें। कोई आप से अधिक समृद्ध भी हो सकता है और कुछ आप से गरीब भी हो सकते हैं। कुछ चीजें आपके नियंत्रण से बाहर हैं तो इसके लिए अपने लक्ष्य को निर्धारित करें। इस प्रकार आपको केवल अपने परिवार के सदस्यों, समाज और स्वयं के प्रति अपनी भूमिकाओं और जिम्मेदारियों के निर्वहन के लिए कड़ी मेहनत पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए।

धन्यवाद।

पैसे पर भाषण – 2

प्रिय छात्रों।

आशा है कि आप जिंदगी का भरपूर आनंद उठा रहे हैं। मैं शहर में मैडिटेशन सेंटर चलाता हूं और अक्सर स्कूलों और कॉलेजों में विभिन्न विषयों पर प्रेरक भाषण देने के लिए मुझे बुलाया जाता है। आज मैंने पैसे के विषय के बारे में भाषण देना चुना है जो कि सभी के लिए आकर्षण का मुख्य केंद्र है। पैसा ऐसी चीज़ है जिसे हर कोई अपने पास रखना चाहता है और जिन लोगों के पास पहले से ही पैसा है वे उसे और कई गुणा बढ़ाना चाहते हैं। वास्तव में हम सभी को अधिक से अधिक पैसा कमाने के लिए कड़ी मेहनत करनी चाहिए।

पैसा आदर्श रूप से मनुष्य द्वारा एक समान लेन-देन के माध्यम के रूप में आविष्कार किया गया था जिसका इस्तेमाल सामानों और सेवाओं का आदान-प्रदान करने के लिए किया जा सकता है। यह उन चीजों के रूप में भी माना जाता था जिसमें लोग अपनी आय और धन को बचा सकते हैं। उन दिनों पैसा इतना महत्वपूर्ण नहीं था जितना आज है।

जैसे-जैसे समय बीता है अन्य चीजों की तुलना में धन के महत्व में भारी वृद्धि हुई है और लोग अधिक से अधिक पैसे कमाने के साधन तलाशने लगे हैं। हालांकि सच्चाई यह है कि हमें भोजन, कपड़े, आश्रय आदि जैसी बुनियादी जरूरतों को खरीदने के लिए धन की ज़रूरत है लेकिन हम में से बहुत सारे अपनी मनपसंद चीजें और आरामदायक जीवन जीने के लिए अधिक पैसा कमाना चाहते हैं। किसी भी आपातकालीन या प्राकृतिक आपदा को पूरा करने के लिए पैसे बचाने का उद्देश्य भी आवश्यक है। हमें बैंक में पैसा बचत के रूप में जमा करना है ताकि हम भविष्य में उसका उपयोग कर सकें। धन वास्तव में हर किसी के लिए सबसे महत्वपूर्ण तत्वों में से एक है लेकिन मनुष्य की तुलना में पैसे को अधिक महत्व देना सही नहीं है। मैं इस बात से सहमत हूं कि अगर हमारे पास पैसा है तो समाज के लोग हमें सम्मान देंगे। प्रत्येक व्यक्ति को धन अर्जित करने की दिशा में प्रगतिशील होना चाहिए लेकिन अधिक धन अर्जित करने के लिए किसी को अनुचित या अवैध तरीका अपनाने से बचना चाहिए क्योंकि भविष्य में ये उठाए कदम आपके लिए बेहद ख़तरनाक साबित हो सकते हैं और यह आपके जीवन को बर्बाद कर सकते हैं जिससे आपकी मानसिक शांति का संतुलन बिगड़ सकता है। इसलिए हमें ईमानदार माध्यमों से कमाए गये पैसों पर खुश रहना चाहिए।

पैसा कमाने के दौरान हमें अपने समाज के गरीब वर्ग, विशेष रूप से बच्चों और महिलाओं की मदद करने और उनके विकास और प्रगति के लिए योगदान देने के लिए पर्याप्त उदारता पैदा करनी चाहिए। दुर्भाग्य से हमारे समाज के लोग इन दिनों स्वयं पर ध्यान दे रहे हैं और आसपास के लोगों की ओर ध्यान नहीं देते। एक बड़ी आबादी है जो गरीबी रेखा से नीचे रहती है और उनकी आजीविका कमाने का कोई मतलब नहीं है तो हमारे समाज का एक विशेषाधिकार प्राप्त खंड के रूप में यह हमारा कर्तव्य बन जाता है कि उस कमजोर वर्ग के उत्थान में मदद करें और उन्हें आगे लाने में मदद करें। मैं सभी विद्यार्थियों से कठिन अध्ययन करने और उनसे स्वयं को अच्छी तरह स्थापित करने की अपील करूँगा ताकि आप अपने जीवन में लक्ष्यों को प्राप्त कर सकें और अपने तथा अपने प्रियजनों को एक शांतिपूर्वक जीवन दे सकें।

एक अन्य महत्वपूर्ण पहलू जिस पर आपको विचार करना चाहिए वह यह है कि हर वर्ष के बाद मुद्रा का मूल्य घट रहा है और चीजें दिन-प्रतिदिन महंगी हो रही हैं इसलिए यह महत्वपूर्ण है कि हम अधिक पैसा कमाएं और अधिक से अधिक बचत करें। कई लोग संपत्ति, सोना, म्यूचुअल फंड, जमीन, आवासीय घरों, बैंक खातों आदि में निवेश के माध्यम से पैसा बचाना चाहते हैं। भविष्य की आपदाओं और प्रतिकूल परिस्थितियों को पूरा करने का यह एक अच्छा निर्णय है।

अंत में मैं यही कहूंगा की पैसा निश्चित रूप से अच्छा है बशर्ते आप यह जानते हो कि उसे कितनी अहमियत देनी है। अपने पैसे का आनंद लेने के लिए आपको जरूरतमंद लोगों की सहायता करने के लिए विचार करना चाहिए। कुछ धर्मों में लोग महान कर्मों और दान के लिए अपनी कमाई का एक निश्चित राशि दान करते हैं। यह बिल्कुल आप पर निर्भर है लेकिन आपको हमेशा एक पूर्ण जीवन जीने के लिए सही रास्ते का पालन करना चाहिए।

धन्यवाद।

पैसे पर भाषण – 3

सुप्रभात देवियों और सज्जनों।

आज हम सब हमारे नए बैंक शाखा के उद्घाटन समारोह के अवसर पर यहां इकट्ठे हुए हैं और हम सभी इसके बारे में बहुत उत्साहित हैं। इस बैंक के प्रबंधक के रूप में मुझे इस तरह की एक महान और सफल कंपनी का हिस्सा बनने पर गर्व महसूस हो रहा है। एक नई शाखा का उद्घाटन केवल कर्मचारियों के सहयोग और कंपनी के साथ जुड़े पूरे स्टाफ के साथ संभव है। इस मौके का उपयोग करते हुए मैं आज की दुनिया में पैसे की भूमिका के बारे में कुछ शब्द कहना चाहूंगा क्योंकि पैसे बैंकों की जड़ के पीछे मुख्य कारण हैं।

एक नागरिक के जीवन में बैंक की भूमिका अहम् होती है क्योंकि यह सीधे पैसे से जुड़ा होता है। एक व्यक्ति के जीवन में पैसा बहुत महत्वपूर्ण या लगभग अनिवार्य हिस्सा है और इसलिए बैंक ऋण, पैसे के  लेन-देन स्वतः ही महत्वपूर्ण हो जाता है। धन स्रोत है जिसके माध्यम से हम उन चीजों को खरीद सकते हैं जो एक आरामदायक जीवन के लिए आवश्यक हैं। आज की दुनिया में धन आत्मविश्वास स्रोत है और धन बिना यह सब हासिल करना असंभव लगता है। कड़ी मेहनत किसी व्यक्ति की क्षमता और साहस को बढ़ाता है। पैसा आज की दुनिया में एक व्यक्ति की सामाजिक स्थिति और प्रतिष्ठा को दर्शाता है। दुर्भाग्य से दुनिया अपने नैतिक और सामजिक मूल्यों से पीछे जा रही है और यह बहुत परेशान करने वाला मुद्दा है। हर कोई हर हाल में पैसा कमाना चाहता है। बहुत से लोग जुए, दूसरे देशों में अवैध चीजों की बिक्री जैसे गलत रास्तों के माध्यम से पैसा कमाना चाह रहे हैं। ये लोग पैसे के दास बन चुके हैं। जी हां, दास!

लोग अपने बढ़ते प्रेम के कारण पैसे के दास बनने की ओर बढ़ रहे हैं या पैसे की लालसा कर रहे हैं। धन की प्यास भ्रष्टाचार की दिशा में अग्रणी है, कड़े मुकाबलों में कटौती और साथ ही साथ नैतिक मूल्यों की गिरावट भी। लोग अपनी जरूरतों को पूरा करने के लिए पैसे का उपयोग नहीं कर रहे हैं बल्कि केवल इसकी संख्या और मात्रा बढ़ाने के लिए कर रहे हैं। अपनी संपत्ति बढ़ाने के लिए वे अपने स्वास्थ्य की परवाह नहीं करते हैं। परिवार के प्रति उनकी लापरवाही और अपने स्वयं के स्वास्थ्य का ध्यान ना रखने के कारण उनके परिवार को इसका खामियाज़ा भुगतना पड़ता है। केवल खाते में शेष राशि में वृद्धि से आप स्वस्थ और सुखी जीवन नहीं जी सकते। पैसा कई चीजें खरीद सकती है लेकिन आपका समय नहीं खरीद सकती। पैसा खर्च करने के बाद फिर से अर्जित किया जा सकता है लेकिन एक बार बिताया गया समय फिर से अर्जित नहीं किया जा सकता है। स्वास्थ्य और परिवार को खोने के बाद लोगों को केवल अफसोस होता है। वे एक वास्तविक जीवन के स्वाद को भूला कर एक सीमित दुनिया में रह रहे हैं जहां धन ही सब कुछ है।

इसलिए दास बनने की बजाय पैसे की स्वामी बनना बेहतर होता है क्योंकि एक मास्टर को पता है कि कहाँ पैसा खर्च करने और अपनी इच्छाओं को कैसे पूरा करने की जरूरत है। सही तरीके से पैसे का उपयोग करना बहुत महत्वपूर्ण है।

इसी के साथ मैं अपने भाषण का निष्कर्ष निकालना चाहता हूं और उम्मीद करता हूं कि यह बैंक नागरिकों के विश्वास के साथ बड़ी सफलता हासिल करेगा।

धन्यवाद।


 

पैसे पर भाषण – 4

आदरणीय प्रधानाचार्य, आदरणीय शिक्षकगण और मेरे प्यारे दोस्तों!

आज हम सभी यहां हमारे स्कूल द्वारा आयोजित भाषण प्रतियोगिता के लिए इस सभा कक्ष में इकट्ठे हुए हैं जिसका विषय पैसा और इसकी कमियां है। इस विद्यालय की एक हेड गर्ल के रूप में पैसे पर कुछ शब्द कहकर यह प्रतियोगिता शुरू करते हुए मुझे बहुत खुशी हो रही है। पैसा इंसान की सबसे अद्भुत रचनाओं में से एक है। आज के समय में पैसा सबसे महत्वपूर्ण और एक शक्तिशाली कारक है जिसे हम प्राप्त कर सकते हैं। लोग दिन और रात सिर्फ पैसे कमाने के लिए काम करते हैं। वे अपनी इच्छाओं को पूरा करने और अपनी संतुष्टि के लिए पैसा कमाते हैं। पैसे के साथ एक व्यक्ति लगभग सब कुछ कमा सकता है।

यदि हम प्राचीन काल की प्रणाली को देखे, जब पैसा अस्तित्व में नहीं था, तो वस्तु विनिमय प्रणाली थी। बारटर सिस्टम में लोगों को जरूरतों के दोहरे संयोग के मामले में एक-दूसरे के साथ अपने सामान का आदान-प्रदान करना पड़ता था। वस्तुओं का आदान-प्रदान केवल तभी संभव था जब कोई व्यक्ति अपनी वस्तु के बदले अपनी वस्तु देता था। जरूरतों के दोहरे संयोग का होना हमेशा संभव नहीं था और इस प्रकार यह प्रणाली अब अस्तित्व में नहीं थी। समय बीतने के बाद वस्तुओं के आदान-प्रदान के साथ-साथ वस्तुओं के आदान-प्रदान के लिए आत्मनिर्भर होना संभव नहीं था। इस प्रकार पैसे को बनाना जरुरी हो गया था।

पैसे की खोज से बहुत सी चीजें आसान बन गई हैं। अब हमें अपनी आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए किसी प्रकार के संयोग की आवश्यकता नहीं है। अपनी मांगों, जरूरतों या इच्छाओं को पूरा करने के लिए आपको अपनी जेब में धन की ज़रूरत है। पैसा हर जगह की जरूरत है लेकिन फिर भी कई चीजें हैं जो पैसे से पूरी नहीं होती हैं या जिन्हें खरीदा नहीं जा सकता है जैसे प्यार। हमारे माता-पिता हमें धन के लिए प्यार नहीं करते क्योंकि यह बिना शर्त किया हुआ प्यार है। धन दुनिया भर में सबसे महत्वपूर्ण चीज़ हो सकती है लेकिन फिर भी कुछ जगहें हैं जहां धन की जरूरत खत्म या अर्थहीन है।

हम सब आज सभी लोगों की जीवन शैली के बारे में जानते हैं। आप सब में से ज्यादातर पैसा कमाने में व्यस्त हैं। ज्यादातर अपने स्वास्थ्य और परिवार की ओर लापरवाह होते जा रहे हैं। धन के सारी दुनिया पर कई सकारात्मक प्रभाव हैं लेकिन कई नकारात्मक प्रभाव भी हैं। भ्रष्टाचार आज की प्रमुख समस्याओं में से एक है जिसका कई देशों को सामना करना पड़ रहा है। यह अधिक से अधिक पैसे कमाने की बढ़ती लत के कारण है। जी हां यह एक ऐसी लत है जो कई लोगों को लगी हुई है। वे पैसा कमाने के लिए कुछ भी कर सकते हैं। पैसे कमाने की लत की वजह से जुआ खेलने की शुरुआत करना एक बड़ा गंभीर मुद्दा है।

इन समस्याओं पर काबू पाने के लिए हमें यह समझने की ज़रूरत है कि पैसा सिर्फ हमारी ज़रूरतों और सुखों को पूरा करने का एक स्रोत है लेकिन अपने या हमारे परिवार के सदस्यों से ज्यादा महत्वपूर्ण नहीं है।

इसी के साथ मैं अपने भाषण को खत्म करना चाहूंगा और प्रतियोगिता के लिए आप सभी को शुभकामनाएं देना चाहूँगा। ईश्वर करें सबसे मेहनती व्यक्ति यह प्रतियोगिता जीते।

धन्यवाद। आप सभी का दिन शुभ हो।