कहावत

जहाँ चाह वहाँ राह - अर्थ, उदाहरण, उत्पत्ति, विस्तार, महत्त्व और लघु कथाएं

अर्थ (Meaning) ‘जहाँ चाह, वहाँ राह’ यह कहावत कहती है कि यदि वास्तव में कोई कुछ हासिल करना चाहता है, तो वह इसे प्राप्त करने के तरीके खोजता रहेगा और अंत में सफल होकर ही रहेगा। अगर आप किसी चीज को पाने के लिए सख्ती से लगे हुए हैं और पूरी तरह से प्रयास करते …

जहाँ चाह वहाँ राह – अर्थ, उदाहरण, उत्पत्ति, विस्तार, महत्त्व और लघु कथाएं Read More »

आवश्यकता ही आविष्कार की जननी है - अर्थ, उदाहरण, उत्पत्ति, विस्तार, महत्त्व और लघु कथाएं

अर्थ (Meaning) ‘आवश्यकता ही आविष्कार की जननी है’ यह कहावत कहती है कि किसी भी आविष्कार के पीछे की मुख्य प्रेरक शक्ति होती है आवश्यकता। विज्ञान और प्रौद्योगिकी की विभिन्न अवधारणाओं को लागू करके जीवन को आसान बनाने के लिए मानव की बुनियादी आवश्यकता एक आविष्कार के पीछे का प्राथमिक बल है। उदाहरण के लिए, …

आवश्यकता ही आविष्कार की जननी है – अर्थ, उदाहरण, उत्पत्ति, विस्तार, महत्त्व और लघु कथाएं Read More »

कलम तलवार से ताकतवर होती है - अर्थ, उदाहरण, उत्पत्ति, विस्तार, महत्त्व और लघु कथाएं

अर्थ (Meaning) ‘कलम तलवार से ताकतवर होती है’ यह कहावत इस बात पर जोर देती है कि लिखी हुई बात शारीरिक ताकत से ज्यादा प्रभावशाली होती है। इस कहावत में कलम संभावित रूप से प्रशासनिक शक्ति और प्रेस की शक्ति को संदर्भित करता है जो स्पष्ट रूप से हिंसा या विद्रोह से अधिक शक्तिशाली और …

कलम तलवार से ताकतवर होती है – अर्थ, उदाहरण, उत्पत्ति, विस्तार, महत्त्व और लघु कथाएं Read More »

एकता में अटूट शक्ति है - अर्थ, उदाहरण, उत्पत्ति, विस्तार, महत्त्व और लघु कथाएं

अर्थ (Meaning) ‘एकता में अटूट शक्ति है’ यह कहावत इस ओर इशारा करती है कि एक साथ रहने में ही शक्ति होती है। इसका मतलब है की समाज या लोगों का एक समूह एक साथ कई तरह की विपत्तियों और समस्याओं का सामना कर सकता है; जबकि दूसरी तरफ, अकेला इंसान मुसीबत में कुचला जा …

एकता में अटूट शक्ति है – अर्थ, उदाहरण, उत्पत्ति, विस्तार, महत्त्व और लघु कथाएं Read More »

पैसे से ख़ुशी नहीं खरीदी जा सकती - अर्थ, उदाहरण, उत्पत्ति, विस्तार, महत्त्व और लघु कथाएं

अर्थ (Meaning) ‘पैसे से ख़ुशी नहीं खरीदी जा सकती’ कहावत कहता है कि धन का उपयोग सामग्री और भौतिक संपत्ति प्राप्त करने के लिए किया जा सकता है, लेकिन जो सबसे महत्वपूर्ण भावना, ‘खुशी’ है वो इसके द्वारा नहीं हासिल की जा सकती है। आप अपनी कार, घर, फ्रिज, बिजली, और हजारों अन्य चीजों के …

पैसे से ख़ुशी नहीं खरीदी जा सकती – अर्थ, उदाहरण, उत्पत्ति, विस्तार, महत्त्व और लघु कथाएं Read More »

हँसना सबसे अच्छी दवा है - अर्थ, उदाहरण, उत्पत्ति, विस्तार, महत्त्व और लघु कथाएं

अर्थ (Meaning) ‘हँसना सबसे अच्छी दवा है’ इस कहावत का मतलब है कि हँसी स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है। हंसी हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ाती है और मस्तिष्क तथा महत्वपूर्ण अंगों को रक्त के प्रवाह में सुधार करती है, जिससे शारीरिक और साथ ही मनोवैज्ञानिक स्वास्थ्य में भी सुधार होता है। हंसना एक त्वरित अवसादरोधी …

हँसना सबसे अच्छी दवा है – अर्थ, उदाहरण, उत्पत्ति, विस्तार, महत्त्व और लघु कथाएं Read More »

हथेली पर दही नहीं जमती - अर्थ, उदाहरण, उत्पत्ति, विस्तार, महत्त्व और लघु कथाएं

अर्थ (Meaning) “हथेली पर दही नहीं जमती” इस कहावत का यह अर्थ निकलता है कि बड़ी चीजों को पूरा होने में समय लगता है। किसी भी वजह के लिए हमें लगातार प्रयास करते रहना चाहिए और परिणाम की प्रतीक्षा करनी चाहिए। साथ ही, चीजों को लेकर हमें हड़बड़ी नहीं करनी चाहिए, परिणाम के प्रति सख्त …

हथेली पर दही नहीं जमती – अर्थ, उदाहरण, उत्पत्ति, विस्तार, महत्त्व और लघु कथाएं Read More »

एकता में शक्ति है - अर्थ, उदाहरण, उत्पत्ति, विस्तार, महत्त्व और लघु कथाएं

अर्थ (Meaning) ‘एकता में शक्ति है’ यह कहावत विस्तृत रूप से इस्तेमाल किया जाता है, जिसका मतलब है कि जब लोगों का समूह एकजुट रहता है, तब वे उस व्यक्ति की तुलना में अधिक मजबूत रहते हैं जो वे व्यक्तिगत रहे होंगे। इस कहावत की खासियत ये है कि यह केवल इंसानों पर ही नहीं …

एकता में शक्ति है – अर्थ, उदाहरण, उत्पत्ति, विस्तार, महत्त्व और लघु कथाएं Read More »

सादा जीवन उच्च विचार - अर्थ, उदाहरण, उत्पत्ति, विस्तार, महत्त्व और लघु कथाएं

अर्थ (Meaning) “सादा जीवन उच्च विचार” यह कहावत जीवन की सादगी और मनोबल तथा आचरण में उच्च विचार को बढ़ावा देता है। यह हमें सिखाता है कि जीवन के स्तर में सरलीकृत दृष्टिकोण अपनाना चाहिए। हमें हर जगह और हर किसी के लिए अपनी पसंद और भौतिकवादी चीजों को प्रदर्शित करने की कोशिश नहीं करनी …

सादा जीवन उच्च विचार – अर्थ, उदाहरण, उत्पत्ति, विस्तार, महत्त्व और लघु कथाएं Read More »

हर चमकती चीज सोना नहीं होती - अर्थ, उदाहरण, उत्पत्ति, विस्तार, महत्त्व

अर्थ (Meaning) यह कहावत “हर चमकती चीज सोना नहीं होती” कहती है कि हर वो खूबसूरत चीज जो हमारी आँखों को अच्छी लगती है जरूरी नहीं है कि वो हमारे लिए भी अच्छी ही हो। दूसरे शब्दों में कहा जाए तो दिखावा झूठा भी हो सकता है। हम किसी भी चीज की दिखावट से उसकी …

हर चमकती चीज सोना नहीं होती – अर्थ, उदाहरण, उत्पत्ति, विस्तार, महत्त्व Read More »